लॉकडाउन में लोगों की मदद करने वाले टॉप-10 सांसदों में तीसरे नंबर पर राहुल गांधी, देखें LIST

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


किसान आंदोलन को लेकर राजनीति भी अपने चरम पर है. गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 2 करोड़ लोगों के हस्ताक्षर समेत ज्ञापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपा.. (File pic)

किसान आंदोलन को लेकर राजनीति भी अपने चरम पर है. गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 2 करोड़ लोगों के हस्ताक्षर समेत ज्ञापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपा.. (File pic)

यह सर्वे नई दिल्‍ली के सिटिजन इंगेजमेंट प्‍लेटफॉर्म गवर्नआई सिस्‍टम ने कराया है. इस सूची में दसवें स्‍थान पर बीजेपी सांसद नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) भी शामिल हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 24, 2020, 2:19 PM IST

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) रोकने के लिए देश भर में मार्च के अंत में लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान आम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था. ऐसे में कई सांसद और अन्‍य लोग जनता की मदद के लिए आगे आए थे. अब एक सर्वे में दावा किया गया है कि लॉकडाउन के दौरान अपने संसदीय क्षेत्रों में लोगों की मदद करने वाले टॉप 10 सांसदों में कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) भी शामिल हैं. उन्‍हें इस सूची में तीसरा स्‍थान मिला है.

यह सर्वे नई दिल्‍ली के सिटिजन इंगेजमेंट प्‍लेटफॉर्म गवर्नआई सिस्‍टम ने कराया है. इसके अनुसार जनता की मदद करने वाले टॉप 10 सांसदों में पहले स्‍थान पर उज्‍जैन से बीजेपी के सांसद अनिल फिरोजिया हैं. दूसरे स्‍थान पर नेल्‍लोर से वाईएसआरसीपी के सांसद अदाला प्रभाकर रेड्डी हैं. तीसरे स्‍थान पर वायनाड से कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी हैं.

सूची में चौथे स्‍थान पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा हैं. पांचवें स्‍थान पर बीजेपी के सांसद एलएस तेजस्‍वी सूर्या हैं. वहीं छठे स्‍थान पर शिवसेना के सांसद हेमंत तुकाराम गोडसे हैं. सूची में सातवें स्‍थान पर शिरोमणि अकाली दल के सांसद सुखबीर सिंह बादल हैं. आठवें स्‍थान पर बीजेपी के शंकर लालवानी हैं. नौवें स्‍थान पर द्रमुक के सांसद डॉ. टी सुमाथी हैं. दसवें स्‍थान पर बीजेपी सांसद नितिन गडकरी हैं.सर्वे करने वाली गवर्नआई ने जानकारी दी है कि सर्वे के दौरान 512 लोकसभा सांसदों के लिए 33.82 लाख से अधिक नॉमिनेशन मिले थे. इनमें से पहले 25 को चुना गया. इसके बाद टीम की ओर से ग्राउंड सर्वे करवाया गया. सर्वे के सीनियर प्रोजेक्‍ट लीडर मंजुनाथ केरी ने जानकारी दी है कि ग्राउंड सर्वे के दौरान कई संसदीय क्षेत्रों में नेताओं की ओर से निस्‍वार्थ सेवा करने की भी बातें सुनने को मिली हैं. लेकिन इन्‍हें सर्वे में शामिल नहीं किया गया है.

मंजूनाथ का कहना है, ‘हमें बहुत से नेताओं के बारे में नकारात्‍मक बातें सुनने को मिलती हैं. लेकिन जब इस तरह का सेवाभाव किया जा रहा हो तो उसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.’





Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page