Hurricane Isaias Might Delay NASA Astronauts Return Slated For August 2


Hurricane Might Delay NASA Astronauts Return Slated For August 2

Bob Behnken and Doug Hurley lifted off on May 30 on board a SpaceX Crew Dragon. (File)

Washington:

The first US astronauts to reach the International Space Station on an American spacecraft in nearly a decade might not come home this weekend as scheduled because of Hurricane Isaias, NASA said Friday.

Bob Behnken and Doug Hurley blasted off from Cape Canaveral on May 30 on board a SpaceX Crew Dragon, and are supposed to splash down off the coast of Florida on Sunday afternoon.

For now, undocking remains scheduled for approximately 7:34 pm (2334 GMT) Saturday, and splashdown at 2:42 pm  (1842 GMT) on Sunday. 

But NASA said it was keeping a watchful eye on Hurricane Isaias — a category one storm that battered the Bahamas Friday and was churning toward Florida — and would make a final call about six hours prior to undocking.

“We don’t control the weather, and we know we can stay up here longer — there’s more chow, and I know the space station program has more work that we can do,” Behnken told reporters in a press call.

The potential splashdown sites are in the Gulf of Mexico and along Florida’s Atlantic coast.

The mission marked the first time a crewed spaceship launched into orbit from American soil since 2011 when the Space Shuttle program ended.

It was also the first time a private company has flown to the ISS carrying astronauts.

The US has paid SpaceX and aerospace giant Boeing a total of about $7 billion for their “space taxi” contracts.

But Boeing’s program has floundered badly after a failed test run late last year, which left SpaceX, a company founded only in 2002, as clear frontrunner.

For the past nine years, American astronauts traveled exclusively on Russian rockets Soyuz rockets, for a price of around $80 million per seat.

The crewmates added they were looking forward to going home after two months, if the return trip went ahead Sunday as planned.

“My son is six years old and I can tell from the videos that I get and from talking to him on the phone that he’s changed a lot,” said Behnken.

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a syndicated feed.)



Source link

Tamil Nadu Board HSE Plus One Result 2020 – Tamil Nadu Board HSE Plus One Result 2020 जारी, परिणाम एक ही क्लिक में यहां से करें डाउनलोड


Tamil Nadu Board HSE (+1) Result 2020: तमिलनाडु प्लस वन यानी 11वीं की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। 11वीं की परीक्षा का रिजल्ट बोर्ड की …

Tamil Nadu Board HSE (+1) Result 2020: तमिलनाडु प्लस वन यानी 11वीं की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। 11वीं की परीक्षा का रिजल्ट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट tnresults.nic.in, tnresults.in, dge1.tn.nic.in, और dge2.tn.nic.in पर जारी किया है। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट इन वेबसाइट्स पर जाकर चेक कर सकते हैं। स्टूडेंट्स को रिजल्ट चेक करने के लिए अपना रोल नंबर सबमिट करना होगा। 11वीं की परीक्षा में 96 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। बता दें कि मार्च में आयोजित की गई टीएन कक्षा 11 परीक्षा में आठ लाख से अधिक छात्रों ने भाग लिया था। प्लस वन की परीक्षा 4 मार्च को शुरू हुई और 23 मार्च को संपन्न हुई। तमिलनाडु बोर्ड को महामारी के प्रकोप और उसके बाद लॉकडाउन के बाद 26 मार्च को होने वाली अंतिम परीक्षा रद्द करनी पड़ी थी।

Tamil Nadu Board 11th result के लिए यहां क्लिक करें

परिणाम ऐसे करें डाउनलोड
स्टेप 1: स्टूडेंट्स सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट tnresults.nic.in पर जाएं।
स्टेप 2: अब वेबसाइट पर दिए गए रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें।
स्टेप 3: अब अपना रोल नंबर सबमिट करें।
स्टेप 4: आपका रिजल्ट स्क्रीन पर आ जाएगा।
स्टेप 5: अब अपने रिजल्ट का प्रिंट ले लें।





Source link

Joe Denly Out Of Ireland Odis Due To Back Spasms, Liam Livingstone Named As Replacement – डेनली पीठ दर्द के कारण आयरलैंड के खिलाफ पूरी श्रृंखला से बाहर, टीम में लिविंगस्टोन की एंट्री

जो डेनली


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Fri, 31 Jul 2020 09:45 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

इंग्लैंड के बल्लेबाज जो डेनली को ट्रेनिंग के दौरान पीठ में दर्द के बाद आयरलैंड के खिलाफ रॉयल लंदन सीरीज से बाहर कर दिया गया और उनकी जगह लंकाशर के लियाम लिविंगस्टोन लेंगे। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने शुक्रवार को यह घोषणा की कि बचे हुए दो वन-डे में 14 सदस्यीय टीम में लिविंगस्टोन अब 34 साल के डेनली की जगह शामिल होंगे।

बोर्ड के बयान के अनुसार, ‘जो डेनली बुधवार को ट्रेनिंग में पीठ में दर्द के बाद आयरलैंड के खिलाफ रॉयल लंदन सीरीज में नहीं खेल पाएंगे। केंट के बल्लेबाज की जगह 14 सदस्यीय इंग्लैंड वन-डे टीम में लंकाशर के लियाम लिविंगस्टोन को रख गया है।’

लिविंगस्टोन दो टी-20 में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और अगर उन्हें अंतिम दो वन-डे के एक मुकाबले के लिए अंतिम एकादश में चुना गया तो वह अपना वन-डे पदार्पण करेंगे। इंग्लैंड ने जैव सुरक्षित माहौल में खेली जा रही तीन मैचों की श्रृंखला के पहले वन-डे में छह विकेट से जीत हासिल की। दूसरा वन-डे शनिवार को और तीसरा मंगलवार को खेला जाएगा।

इंग्लैंड के बल्लेबाज जो डेनली को ट्रेनिंग के दौरान पीठ में दर्द के बाद आयरलैंड के खिलाफ रॉयल लंदन सीरीज से बाहर कर दिया गया और उनकी जगह लंकाशर के लियाम लिविंगस्टोन लेंगे। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने शुक्रवार को यह घोषणा की कि बचे हुए दो वन-डे में 14 सदस्यीय टीम में लिविंगस्टोन अब 34 साल के डेनली की जगह शामिल होंगे।

बोर्ड के बयान के अनुसार, ‘जो डेनली बुधवार को ट्रेनिंग में पीठ में दर्द के बाद आयरलैंड के खिलाफ रॉयल लंदन सीरीज में नहीं खेल पाएंगे। केंट के बल्लेबाज की जगह 14 सदस्यीय इंग्लैंड वन-डे टीम में लंकाशर के लियाम लिविंगस्टोन को रख गया है।’

लिविंगस्टोन दो टी-20 में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और अगर उन्हें अंतिम दो वन-डे के एक मुकाबले के लिए अंतिम एकादश में चुना गया तो वह अपना वन-डे पदार्पण करेंगे। इंग्लैंड ने जैव सुरक्षित माहौल में खेली जा रही तीन मैचों की श्रृंखला के पहले वन-डे में छह विकेट से जीत हासिल की। दूसरा वन-डे शनिवार को और तीसरा मंगलवार को खेला जाएगा।



Source link

COVID-19 Update: UP में 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 4453 नए मामले, एक्टिव केस बढ़कर हुए 39968 | rae-bareli – News in Hindi


लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के 4453 नए मामले सामने आये, जो एक दिन का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. जबकि इस संक्रमण के कारण 43 और मौतें होने से शुक्रवार को मृतकों का आंकड़ा 1630 पहुंच गया. इसके साथ उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक्टिव केसों की संख्‍या बढ़कर करीब 40 हजार (39968) हो गयी है.

अब तक 48663 कोरोना मरीज हुए डिस्‍चार्ज
अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि विगत 24 घंटे में संक्रमण के 4453 नये मामले सामने आये हैं. जबकि प्रदेश में उपचाराधीन मामलों की संख्या अब 39968 हो गई है. साथ ही कहा कि आज आए 4453 नए मामले, प्रदेश में एक दिन में आयी सर्वाधिक संख्या है. इससे पहले गुरुवार को 3765 नए मामले सामने आये थे, उसी दिन संक्रमण के कारण 57 लोग की मौत हुई थी जो एक दिन में हुई सर्वाधिक मौतों का आंकड़ा है.

