Bhaskar Current Affairs| If you are preparing for competitive exam, then definitely read these questions related to GK and Current Affairs | कॉम्पिटेटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं, तो जरूर पढ़ें जीके और करंट अफेयर्स से जुड़े ये सवाल


  • Hindi News
  • Career
  • Bhaskar Current Affairs| If You Are Preparing For Competitive Exam, Then Definitely Read These Questions Related To GK And Current Affairs

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में करंट अफेयर्स से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। एजुकेशन भास्कर में इस प्रकार के प्रश्न दिए जाते हैं। इसमें सप्ताह की महत्वपूर्ण घटनाओं से संबंधित प्रश्न और उनके उत्तर दिए गए हैं। अगर आप किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो ये सवाल-जवाब आपकी मदद करेंगे। इन क्वेश्चन के जरिए आप अपनी तैयारी को मजबूती दे सकते हैं।

एडिशनल नॉलेज- केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने सबसे प्रदूषित स्थलों की लिस्ट में ओडिशा को पहला और उत्तर प्रदेश को दूसरा और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को तीसरा नंबर दिया है। CPCB ने देश के 112 सबसे प्रदूषित स्थलों की लिस्ट जारी की है। इसमें ओडिशा के 23 और उत्तर प्रदेश 21 स्थल चिन्हित किए गए हैं, जबकि लिस्ट में दिल्ली में ऐसे 11 प्रदूषित स्थल शामिल हैं। पर्यावरण मंत्रालय के अनुसार प्रदूषित स्थल ऐसे क्षेत्र हैं, जहां कूड़े-कचरों में विषैले और खतरनाक पदार्थों की मात्रा अत्यधिक होने से आसपास रहने वालों की सेहत पर असर पड़ रहा है।

एडिशनल नॉलेज- फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन को 19 मार्च को ‘इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म आर्काइव्स’ द्वारा 2021 FIAF अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। बिग बी को इस अवॉर्ड से मशहूर इंटरनेशनल डायरेक्टर क्रिस्टोफर नोलन और मार्टिन स्कॉसीजी सम्मानित करेंगे। उन्हें यह अवॉर्ड वर्ल्ड फिल्म हेरिटेज के संरक्षण में उनके समर्पण और योगदान के लिए दिया जाएगा। अमिताभ इस अवॉर्ड को पाने वाले पहले भारतीय होंगे।इस संस्था को फिल्म निमार्ता और आर्काइविस्ट शिवेंद्र सिंह डूंगरपुर ने स्थापित किया था। यह एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो भारत की फिल्मी विरासत के संरक्षण, पुनर्स्थापन, प्रलेखन, प्रदर्शनी और अध्ययन के लिए काम करता है।

एडिशनल नॉलेज- भारतीय महिला वनडे टीम की कप्तान मिताली राज ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे वनडे में एक और कीर्तिमान अपने नाम किया। वे इंटरनेशनल क्रिकेट में 10 हजार रन पूरे करने वाली दुनिया की दूसरी और भारत की पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं। मिताली ने अब तक करियर में 46.73 की औसत से 10,001 रन बनाए हैं। मिताली से पहले इंग्लैंड की पूर्व कप्तान चार्लेट एडवर्ड्स यह रिकॉर्ड बना चुकी हैं। चार्लेट के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में 10,273 रन हैं।मिताली उनका रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ 272 रन पीछे हैं।

एडिशनल नॉलेज- महाराष्ट्र की सुरेखा यादव ने एक बार फिर अपने नाम एक रिकॉर्ड किया है। साल 1988 में भारत की पहली महिला ट्रेन ड्राइवर बनीं सुरेखा ने इतिहास रचा था। लेकिन अब 2021 में उन्होंने फिर से एक बार रिकॉर्ड बनाया है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भारतीय रेलवे ने पहल करते हुए मुंबई-लखनऊ स्पेशल ट्रेन रवाना की। सुरेखा मुंबई से लखनऊ तक ट्रेन लेकर आईं, जिसका पूरा स्टाफ महिला ही था। इस ट्रेन में रेलवे की पहली महिला ड्राइवर सुरेखा यादव, टीटीई समेत अन्य सपोर्टिंग स्टाफ महिला ही थी।

