अपने ही घरों को आग लगाने के लिए मजबूर हो गए अर्मेनिया के लोग, जानिए क्या है वजह

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  



Armenian भाषा में इस इलाके को Karvachar कहा जाता है, जो लीगली Azerbaijan का हिस्सा है लेकिन साल 1994 में  Nagorno-Karabakh इलाके को लेकर हुए युद्ध के बाद से Armenia के मूल निवासियों के कंट्रोल में है। 



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page