Captain Lokesh Rahul said – wrong decision of shot run was heavy against Delhi in the first match. | कप्तान लोकेश राहुल बोले- पहले मैच में दिल्ली के खिलाफ शॉट रन का गलत फैसला भारी पड़ा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


अबु धाबी32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

टूर्नामेंट में पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने 14 मैचों में 55.83 की औसत से 670 रन बनाए। वहीं विकेट के पीछे रहते हुए 10 कैच भी लपके।

किंग्स इलेवन पंजाब रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स से हारने के बाद प्लेऑफ के दौर से बाहर हो गई। टीम के कप्तान लोकेश राहुल ने कहा कि शुरुआती मैच में दिल्ली के खिलाफ अंपायर के शॉट रन हम पर भारी पड़ गया। नहीं तो हम प्लेऑफ में पहुंच सकते थे। इस मैच में अंपायर मेनन ने क्रिस जॉर्डन के रन को शॉट रन दिया था। मैच के 19 ओवर की तीसरी गेंद पर क्रिस जॉर्डन और मयंक अग्रवाल ने दो रन लिए थे। अंपायर ने एक रन काे शॉट रन करार दिया था। जिसके कारण मयंक और पंजाब के खाते में एक रन ही काउंट किया गया। टीवी रिप्ले में दिख रहा था कि यह शॉट रन नही हैं। अंपायर से गलती हुई है। बाद में मैच सुपर ओवर में चला गया था। सुपर ओवर में दिल्ली ने पंजाब को हरा दिया था। शॉट रन के निर्णय को लेकर क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग सहित कई पूर्व क्रिकेटरों ने अंपायरिंग को लेकर सवाल उठाए थे।

पंजाब ने पांच मैच हारने के बाद टूर्नामेंट वापसी की थी

पंजाब ने इस सीजन में लगातार पांच मैच हारने के बाद वापसी करते हुए लगातार पांच मैच जीते थे। रविवार को चेन्नई ने पंजाब को हराकर प्ले ऑफ में जाने के उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया था। पॉइंट टेबल में उसके 12 पॉइंट ही रह गए।

राहुल ने कहा- टूर्नामेंट के पहले हाफ में बेहतर नहीं खेले

उन्होंने कहा” यह हमारे लिए निराशाजनक है। कई गेम हम जीत सकते थे। लेकिन हम जीतने में असफल रहे। इसके लिए हम ही जिम्मेवार हैं। वहीं शॉट रन का अंपायर का फैसला हम पर भारी पड़ गया। राहुल ने चेन्नई से हार पर कहा- हमने बेहतर बल्लेबाजी नहीं की। दबाव भरे इस मैच में 180-190 रन की कल्पना कर रहे थे। लेकिन हम इस दबाव को नहीं झेल पाए। इस टूर्नामेंट के पहले हाफ तक हम बैटिंग और बॉलिंग से बेहतर नहीं कर पाए। लेकिन टूर्नामेंट के दूसरे हाफ में हमने बेहतर वापसी की।

केएल राहुल का बेहतर प्रदर्शन

टूर्नामेंट में केएल राहुल का प्रदर्शन बेहतर रहा है। उन्होंने14 मैचों में 55.83 की औसत से 670 रन बनाए। वहीं विकेट के पीछे रहते हुए 10 कैच भी लपके।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page