प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 48663 लोग पूर्णत: उपचारित होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं. संक्रमण के कारण अब तक 1630 लोगों की जान गयी है. इसके अलावा आइसोलेशन वार्ड में 34973 लोग हैं, जिनका विभिन्न चिकित्सालयों और मेडिकल कालेजों में उपचार चल रहा है. जबकि संस्थागत पृथक-वास केन्द्रों में 2584 लोग हैं, जिनके नमूने एकत्र कर जांच करायी जा रही है. गुरुवार को प्रदेश में जांच का नया रिकॉर्ड बना. एक दिन में कुल 1,15,618 नमूनों की जांचे की गई, यह राष्ट्रीय स्तर पर भी रिकॉर्ड है.कानपुर, मेरठ और आगरा में सबसे अधिक मौत

आज शाम जारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, 43 मौतों में से छह कानपुर में हुई हैं. वहीं लखनऊ, वाराणसी और बरेली में पांच-पांच लोगों की मौत संकमण से हुई है. राज्य में अब तक सबसे अधिक 199 मौतें कानपुर में हुई हैं. मेरठ में 107 और आगरा में 100 लोगों की मौत कोरोना वायरस संक्रमण से हुई है. नये मामलों की बात करें तो पिछले 24 घंटे के दौरान राजधानी लखनऊ में सबसे अधिक 562 नये प्रकरण सामने आये. कानपुर में 321, बरेली में 295 और प्रयागराज में 231 मामले सामने आये. जबकि राज्य में अभी तक कुल 23, 25, 428 नमूनों की जांच हुई है. गुरुवार को पूल जांच के माध्यम से पांच-पांच नमूनों के 3358 पूल लगाये गये, जिनमें से 531 में संक्रमण की पुष्टि हुई. दस-दस नमूनों के 302 पूल लगाये गये, जिनमें से 30 संक्रमित मिले.

वहीं, अपर मुख्य सचिव ने बताया कि आरोग्य सेतु के माध्यम से जिन लोगों को अलर्ट आये, ऐसे 5,54,614 लोगों को स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से फोन कर सावधान किया गया है कि आप किसी ना किसी संक्रमित के संपर्क में आये हैं. उन्होंने बताया कि सर्विलांस का कार्य निरंतर चल रहा है. कुल 40 823 इलाकों में सर्विलांस किया गया और 1, 47, 08, 791 घरों में 7, 44, 89, 777 लोगों का सर्विलांस किया गया.

दो गज की दूरी जरूरी
प्रसाद ने जनता से कहा कि संक्रमण से ना घबराएं, सावधान और सतर्क रहकर इससे अपना बचाव कीजिए. हाथ को बार-बार साबुन पानी से धोएं. सार्वजनिक जगहों पर मॉस्क, गमछा, दुपट्टा या रूमाल से मुंह और नाक ढांककर जायें और दूसरे व्यक्ति से दो गज की दूरी बनाये रखें. उन्होंने कहा, ‘शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कीजिए. तुलसी, अदरक और कालीमिर्च का काढा पीजिए.गिलोय और नीम की पत्ती का सेवन कीजिए. अजवाइन का अर्क पीजिए. गर्म पानी का सेवन कीजिए और नियमित व्यायाम एवं प्राणायाम कीजिए. प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होने पर यदि आप संक्रमित होते भी हैं तो कोरोना वायरस आपका कुछ विशेष नुकसान नहीं कर पाएग.’





Source link

कुछ लोगों को बिना चादर या कंबल ओढ़े क्यों नहीं आती नींद, जानें क्या है कारण | health – News in Hindi


कुछ लोगों को बिना चादर या कंबल ओढ़े क्यों नहीं आती नींद, जानें क्या है कारण

बिना चादर या कंबल ओढ़े आखिर क्यों नहीं आती नींद. इसका सीधा कनेक्शन हेल्थ के साथ जुड़ा हुआ है.

एक चीज जो अधिकांश लोगों में आम है और वह है कि रात में सोते समय उन्हें चादर (Bed Sheet) या कंबल (Blanket) की जरूरत होती है. मौसम कोई भी हो, अधिकांश लोग अच्छी नींद के लिए बिना चादर या कंबल ओढ़े सोने की कल्पना नहीं कर पाते हैं.




  • Last Updated:
    July 30, 2020, 11:56 AM IST

अच्छी नींद (Sleep) के लिए बिस्तर पर जाने से पहले हर कोई अपना एक रूटीन फॉलो करता है. कुछ लोग सोने से पहले नहाना पसंद करते हैं तो अन्य किसी विशेष स्थिति में सोते हैं तो ही उन्हें अच्छी नींद आती है. एक चीज जो अधिकांश लोगों में आम है और वह है कि रात में सोते समय उन्हें चादर या कंबल की जरूरत होती है. मौसम कोई भी हो, अधिकांश लोग अच्छी नींद के लिए बिना चादर या कंबल ओढ़े सोने की कल्पना नहीं कर पाते हैं.

इस मनोविज्ञान के पीछे भी वजह है. जब व्यक्ति सोता है तो उसके शरीर का तापमान गिरता है और यह सुबह 4 बजे सबसे कम बिंदु पर पहुंच जाता है. यह प्रक्रिया सोने से एक घंटे पहले शुरू हो जाती है और शरीर तापमान को विनियमित करने की क्षमता खो देता है जब एक बार व्यक्ति रैपिड आई मूवमेंट (आरईएम) स्लीप साइकल पर पहुंच जाता है. रैपिड आई मूवमेंट का अर्थ व्यक्ति की बंद आंख के अंदर पुतलियों का तीव्र गति से इधर-उधर घूमना है. चादर या कंबल व्यक्ति को पूरी रात गर्म रहने में मदद करता है और कंपकंपी से बचाता है. दूसरी बात, बिस्तर पर जाते समय अपने आप को एक कंबल में ढकना सर्केडियन लय का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है.

myUpchar से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि सर्केडियन लय 24 घंटे का एक चक्र है जो कि जैव रासायनिक, शारीरिक और व्यवहारिक प्रक्रियाओं को नियंत्रित करके नींद के चक्र को प्रभावित करता है. यानी यह निर्धारित करने में मदद करता है कि शरीर कब सो जाने के लिए तैयार है और कब जागने के लिए तैयार है. इस आदत को जन्म से ही विकसित किया जाता है और बड़े होने पर भी यह वैसी ही बनी रहती है.साल 2015 में जर्नल ऑफ स्लीप मेडिसीन एंड डिसऑर्डर में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि एक भारी कंबल के नीचे सोने से रात में अच्छी नींद लेने में मदद मिलती है. 2020 में अमेरिकन जर्नल ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी में प्रकाशित हुए अध्ययन में खुलासा हुआ कि भारी कंबल भी चिंता और अनिद्रा से पीड़ित लोगों की मदद कर सकता है. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. नबी वली का कहना है कि अनिद्रा से पीड़ित व्यक्ति के लिए नींद आना या सोते रहना मुश्किल होता है. अनिद्रा आमतौर पर दिन के समय नींद, सुस्ती और मानसिक व शारीरिक रूप से बीमार होने की सामान्य अनुभूति को बढ़ाती है.

