छात्र की हत्या कर शव पेड़ पर लटकाया, आक्रोशित परिजन अंतिम संस्कार न करने पर अड़े

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


प्रतापगढ़ में छात्र की हत्या के बाद परिजनों में आक्रोश

प्रतापगढ़ में छात्र की हत्या के बाद परिजनों में आक्रोश

प्रतापगढ़ (Pratapgarh) की कोहड़ौर पुलिस शिकायत के आधार पर आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. पुलिस आशनाई और जमीनी रंजिश दो पहलू पर तफ्तीश कर रही है. पुलिस जल्द ही खुलासे की बात कह रही है.

प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे एक छात्र की सनसनीखेज हत्या (Murder) के बाद हड़कंप मचा हुआ है. छात्र की हत्या के बाद शव को पेड़ से लटकाने से आक्रोशित परिजनों ने अन्तिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है और सोमवार शाम से ही धरने पर बैठे हैं. वहीं पुलिस अफसर मृतक छात्र के परिजनों को अंतिम संस्कार करने के लिए मनाने का प्रयास कर रहे हैं. परिजन लगातार एसपी और डीएम को मौके पर बुलाने की मांग कर रहे हैं.

दरसअल रविवार सुबह घर से निकला छात्र कन्हैया का शव सोमवार सुबह पेड़ से लटकता मिला तो परिजनों में कोहराम मच गया. शव को पुलिस ने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला दबा कर छात्र की हत्या की बात सामने आई इसके बाद पेड़ पर शव को टांगने की पुष्टि हुई. परिजनों ने एक महिला समेत 4 लोगों के खिलाफ हत्या का आरोप लगाया, जिनको पुलिस हिरासत में लेते हुए जांच कर रही है.

कन्हैया की मौत से बुझ गया घर का इकलौता चिराग

कन्हैया की मौत से परिजनों में कोहराम है. माता प्रसाद का इकलौता पुत्र कन्हैया था, जो प्रयागराज में प्रतियोगी छात्र था लेकिन कोरोना काल में अपने घर से रहकर पढ़ाई कर रहा था.आशनाई में हत्या की इलाके में चर्चा

कन्हैया की हत्या के बाद से ही इलाके में आशनाई को लेकर हत्या की करने की चर्चाएं हैं. वहीं पिता ने रंजिश में 4 लोगों के विरुद्ध हत्या का शक जाहिर किया है. कोहड़ौर पुलिस शिकायत के आधार पर आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. पुलिस आशनाई और जमीनी रंजिश दो पहलू पर तफ्तीश कर रही है. पुलिस जल्द ही खुलासे की बात कह रही है.





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page