2 Plus 2 Dialogue Live Updates Mark Esper Mike Pompeo Rajnath Singh S Jaishankar Agreement China Standoff Modi – 2+2 वार्ता Live: भारत और अमेरिका ने Beca समझौते पर किए हस्ताक्षर, राजनाथ सिंह ने जताई खुशी


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Tue, 27 Oct 2020 11:38 AM IST

भारत और अमेरिका के बीच टू प्लस टू वार्ता शुरू हो गई है
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

खास बातें

भारत और अमेरिका के बीच नई दिल्ली में दो दिवसीय टू प्लस टू वार्ता जारी है। इस दौरान दोनों देशों ने BECA समझौता (बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपरेशन एग्रीमेंट) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। इस समझौते से दोनों देशों के बीच सूचनाओं को साझा करने में और भी आसानी होगी। सिर्फ यही नहीं इसके अलावा भी कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए जा सकते हैं। बैठक में शामिल होने के लिए अमेरिकी रक्षा और विदेश मंत्री सोमवार को भारत पहुंच गए थे। यब बैठक ऐसे समय पर हो रही है जब भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनातनी जारी है। ऐसे में चीन की नजर भी भारत और अमेरिका के बीच हो रही इस बैठक पर है। वहीं दूसरी ओर अमेरिकी रक्षा और विदेश मंत्री ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यहां पढ़ें हैदराबाद हाउस में भारत और अमेरिका के बीच हो रही इस वार्ता से जुड़े अपडेट्स-

लाइव अपडेट

11:37 AM, 27-Oct-2020

एनएसए डोभाल ने भी की अमेरिका के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री के साथ बैठक

दिल्ली: एनएसए अजीत डोभाल ने भी साउथ ब्लॉक में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ बैठक की। सूत्रों के मुताबिक, यह बैठक काफी रचनात्मक रही और इस दौरान रणनीतिक महत्व के मुद्दों और चुनौतियों पर चर्चा हुई।

 





Source link

पाकिस्तान के मदरसे में ब्लॉस्ट, 7 की मौत और कई बच्चों सहित 70 घायल



पाकिस्तान के मदरसे में ब्लॉस्ट की खबर है और इस दुर्घटना में 7 लोगों के मारे जाने और करीब 70 लोगों के घायल होने की आशंका है और घालयों में मदरसे के अंदर पढ़ने वाले कई बच्चे भी शामिल हैं



Source link

asymptomatic covid-19 People losing early antibodies: study – लक्षणरहित कोविड-19 पीड़ित जल्दी खो देते हैं एन्टीबॉडी : अध्ययन


लक्षणरहित कोविड-19 पीड़ित जल्दी खो देते हैं एन्टीबॉडी : अध्ययन

लंदन:

ब्रिटेन के एक अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों में कोविड-19 के लक्षण पाए जा चुके हैं, उनकी तुलना में लक्षणरहित कोरोनावायरस पीड़ित लोगों में एंटीबॉडी जल्द ही खत्म हो जाती है. इंपीरियल कॉलेज लंदन और बाजार अनुसंधान फर्म इप्सोस मोरी (Imperial College London and market research firm Ipsos Mori) के निष्कर्षों से यह भी पता चला है कि एंटीबॉडी की हानि 75 से अधिक आयु वर्ग के लोगों की तुलना में 18-24 वर्ष के बच्चों में कम थी. कुल मिलाकर, मध्य-जून और सितंबर के अंत के बीच इंग्लैंड भर में सैकड़ों हजारों लोगों के नमूनों में एक चौथाई से अधिक वायरस एंटीबॉडी के प्रसार में गिरावट देखी गई. ब्रिटिश सरकार द्वारा कमीशन और इम्पीरियल द्वारा मंगलवार को प्रकाशित किया गया शोध, संक्रमण के बाद समय के साथ कोविड -19 के प्रति लोगों की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को दर्शाता है.

यह भी पढ़ें

Coronavirus India Updates: भारत में अब रिकवरी रेट 90.23 और डेथ रेट 1.5 प्रतिशत हुआ

एक जूनियर स्वास्थ्य मंत्री, जेम्स बेथेल (James Bethell), ने इसे “अनुसंधान का एक महत्वपूर्ण टुकड़ा कहा, जो हमें समय के साथ कोविड -19 एंटीबॉडी की प्रकृति को समझने में मदद करता है”. लेकिन वैज्ञानिकों ने चेतावनी देते हुए कहा, कि वायरस के प्रति लोगों की दीर्घकालिक एंटीबॉडी प्रतिक्रिया के बारे में बहुत कुछ अज्ञात है. इम्पीरियल स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ (Imperial’s School of Public Health) के पॉल इलियट (Paul Elliott) ने कहा, “यह स्पष्ट नहीं है कि इम्यूनिटी एंटीबॉडीज का स्तर किस स्तर पर है या यह प्रतिरक्षा कितने समय तक चलती है.” इस अध्ययन में 365,000 चुने गए वयस्कों को शामिल किया गया, जो 20 जून से 28 सितंबर के बीच कोरोनोवायरस एंटीबॉडीज के लिए घर पर तीन राउंड फिंगर प्रिक टेस्ट करवा चुके थे. परिणामों से पता चला कि एंटीबॉडी वाले लोगों की संख्या लगभग तीन महीने की अवधि में 26.5 प्रतिशत कम हो गई है.

अब अमेरिका के चुनाव में भी कोरोना की ‘मुफ्त वैक्सीन’ का दांव, जो बाइडेन ने किया वादा

अध्ययन के अनुसार, देशव्यापी स्तर तक इसका मतलब था कि एंटीबॉडी वाली अंग्रेजी आबादी का अनुपात 6.0 प्रतिशत से घटकर 4.4 प्रतिशत हो गया. एक महीने पहले हुए राष्ट्रीय बंद के बाद पूरे इंग्लैंड में – और इंग्लैंड के बाकी हिस्सों में नाटकीय रूप से गिरने वाले वायरस के प्रसार के साथ गिरावट आई, जिसे गर्मियों में कम किया गया था. हालांकि, अनुसंधान में पाया गया कि एंटीबॉडी के लिए सकारात्मक परीक्षण करने वाले स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों की संख्या समय के साथ नहीं बदली, संभवतः बार-बार प्रतिबिंबित हो रही है, या उच्च प्रारंभिक, वायरस के संपर्क में है. प्रमुख लेखकों में से एक हेलेन वार्ड ने कहा, “इस बड़े अध्ययन से पता चला है कि एंटीबॉडी पता लगाने वाले लोगों का अनुपात समय के साथ गिर रहा है.”

भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन को तीसरे फेज के ट्रायल की मिली मंजूरी



Source link

Bihar Election Voting Day Rules 2020 | Bihar Coronavirus EC Guidelines Update | What are the Bihar ChunavVoting timings? Complete guideline Voting Day Rules | बिहार में पहले फेज की 71 सीटों पर मतदान कल, 7.29 करोड़ वोटरों में से 2.14 करोड़ लोग वोट डालेंगे


  • Hindi News
  • Bihar election
  • Bihar Election Voting Day Rules 2020 | Bihar Coronavirus EC Guidelines Update | What Are The Bihar ChunavVoting Timings? Complete Guideline Voting Day Rules

पटना22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आपको पता है न्यूजीलैंड में 34.87 लाख वोटर हैं, जहां महीनेभर पहले चुनाव हुए हैं। अब आप सोचेंगे कि बिहार में न्यूजीलैंड की बात क्यों? ऐसा इसलिए ताकि आप समझ सकें कि बिहार में जो चुनाव होने जा रहा है, वो कोरोना काल में दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव है।

बिहार में कुल 7.29 करोड़ वोटर हैं। पहले फेज की जिन 71 सीटों पर कल वोटिंग होनी है, वहां 2.14 करोड़ से ज्यादा वोटर हैं। यानी न्यूजीलैंड से 6 गुना ज्यादा। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि क्यों बिहार चुनाव सबसे बड़ा चुनाव है। अप्रैल में दक्षिण कोरिया में भी एक चुनाव हुआ था। यहां भी कुल 4.39 करोड़ वोटर थे।

कोरोना के इस दौर में होने जा रहे पहले चुनाव में वोट डालना भी जरूरी है और अपनी सेहत का ध्यान रखना भी। आप वोट भी डाल सकें और सेहत भी सही बनी रहे, इसके लिए चुनाव आयोग ने कुछ गाइडलाइन बनाई है। मसलन, वोटिंग से पहले ही पोलिंग बूथ सैनिटाइज किया जाएगा। पोलिंग बूथ पर सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे, इसके लिए 6-6 फीट की दूरी पर सर्कल बनाए जाएंगे। क्योंकि आज पहले फेज की वोटिंग है, तो जाहिर है कि आप भी वोट डालने जा ही रहे होंगे। लेकिन, वोटिंग पर जाने से पहले जान लें कि चुनाव आयोग की गाइडलाइन क्या-क्या है?



Source link

Neet Counselling 2020: Register Online And Choice Filling On Mcc.nic.in – Neet Counselling 2020: आज से काउंसलिंग शुरू, ऐसे करें आवेदन, ये रही आवश्यक दस्तावेजों की सूची


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

NEET UG Counselling Registration & NEET Latest Updates: मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET 2020) के लिए एमबीबीएस और बीडीएस सीटों के लिए अंडरग्रेजुएट प्रवेश के लिए पंजीकरण प्रक्रिया आज से यानि 27 अक्तूबर, 2020 से शुरू कर दी है। योग्य उम्मीदवार mcc.nic.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकेंगे। नीट यूजी काउंसलिंग के लिए एक अभ्यर्थी सिर्फ एक बार ही रजिस्ट्रेशन कर सकता है। ध्यान रहे कि एक से ज्यादा रजिस्ट्रेशन करने पर आपको काउंसलिंग प्रक्रिया से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। ऐसे अभ्यर्थियों की अभ्यर्थिता भी रद्द की जा सकती है। बीते दिनों एमसीसी ने काउंसलिंग प्रक्रिया से संबंधित शेड्यूल जारी किया था। उसे डाउनलोड करने के लिए डायरेक्ट लिंक आगे दिया जा रहा है। 

उम्मीदवार कृपया ध्यान दें, उन्हें चॉयस फिलिंग के समय कोई भी दस्तावेज अपलोड करने की आवश्यकता नहीं होगी। 28 अक्तूबर 2020 से च्वाइस फिलिंग की शुरुआत होगी। उम्मीदवारों को इसके NEET 2020 आवेदन पत्र की एक कॉपी तैयार रखने की सलाह दी जाती है। एक बार काउंसलिंग पूरी हो जाने के बाद, उम्मीदवारों को दस्तावेज सत्यापन के लिए दस्तावेजों की सूची (अपलोड) प्रस्तुत करने और प्रवेश प्रक्रिया को पूरा करने की आवश्यकता होगी।

नीट काउंसलिंग के लिए आवश्यक दस्तावेज सूची –

  • परीक्षा का एडमिट कार्ड।
  • एनटीए की तरफ से जारी स्कोर कार्ड।
  • जन्म प्रमाण पत्र।
  • दसवीं और बारहवीं कक्षा के सर्टिफिकेट।
  • पासपोर्ड साइज फोटो। 
  • प्रोविजिनल अलोटमेंट लेटर।
  • आईडी (आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस)
  • कैटेगरी और डिसेबिलिटी सर्टिफिकेट (यदि लागू होता है तो)
काउंसलिंग के पहले राउंड की प्रक्रिया आज से शुरू हो गई है। इसके लिए अंतिम तिथि 02 नवंबर, 2020 शाम 5 बजे तक तय की गई है। पहली सीट आवंटन सूची 05 नवंबर, 2020 को जारी की जाएगी। यदि सीटें खाली रह जाती हैं तो दूसरी काउंसलिंग 18 नवंबर से 22 नवंबर तक आयोजित होगी और सीट आवंटन के परिणाम 23 नवंबर तक जारी होंगे। 

NEET Counselling 2020: डायरेक्ट लिंक से पूरा शेड्यूल देखने के लिए यहां क्लिक करें। 

MCC
की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (एमसीसी) 15 प्रतिशत अखिल भारतीय कोटा के तहत सीटों के प्रवेश के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग आयोजित कर रही है  जिसमें AFMC, ESI, दिल्ली विश्वविद्यालय (DU), BHU और AMU और डीम्ड विश्वविद्यालयों सहित केंद्रीय संस्थानों में सीटें होंगी।  देशभर में नीट परीक्षा 13 सितंबर को पेन पेपर मोड में आयोजित हुई थी। इस परीक्षा के लिए कुल 15.97 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। इनमें से 85 फीसदी से 90 फीसदी परीक्षार्थियों ने एग्जाम दिया था। 

शिक्षा की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें। 

सरकारी नौकरियों की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें।

NEET UG Counselling Registration & NEET Latest Updates: मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET 2020) के लिए एमबीबीएस और बीडीएस सीटों के लिए अंडरग्रेजुएट प्रवेश के लिए पंजीकरण प्रक्रिया आज से यानि 27 अक्तूबर, 2020 से शुरू कर दी है। योग्य उम्मीदवार mcc.nic.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकेंगे। नीट यूजी काउंसलिंग के लिए एक अभ्यर्थी सिर्फ एक बार ही रजिस्ट्रेशन कर सकता है। ध्यान रहे कि एक से ज्यादा रजिस्ट्रेशन करने पर आपको काउंसलिंग प्रक्रिया से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। ऐसे अभ्यर्थियों की अभ्यर्थिता भी रद्द की जा सकती है। बीते दिनों एमसीसी ने काउंसलिंग प्रक्रिया से संबंधित शेड्यूल जारी किया था। उसे डाउनलोड करने के लिए डायरेक्ट लिंक आगे दिया जा रहा है। 

उम्मीदवार कृपया ध्यान दें, उन्हें चॉयस फिलिंग के समय कोई भी दस्तावेज अपलोड करने की आवश्यकता नहीं होगी। 28 अक्तूबर 2020 से च्वाइस फिलिंग की शुरुआत होगी। उम्मीदवारों को इसके NEET 2020 आवेदन पत्र की एक कॉपी तैयार रखने की सलाह दी जाती है। एक बार काउंसलिंग पूरी हो जाने के बाद, उम्मीदवारों को दस्तावेज सत्यापन के लिए दस्तावेजों की सूची (अपलोड) प्रस्तुत करने और प्रवेश प्रक्रिया को पूरा करने की आवश्यकता होगी।