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कंबल की गर्मी और आराम रात में सुरक्षित महसूस कराते हैं. अंधेरे का डर एक आम डर है और वे डर से खुद को बचाने के लिए कंबल का इस्तेमाल करते हैं. यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि जो कंबल इस्तेमाल कर रहे हैं, उसका मटेरियल ऐसा हो, जिसके अंदर सांस लेना सुविधाजनक हो और पसीना व नमी की परेशानी न हो. यह रात में आरामदायक महसूस कराने के लिए पर्याप्त नरम होना चाहिए.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, क्या आपको भी नींद नहीं आती, ये उपाय करें और चैन की नींद सोएं पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।





Source link

Microsoft Is In Talks To Buy Tiktok In Us, President Donald Trump Preparing An Order, Chinas Bytedance To Sell Us Operations – अमेरिका में प्रतिबंध से बच सकती है Tiktok, ये दिग्गज आईटी कंपनी थाम सकती है कमान


वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन।
Updated Sat, 01 Aug 2020 03:46 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

अमेरिका में जहां चीनी एप टिकटॉक पर प्रतिबंध की मांग उठ रही है। वहीं तकनीक प्रौद्योगिकी क्षेत्र की एक दिग्गज कंपनी अमेरिका में उसके कारोबार की कमान अपने हाथ में ले सकती है। यदि ऐसा हो जाता है तो संभव है कि टिकटॉक पर अमेरिका में प्रतिबंध ना लग पाए। बता दें कि भारत सरकार ने देश में टिकटॉक समेत 50 से ज्यादा चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप टिकटॉक पर अमेरिका में प्रतिबंध लगाने का आदेश देने की तैयारी कर रहे हैं। शुक्रवार को ही उन्होंने इस बात के संकेत देते हुए कहा कि हम टिकटॉक के मामले को देख रहे हैं, हम टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा सकते हैं। हम कुछ अन्य चीजें भी कर सकते हैं, क्योंकि हमारे पास कुछ विकल्प हैं… लेकिन हम टिकटॉक के संबंध में सभी तरह के विकल्प पर विचार कर रहे हैं।

इस बीच वॉल स्ट्रीट जर्नल और ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप प्रशासन एक ऐसा आदेश तैयार कर रहा है जिसमें चीनी कंपनी बाइटडांस को अमेरिका में अपने कारोबार को बेचने के लिए कहा जा सकता है। इसके पीछे इस चीनी एप से सुरक्षा के मद्देनजर उठते संभावित खतरों को एक बड़ी वजह बताया गया है।

वहीं फॉक्स न्यूज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि टिकटॉक के अमेरिका में कारोबार को खरीदने को लेकर दिग्गज आईटी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट से बात कर रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह सौदा 10 अरब डॉलर से अधिक राशि का हो सकता है।

हालांकि यह सौदा तभी पूरा हो सकता है जब अमेरिका में विदेशी निवेश की निगरानी करने वाली समिति इसकी समीक्षा कर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा ना होने की बात से संतुष्ट होकर अपनी सहमति नहीं दे देती है। हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस सौदे को लेकर अभी तक टिकटॉक और माइक्रोसॉफ्ट दोनों ही कंपनियों की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

अमेरिका में जहां चीनी एप टिकटॉक पर प्रतिबंध की मांग उठ रही है। वहीं तकनीक प्रौद्योगिकी क्षेत्र की एक दिग्गज कंपनी अमेरिका में उसके कारोबार की कमान अपने हाथ में ले सकती है। यदि ऐसा हो जाता है तो संभव है कि टिकटॉक पर अमेरिका में प्रतिबंध ना लग पाए। बता दें कि भारत सरकार ने देश में टिकटॉक समेत 50 से ज्यादा चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप टिकटॉक पर अमेरिका में प्रतिबंध लगाने का आदेश देने की तैयारी कर रहे हैं। शुक्रवार को ही उन्होंने इस बात के संकेत देते हुए कहा कि हम टिकटॉक के मामले को देख रहे हैं, हम टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा सकते हैं। हम कुछ अन्य चीजें भी कर सकते हैं, क्योंकि हमारे पास कुछ विकल्प हैं… लेकिन हम टिकटॉक के संबंध में सभी तरह के विकल्प पर विचार कर रहे हैं।

इस बीच वॉल स्ट्रीट जर्नल और ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप प्रशासन एक ऐसा आदेश तैयार कर रहा है जिसमें चीनी कंपनी बाइटडांस को अमेरिका में अपने कारोबार को बेचने के लिए कहा जा सकता है। इसके पीछे इस चीनी एप से सुरक्षा के मद्देनजर उठते संभावित खतरों को एक बड़ी वजह बताया गया है।

वहीं फॉक्स न्यूज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि टिकटॉक के अमेरिका में कारोबार को खरीदने को लेकर दिग्गज आईटी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट से बात कर रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह सौदा 10 अरब डॉलर से अधिक राशि का हो सकता है।

हालांकि यह सौदा तभी पूरा हो सकता है जब अमेरिका में विदेशी निवेश की निगरानी करने वाली समिति इसकी समीक्षा कर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा ना होने की बात से संतुष्ट होकर अपनी सहमति नहीं दे देती है। हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस सौदे को लेकर अभी तक टिकटॉक और माइक्रोसॉफ्ट दोनों ही कंपनियों की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।



Source link

112 Startups Will Get Financial Assistance For Employing Youth In Agriculture Sector – कृषि क्षेत्र में युवाओं को रोजगार के लिए 112 स्टार्टअप्स को मिलेगी वित्तीय सहायता


अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Sat, 01 Aug 2020 04:31 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को साकार करने के लिए कृषि उद्यमिता विकास कार्यक्रम के तहत कृषि मंत्रालय अब युवाओं को कृषि के क्षेत्र और उससे संबधित उद्योगों को लगाने के लिए प्रोत्साहित करेगा। इसके पहले चरण में 2020-21 में 122 स्टार्टअप्स को 1,185.90 लाख रुपयों की सहायता राशि दी जाएगी।

मंत्रालय का मकसद इसके जरिये युवाओं को अधिक से अधिक खेती और किसानी से जुडे़ व्यवसायों के लिए प्रेरित करना है। इससे रोजगार की समस्या का समाधान होगा और ग्रामीण युवा आत्मनिर्भर बन सकेंगे। इन कृषि स्टार्टअप के लिए चुने गए स्टार्टअप से जुड़े युवाओं को दो माह का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। मंत्रालय की यह योजना प्रधानमंत्री की कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में नवाचार और प्रौद्योगिकी का उपयोग सुनिश्चित करने और कृषि स्टार्टअप की मदद से कृषि उद्यमिता को बढ़ावा देने के आह्वान का मूर्त रूप है। 

इस योजना में चुने गए नवाचारों को 1,185.90 लाख वित्तीय सहायता किश्तों के रूप में दी जाएगी। इससे किसानों की आय बढ़ने के साथ ही खेती और उससे संबंद्ध कार्यों में हाईटेक टेक्नोलॉजी का प्रयोग बढ़ेगा। यह सभी नए स्टार्टअप फूड प्रोसेसिंग खेती के उन्नत तरीकों और बीज बैंक तथा खाद्य पदार्थों के संरक्षण के व्यवसायों से जुड़ें होने के कारण इसके फलस्वरूप किसान को उसके उत्पाद का सही मूल्य प्राप्त हो सकेगा। इसके लिए मंत्रालय, उपकरणों और डिजाइनों की जरूरतों को पूरा करने के लिए साल में दो बार हैकथान का भी आयोजन करेगा। 

जिससे भारतीय युवाओं के नए विचारों को हाइटेक सिस्ट्म के तहत अपनाया जा सके। इसके अलावा मंत्रालय के स्तर पर कृषि के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा और कृषि आधारित गतिविधियों के लिए नई तकनीकों के विकसित करने और जल्द से जल्द इन्हें अपनाने के लिए भी विभिन्न विभागों और योजनाओं से जुड़ी नोडल व्यवस्था को इसे अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। 

युवाओं को रोजगार से जोड़ने की योजना के बारे में केंद्रीय कृषि कल्याण, ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया नवचार और कृषि उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए इनोवेशन एंड एग्री- एंटरप्रेन्योरशिप डेवलमेंट कार्यक्रम को अलग से जोड़ा गया है। इसके तहत ज्यादा स्टार्टअप को वित्तीय सहायता दी जाएगी।

आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को साकार करने के लिए कृषि उद्यमिता विकास कार्यक्रम के तहत कृषि मंत्रालय अब युवाओं को कृषि के क्षेत्र और उससे संबधित उद्योगों को लगाने के लिए प्रोत्साहित करेगा। इसके पहले चरण में 2020-21 में 122 स्टार्टअप्स को 1,185.90 लाख रुपयों की सहायता राशि दी जाएगी।

मंत्रालय का मकसद इसके जरिये युवाओं को अधिक से अधिक खेती और किसानी से जुडे़ व्यवसायों के लिए प्रेरित करना है। इससे रोजगार की समस्या का समाधान होगा और ग्रामीण युवा आत्मनिर्भर बन सकेंगे। इन कृषि स्टार्टअप के लिए चुने गए स्टार्टअप से जुड़े युवाओं को दो माह का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। मंत्रालय की यह योजना प्रधानमंत्री की कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में नवाचार और प्रौद्योगिकी का उपयोग सुनिश्चित करने और कृषि स्टार्टअप की मदद से कृषि उद्यमिता को बढ़ावा देने के आह्वान का मूर्त रूप है। 

