A week post Google’s temporary ban, Paytm brings back IPL-led cashback scheme | पेटीएम पर फिर शुरू हुई कैशबैक स्‍कीम; हफ्ते भर पहले इसी वजह से गूगल ने पेटीएम को प्ले स्टोर से हटाया था

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


  • Hindi News
  • Business
  •  A Week Post Google’s Temporary Ban, Paytm Brings Back IPL led Cashback Scheme

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • पेटीएम ने यूपीआई कैशबैक के साथ शुरू की क्रिकेट लीग
  • यूजर्स को पहले जैसा ही मिलेगा ‘पेटीएम क्रिकेट लीग’ का अनुभव

गूगल प्‍ले स्‍टोर से अस्थायी तौर पर हटाए जाने के कुछ दिनों बाद ही डिजिटल भुगतान कंपनी पेटीएम ने इंडियन प्रीमियर लीग से जुड़ी कैशबैक स्कीम को फिर से शुरू कर दी है। इसी के साथ कंपनी ने यूपीआई से भुगतान पर कैशबैक और स्क्रैच कार्ड की भी शुरुआत की है। बता दें कि करीब सप्ताह भर पहले ही गूगल ने इस पेमेंट ऐप पर गैम्‍बलिंग का आरोप लगाते हुए कैशबैक स्कीम के कारण उसे एंड्रॉयड प्‍ले स्‍टोर से हटाया गया था। पेटीएम ने यह पेशकश गूगल की इस कार्रवाई के कुछ दिनों बाद ही की है।

क्या कहा पेटीएम ने

पेटीएम के प्रवक्ता ने कहा कि अपने मंच पर पेटीएम क्रिकेट लीग की वापसी को लेकर हम रोमांचित है। कंपनी ने अपने बयान में कहा कि उसके मंच पर यूजर अब डिजिटल तरीके से मोबाइल बिल भरने या रिचार्ज करने, किराना सामान खरीदने या धन हस्तांतरण करने पर क्रिकेट स्टार के स्टीकर एकत्रित कर सकते हैं। एक बार सेट पूरा करने के बाद वह इसे 1,000 रुपए तक के कैशबैक के लिए भुना सकेंगे।

मिलेगा पहले जैसा ही अनुभव

पेटीएम के अनुसार, कुछ स्कीम में बदलाव किए गए हैं। हालांकि, क्रिकेट सेलिब्रेशन जारी रखने के लिए यूजर्स को ‘पेटीएम क्रिकेट लीग’ का अनुभव पहले जैसा ही मिलेगा। यूजर्स को हर लेनदेन या भुगतान पर सरप्राइज प्‍लेयर स्टीकर्स मिलते रहेंगे। इसी आधार पर उन्‍हें कैशबैक मिलता रहेगा।

क्यों लगा था बैन ?

बता दें कि गूगल ने 18 सितंबर को प्‍ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटाते हुए कहा था कि वह किसी भी गैंबलिंग (जुआ खेलने वाले) ऐप का समर्थन नहीं करता है। जुए से जुड़ी उसकी नीतियों का उल्लंघन करने के कारण पेटीएम पर यह कार्रवाई की गई है।

गूगल ने क्या कहा था ?

पेटीएम अपने पेटीएम फर्स्ट गेम्स ऐप के जरिए फैंटेसी क्रिकेट समेत कई प्रकार के गेम्स के जरिए रुपए जीतने का ऑफर दे रहा है। यह गूगल की गैंबलिंग पॉलिसी का उल्लंघन है। गूगल का कहना था कि हमने आईपीएल टूर्नामेंट से पहले नई प्ले पॉलिसी जारी की थी। लेकिन पेटीएम की ओर से इस पॉलिसी का उल्लंघन किया जा रहा था। इस कारण पेटीएम के एंड्रॉयड ऐप को प्ले स्टोर से हटाया गया है।

जानिए अपने पेटीएम के बारे में

वन97 कम्युनिकेशंस ने अगस्त 2010 में पेटीएम पेमेंट ऐप को लॉन्च किया था। यह ऐप 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। इस ऐप पर क्यूआर कोड के जरिए पेमेंट किया जा सकता है। इसके अलावा मोबाइल रिचार्ज, यूटीलिटी बिल पेमेंट, ट्रेवल, मूवी टिकट और इवेंट बुकिंग जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। वित्त वर्ष 2020 में कंपनी का रेवेन्यू 3,579.6 करोड़ रुपए रहा है। इसके फाउंडर विजय शेखर शर्मा है। यह ऐप एंड्रॉयड, आईओएस और विंडोज प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।



Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page