एडिशनल नॉलेज- हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार से नवाजा गया है। उन्हें यह पुरस्कार कैम्ब्रिज एनर्जी रिसर्च एसोसिएट वीक (Seravic) की ओर से दिया गया है। सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशिप पुरस्कार की शुरुआत साल 2016 में हुई थी। यह पुरस्कार वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण के क्षेत्र में प्रतिबद्ध नेतृत्व के लिए प्रदान किया जाता है। डॉक्टर डेनिएल येरगिन ने साल 1983 में सेरावीक की स्थापना की थी। इसकी स्थापना के बाद से हर साल मार्च में हृयूस्टन में सेरावीक का आयोजन होता है। इसकी गिनती विश्व के अग्रणी ऊर्जा मंचों में होती है।

एडिशनल नॉलेज- रोम में हुई महिला कुश्ती में विनेश फोगाट 53 किलो भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर एक बार फिर विश्व की नम्बर वन पहलवान बन गई हैं। माटियो पैलिकोन रैंकिंग कुश्ती सीरीज के विनेश का यह दूसरे सप्ताह में दूसरा गोल्ड मेडल है। विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता 26 वर्षीय विनेश तोक्यो ओलंपिक खेलों के लिये क्वॉलीफाई करने वाली एकमात्र भारतीय महिला पहलवान हैं। उन्होंने कनाडा की डायना मैरी हेलन वीकर को 4-0 से हराया।

एडिशनल नॉलेज- महिलाओं के सम्मान में हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में महिलाओं के जीवन में सुधार लाने, उनमें जागरुकता बढ़ाने के लिए कई विषयों पर जोर दिया जाता है। पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में डेनमार्क, जर्मनी, ऑस्ट्रिया और स्विटजरलैंड में मनाया गया था। इसके बाद साल 1975 में संयुक्त राष्ट्र ने 8 मार्च को वार्षिक अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की मान्यता दी।

एडिशनल नॉलेज- केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर एक नियमित कमीशन अधिकारी के रूप में प्रादेशिक सेना में कैप्टन के रूप में पदोन्नत होने वाले पहले केंद्रीय मंत्री बन गए हैं। ठाकुर को 124 इन्फेंट्री बटालियन प्रादेशिक सेना (सिख) में कैप्टन के पद पर पदोन्नत किया गया है। इससे पहले भारतीय सेना द्वारा भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और एमएस धोनी को मानद उपाधि दी गई थी।

एडिशनल नॉलेज- हर साल मार्च के दूसरे गुरुवार को विश्व किडनी दिवस मनाया जाता है। इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ नेफ्रोलॉजी (ISN) और इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ किडनी फाउंडेशन ने मिलकर साल 2006 में 66 देशों में इसकी शुरुआत की थी। विश्व किडनी दिवस का उद्देश्य दुनिया में लगातार बढ़ रही किडनी की बीमारियों के मामलों को रोकना है। इसके लिए विश्व किडनी दिवस पर कई प्रकार के जागरुकता अभियान का आगाज किया जाता है। जिससे लोगों और दूर-दराज के क्षेत्र में रह रहे लोगों को किडनी की बीमारी के बारे में जागरूक किया जाता है।

एडिशनल नॉलेज- चीनी कपंनी Vivo एक बार फिर IPL की टाइटल स्पॉन्सर बन गई है। कंपनी को साल 2018 से 2022 तक के लिए IPL के पास स्पॉन्सरशिप राइट था, लेकिन पिछले साल Vivo और BCCI ने मिल कर IPL 2020 को स्किप किया था। जिसके बाद अब एक बार फिर से 2023 तक VIVO IPL का स्पॉन्सर होगा। IPL 2020 के दौरान Dream11 ने Vivo को रिप्लेस किया था, लेकिन फिर से अब Vivo की वापसी स्पॉन्सर के तौर पर हो चुकी है।

एडिशनल नॉलेज- BBC इंडियन स्पोर्ट्सवीमेन ऑफ द ईयर अवॉर्ड की शुरुआत 2019 में हुई थी ताकि देश की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ियों को सम्मानित किया जा सके और भारत में महिला खिलाड़ियों के सामने आने वाली चुनौतियों और मुद्दों को सामने लाया जा सके। साल 2020 के लिए इस अवॉर्ड को कोनेरू हम्पी ने जीता है। कोनेरू हम्पी वर्ल्ड रैपिड चेस चैंपियनशिप की मौजूदा विजेता हैं। यह खिताब उन्होंने साल 2019 में दो साल के मातृत्व अवकाश के बाद जीता था। इसके साथ ही वह केयर्न्स कप 2020 की भी विजेता हैं।