इस योजना में चुने गए नवाचारों को 1,185.90 लाख वित्तीय सहायता किश्तों के रूप में दी जाएगी। इससे किसानों की आय बढ़ने के साथ ही खेती और उससे संबंद्ध कार्यों में हाईटेक टेक्नोलॉजी का प्रयोग बढ़ेगा। यह सभी नए स्टार्टअप फूड प्रोसेसिंग खेती के उन्नत तरीकों और बीज बैंक तथा खाद्य पदार्थों के संरक्षण के व्यवसायों से जुड़ें होने के कारण इसके फलस्वरूप किसान को उसके उत्पाद का सही मूल्य प्राप्त हो सकेगा। इसके लिए मंत्रालय, उपकरणों और डिजाइनों की जरूरतों को पूरा करने के लिए साल में दो बार हैकथान का भी आयोजन करेगा। 

जिससे भारतीय युवाओं के नए विचारों को हाइटेक सिस्ट्म के तहत अपनाया जा सके। इसके अलावा मंत्रालय के स्तर पर कृषि के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा और कृषि आधारित गतिविधियों के लिए नई तकनीकों के विकसित करने और जल्द से जल्द इन्हें अपनाने के लिए भी विभिन्न विभागों और योजनाओं से जुड़ी नोडल व्यवस्था को इसे अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। 

युवाओं को रोजगार से जोड़ने की योजना के बारे में केंद्रीय कृषि कल्याण, ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया नवचार और कृषि उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए इनोवेशन एंड एग्री- एंटरप्रेन्योरशिप डेवलमेंट कार्यक्रम को अलग से जोड़ा गया है। इसके तहत ज्यादा स्टार्टअप को वित्तीय सहायता दी जाएगी।



Source link

US Congressman Frank Pallone Condemns Chinese Aggression In Ladakh


US Congressman Condemns Chinese Aggression In Ladakh

Indian and Chinese forces have locked in a standoff on their de-facto Himalayan border since May.

Washington:

A senior US Congressman on Friday condemned the Chinese Army’s acts of aggression in India’s Ladakh region resulting in deadly clashes between the two countries along the Line of Actual Control (LAC), alleging that Beijing aims to redraw the settled border by force.

Indian and Chinese troops have been locked in a bitter standoff in several areas along the LAC in eastern Ladakh since May 5. The situation deteriorated last month following the Galwan Valley clashes in which 20 Indian Army personnel were killed and an unconfirmed number of Chinese soldiers died.

“I rise to condemn action taken by the People’s Republic of China, or PRC in Ladakh region of India that led to deadly clashes between the two countries on June 15,” Congressman Frank Pallone said on the floor of the US House of Representatives on Friday.

“Since — the truth is — 1962, the PRC and India have been divided by a 2,100-mile-long Line of Actual Control. In the months leading to this clash, the PRC military reportedly amassed 5,000 soldiers along this boundary… that clearly meant to re-draw long standing settled borders by force and aggression,” Mr Pallone said.

This intention of encroachment and escalatory tactics used by the PRC are consistent with the other provocative actions its forces have taken throughout south and southeast Asia, the Democratic Congressman from New Jersey said.

To counter this, the House of Representatives has passed an amendment that calls on China to cease the military aggression and urges immediate diplomatic action to prevent further escalation of conflict, Mr Pallone said.

“I will continue to work with my colleagues in the Congress to help bolster our vital relationship with India,” the Congressman said.



Source link

National Education Policy 2020: Promotion Of Teachers In National Education Policy, Training Pattern Will Also Change – New Education Policy 2020: शिक्षकों के प्रमोशन में काम का मूल्यांकन, प्रशिक्षण में भी होगा बदलाव


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 30 Jul 2020 10:54 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पारदर्शी बनाई जाएगी। पदोन्नति के योग्यता के साथ ही समय-समय पर कार्य-प्रदर्शन का आकलन भी देखा जाएगा। इसके जरिये शैक्षणिक प्रशासक या शिक्षाविद बनने की व्यवस्था होगी। शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद 2022 तक राष्ट्रीय प्रोफेशनल मानक (एनपीएसटी) बनाएगा। जिसके लिए एनसीईआरटी, एससीईआरटी, शिक्षकों और सभी स्तरों एवं क्षेत्रों के विशेषज्ञ संगठनों से परामर्श होगा।

शिक्षकों के प्रशिक्षण में भी होगा बदलाव

एनसीईआरटी के परामर्श से एनसीटीई अध्यापक शिक्षण के लिए नया और व्यापक राष्ट्रीय पाठ्यक्रम ढांचा बनाया जाएगा। गुणवत्ताविहीन स्वचालित अध्यापक शिक्षण संस्थान (टीईओ) के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उच्च शिक्षण संस्थानों के शिक्षकों को सलाह देने और प्रोफेशनल मदद करने के लिए राष्ट्रीय सलाह मिशन की स्थापना की जाएगी।

शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पारदर्शी बनाई जाएगी। पदोन्नति के योग्यता के साथ ही समय-समय पर कार्य-प्रदर्शन का आकलन भी देखा जाएगा। इसके जरिये शैक्षणिक प्रशासक या शिक्षाविद बनने की व्यवस्था होगी। शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद 2022 तक राष्ट्रीय प्रोफेशनल मानक (एनपीएसटी) बनाएगा। जिसके लिए एनसीईआरटी, एससीईआरटी, शिक्षकों और सभी स्तरों एवं क्षेत्रों के विशेषज्ञ संगठनों से परामर्श होगा।

शिक्षकों के प्रशिक्षण में भी होगा बदलाव

एनसीईआरटी के परामर्श से एनसीटीई अध्यापक शिक्षण के लिए नया और व्यापक राष्ट्रीय पाठ्यक्रम ढांचा बनाया जाएगा। गुणवत्ताविहीन स्वचालित अध्यापक शिक्षण संस्थान (टीईओ) के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उच्च शिक्षण संस्थानों के शिक्षकों को सलाह देने और प्रोफेशनल मदद करने के लिए राष्ट्रीय सलाह मिशन की स्थापना की जाएगी।



Source link

FA Cup final match to be played without fans for the first time – पहली बार बिना फैन्स के खेला जाएगा FA कप का फाइनल मुकाबला



FA Cup - India TV Hindi

Image Source : GETTY
FA Cup 

लंदन| दुनिया के सबसे पुराने फुटबॉल टूर्नामेंटों में से एक एफए कप के फाइनल को कोरोना वायरस के कारण पहली बार दर्शकों के बिना शनिवार को खेला जाएगा। खिताबी मुकाबले में आर्सेनल की टक्कर चेल्सी से होगी लेकिन टूर्नामेंट के 139वीं सत्र के विजेता टीम को ट्राफी देने के लिए ब्रिटिश राजकुमार विलियम मैदान में मौजूद नहीं होंगे।

फाइनल 90,000 दर्शकों की क्षमता वाले वेम्बले स्टेडियम में खेला जाएगा जिसमें खिलाड़ियों और टीमों के सहयोगी सदस्यों के साथ सिर्फ 300 लोगों को मैदान के अंदर जाने की अनुमति मिली है।

मैच शुरु होने से पहले दोनों टीमों के खिलाड़ी नस्लीय अन्याय के खिलाफ अभियान के साथ एकजुटता दिखाने के लिए घुटने के बल बैठेंगे। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Other Sports News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

High-Protein Diet: How To Make Quick And Easy Chicken Tikka With Just 1 Spoon Of Oil


Sprinkle some lemon juice, chaat masala on the tikkas and enjoy with coriander-mint chutney

Highlights

  • We bring you a healthier version of the regular chicken tikka
  • This flavoursome chicken tikka can be a perfect addition to your diet
  • Pair these healthy chicken tikkas with coriander mint chutney and enjoy

Gone are those days when dieting meant living on salads and boiled foods! Over the years, with more and more people getting health conscious, the whole idea of ‘healthy food’ has undergone a huge change to meet the demands of the dieters. Today, you will find several lip-smacking dishes around that strike the right balance between heath and taste in your everyday meal. You ask us, how? All you need to do is, omit or substitute the high-calorie, high-fat ingredients in a recipe with some healthier alternatives.