नीट काउंसलिंग के लिए आवश्यक दस्तावेज सूची –

  • परीक्षा का एडमिट कार्ड।
  • एनटीए की तरफ से जारी स्कोर कार्ड।
  • जन्म प्रमाण पत्र।
  • दसवीं और बारहवीं कक्षा के सर्टिफिकेट।
  • पासपोर्ड साइज फोटो। 
  • प्रोविजिनल अलोटमेंट लेटर।
  • आईडी (आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस)
  • कैटेगरी और डिसेबिलिटी सर्टिफिकेट (यदि लागू होता है तो)
काउंसलिंग के पहले राउंड की प्रक्रिया आज से शुरू हो गई है। इसके लिए अंतिम तिथि 02 नवंबर, 2020 शाम 5 बजे तक तय की गई है। पहली सीट आवंटन सूची 05 नवंबर, 2020 को जारी की जाएगी। यदि सीटें खाली रह जाती हैं तो दूसरी काउंसलिंग 18 नवंबर से 22 नवंबर तक आयोजित होगी और सीट आवंटन के परिणाम 23 नवंबर तक जारी होंगे। 

NEET Counselling 2020: डायरेक्ट लिंक से पूरा शेड्यूल देखने के लिए यहां क्लिक करें। 

MCC
की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (एमसीसी) 15 प्रतिशत अखिल भारतीय कोटा के तहत सीटों के प्रवेश के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग आयोजित कर रही है  जिसमें AFMC, ESI, दिल्ली विश्वविद्यालय (DU), BHU और AMU और डीम्ड विश्वविद्यालयों सहित केंद्रीय संस्थानों में सीटें होंगी।  देशभर में नीट परीक्षा 13 सितंबर को पेन पेपर मोड में आयोजित हुई थी। इस परीक्षा के लिए कुल 15.97 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। इनमें से 85 फीसदी से 90 फीसदी परीक्षार्थियों ने एग्जाम दिया था। 

शिक्षा की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें। 

सरकारी नौकरियों की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें।



Source link

Know Everything About Varun Chakravarthy Once An Architect Now Got A Maiden Call National Team For Australia Tour – कौन हैं वरुण चक्रवर्ती जिनका 29 वर्ष की उम्र में हुआ भारतीय टीम में चयन, नौकरी छोड़ यूं बने क्रिकेटर

वरुण चक्रवर्ती


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, Updated Tue, 27 Oct 2020 10:00 AM IST

ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भारतीय टीम का एलान सोमवार को बीसीसीआई द्वारा कर दिया गया। द्विपक्षीय सीरीज के लिए वरुण चक्रवर्ती का टी-20 टीम में चयन किया गया। सिर्फ 12 टी-20 मुकाबले खेलने और प्रथम श्रेणी क्रिकेट में करीब 10 मैचों के अनुभव वाले इस खिलाड़ी के चयन ने लोगों का ध्यान आकर्षित किया।



Source link

Meet Biryani By Kilo: The Place That Reminds Why We Love Biryani After All


We bet that there’s hardly anyone who will say no to a plate of flavourful Biryani! Biryani, an evergreen classic, really needs no introduction. Aromatic, heavenly and one of the most loved delicacies around the world, biryani is a complete meal in itself and aptly suits all occasions – whether a wholesome meal on a lazy Sunday afternoon or a grand delicious indulgence at the dinner table, there are varieties available to please everyone. Talking about the varieties, there are quite some interesting options that one can try from. They not only have a different style of cooking but also have a meaning behind their ingredients. Biryani in North India differed from the Southern states. Since a large part of North India was populated by vegetarian communities, North Indians successfully experimented with it to arrive at the vegetarian versions. On the other hand, South India boasts of a wide variety of biryanis. Hyderabad itself is said to cook up to 40 distinct versions. And if you are lucky to find a place as we did, you will get to savour all kinds of biryani at one place, which is Biryani by Kilo! 

kha3aotc

Biryani by Kilo: You will get to savour all kinds of biryani at one place.

Newsbeep

Biryani by Kilo has aced the preparation of delectable biryanis and serves it right along with a leisurely casual-dining ambience.  And not just biryani, the restaurant offers an array of other traditional kebabs, korma and curries – from galouti kebabs, Chicken 65, Paneer 65 and chicken seekh kebabs (for starters) to Chicken Haleem, Paneer Nawabi, Chicken Korma and their special Dum Nihari Gosht (for mains). Other than the food, what grabbed our attention was the mini angeethis that came along with dum biryanis. ‘The Aanch‘, is what they call them, provide those extra 10 minutes of dum to biryanis right before serving. 

1cv9dq1

Biryani by Kilo: A small angeethi gives dum to biryanis right before serving.

Also Read: The Weekend Brunch At The Qube, Leela Palace Is A Laidback And Luxurious Treat 

Our Picks: 

Chicken Kolkata Biryani: Their Kolkata Biryani is exceptionally light, low on essence and colour, and mildly spiced – using just the right amount of spices to enhance the taste. In a huge handi, rice is steamed with cooked chicken, spices and the much loved browned potatoes. It is served with accompaniments like raita. 
 

d02f3r7o

Biryani by Kilo: Kolkata Biryani

Gosht Hyderabadi Biryani: Biryani by Kilo has done an amazing job while re-creating the authentic flavours of Hyderabadi Biryani in their kitchen. One of their most popular biryanis, this dish will surely win your heart. It’s nothing but half-boiled rice layered with fried onions, mint, cooked meat and cooked dum style. It is served with salan. The masala of the biryani was very flavourful and had that perfect balance between being too hot and spicy and too mild.  

Murg Lucknowi Biryani: What’s a biryani not cooked in a royal style?! A classic from the royal kitchens of Lucknow.  In this biryani, chicken (murg) pieces were slow-cooked in a melange of roasted spices to perfection amid fragrant rice.  

Also Read: ‘Buffet On Table’ At Shangri-La’s Tamra Restaurant Gives You A Safer Dining Experience 

vpkuvldo

Biryani by Kilo: Lucknowi Biryani

Mutton Galouti Kebab: Galouti means ‘soft’, something that melts in the mouth, and that’s exactly what happened when we sampled their mutton galouti kebabs. This is a must-try for all the mutton lovers. 

We also tried their Paneer 65 from kebab section. The secret of the Paneer 65 lies in its masala. Usually, Paneer 65 looks or tastes less-appetising because either it is too spicy or too bland. This factor, in our opinion, makes or breaks the deal. Here, the ratio of masala wasn’t perfect, and unfortunately, failed to impress us. 

You can choose to conclude your meal at Biryani by Kilo with their dessert section that has some of the classics. We recommend their Matka Phirni; a creamy dessert is made with ground rice combined with milk, sugar with saffron and kewra flavour – perfect show stopper to an elaborated meal! 

Promoted

The portion sizes at Biryani by Kilos are good, and serve two people. You can pick a lot from the menu without burning a hole in your pocket. And above all, they offer some party packages too that you can enjoy with friends or family over a get-together. 

Price for two: INR 700 (approximately)

About Shubham BhatnagarYou can often find Shubham at a small authentic Chinese or Italian restaurant sampling exotic foods and sipping a glass of wine, but he will wolf down a plate of piping hot samosas with equal gusto. However, his love for homemade food trumps all.



Source link

7 हज़ार से भी सस्ते में खरीदें 6000mAh बैटरी वाला ये दमदार स्मार्टफोन, सिर्फ 4 नवंबर तक है मौका


Infinix Smart 4 Plus में 6000mAh की दमदार बैटरी दी गई है.

Infinix Smart 4 Plus में 6000mAh की दमदार बैटरी दी गई है.

