मैच से पहले अभ्यास करती हरमनप्रीत कौर (sharjah)

खिताबी हैट्रिक लगाने से चूकी हरमनप्रीत कौर की सुपरनोवाज, कप्तान ने बताई हार की वजह

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


मैच से पहले अभ्यास करती हरमनप्रीत कौर (sharjah)

मैच से पहले अभ्यास करती हरमनप्रीत कौर (sharjah)

सुपरनोवाज (Supernovas) की कप्तान हरमनप्रीत (Harmanpreet Kaur) चोट के बावजूद क्रीज पर डटी रहीं और 30 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहीं


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 10, 2020, 7:38 AM IST

नई दिल्ली. सुपरनोवाज की कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) ने महिला टी20 चैलेंज (Women T20 Challenge) के फाइनल में ट्रेलब्लेजर्स (Trailblaizers) से मिली हार के लिये साझेदारी नहीं बनने को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था कि इसे हासिल नहीं किया जा सकता था.

ट्रेलब्लेजर्स की टीम कप्तान स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) की अर्धशतकीय पारी के बावजूद आठ विकेट पर 118 रन ही बना सकी जिमसें राधा यादव ने पांच विकेट झटके जिन्हें ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ चुना गया. इसके जवाब में सुपरनोवाज की टीम निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 102 रन ही बना सकी.

बड़ी साझेदारी करने से चूकी टीम
हरमनप्रीत चोट के बावजूद क्रीज पर डटी रहीं और 30 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहीं. लेकिन अपनी टीम को जीत तक नहीं पहुंचा सकी. उन्होंने कहा, ‘चोट इतनी ज्यादा खराब नहीं है लेकिन इस मैच से हमने काफी कुछ सीखा. ’ उन्होंने कहा, ‘‘इस लक्ष्य को हासिल करना इतना मुश्किल नहीं था, लेकिन हम कोई बड़ी साझेदारी नहीं बना सके. आपको कम से कम दो अच्छी भागीदारियां चाहिए थीं. यह बहुत मुश्किल हो गया क्योंकि मुझे क्षेत्ररक्षण करते हुए चोट लग गयी. मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया लेकिन अंत में यह काफी नहीं था. ’’राधा यादव को नहीं है अपने प्रदर्शन की खुशी

कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के कारण घर पर रहने के बारे में हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘घर पर बैठना काफी कठिन था, जो हालात हैं हमें उसका सम्मान करना चाहिए. हमें सुरक्षित रहना चाहिए, भले ही हम खेल रहे हों या नहीं. ’ राधा यादव (तीन मैचों में आठ विकेट) ने मैच के दौरान अपने पांच विकेट के बारे में कहा, ‘पांच विकेट लेकर अच्छा लगा लेकिन मैं खुश नहीं हूं क्योंकि हम हार गये. मैं पिच को देखकर काफी खुश थी क्योंकि यह स्पिन कर रही थी. योजना सरल चीजें करनी थीं, जहां तक संभव हो सामान्य रहने की थी. ’

लॉकडाउन के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘लॉकडाउन काफी मुश्किल था, लेकिन मैंने अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार किया. शायद यह दिख रहा है. मैं लगातार खेल रही थी इसलिये मुझे मैदान की इतनी कमी नहीं खली. ’’





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page