We bring to you one such example, which tweaks the regular chicken tikka recipe to bring you a healthier and nutritional version of it. It includes a few simple kitchen spices and just one tablespoon of oil. This healthy and flavoursome chicken tikka can be a perfect addition to your diet regime.

Also Read: This Soyabean Masala Recipe Is All About Guilt-Free Indulgence

vj39t128

How To Make Chicken Tikka With 1 Spoon Of Oil | Easy Chicken Tikka Recipe:

Ingredients:

500 gm boneless chicken chunks

Half cup onion (big cubes)

Half cup de-seeded tomatoes (big cubes)

Half cup capsicum (big cubes)

200 gm yogurt

2-3 tbsp tandoori masala (click here for recipe)

1 tbsp ginger-garlic paste

Half tbsp Kashmiri red chilli powder

Half tbsp black pepper powder

Half lemon

Salt as per taste

1 tbsp olive oil or veg oil

Method:

Step 1 – Clean the chicken chunks and rub lemon, ginger-garlic paste and salt on it. Leave for 30 minutes.

Step 2 – Now add yogurt, tandoori masala, black pepper powder, Kashmiri red chilli powder and some more salt (if needed) to the chicken and mix everything well. Add the vegetables too. Close the lid and let the marinated chicken rest for 30-45 minutes.

Step 3 – Add the oil and give a final mix to the marinated chicken.

Step 4 – Heat a frying pan or griddle and start placing the chicken cubes and veggies in small batches and coat them with the marinated masala. Keep it on medium flame and let it cook.

Step 5 – When the chicken turns soft and one side gets cooked, flip it over and let the other side cook.

Step 6 – Once you are satisfied with the texture, switch off the flame and transfer the chicken and the veggies on a serving plate.

Sprinkle some lemon juice and chaat masala on the tikkas and enjoy them with coriander-mint chutney. Click here for the recipe.

Eat healthy and stay safe!

About Somdatta SahaExplorer- this is what Somdatta likes to call herself. Be it in terms of food, people or places, all she craves for is to know the unknown. A simple aglio olio pasta or daal-chawal and a good movie can make her day.



Source link

Coronavirus USA Brazil | Coronavirus Outbreak USA Brazil Iran Japan France Live Today News Updates; July 31st 2020 World Cases Novel Corona COVID-19 Death Toll | ट्रम्प ने कहा- अमेरिका में केस इसलिए ज्यादा हैं, क्योंकि यहां दूसरे देशों से ज्यादा टेस्टिंग हुई; दुनिया में अब तक 1.76 करोड़ केस


  • Hindi News
  • International
  • Coronavirus USA Brazil | Coronavirus Outbreak USA Brazil Iran Japan France Live Today News Updates; July 31st 2020 World Cases Novel Corona COVID 19 Death Toll

वॉशिंगटन2 घंटे पहले

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- अगर हम भी देश में कम टेस्टिंग करते तो केस कम होते। (फाइल फोटो)

  • दुनियाभर में अब तक 6.79 लाख मौतें हुईं, 1.10 करोड़ लोग ठीक हुए
  • अमेरिका में 46 लाख से ज्यादा संक्रमित, अब तक 1.55 लाख मौतें हुईं

दुनिया में कोरोनावायरस से संक्रमण के अब तक 1 करोड़ 76 लाख 16 हजार 627 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 10 लाख 16 हजार 901 ठीक भी हो चुके हैं। वहीं, 6 लाख 79 हजार 487 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने एक बार देश में केस ज्यादा होने को लेकर अपना बचाव किया है। उन्होंने कहा कि यहां मामले इसलिए ज्यादा हैं, क्योंकि टेस्टिंग ज्यादा हुई है। उन्होंने ट्वीट क्या- कोई सांसद क्लाइबर्न को बताए, जिन्हें इसका बिल्कुल अंदाजा नहीं है कि केस यूरोप से ज्यादा होने का कारण ज्यादा उनसे ज्यादा टेस्टिंग होना है। अगर हम भी कम टेस्टिंग करते तो केस कम होते।

वियतनाम में शुक्रवार को कोरोना से पहली मौत हुई। देश में काफी हद तक संक्रमण पर काबू पा लिया गया था। हालांकि, यहां के डानांग शहर में फिर से मामले बढ़ने लगे हैं। देश में अब तक 546 लोग संक्रमित हो चुके हैं।

10 देश जहां कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 46,63,387 1,55,881 22,87,627
ब्राजील 26,25,612 91,607 18,24,095
भारत 16,93,879 36,548 10,93,747
रूस 8,39,981 13,963 6,38,410
द.अफ्रीका 4,82,169 7,812 3,09,601
मैक्सिको 4,16,179 46,000 2,72,187
पेरू 4,07,492 19,021 2,83,915
चिली 3,53,536 9,377 3,26,628
स्पेन 3,35,602 28,443 उपलब्ध नहीं
ईरान 3,04,204 16,766 2,63,519

जापान: टोक्यो में इमरजेंसी लग सकता है

जापान की राजधानी टोक्यो की गवर्नर यूरिको कोइके ने शुक्रवार को कहा कि महामारी के चलते अगर शहर के हालात बिगड़े तो फिर से इमरजेंसी लगाया जा सकता है। यहां 20 और 30 साल के लोगों में भी संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। जुलाई में शहर में 6466 मामले मिले हैं।

फोटो टोक्यो के रेलवे स्टेशन की है। महामारी के बीच लोग मास्क पहनकर काम पर जा रहे हैं। जापान में 33 हजार से ज्यादा केस मिल चुके हैं।

ब्राजील: राष्ट्रपति के फेफड़ों में इंफेक्शन

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने कहा है कि उनके फेफड़ों में मोल्ड है। उन्होंने कहा कि वह कमजोर महसूस कर रहे हैं। इस समय वे एंटीबायोटिक्स ले रहे हैं। फेफड़ों की खाली जगह में बैक्टीरिया या फंगल स्पोर बनने को मोल्ड कहते हैं। इससे टीबी भी हो सकती है। इससे पहले बोल्सोनारो कोरोनावायरस की चपेट में भी आ गए थे। 20 दिन के बाद पिछले शनिवार को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। उनकी पत्नी फर्स्ट लेडी मिशेल बोल्सोनारो भी गुरुवार को संक्रमित पाई गईं थी।

ब्राजीव के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो 7 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव मिले थे। 20 दिन के बाद पिछले शनिवार को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

हॉन्गकॉन्ग: लेजिस्लेटिव काउंसिल के चुनाव टाले गए

हॉन्गकॉन्ग की नेता कैरी लेम ने कोरोना के चलते लेजिस्लेटिव काउंसिल का इलेक्शन स्थगित कर दिया है। यहां 6 सितंबर को चुनाव होनी थी। हॉन्गकॉन्ग में शुक्रवार को 121 संक्रमित मिले। इनमें 118 मामले स्थानीय लोगों में सामने आए हैं। यहां अब तक 3273 मरीज मिल चुके हैं, जबकि 27 की मौ हो चुकी है।

अमेरिका: दो वैक्सीन के फेज-3 का ट्रायल शुरू

अमेरिका में कोविड-19 की दो वैक्सीन के फेज-3 का ट्रायल शुरू हो चुका है। गुरुवार को सैकड़ों लोगों को इसका टीका लगाया गया। हालांकि, कितने लोगों को वैक्सीन दी गई हैं अभी इसका पता नहीं चला है। ये वैक्सीन बॉयोटेक्नोलॉजी कंपनी मॉडर्ना और फाइजर ने बनाई हैं। अधिकारियों ने बताया कि यह एक अप्रत्याशित स्थिति है। हमें नहीं पता कि ये वैक्सीन कितना अच्छा काम करने वाली हैं।

  • अमेरिका के न्यूयॉर्क में कोरोना पॉजिटिव पाए गए एक जर्मन शेफर्ड कुत्ते को मार दिया गया है। कुत्ते को खून की उल्टियां हो रहीं थीं।
  • अमेरिकी के पूर्व राष्ट्रपति उम्मीदवार हरमन केन की कोरोनावायरस से मौत हो गई है। वे 74 साल के थे। केन कैंसर की बीमारी से भी पीड़ित थे और इसके इलाज के लिए उन्हें पिछले महीने अटलांटा के एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। केन 2012 में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार थे। ट्रम्प ने भी उनकी मौत पर दुख जताया है।

