avoid these food if you are suffering from thyroid | थायराइड में ये चीजें करती हैं अधिक नुकसान, जरूर करें परहेज

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नई दिल्ली: आजकल कई लोग थायराइड बीमारी से पीड़ित हैं. थायराइड (Thyroid) में वजन बढ़ने के साथ हार्मोन असंतुलन भी हो जाते हैं. एक स्टडी के मुताबिक, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायराइड विकार दस गुना ज्यादा होता है. थायराइड ग्लैंड में हार्मोन का बैलेंस बिगड़ने के कारण यह समस्या होती है. थायराइड की समस्या पुरषो के मुकाबले महिलाओं में ज्‍यादा पाई जाती है. हाइपरथायरायडिज्म (hypothyroidism) में वजन घटना, गर्मी न झेल पाना, ठीक से नींद न आना, प्यास लगना, अत्यधिक पसीना आना, हाथ कांपना, दिल तेजी से धड़कना, कमजोरी, चिंता, और अनिद्रा शामिल हैं. आज हम आपको उन खाने की कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे जो थायराइड की समस्‍या को ज्‍यादा खराब करने का कारण मानी जाती है.

पत्ता या फूलगोभी
इन दोनों तरह की गोभी के अंदर गॉइट्रोगन (guitornoids) नामक तत्‍व बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है. यह थायराइड की समस्‍या को बढ़ाते है. इसलिए अगर आपको लगता है कि आपको यह रोग है तो आप बिल्कुल भी गोभी का सेवन ना करें.

सोयाबीन
सोयाबीन का इस्‍तेमाल ज्‍यादातर लोग सब्जी के रूप में करते हैं. लेकिन इसका तेल भी मिलता है जिसे हम बड़े चाव से खाते हैं. लेकिन क्या आपको इस बात की जानकारी है कि सोयाबीन में भी गॉइट्रोगन पाया जाता हैं, जो थायरॉइड रोग के लिए जिम्मेदार होता है. इसीलिए अगर आप सोयाबीन खाती हैं तो आपके शरीर में थायरोक्सिन बढ़ या कम हो जाता है. थायरोक्सिन के बढ़ने या कम होने से थायराइड की बीमारी होने लगती है. जो हमारी बॉडी के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है.

ये भी पढ़ें, रोज खाइए मूंगफली, दिल से लेकर कैंसर तक की बीमारी में दिखाता है कमाल

नमक
शायद आपको इस बात की जानकारी होगी कि थायराइड ग्लैंड नमक का इस्तेमाल करके ही थायरोक्सिन हार्मोन बनाता है. इसीलिए जब भी हमारी बॉडी में आयोडीन की कमी होती है तो थायरॉइड ग्लैंड बढ़ने लगता है. इसीलिए आयोडीन नमक पर्याप्त मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है. सेंधा नमक को अपनी डाइट में शामिल करें.  

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय करने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें) 





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page