फ्लिपकार्ट से मिली जानकारी के मुताबिक Mobile पर ग्राहकों को कई बेस्ट डील दी जाएगी, जिसमें से कुछ की जानकारी पहले ही सामने आ गई है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 27, 2020, 5:54 AM IST

फ्लिपकार्ट पर बिग दिवाली सेल (Flipkart Big Diwali Sale) 29 अक्टूबर से शुरू होकर 4 नवंबर तक चलेगी. सेल में कई तरह के ऑफर्स और डील की पेशकश की जाएगी, जिसमें से स्मार्टफोन्स की बात करें तो यहां से कई फोन पर काफी अच्छा डिस्काउंट दिया जाएगा. फ्लिपकार्ट से मिली जानकारी के मुताबिक Mobile पर ग्राहकों को कई बेस्ट डील दी जाएगी, जिसमें से कुछ की जानकारी पहले ही सामने आ गई है.  बात करें हॉन्गकॉन्ग की पॉपुलर कंपनी इनफिनिक्स (Infinix) की तो, इसके बजट फोन इनफिनिक्स स्मार्ट 4 प्लस को सस्ते में उपलब्ध कराया जा रहा है.

फ्लिपकार्ट दिवाली सेल में फोन को 7,999 रुपये की जगह 6,999 रुपये में उपलब्ध कराया जाएगा. इसके अलावा ऐक्सिस बैंक क्रेडिट/डेबिट कार्ड और EMI ट्रांजैक्शन के ज़रिए 10% का इंस्टेंट डिस्काउंट भी मिलेगा. इतना ही नहीं ग्राहकों को फोन पर 6,450 रुपये तक एक्सचेंज ऑफर भी दिया जाएगा.

(ये भी पढ़ें- Jio का धांसू प्लान! 150 रुपये से भी कम के रिचार्च में पाएं फ्री कॉलिंग, 24GB डेटा और कई फायदे)

Infinix Smart 4 Plus को सस्ता कर दिया गया है. (Photo: Flipkart)

Infinix Smart 4 Plus को सस्ता कर दिया गया है. (Photo: Flipkart)

Infinix Smart 4 Plus की सबसे खास बात कम कीमत में 6000mAh की बैटरी है. ग्राहक इस फोन को फोन मिडनाइट ब्लैक, ओशन वेव, स्यान और वॉयलट कलर में खरीद सकते हैं.

खास हैं फोन के फीचर्स
इनफिनिक्स के Smart 4 plus में 6.82 इंच का HD+ डिस्प्ले दिया गया है, जिसका अस्पेक्ट रेशियो 20.5:9 है. फोन में ऑक्टा-कोर मीडियाटेक Helip A25 प्रोसेसर दिया गया है. ये फोन एंड्रॉयड 10 बेस्ड XOS 6.2 पर काम करता है. इनफिनिक्स का ये स्मार्टफोन डुअल सिम सपोर्ट करता है. फोन के रियर पर फिंगरप्रिंट सेंसर जैसा फीचर दिया गया है.

(ये भी पढ़ें- बेहद सस्ते में मिल रहा है Samsung का 6000mAh बैटरी वाला ये शानदार फोन, मिलेगा 64 मेगापिक्सल कैमरा)

फोन में 6000mAh की बैटरी
इनफिनिक्स स्मार्ट 4 प्लस के कैमरे की बात करें तो इसके रियर में डुअल AI रियर कैमरा है. इसमें  13 मेगापिक्सल का प्राइमेरी कैमरा और दूसरा डेप्थ सेंसर है. फोन में अपर्चर एफ/2.0 एलईडी फ्लैश के साथ 8 मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा दिया गया है. यानी कि इतनी कम कीमत में आपको कुल 3 कैमरे मिल जाएंगे, जो कि दो रियर और सेल्फी कैमरा है. पावर देने के लिए फोन में 6000mAh बैटरी दी गई है, जो कि 10W चार्जिंग के साथ आती है.





Source link

Twitter Flags Donald Trump Tweet On Mail-In Ballots Over Disputed Content


Twitter Flags Donald Trump Tweet On Mail-In Ballots Over 'Disputed' Content

Donald Trump has repeatedly attacked mail-in voting, claiming without evidence that it will lead to fraud

Social media company Twitter Inc on Monday flagged a tweet by U.S. President Donald Trump about mail-in ballots, adding a disclaimer describing the post’s content as “disputed” and potentially misleading.

“Big problems and discrepancies with Mail In Ballots all over the USA. Must have final total on November 3rd”, Trump tweeted late on Monday, with the tweet giving no evidence for his assertion.

“Some or all of the content shared in this Tweet is disputed and might be misleading about how to participate in an election or another civic process”, Twitter’s disclaimer said.

The disclaimer included a link to a page highlighting how mail voting was legal and safe.

Many states have expanded early voting and the use of mail-in ballots ahead of the November 3 election, as some Americans try to avoid crowded polls during the coronavirus pandemic.

Trump has repeatedly attacked mail-in voting, claiming without evidence that it will lead to widespread fraud. Democrats have argued it is a safe and reliable alternative to in-person voting.

Twitter has also previously flagged posts from Trump, including a tweet earlier this month in which Trump claimed he was immune to the coronavirus, with the social media company saying the tweet had made “misleading health claims”.

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a syndicated feed.)



Source link

Second day of India-US 2+2 ministerial dialogue


US Secretary of State Mike Pompeo, who arrived in the national capital on Monday for the third India-US 2+2 ministerial dialogue, followed up with External Affairs Minister S. Jaishankar on their discussions on the Quad formulation to counter Chinese aggression in Tokyo.
The discussions will be held today also.
Watch the top stories of the day here in this speed bulletin.



Source link

पाकिस्तान के फैसलाबाद में सारी हदें हुई पार, 15 लोगों ने 6 दिन तक 2 बहनों का किया रेप



फैसलाबाद में दुष्कर्म की एक घटना ने पूरे पाकिस्तान को हिलाकर रख दिया है। यहां पंजाब प्रांत में 2 किशोर लड़कियों का अपहरण करने के बाद कथित तौर पर कम से कम 15 पुरुषों ने 6 दिनों तक उनके साथ दुष्कर्म किया।



Source link

CBSE Board Private Form 2021 – CBSE Board Private Form 2021: सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के लिए प्राइवेट स्टूडेंट्स ऐसे करें अप्लाई, आवेदन प्रक्रिया शुरू


CBSE Board Private Form 2021: सीबीएसई ने सत्र 2021 की दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह आवेदन प्रक्रिया प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए…

CBSE Board Private Form 2021: सीबीएसई ने सत्र 2021 की दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह आवेदन प्रक्रिया प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए आयोजित की जाने वाली मुख्य परीक्षा के लिए है। विभिन्न कैटेगरी में 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट, cbse.nic.nic पर विजिट करके या नीचे दिये गये डायेरक्ट लिंक से अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं।

कैटेगरी
10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के आवेदन फॉर्म, कंपार्टमेंट, इंप्रूवमेंट, फेल्योर्स, एडिशनल और फीमेल/पीडब्ल्यूडी कैटेगरी में जारी किये हैं। इन कैटेगरी के लिए निर्धारित योग्यता नीचे दिये गये हैं-

कंपार्टमेंट कैटेगरी – इस कैटेगरी में प्राइवेट फॉर्म ऐसे स्टूडेंट्स भर सकते हैं जो कि मार्च 2020 में आयोजित बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो सके और इस बार सिर्फ कंपार्टमेंट वाले विषय में सम्मिलित होना चाहते हैं। यह कटेगरी सिर्फ 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए है।