हरमन केन ने 2012 में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी पेश की थी। -फाइल फोटो

ब्रिटेन: 300 लोगों को वैक्सीन दी गई
ब्रिटेन के इम्पीरियल कॉलेज लंदन ने 300 लोगों को प्रयोग के तौर पर कोरोनावायरस वैक्सीन का टीका लगाया। इससे पहले वैक्सीन का कुछ लोगों पर ट्रायल भी किया गया था। पॉजिटिव रिजल्ट मिलने पर 300 लोगों पर इसका ट्रायल किया गया है। ब्रिटेन में अब तक कोरोना संक्रमण के तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। 45 हजार से ज्यादा की जान भी जा चुकी है।

ब्राजील: कोरोना के 57,837 नए मामले
ब्राजील में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 57,837 नए मामले आए। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 26 लाख 13 हजार 789 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 91 हजार 377 लोगों की जान भी गई है। महामारी की शुरुआत से अब तक 18 लाख से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके है।

ब्राजील के साओ पाउलो में एक टेस्टिंग सेंटर पर कोविड-19 के लिए सैंपल देती युवती। यहां 91 हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है

मैक्सिको: संक्रमण से 46 हजार मौतें
मैक्सिको में पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 639 लोगों की मौत हुई है। यहां अब तक संक्रमण से 46 हजार लोगों की जान जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक 4 लाख 16 हजार 179 लोग संक्रमित हो चुके हैं। बुधवार को यहां संक्रमण के रिकॉर्ड 5752 मामले आए थे।

मैक्सिको सिटी में कोरोना मरीज की मौत के बाद उसे यहां के सैन लॉरेंजो टेजोंको कब्रिस्तान में दफनाने ले जाते वर्कर।

चीन: कोरोना के 127 नए मामले
चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 127 नए मामले आए हैं, इनमें 123 लोकल ट्रांसमिशन के मामले हैं। लोकल ट्रांसमिशन में शिनजियांग में 112 और लियाओनिंग प्रांत में 11 मामले सामने आए हैं।

वियतनाम: कोरोना से पहली मौत
वियतनाम में कोरोनावायरस से पहली मौत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक यहां के होई एन शहर में संक्रमित 70 साल के बुजुर्ग ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया। देश में अब तक संक्रमण के 509 मामले सामने आए हैं।

0



Source link

Yahoo Messenger Services To Shut Down From 17th July Onwards Mk | 17 जुलाई से बंद हो जाएगा सबसे पुराना मैसेजिंग ऐप याहू मैसेंजर


17 जुलाई से बंद हो जाएगा सबसे पुराना मैसेजिंग ऐप याहू मैसेंजर



दोस्तों और परिचितों से कनेक्टेड (जुड़े) रहने का सोशल मीडिया का सबसे पुराना मीडियम याहू मैसेंजर अब इतिहास होने के कगार पर है. दिग्गज दूरसंचार कंपनी वेरीजोन ने 17 जुलाई से याहू मैसेंजर की सेवाओं को बंद करने की घोषणा की है. याहू मैसेंजर वेब मैसेजिंग ऐप के मामले में सबसे पुराना ऐप है.

याहू ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, याहू मैसेंजर को 17 जुलाई, 2018 से बंद कर दिया जाएगा. तब तक यूजर्स नॉर्मल रूप से इसकी सेवा का उपयोग कर सकते हैं. 17 जुलाई के बाद आप इस पर चैट नहीं कर सकेंगे और यह कार्य करना बंद कर देगी. कंपनी ने कहा, वर्तमान में याहू मैसेंजर के विकल्प के लिए कोई और प्रोडक्ट उपलब्ध नहीं है.

कंपनी ने कहा, वह लगातार नई सेवाओं और ऐप्स के साथ प्रयोग कर रहे हैं, जिसमें से एक ‘याहू स्क्विरल‘ नाम का ऐप भी है, फिलहाल यह बीटा फॉर्म में है. ‘स्क्विरल’ एक ग्रुप मैसेजिंग ऐप है. याहू ने पिछले महीने से इसकी टेस्टिंग शुरू की है. याहू ने कहा कि अगले 6 महीने तक यूजर्स अपने पर्सनल कंप्यूटर या उपकरण में अपना चैट इतिहास डाउनलोड कर पाएंगे.

इसके (याहू मैसेंजर) सभी यूजर्स को नए मैसेजिंग स्क्विरल पर शिफ्ट किया जाएगा.

Yahoo Messenger

1998 में लॉन्च हुआ याहू मैसेंजर सोशल मीडिया का सबसे पुराना मैसेजिंग ऐप है (फोटो: फेसबुक से साभार)

बहरहाल, कयास लगाए जा रहे हैं कि बीते समय के दौरान आए मैसेजिंग ऐप स्नैपचैट, वी चैट और फेसबुक के व्हाटसएप से तगड़ी चुनौती मिल रही थी. इसके बंद होने के पीछे इसे एक बड़ी वजह समझी जा रही है. 1998 में सबसे पहले ‘याहू पेजर’ के रूप में याहू मैसेंजर को लॉन्च किया गया था. मोबाइल डिवाइस पर इसे ईमेल और एसएमएस के विकल्प के तौर पर पेश किया गया था.





Source link

Modi Govt Social Welfare Scheme For Tribal Youths – युवाओं के लिए मोदी सरकार की नई स्कीम, ऐसे होगा फायदा, जानिए डिटेल्स


इस प्रोग्राम का उद्देश्य युवाओं को डिजिटल स्किल्ड बनाना है। इससे वे घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजार को समझकर बिजनेस करने के नए रास्ते सीख सकेंगे।

केंद्रीय जनजाति मामलात मंत्रालय और फेसबुक ने हाल ही एक पार्टनरशिप प्रोग्राम शुरू किया है। गोल (गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स) नामक इस प्रोग्राम को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि जनजातीय युवाओं को डिजिटल मोड के माध्यम से मेंटरशिप उपलब्ध करवाई जाएगी। इस तरह से जनजातीय युवाओं की छुपी हुई प्रतिभा को बाहर लाने में मदद मिलेगी। इससे उनके व्यक्तित्व का विकास होगा और वे अपने समाज को आगे ले जाने में सक्रिय तथा सकारात्मक भूमिका निभा सकेंगे। कोरोना महामारी के बाद की स्थितियों में डिजिटल साक्षरता का महत्व काफी बढ़ गया है। इससे आदिवासी युवाओं को मुख्यधारा से जुडऩे का अच्छा अवसर मिल सकेगा।

आगे बढऩे के नए रास्ते सीखेंगे
इस प्रोग्राम का उद्देश्य पांच हजार आदिवासी युवाओं को डिजिटल स्किल्ड बनाना है। इससे वे घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजार को समझकर बिजनेस करने के नए रास्ते सीख सकेंगे। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि आदिवासी युवक और युवतियां उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण, मधुमक्खी पालन, आदिवासी कला व संस्कृति, चिकित्सकीय औषधियों और उद्यमिता जैसे विभिन्न क्षेत्रों के बारे में मेंटरशिप से स्किल व ज्ञान प्राप्त कर पाएंगे। पांच हजार युवाओं को प्रशिक्षण देने के बाद भी इस प्रोग्राम का विस्तार किया जा सकेगा और आदिवासी युवाओं को अपने लक्ष्य हासिल करने में मदद की जाएगी।

कर सकते हैं आवेदन
इस तरह के यूनीक प्रोग्राम से आदिवासी युवा अपनी प्रतिभा को संवार सकेंगे और वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर बन सकेंगे। इस बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए आप वेबसाइट http://goal.tribal.gov.in/ पर जा सकते हैं। यहां आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 है। इंडस्ट्री और अकादमिक लीडर्स भी मेंटर के रूप में यहां पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस प्रोग्राम के तहत 28 सप्ताह की मेंटरशिप होगी और 8 सप्ताह की इंटर्नशिप। यह प्रोग्राम खासतौर पर तीन क्षेत्रों पर फोकस करेगा- डिजिटल स्किल्स, लाइफ स्किल्स और एंटरप्रेन्योरशिप।







Show More













Source link

US Charges 3 People For Roles In Twitter Hack That Hit High-Profile Users


US Charges 3 People For Roles In Twitter Hack That Hit High-Profile Users

The attack targeted accounts of famous people such as Bill Gates, Elon Musk and Barack Obama.

