कपिल देव शौकिया तौर पर गोल्फ खेलते हैं.

फिट और स्वस्थ कपिल देव ने गोल्फ कोर्स में की वापसी, VIDEO शेयर कर जताई खुशी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


कपिल देव शौकिया तौर पर गोल्फ खेलते हैं.

कपिल देव शौकिया तौर पर गोल्फ खेलते हैं.

विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने एंजियोप्लास्टी (रक्तधमनियों की सर्जरी) से गुजरने के दो सप्ताह बाद गोल्फ के मैदान में वापसी पर खुशी जताई.

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने एंजियोप्लास्टी (रक्तधमनियों की सर्जरी) से गुजरने के दो सप्ताह बाद गोल्फ के मैदान में वापसी पर खुशी जताई. क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद से कपिल शौकिया तौर पर गोल्फ खेलते है. इस 61 साल के पूर्व दिग्गज हरफनमौला ने कहा था कि चिकित्सकों से मंजूरी मिलने के बाद वह जल्दी ही गोल्फ खेलना चाहेंगे और गुरुवार को उन्हें दिल्ली गोल्फ क्लब में खेलते हुए देखा गया.

दरअसल, दिल्ली के सुंदर नगर में रहने वाले कपिल कुछ वक्त पहले सीने में दर्द की शिकायत के बाद ओखला के फोर्टिस एस्कोर्ट्स हार्ट इंस्टिट्यूट के आपात विभाग में ले जाया गया था. अस्पताल ने अपने शुरुआती बयान में सिर्फ सीने में दर्द का ही जिक्र किया था, लेकिन फिर इसके बाद कहा था कि कपिल देव को दिल का दौरा पड़ा था. उनकी जांच की गई और आपात कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की गई.

अफगानिस्तान के कप्तान असगर अफगान ने की दूसरी बार सगाई, पहली पत्नी से हैं 5 बच्चे

कपिल 1994 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद से शौकिया तौर पर गोल्फ खेलते हैं और उन्होंने कई एमेच्योर टूर्नामेंटों में भाग भी लिया है. वह दो दिन पहले अस्पताल से घर आए हैं और उन्होंने प्रशंसकों को अपने स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी दी. उन्होंने टेलीविजन चैनल पर विश्लेषक के रूप में अपना काम भी शुरू कर दिया.क्या धोनी को IPL 2021 खेलना चाहिए? पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने दिया जवाब

कपिल देव ने ट्विटर पर जारी वीडियो संदेश में कहा, ”गोल्फ कोर्स या क्रिकेट मैदान पर वापसी करना कितना मजेदार होता है आप इसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकते है. गोल्फ कोर्स में वापस आना, दोस्तों के साथ मस्ती करना और खेलना बहुत खूबसूरत है. बस यही जीवन है.”

बता दें कि वह क्रिकेट के इतिहास में एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने 400 से ज्यादा (434) विकेट अपने नाम कर टेस्ट मैचों में 5000 से ज्यादा रन जुटाए हैं. वह 1999 और 2000 के बीच भारत के राष्ट्रीय कोच भी रह चुके हैं. कपिल को 2010 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था. ‘हरियाणा हरिकेन’ के नाम से मशहूर कपिल भारतीय प्रादेशिक सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल भी हैं.





Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page