Read More: नीट 2020 काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें चेक

इंप्रूवमेंट कैटेगरी – इस कैटेगरी में प्राइवेट फॉर्म ऐसे स्टूडेंट्स भर सकते हैं जो कि मार्च 2020 में आयोजित बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण तो हो गये हैं, लेकिन वे विभिन्न विषयों में अपना स्कोर बढ़ाना चाहते हैं।

फेल्योर्स कैटेगरी – इस कैटेगरी में प्राइवेट फॉर्म ऐसे स्टूडेंट्स भर सकते हैं जो कि मार्च 2020 में आयोजित बोर्ड परीक्षा में और फिर उसके बाद आयोजित कंपार्टमेंट परीक्षा में भी उत्तीर्ण नहीं हो सके हैं। इस कटेगरी स्टूडेंट्स को सभी विषयों में प्राइवेट परीक्षा देनी होगी।

Read More: NEET MDS 2021 परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया आज से शुरू, ऐसे करें अप्लाई

एडिशनल सब्जेक्ट कैटेगरी – इस कैटेगरी में प्राइवेट फॉर्म ऐसे स्टूडेंट्स भर सकते हैं जो कि मार्च 2020 में आयोजित बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण तो हो गये हैं, लेकिन वे किसी अतिरिक्त विषय की भी परीक्षा देना चाहते हैं।













Source link

After the fall of Eoin Morgan wicket We Lost Momentum, Shubman Gill said this in the press conference – इस खिलाड़ी का विकेट गिरने के बाद पलटी बाजी, शुभमन गिल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही ये बात



After the fall of Eoin Morgan wicket We Lost Momentum, Shubman Gill said this in the press conferenc- India TV Hindi

Image Source : IPLT20.COM
After the fall of Eoin Morgan wicket We Lost Momentum, Shubman Gill said this in the press conference

कोलकाता नाइट राइडर्स को सोमवार रात किंग्स इलेवन पंजाब के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ प्वॉइंट्स टेबल में वह 5वें स्थान पर खिसक गई है। इस हार के बावजूद केकेआर के सलामी बल्लेबाज को लगता है कि उनकी टीम प्लेऑफ में क्वालीफाई कर जाएगी। केकेआर ने अभी तक खेले 12 में से 6 मैच जीते हैं। अगर उन्हें प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करना है तो बाकी दो मैचों में उन्हें जीत हासिल करनी होगी।

मैच के बाद वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेस में गिल ने कहा “हमारे पास अभी दो मैच बचे हैं और हमें भरोसा है कि हम प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर जाएंगे।”

ये भी पढ़ें – SRH vs DC Dream11 Prediction : वॉर्नर की कप्तानी में ये हो सकती है आज की पैसा वसूल ड्रीम11 टीम

पहले बल्लेबाजी करते हुए केकेआर ने पंजाब के सामने 150 रन का लक्ष्य रखा था। 10वें ओवर में पंजाब का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 91 रन था, लेकिन जैसे ही कप्तान मोर्गन आउट हुए तो केकेआर की टीम खुद को नहीं संभाल सकी।

गिल ने कहा “आज हमारे बल्लेबाजों का दिन नहीं था। मुझे लगता है कि बीच के ओवर में हम अच्छा कर रहे थे, 9वें ओवर के दौरान हम 90 रन के आसपास थे। मोर्गन का विकेट खोलने के बाद हमने मोमेंटम खो दिया।”

गिल ने इसी के साथ कहा कि उनकी टीम ने 10-15 रन कम बनाए थे। गिल ने कहा “हां मुझे लगता है कि हमने 10-15 रन बनाए। बीच के ओवर में हम स्ट्राइक रोटेट नहीं कर पा रहे थे। अगर हम ऐसा कर पाते तो हम 20-25 रन ज्यादा बनाते।”

ये भी पढ़ें – KKR vs KXIP : लगातार 5वीं जीत दर्ज कर खुश हुए केएल राहुल, मंदीप सिंह के बारे में कही ये बात

उन्होंने कहा “लगातार विकेट गिरने के बाद मेरा रोल इनिंग को एंकर करना था और 15 से 20 ओवर खेलकर मैच का रुख अपनी टीम की तरफ मोड़ने का था।”

केकेआर द्वारा मिले 150 रन के लक्ष्य को पंजाब ने 8 विकेट और 7 गेंदें रहते हासिल कर लिया। पंजाब की और से मंदीप सिंह ने नाबाद 66 रन बनाए, वहीं क्रिस गेल ने 51 रन की तूफानी पारी खेली।

कोरोना से जंग : Full Coverage





Source link

Coronavirus Recovered Patients Side-Effects: Here’s Latest Study Updates From Korea Disease Control And Prevention Agency (KDCA) | कोरोना को हराने वाला हर 10 में से एक मरीज साइडइफेक्ट से परेशान, थकान, स्वाद न पहचानने जैसी दिक्कतों से जूझ रहा


  • Hindi News
  • Happylife
  • Coronavirus Recovered Patients Side Effects: Here’s Latest Study Updates From Korea Disease Control And Prevention Agency (KDCA)

एक महीने पहले

  • क्यूंगपूक नेशनल यूनिवर्सिटी ने कोरोना से रिकवर होने वाले 5762 में से 965 मरीजों का ऑनलाइन सर्वे किया

कोरोना से रिकवर होने वाला हर 10 में से एक मरीज इसके साइडइफेक्ट से जूझ रहा है। इलाज के बाद मरीजों में थकान, गंध-स्वाद का पता न चल पाना और एकाग्रता की कमी जैसे लक्षण दिख रहे हैं। यह दावा साउथ कोरिया में हुई स्टडी में किया गया है।

965 मरीजों पर हुई स्टडी
कोरोना से रिकवर होने वाले 965 मरीजों पर ऑनलाइन स्टडी की गई। कोरिया के सेंटर्स डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अधिकारी क्वॉन जून-वूक के मुताबिक, 91.1 फीसदी मरीजों में साइडइफेक्ट दिख रहा है।

26.2 फीसदी मरीज रीडिंग में मन नहीं लगा पा रहे
रिसर्च के मुताबिक, 26.2 फीसदी मरीज रीडिंग पर फोकस नहीं कर पा रहे हैं। उनमें एकाग्रता में कमी महसूस हो रही है। इसके अलावा मरीज गंध या स्वाद न पहचान पाने और दिमाग पर पड़ रहे नकारात्मक असर से परेशान हैं।

क्यूंगपूक नेशनल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर किन शिन-वू ने कोरोना से रिकवर हुए 5762 मरीजों में से 16 फीसदी कोरोना सर्वाइवर से ऑनलाइन सर्वे किया, जिसमें ये बातें सामने आईं।

16 संस्थानों के साथ मिलकर एक और स्टडी हो रही

प्रो. क्वॉन के मुताबिक, रिसर्च पूरी तरह ऑनलाइन की गई थी। जल्द ही इस पर और एनलिसिस करने के बाद रिसर्च को प्रकाशित करेंगे। साउथ कोरिया 16 संस्थानों के साथ मिलकर एक और स्टडी कर रहा है जिसमें मरीजों में दिखने वाले साइड इफेक्ट के असर को समझने की कोशिश की जा रही है। इस रिसर्च में मरीजों का सीटी स्कैन किया जा रहा है।