San Francisco:

US prosecutors on Friday announced they have charged three people, one of them from Britain, for roles in hijacking celebrity Twitter accounts and tricking people out of money.

The US attorney’s office in California said 19-year-old Mason “Chaewon” Sheppard of Britain along with Nima Fazeli, 22, of Florida were facing criminal charges in the case.

Details about the third individual were not released by US officials, but state prosecutors in Florida separately announced criminal charges against a 17-year-old accused of masterminding the massive hack of high-profile Twitter users.

The attack on Twitter involved a combination of “technical breaches and social engineering” that let hackers hijack accounts of politicians, celebrities, and musicians, according to federal prosecutors.

The three defendants are accused of hacking Twitter accounts, creating a scam Bitcoin account, and sending out imposter tweets from hijacked account offering to double cryptocurrency deposits.

“This case serves as a great example of how following the money, international collaboration, and public-private partnerships can work to successfully take down a perceived anonymous criminal enterprise,” said IRS criminal investigation special agent Kelly Jackson.

State Prosecutors in Florida said they filed 30 felony counts against a 17-year-old Florida resident they described as the “mastermind” of the cyberattack.

The you, arrested in Tampa, will be tried as an adult in Florida, Hillsborough State Attorney Andrew Warren said.

The attack which Twitter said resulted from a “phone spear phishing” attack enabled hackers to take control of accounts of famous people such as Bill Gates, Elon Musk and former US president Barack Obama and dupe people into sending Bitcoin.

“These crimes were perpetrated using the names of famous people and celebrities, but they’re not the primary victims here,” Warren said in a release.

“This ‘Bit-Con’ was designed to steal money from regular Americans from all over the country.”

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a syndicated feed.)



Source link

Irfan Ansari Banned From All Cricket For 10 Years Found Guilty Of Breaching Three Counts Of The Icc Anti Corruption Code Sks | पाक कप्तान सरफराज अहमद से ‘भ्रष्ट संपर्क’ करने वाले कोच पर दस साल का बैन

पाक कप्तान सरफराज अहमद से ‘भ्रष्ट संपर्क’ करने वाले कोच पर दस साल का बैन


पाक कप्तान सरफराज अहमद से ‘भ्रष्ट संपर्क’ करने वाले कोच पर दस साल का बैन



अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बुधवार को यूएई में रहने वाले कोच इरफान अंसारी (Irfan Ansari)  को दस साल के लिए प्रतिबंधित (बैन) कर दिया. अंसारी को 2017 में पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद से ‘भ्रष्ट संपर्क’ करने का दोषी पाया गया है. आईसीसी ने बयान में कहा कि आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी पंचाट (Anti-Corruption Tribunal) ने अंसारी को दुबई में सुनवाई के दौरान भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तीन नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया जिसके बाद उन पर प्रतिबंध लगाया गया.

पाकिस्तान क्रिकेट टीम से जुड़े होने और यूएई के घरेलू क्रिकेट में हिस्सा लेने वाली दो टीमों का कोच होने के कारण अंसारी आईसीसी की संहिता से बंधे हुए हैं. आईसीसी के एसीयू महाप्रबंधक एलेक्स मार्शल ने कहा, ‘मैं सरफराज अहमद को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने इस संपर्क की जानकारी देकर असली नेतृत्व क्षमता और पेशेवर रवैया दिखाया. उन्होंने पहचाना कि यह क्या है, इसे खारिज किया और शिकायत की. उसने इसके बाद हमारी जांच और फिर पंचाट में सहयोग किया.’

ये भी पढ़ें- NZ vs BAN: रॉस टेलर के रिकॉर्ड अर्धशतक से न्यूजीलैंड ने किया क्लीन स्वीप

अंसारी ने अक्टूबर 2017 में यूएई में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के दौरान सरफराज से संपर्क किया था. उनका इरादा सरफराज से जानकारियां निकालकर उन्हें भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल करने का था. सरफराज ने तुरंत इसकी शिकायत की जिसके बाद आईसीसी एसीयू ने जांच शुरू की. मीडिया में आई खबरों के अनुसार अंसारी ने 30 साल तक शारजाह क्रिकेट परिषद के साथ काम किया और वह शारजाह क्रिकेट क्लब के मुख्य कोच थे.

ये भी पढ़ें- क्लाइव लॉयड के लिए क्यों खास है पहले वर्ल्ड कप की खिताबी जीत

(फोटो साभार- गल्फ न्यूज)





Source link

38 Dead From Spurious Liquor In Punjab, CM Amarinder Singh Orders High-Level Probe; 8 Arrested So Far



New Delhi:  Punjab Chief Minister Amarinder Singh ordered a high-level probe after thirty-two people died in Punjab’s three districts allegedly after drinking spurious liquor. The deaths took place in Punjab’s Amritsar, Batala, and Tarn Taran districts since Wednesday night, an official statement said as mentioned by PTI.

The senior Congress leader later tweeted that the guilty will not be spared. Eight accused have been arrested in the case.

The death toll increased to 38 by Friday night. While 13 people died in Tarn Taran, 11 died in Amritsar and eight in Batala.

Eight people have been arrested so far in connection with the deaths. The police have arrested Balwinder Kaur, a resident of Muchhal village, under Section 304 of the IPC (punishment for culpable homicide not amounting to murder) and under provisions of the Excise Act, said the DGP.

Punjab Director General of Police (DGP) Dinkar Gupta said the first five fatalities were reported from Mucchal and Tangra villages in Amritsar’s Tarsikka on the night of July 29.

On Friday, five people died in Batala, taking the death toll in the city to seven, said Gupta, adding that four fatalities were reported from Tarn Taran.

Singh has the directed police to launch a search operation to crack down on any illegal liquor manufacturing unit operating in Punjab.

The inquiry will be conducted by the Jalandhar Divisional Commissioner along with the Punjab Joint Excise and Taxation Commissioner and the SP (Investigation) in the concerned districts.

Dinkar Gupta said a huge quantity of toxic liquor, drums, storage cans, etc have been recovered from the accused and the same has been sent for chemical analysis to check for constituents of the illegal liquor, a government statement said, adding, more arrests are likely.





Source link

Sudarshan Kriya reduced stress and depression in students, increased positive thinking; Improved mental health | आर्ट ऑफ लिविंग की सुदर्शन क्रिया से छात्रों में टेंशन- डिप्रेशन घटा, सकारात्मक सोच के साथ मन की स्थिति बेहतर हुई


  • Hindi News
  • Happylife
  • Sudarshan Kriya Reduced Stress And Depression In Students, Increased Positive Thinking; Improved Mental Health

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सुदर्शन क्रिया एक लयबद्ध श्वसन तकनीक है जो नींद के चक्र को सुधारने और फील गुड हार्मोन्स रिलीज करने में मददगार है

गुरुदेव श्रीश्री रविशंकर द्वारा प्रचलित की गई आर्ट ऑफ लिविंग की सुदर्शन क्रिया तनाव बेचैनी को घटने के साथ मन में सकारात्मक विचारों का प्रवाह बढ़ाती है। येल यूनिवर्सिटी की रिसर्च में यह बात सामने आई है। रिसर्च के मुताबिक, सांस लेने की इस खास तकनीक यानी सुदर्शन क्रिया से छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हुआ।

फ्रंटियर्स इन साइकियाट्री जर्नल के मुताबिक, छात्रों को स्वास्थ्य के 6 क्षेत्रों अवसाद, तनाव, मानसिक स्वास्थ्य, सचेतन अवस्था, सकारात्मक प्रभाव और सामाजिक जुड़ाव में सुधार देखा गया।

सुदर्शन क्रिया से पूर्व किए जाने वाला प्राणायाम जिसमें तीन स्थितियां होती हैं।

क्या है सुदर्शन क्रिया
सुदर्शन क्रिया एक लयबद्ध श्वसन तकनीक है, जो आर्ट ऑफ लिविंग के कार्यक्रमों में सिखाई जाती है। जो जीव कोषीय स्तर पर तनाव और भावनात्मक विष को दूर करती है। शोध यह दर्शाता है कि यह तकनीक नींद के चक्र को सुधारने, हैप्पी और फील गुड हार्मोन्स जैसे – ऑक्सीटोसिन के स्राव को सुधारने, तनाव उत्पन्न करने वाले हार्मोन्स,जैसे – कॉर्टिसोल के स्राव को कम करने का काम करती है। यह सजगता को बढ़ाने और चिकित्सीय अवसाद लक्षणों को कम करने में मदद करती है।

