इंस्पेक्टर बोले- थाने में पैसा जमा कराओ, एक के बदले 4 पेड़ काट ले जाओ

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


लखीमपुर खीरी के तिकुनिया कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद (वीडियो ग्रैब)

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद (वीडियो ग्रैब)

लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) के तिकुनिया कोतवाली के इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद के पास लकड़ी ठेकेदार वन विभाग से पेड़ काटने की अनुमति लेकर पहुंचा. वायरल वीडियो में इंस्पेक्टर ठेकेदार से लकड़ी खरीद की परसेंटेज के हिसाब से पैसा जमाकर लकड़ी कटवाने की बात कह रहे हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 13, 2020, 10:10 AM IST

लखीमपुर खीरी. उत्तर प्रदेश के पुलिस थानों में भ्रष्टाचार (Corruption) कम होने के भले ही खूब दावे किए जाते हों, लेकिन सच्चाई बिलकुल उलटी है. किसी भी जिले में पुलिस थाने भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा माने जाते हैं. लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) का भी यही हाल है. यहां तिकुनिया कोतवाली में इंस्पेक्टर साहब लकड़ी के एक ठेकेदार को भ्रष्टाचार का ज्ञान देते दिखाई दे रहे हैं. वह थाने में पैसा जमा करने के बाद जमकर ओवरलोडिंग और एक पेड़ के बदले 4 पेड़ काटने की सलाह दे रहे हैं. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

दरअसल, मामला लखीमपुर खीरी के तिकुनिया कोतवाली का है. यहां तैनात इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद के पास लकड़ी ठेकेदार वन विभाग से पेड़ काटने की अनुमति लेकर कोतवाली पहुंचा. इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद ठेकेदार से लकड़ी खरीद की परसेंटेज के हिसाब से पैसा जमाकर लकड़ी कटवाने की बात कह रहे हैं. वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि इंस्पेक्टर हनुमंत प्रसाद अपनी भ्रष्टाचार की पाठशाला में लकड़ कट्टे से पैसा ले लेनदेन का सौदा कर रहे हैं और उसको भ्रष्टाचार करने की गुरु मंत्र दे ओवरलोडिंग और वन विभाग से मिली पेड़ काटने की अनुमति से दोगुने पेड़ काटने की सलाह दे रहे हैं.

रिश्वतखोर इंस्पेक्टर हनुमान प्रसाद खुद ही थाने में आने वाले लोगों को कानून का पालन न कर कानून तोड़ने की सलाह दे रहे हैं. हनुमान प्रसाद का यह कारनामा पुलिस थाने में मौजूद किसी शख्स ने अपने मोबाइल पर बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

वीडियो हुआ वायरल तो मचा हड़कंप
वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया, हालांकि पुलिस के आला अधिकारी इस मामले में कैमरे के सामने बोलने से इंकार कर रहे हैं लेकिन वीडियो की जांच करा दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं.

पहले भी आए इस तरह के मामले
बता दें खीरी पुलिस के रोज-रोज नए कारनामे सामने आने आ रहे है. अभी कुछ दिन पहले सदर कोतवाली में तैनात महिला इंस्पेक्टर एक शराब माफिया से समय से अधिक देर तक शराब की दुकान खोलने की एवज में ₹10000 की मांग कर रही थी. वही निघासन कोतवाली में तैनात एक सिपाही मनोज कुमार अवैध कच्ची शराब के कारखाने पर छापा मारने गई पुलिस टीम को कच्ची शराब माफिया के कारखाने पर कार्रवाई न करने की सिफारिश करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. लेकिन, अब तक इन दोनों ही मामलों में जिले के आला अधिकारी ने कोई कार्यवाही नहीं की. जिले में लगातार खीरी पुलिस के कारनामों के वीडियो वायरल होने से पुलिस की कार्यशैली पर लोग सवाल उठाने लगे हैं.





Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page