दक्षिण कोरिया में सोमवार को 38 नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। देश में अब तक कुल 23,699 पॉजिटिव मामले पाए जा चुके हैं। कोरोना महामारी की वजह से वहां अब तक 407 लोगों की मौत हो चुकी है।



Source link

Follow These 5 Rules to Save Your WhatsApp Chats From Hacker | हैकर क्या कोई भी वॉट्सऐप चैट लीक नहीं कर सकेगा, बस इन 5 बातों का रखना होगा ध्यान


नई दिल्ली26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • दिनभर ऐप पर की गई चैट्स को वॉट्सऐप रात में अपने क्लाउट स्टोरेज में सेव करता है
  • वॉट्सऐप चैट एन्क्रिप्टेड होती है लेकिन क्लाउड पर सेव हुआ कंटेंट एन्क्रिप्टेड नहीं होता

एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन टेक्नोलॉजी की बदौलत वॉट्सऐप को सबसे सुरक्षित मैसेजिंग प्लेटफॉर्म माना जाता है। बावजूद इसके कई बार चैट लीक या वायरल होने की खबरें सुनने को मिल जाती हैं। हाल ही में कुछ सेलिब्रिटी की वॉट्सऐप चैट वायरल हो गई थीं, जिसके बाद लोगों के मन में प्लेटफॉर्म की सुरक्षा को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो गए थे।

कम ही लोग जानते हैं कि वॉट्सऐप अपने यूजर्स को कई तरह के सिक्योरिटी फीचर्स प्रदान करता है, ताकि अकाउंट सुरक्षित रखा जा सके। हालांकि, वॉट्सऐप यूजर्स को भी कुछ नियमों का पालन करना जरूरत, ताकि चैट गलत हाथों में न लगे। चलिए जानते हैं कैसे….

1. क्लाउड बैकअप को डिसेबल करें

  • दिनभर में की गई चैट्स को वॉट्सऐप रात में अपने क्लाउट स्टोरेज में सेव करता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, यदि यूजर वॉट्सऐप अन-इंस्टॉल करता है या किसी नए फोन में अकाउंट ओपन करता है, तो क्लाउड स्टोरेज से पुरानी चैट्स और मीडिया फाइल्स रिकवर कर सके।
  • गौर करने वाली बात यह है कि वॉट्सऐप चैट तो एन्क्रिप्टेड होती है लेकिन क्लाउड पर सेव हुआ कंटेंट एन्क्रिप्टेड नहीं होता। ऐसे में अगर यह किसी हैकर के हाथ में बैकअप का एक्सेस लग जाए तो आसानी से किसी दूसरे डिवाइस में वॉट्सऐप चैट का बैकअप लेकर, उन्हें आसानी से पढ़ सकता है।
  • अगर आपको यह चिंता सता रही है कि वॉट्सऐप चैट किसी गलत हाथों में न पड़ जाए, तो तुरंत ऑटोमैटिक क्लाउड ऑप्शन को डिसेबल कर दें। हालांकि, ऐसा करने के बाद यदि आप वॉट्सऐप अन-इंस्टॉल करते हैं, तो दोबारा ऐप इंस्टॉल करने पर पुरानी चैट रिकवर नहीं कर सकेंगे।
  • डिसेबल करने के लिए इन स्टेप्स फॉलो करें… WhatsApp Settings > Chats > Chat Backup > Back up to Google Drive option > select Never हालांकि, ऐसा करने के बाद यदि आप वॉट्सऐप अन-इंस्टॉल करते हैं, तो दोबारा ऐप इंस्टॉल करने पर पुरानी चैट रिकवर नहीं कर सकेंगे।

2. मैनुअल एन्क्रिप्शन चेक करें

  • वैसे तो वॉट्सऐप चैट एन्क्रिप्टेड होती है लेकिन इसे हम खुद भी चेक कर सकते हैं। चेक करने के लिए चैट ओपन कर नाम पर क्लिक करना होगा और उसके बाद एन्क्रिप्शन ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • टैप करने के बाद एक पॉप-अप सामने आएगा, जिसमें QR कोड और नीचे 40 डिजिट दिखाई देंगे। ये सिक्योरिटी कोड होता है। यह वॉट्सऐप आइडेंटिटी होती है, जिसे दूसरे के साथ भी शेयर कर सकते हैं।
  • अगर आपको सुनिश्चित करना है कि आपकी वॉट्सऐप चैट सुरक्षित है या नहीं, तो आप अपने फोन में दिखाई दे रहे कोड को दूसरे यूजर के कोड से वेरिफाई कर सकते हैं। अगर दोनों को एक समान कोड दिखाई दे रहे हैं, तो चिंता की कोई बात नहीं है, आपकी चैट सुरक्षित है।

3. टू-स्टेप वैरिफिकेशन

  • टू-स्टेप वैरिफिकेशन से अकाउंट को और ज्यादा सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं। अगर अपने ये फीचर एक्टिवेट कर रखा है, तो जब भी आप किसी अन्य डिवाइस पर अकाउंट ओपन करेंगे तो ये 6-डिजिट कोड मागेंगा, जो सिर्फ आपको पता होगा।
  • ऐसे में अगर किसी हैकर के हाथ में आपका नंबर या वॉट्सऐप अकाउंट की डिटेल लग भी जाए, तो भी वह वॉट्सऐप यूज नहीं कर पाएगा, क्योंकि इस्तेमाल करने के लिए उसे वहीं 6-डिजिट कोड की जरूरत होगी।
  • इसे एक्टिवेट करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें… Menu > Settings > Account > Two-step verification > Enable. इसे एक्टिवेट करने के लिए आपको ईमेल एड्रेस भी देना होगा, ताकि भूल जाने पर कोड दोबारा रिकवर किया जा सके।

4. एक्टिवेट फिंगरप्रिंट/ फेस-आईडी सिक्योरिटी

  • वॉट्सऐप बायोमैट्रिक सिक्योरिटी भी प्रदान करता है। यूजर अपने फिंगरप्रिंट या फेस-आईडी से वॉट्सऐप को सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।
  • एंड्रॉयड यूजर इसे एक्टिवेट करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें.. Settings > Accounts > Privacy > Fingerprint Unlock.
  • इसी तरह एपल यूजर फेस आईडी एक्टिवेट कर सकते हैं। इसका फायदा ये होगा कि अगर फोन गुम या चोरी हो जाता है या किसी गलत हाथ में पड़ जाता है, तो भी चैट सुरक्षित रहेंगी।

5. स्कैम में न फंसे

  • आखिरी लेकिन सबसे महत्वपूर्ण नियम- वॉट्सऐप ग्रुप पर आ रही किसी भी अनजान लिंक पर बिना सोचे समझें क्लिक न करें। ये स्पाईवेयर हो सकता है, जो आपके फोन से निजी जानकारियां चुरा सकता है।
  • इसके अलावा किसी भी अनजान नंबर से इनबॉक्स में भेजी गई फाइल को डाउनलोड न करें। हालांकि, इससे सुरक्षित रहने के लिए भी वॉट्सऐप में फीचर उपलब्ध है।
  • इस फीचर की बदौलत बिना आपकी परमिशन कौन आपको ग्रुप में जोड़ सके और कौन न जोड़ सके, इसे तय किया जा सकता है।
  • ऐसा करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें.. Settings > Account > Privacy > Groups > My Contacts. इसे फायदा यह होगा कि हर कोई आपको किसी भी ग्रुप में जोड़ नहीं सकेगा।

ये भी पढ़ सकते हैं..