8 हफ्तों में 135 स्टूडेंट्स पर हुई स्टडी
फ्रंटियर्स इन साइकियाट्रिक जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, कठिन परिस्थिति से उबरने के लिए ऐसे कार्यक्रम मददगार साबित हुए हैं। इन प्रोग्राम्स का परीक्षण 8 हफ्तों तक 135 अंडरग्रेजुएट विद्यार्थियों पर किया गया और परिणामों की तुलना उन नियंत्रित अंडरग्रेजुएट विद्यार्थियों के समूह से की गई, जिन्होंने ऐसे प्रोग्राम्स में हिस्सा नहीं लिया था।

सुदर्शन क्रिया में ऐसे मुख्य चरण होते हैं।

तीन वेलनेस प्रोग्राम के आधार पर मूल्यांकन किया

  • शोधकर्ताओं के मुताबिक, नियंत्रित समूह की तुलना में एसकेवाई (सुदर्शन क्रिया योग) कैंपस हैप्पीनेस ने काफी सुधार दिखा। रिसर्च में शामिल स्टूडेंट्स को अवसाद, तनाव, सचेतन, अवस्था, सकारात्मक प्रभाव और सामाजिक जुड़ाव जैसी छह स्थितियों में मदद मिली।
  • येल चाइल्ड स्टडी सेंटर और येल सेंटर फॉर इमोशनल इंटेलिजेंस की शोध टीम ने क्लासरूम में हुए तीन वेलनेस ट्रेनिंग प्रोग्राम के आधार पर मूल्यांकन किया। इन सभी प्रोग्राम्स में श्वसन और भावनात्मक बुद्धिमत्ता की रणनीति शामिल थीं।

0



Source link

iPhone 12 आने में हो सकती है देरी! दिवाली तक होगी भारतीय बाजार में एंट्री | tech – News in Hindi


iPhone 12 आने में हो सकती है देरी! दिवाली तक होगी भारतीय बाजार में एंट्री

आईफोन 12 के आने में हो सकती है देरी

Apple का नया स्मार्टफोन iPhone 12 के भारतीय बाजार में आने में एक दो हफ्ते की देरी हो सकती है. iPhone मॉडल आमतौर पर अमेरिकी बाजार में आने के एक हफ्ते बाद भारतीय स्टोर में आते हैं.

Apple का नया स्मार्टफोन iPhone 12 काफी दिनों से चर्चा में है. Apple ने Q3 अर्निंग्स कॉल में इस बात की पुष्टि की है कि फोन की सप्लाई में कुछ हफ़्तों की देरी हो सकती है. इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि iPhone 12 की सितंबर तक स्टोर में उपलब्ध होने की संभावना कम है. कंपनी का कहना है कि मिड अक्टूबर तक यह बिक्री के लिए स्टोर में उपलब्ध हो सकता है. नए iPhone मॉडल आमतौर पर अमेरिकी बाजार में आने के एक हफ्ते बाद भारतीय स्टोर में आते हैं. जैसे कि iPhone 11 मॉडल 20 सितंबर को अमेरिका के स्टोर में और 27 सितंबर को भारतीय स्टोर आ गए थे.

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि अमेरिका में देरी से भारत के बाजार में रोल आउट होने में देरी होगी. इस देरी का मतलब है वैश्विक देरी. यदि भारत में रिलीज़ में 2-3 सप्ताह की देरी होती है, तो यह Apple को बहुत प्रभावित नहीं करेगा. techARC के संस्थापक और मुख्य विश्लेषक फैसल कावोसा ने कहा कि अक्टूबर वह समय जब भारत त्योहारी सीजन होता है. इसलिए देरी का असर तो मार्केट पर पड़ेगा ही.

ये भी पढ़ें :- Samsung के UV Sterilizer डिवाइस से मोबाइल, चश्मे समेत एक्सेसरीज होगी सैनिटाइज, कीमत है 3,599 रु

हालांकि Apple ने देरी का कारण नहीं बताया, अनाम स्रोतों के आधार पर निक्केई एशियन रिव्यू की एक जुलाई की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी कंपनी को आईफोन 12 मॉडल के उत्पादन में चार सप्ताह से दो महीने तक की देरी का सामना करना पड़ रहा है. इसे इस साल लॉन्च करने की योजना है. यह देरी कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन से हुई है. फोन की कुछ टेस्टिंग अभी भी चल रही है, नए आईफ़ोन के अंतिम डिज़ाइन की पुष्टि अभी तक नहीं की गई है.ये भी पढ़ें :- Oppo Reno4 Pro भारत में हुआ लॉन्च! जबदस्त स्टोरेज, नई चार्जिंग टेक्नॉलजी के साथ मिलेंगे कई फीचर्स

एक रिपोर्ट के मुताबिक, iPhone 12 की शुरुआती कीमत 649 डॉलर (करीब 48,500 रुपये), iPhone 12 Max की शुरुआती कीमत 749 डॉलर (करीब 56,000 रुपये), iPhone 12 Pro की शुरुआती कीमत 999 डॉलर (करीब 74,600 रुपये) और iPhone 12 Pro Max की शुरुआती कीमत 1,099 डॉलर (करीब 82,000 रुपये) हो सकती है. साइबरमीडिया रिसर्च की जून तिमाही की रिपोर्ट के अनुसार, Apple वर्तमान में भारत में आठवां प्रमुख स्मार्टफोन विक्रेता है.





Source link

Blast In Bhadohi Of Uttar Pradesh 13 Killed | यूपी: भदोही में हुए धमाके ने ली 13 लोगों की जान, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी


यूपी: भदोही में हुए धमाके ने ली 13 लोगों की जान, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी



यूपी के भदोही में शनिवार को एक मकान में भीषण विस्फोट हुआ. इस हादसे में 13 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. वहीं मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही हैं. एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है. दबे लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. एटीएस और बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंच गया है.

आईजी पीयूष श्रीवास्तव ने 10 लोगों की मौत की पुष्टि की थी. इसके बाद आंकड़ा बढ़कर 13 हो गया. आशंका जताई जा रही है कि पटाखों के बारूद से यह विस्फोट हुआ है. हादसे के बाद चारों तरफ चीख पुकार मची हुई है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच में जुट गई है.

घटना चौरी क्षेत्र के रोटहां गांव की है. जहां एक पटाखा व्यवसायी के घर में विस्फोट हो गया है. पूरा मकान ध्वस्त हो गया है. जानकारी के मुताबिक भदोही-बाबतपुर मार्ग पर चौरी क्षेत्र के रोटहां गांव निवासी इरफान मंसूरी पटाखों को बनाने और बेचने का काम करता था. उसने अपने मकान में ही पटाखों की दुकान खोल रखी थी. वहीं, मकान के पिछले हिस्से में कालीन बुनाई का कारखाना चलता था. इस दौरान मकान में अचानक भीषण विस्फोट हो गया.

जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि इस घटना में  इरफान (28) सहित 10 लोगों की मौत हो गई. जबकि एक वृद्धा और एक बालक समेत तीन लोग घायल हो गए. विस्फोट में पड़ोसी मुदस्सिर का मकान भी ध्वस्त हो गया है. बताया जा रहा है कि विस्फोट इतना भीषण था कि शवों और मकान में मौजूद सामान के चिथड़े 400 मीटर दूर तक उड़कर गिरे. आसपास के कई मकानों के शीशे चिटक गए और सड़क के दूसरी ओर स्थित 10 फ़ीट ऊंची चहारदीवारी भरभराकर गिर गई.

मौके पर पुलिस और प्रशासन मौजूद है और रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. वहीं, ग्रामीणों ने मौके पर पहुंच कर मलबे से चार लोगों के शव निकाले हैं. लोगों के मुताबिक अभी मलबे में लगभग छह लोगों के दबे होने की आशंका है. इससे माना जा रहा है कि मौतों की संख्या बढ़ सकती है.

(न्यूज़ 18 के लिए दिनेश पटेल की रिपोर्ट)





Source link

Translate »
You cannot copy content of this page