1. कोई चोरी-छिपे तो नहीं पढ़ रहा आपका वॉट्सऐप चैट, यह छोटी सी ट्रिक सामने ला देगी पूरी सच्चाई

2. अब फोन के वॉल्यूम बटन से स्क्रीनशॉट ले सकेंगे, टॉर्च और ऐप भी ओपन कर पाएंगे, बस फॉलो करनी होगी ये इंटरेस्टिंग ट्रिक

3. कहीं आपको धोखे में रखकर तो नहीं बेचा जा रहा चोरी का स्मार्टफोन; सिर्फ एक मैसेज सामने ला देगा पूरी सच्चाई, फॉलो करें ये आसान ट्रिक



Source link

NEET 2020 की काउंसलिंग आज से शुरू, ये है जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट, यहां करें रजिस्ट्रेशन




neet counselling : मेडिकल, डेंटल, और संबद्ध कॉलेजों में प्रवेश के लिए काउंसलिंग की पंजीकरण प्रक्रिया आज 27 अक्टूबर से शुरू हो रही है।



Source link

NASA found Water On Sunlit Surface Of Moon, could be used as drinking water – चंद्रमा की सतह पर नासा ने खोजा पानी, पीने व रॉकेट ईंधन में हो सकता है इस्तेमाल


नासा ने चंद्रमा की सतह पर पानी का पता लगाया

पेरिस :

अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने चांद की सतह पर पानी (Water on Moon) की खोज की है. चंद्रमा की सतह पर यह पानी उस जगह पर खोजा गया है, जहां सूरज की सीधी रोशनी (Sunlit Surface) पड़ती है. सोमवार को प्रकाशित दो स्टडी के मुताबिक, माना जा रहा है कि पहले के अनुमान से कहीं अधिक पानी चंद्रमा पर मौजूद हो सकता है. इस खोज से भविष्य में स्पेस मिशन (Space Mission) को बड़ी ताकत मिलेगी. यही नहीं इसका उपयोग ईंधन उत्पादन में भी किया जा सकेगा. 

यह भी पढ़ें

नेचर एस्ट्रोनॉमी में सोमवार को प्रकाशित दो नए अध्ययनों में सुझाया गया कि हमारे पुराने अनुमान से कहीं ज्यादा पानी चंद्रमा पर हो सकता है. इसमें ध्रुवीय क्षेत्रों में स्थायी रूप से मौजूद बर्फ भी शामिल है. पिछले शोध में सतह को स्कैन करने पर पानी के संकेत तो मिले हैं, लेकिन ये शोध पानी (H2O) और हाइड्रॉक्सिल के बीच अंतर करने में नाकाम रहा था. हाइड्रॉक्सिल, हाइड्रोजन के एक और ऑक्सीजन के एक परमाणु से मिलकर बना एक अणु है.

हालांकि, एक नई स्टडी से इस बात के रासायनिक प्रमाण मिले हैं कि चंद्रमा की सतह पर आणविक जल मौजूद है यहां तक कि उन क्षेत्रों में भी जहां सूरज की रोशनी सीधी पड़ती है. 

स्ट्रेटोस्फियर ऑब्जरवेटरी फॉर इंफ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (सोफिया) के आंकड़ों का इस्तेमाल करते हुए शोधकर्ताओं ने चंद्रमा की सतह को पहले की तुलना में अधिक सटीक तरंग दैर्ध्य पर स्कैन किया.

हवाई इंस्टीट्यूट जियोफिजिक्स एंड प्लेनेटोलॉजी के को-ऑर्थर केसी हनीबैल ने बताया कि शोधकर्ताओं का मानना है कि पानी कांच के छोटे-छोटे मोतियों (Glass Beads) या फिर किसी और पदार्थ के अंदर हो सकता है, जो इसे बाहर के विपरीत पर्यावरण से बचाता है. आगे के अध्ययन से यह पता लगाने में मदद मिलेगी कि ये पानी कहां से आया है और कैसे संग्रहीत हुआ है. 

उन्होने कहा, “अगर हमें कई जगहों पर पर्याप्त मात्रा में पानी मिलता है तो हम इसका इस्तेमाल मानव अन्वेषण के लिए संसाधन के रूप में करने में सक्षम हो सकते हैं. इसका इस्तेमाल पीने के पानी, ऑक्सीजन और रॉकेट ईंधन के रूप में किया जा सकता है.”





Source link

Three-Year-Old Boy Dies After Shooting Self During His Birthday Party In US


Three-Year-Old Boy Dies After Shooting Self During His Birthday Party In US

The boy was found with a gunshot wound to his chest: County Sheriff’s Department (Representational)

Houston, US:

A three-year-old Texas boy has died after shooting himself with a gun he found during his own birthday party, the police said Monday.

The youngster was celebrating with family and friends on Saturday in Porter, 25 miles (40 kilometers) northeast of Houston, when adults heard a gunshot while playing cards.

The boy was found with a gunshot wound to his chest and rushed to a fire station where he died, the Montgomery County Sheriff’s Department said.

Authorities said the boy had found a pistol that had fallen out of a relative’s pocket.

The group Everytown for Gun Safety said that, since the beginning of the year, the country has seen at least 229 unintentional shootings by children, resulting in 97 deaths.

A third of US adults own a gun, with the right to own firearms guaranteed by the Second Amendment to the US Constitution.

Texas is among states with the most permissive gun laws.

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a syndicated feed.)



Source link

Bihar Election 2020 Live Updates Nitish Kumar Attack Lalu Yadav Over His Children Tejashwi Development Rjd Jdu Bjp – बिहार चुनाव: नीतीश के निशाने पर लालू परिवार, कहा- बेटियों पर भरोसा ही नहीं, पैदा किए नौ बच्चे


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना

Updated Tue, 27 Oct 2020 08:45 AM IST

लालू प्रसाद यादव-नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बिहार की जनता अगले पांच साल के लिए किसे सत्ता सौंपेगी इसका फैसला तो 10 नवंबर को हो जाएगा लेकिन ये राजनीतिक लड़ाई अब निजी होती जा रही है। दरअसल, वैशाली जिले के महनार के चुनावी मंच से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू यादव पर जिस तरह से हमला किया, वो चौंकाने वाला था। अमूमन संयमित भाषा का इस्तेमाल करने वाले मुख्यमंत्री के तेवर काफी तल्ख नजर आए।

चुनावी मंच से नीतीश ने लालू के नौ बच्चों को लेकर ऐसा तंज कसा की सभी लोग हैरान रह गए। जनता दल यूनाइडेट (जदयू) के प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री ने कहा कि आठ-नौ बच्चे पैदा करने वाले बिहार का विकास करने चले हैं। बेटे की चाह में कई बेटियां हो गईं। मतलब बेटियों पर भरोसा ही नहीं है। इस तरह के लोग बिहार का क्या भला करेंगे।

मुख्यमंत्री ने चुनावी सभा में आगे कहा कि यदि यही लोगों के आदर्श हैं तो समझ लीजिए बिहार का क्या बुरा हाल होगा, कोई पूछने वाला नहीं रहेगा, सब बर्बाद हो जाएगा। हम सेवा करते हैं जबकि वो मेवा और माल की चाह रखते हैं। अपने इन्हीं कर्मों की वजह से अंदर जाते हैं। इसके अलावा उन्होंने 18 महीने में ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से अलग होने की वजह भी बताई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी थानों और अधिकारियों से उगाही करते थे इसलिए वो राजद से अलग हो गए। उन्होंने कहा कि हम इस तरह से काम नहीं कर सकते थे। इसलिए हमने उन्हें छोड़ दिया और भाजपा के समर्थन से फिर सरकार बनाई। उनके इस बयान पर तेजस्वी ने पलटवार किया है। राजद नेता का कहना है कि नीतीश जी शारीरिक-मानसिक रूप से थक चुके हैं इसलिए वो जो मन करे बोलें।

नीतीश जी के अपशब्द मेरे लिए आशीर्वचन हैं: तेजस्वी

मुख्यमंत्री के बयान पर जवाब देते हुए राजद नेता तेजस्वी ने कहा, ‘आदरणीय नीतीश जी मेरे बारे में कुछ भी अपशब्द कहें वो मेरे लिए आशीर्वचन हैं। नीतीश जी शारीरिक-मानसिक रूप से थक चुके हैं इसलिए वो जो मन करे, कुछ भी बोलें। मैं उनकी हर बात को आशीर्वाद के रूप में ले रहा हूं। इस बार बिहार ने ठान लिया है कि रोटी-रोजगार और विकास के मुद्दों पर ही चुनाव होगा।’

 



 

बिहार की जनता अगले पांच साल के लिए किसे सत्ता सौंपेगी इसका फैसला तो 10 नवंबर को हो जाएगा लेकिन ये राजनीतिक लड़ाई अब निजी होती जा रही है। दरअसल, वैशाली जिले के महनार के चुनावी मंच से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू यादव पर जिस तरह से हमला किया, वो चौंकाने वाला था। अमूमन संयमित भाषा का इस्तेमाल करने वाले मुख्यमंत्री के तेवर काफी तल्ख नजर आए।

चुनावी मंच से नीतीश ने लालू के नौ बच्चों को लेकर ऐसा तंज कसा की सभी लोग हैरान रह गए। जनता दल यूनाइडेट (जदयू) के प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री ने कहा कि आठ-नौ बच्चे पैदा करने वाले बिहार का विकास करने चले हैं। बेटे की चाह में कई बेटियां हो गईं। मतलब बेटियों पर भरोसा ही नहीं है। इस तरह के लोग बिहार का क्या भला करेंगे।

मुख्यमंत्री ने चुनावी सभा में आगे कहा कि यदि यही लोगों के आदर्श हैं तो समझ लीजिए बिहार का क्या बुरा हाल होगा, कोई पूछने वाला नहीं रहेगा, सब बर्बाद हो जाएगा। हम सेवा करते हैं जबकि वो मेवा और माल की चाह रखते हैं। अपने इन्हीं कर्मों की वजह से अंदर जाते हैं। इसके अलावा उन्होंने 18 महीने में ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से अलग होने की वजह भी बताई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी थानों और अधिकारियों से उगाही करते थे इसलिए वो राजद से अलग हो गए। उन्होंने कहा कि हम इस तरह से काम नहीं कर सकते थे। इसलिए हमने उन्हें छोड़ दिया और भाजपा के समर्थन से फिर सरकार बनाई। उनके इस बयान पर तेजस्वी ने पलटवार किया है। राजद नेता का कहना है कि नीतीश जी शारीरिक-मानसिक रूप से थक चुके हैं इसलिए वो जो मन करे बोलें।

नीतीश जी के अपशब्द मेरे लिए आशीर्वचन हैं: तेजस्वी

मुख्यमंत्री के बयान पर जवाब देते हुए राजद नेता तेजस्वी ने कहा, ‘आदरणीय नीतीश जी मेरे बारे में कुछ भी अपशब्द कहें वो मेरे लिए आशीर्वचन हैं। नीतीश जी शारीरिक-मानसिक रूप से थक चुके हैं इसलिए वो जो मन करे, कुछ भी बोलें। मैं उनकी हर बात को आशीर्वाद के रूप में ले रहा हूं। इस बार बिहार ने ठान लिया है कि रोटी-रोजगार और विकास के मुद्दों पर ही चुनाव होगा।’

 

 





Source link

Born Without Hands, Mohammad Ikram Showed Passion, Winning A Snooker Game With A Chin – बिना हाथों के जन्मे इकराम ने दिखाया जज्बा, ठोड़ी से स्नूकर खेल जीत रहे ट्रॉफी

मोहम्मद इकराम


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला

Updated Tue, 27 Oct 2020 08:40 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के समुंदरी कस्बे के एक स्थानीय क्लब में रविवार को स्नूकर खेलते मोहम्मद इकराम। इकराम बिना क्यू स्टिक के खेलते हैं और वह गेंद (क्यू बॉल) को अपनी ठोड़ी से मारते हैं। उन्हें इसमें महारत हासिल है। इकराम ने कहा कि भगवान ने मुझे हाथ नहीं दिए हैं लेकिन वह जज्बा दिया है जिसका प्रयोग करते हुए मैं अपने सपनों को पूरा कर सकता हूं। 

बिना हाथों के जन्मे इकराम ने पहली बार दस साल की उम्र में पूल टेबल पर खेल खेला था। तभी से यह खेल उनके दिमाग में बस गया और वह इसे बिना हाथों के भी हमेशा जारी रखना चाहते थे। इकराम इसी क्लब में ही खेलते हैं। उन्होंने तीन स्थानीय प्रतियोगिताएं भी जीती हैं। इकराम कहते हैं कि मैं ऐसे बहुत से स्नूकर खिलाड़ियों से मिला हूं जो कहते हैं कि मैं बहुत अच्छा खेलता हूं और मैं इससे पाकिस्तान के लिए बहुत अच्छा कर सकता हूं। मैं उम्मीद करता हूं कि मैं देश के बाहर जाकर बाकी लोगों के सामने भी खेल सकूं। स्नूकर पैरालंपिक खेलों का हिस्सा था लेकिन उसे 1988 में इससे बाहर कर दिया गया।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के समुंदरी कस्बे के एक स्थानीय क्लब में रविवार को स्नूकर खेलते मोहम्मद इकराम। इकराम बिना क्यू स्टिक के खेलते हैं और वह गेंद (क्यू बॉल) को अपनी ठोड़ी से मारते हैं। उन्हें इसमें महारत हासिल है। इकराम ने कहा कि भगवान ने मुझे हाथ नहीं दिए हैं लेकिन वह जज्बा दिया है जिसका प्रयोग करते हुए मैं अपने सपनों को पूरा कर सकता हूं। 

बिना हाथों के जन्मे इकराम ने पहली बार दस साल की उम्र में पूल टेबल पर खेल खेला था। तभी से यह खेल उनके दिमाग में बस गया और वह इसे बिना हाथों के भी हमेशा जारी रखना चाहते थे। इकराम इसी क्लब में ही खेलते हैं। उन्होंने तीन स्थानीय प्रतियोगिताएं भी जीती हैं। इकराम कहते हैं कि मैं ऐसे बहुत से स्नूकर खिलाड़ियों से मिला हूं जो कहते हैं कि मैं बहुत अच्छा खेलता हूं और मैं इससे पाकिस्तान के लिए बहुत अच्छा कर सकता हूं। मैं उम्मीद करता हूं कि मैं देश के बाहर जाकर बाकी लोगों के सामने भी खेल सकूं। स्नूकर पैरालंपिक खेलों का हिस्सा था लेकिन उसे 1988 में इससे बाहर कर दिया गया।



Source link

Translate »
You cannot copy content of this page