इस पुरस्कार के लिए 5 महिला खिलाड़ियों को नॉमिनेट किया गया था। इसमें एथलीट दुती चंद, शतरंज चैंपियन कोनेरू हम्पी, शूटर मनु भाकर, पहलवान विनेश फोगाट और भारतीय महिला फील्ड हॉकी टीम की मौजूदा कप्तान रानी रामपाल शामिल थीं।

एडिशनल नॉलेज- इंडियन सुपर लीग (ISL) टीम FC गोवा एएफसी चैंपियन्स लीग (एसीएल) के ग्रुप ई मैचों की मेजबानी मडगांव के फतोर्डा स्टेडियम में करेगी। एशियाई फुटबॉल परिसंघ (AFC) ने गुरुवार को एसीएल 2021 के ग्रुप चरण के मैचों के स्थलों की पुष्टि की और इसके लिए गोवा को ग्रुप ई मैचों की मेजबानी के लिए चुना गया है। इससे पहले गोवा ने 2017 फीफा अंडर -17 विश्व कप और 2016 एएफसी अंडर -16 चैंपियनशिप के मैचों की भी मेजबानी की है।

यह भी पढ़ें-

भास्कर एजुकेशन:कॉम्पिटेटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं, तो जरूर पढ़ें जीके और करंट अफेयर्स से जुड़े ये सवाल

भास्कर एजुकेशन:कॉम्पिटेटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं, तो जरूर पढ़ें जीके और करंट अफेयर्स से जुड़े ये सवाल

खबरें और भी हैं…



Source link

Career Options, Courses, Colleges, Jobs, Salary


It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia.It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia.It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia.It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia.

Job Prospects after doing PhD

 

At first, you need to understand that the value of a PhD degree is measured in terms of knowledge and skills. You need to have both these traits to excel in the career of your choice. Let’s take a look at some of the career options after doing PhD:

In general, the most sought after jobs after PhD are University professor, Industrial R&D Lab professionals and Start-ups mentors. Industrial Research and Development organizations have dedicated PhD groups who are involved in research activities, designing new products and taking part in crucial strategic meetings. As compared to development centres, the average salaries in industrial R&D labs are much higher. This clearly suggests that an engineering graduate with 5 years of experience would be earning less than a fresh PhD Graduate who has recently joined a industrial R&D lab.

In some cases, development centres hire PhD graduates for multiple roles with salaries almost same or even more as compared to exclusive R&D labs. The salary structure and designation of PhD graduate joining a Research lab or development centre is always higher than that of any other graduates with rich experience.

 

How the trend of PhD has changed over the years?

 

The advent of Start-ups has changed the entire PhD ecosystem. If you back in time, the scope of PhD was limited to academia. However, today, the amalgamation of academia and start-ups has left many options for PhD graduates to explore. As start-ups have become a storehouse of innovation and improvisation, PhD graduates are willing to join a thriving and new organization where they use their knowledge-based skills to design new products through their exceptional research and developmental capabilities. Now-a-days, PhD graduates are looking forward to work in start-up environment, gain experience and then join academia where they can use their skills and expertise in a productive way.

The future of PhD Graduates in Academia

Academia has become the first choice of PhD Graduates due to the freedom in working and lucrative salary packages. In most of the cases, jobs in academics also include other perks like free accommodation. Also, there is a chance for PhD graduates to work in other countries. In all, the most thing that organizations look for while hiring PhD candidates is superior analytical skills and the ability to solve complex problems at one go.

Key factors to track your potential after doing PhD

Once you have completed your PhD, it’s time to track your potential and apply to jobs based on your exact skills and expertise. Though it’s not a difficult task to analyze your skills at PhD level, however, the following parameters will help you to understand and realize where your true potential lies:

PhD Projects

Expertise and Skills

Writing a 75,000 word thesis

You are good at analyzing, planning and collecting information in a productive manner.

Data Analysis

Ability to analyze and present complex data. You are good with numbers.

Conducting interviews

Exceptional skills in research and conducting structured interviews with diplomatic approach.

Testing and doing experiments

You are good at problem solving and hold positive approach

Published various reports and presentation at conference

Ability to present complex projects in a comprehensive and precise way. You have good communication skills

Completion of PhD on time

Ability to handle and complete tough projects in the given time period

Organizing research seminars

Ability to lead from the front and have immense self-confidence

This list will give you a fair idea about your potential, and this will help you to figure out your skills and expertise at various levels of work. In this way, you will also be able to describe and present your qualities and skills in-front of a recruiter.

Meanwhile, you should refrain from drafting a lengthy resume even if you are a PhD graduate who has lots of things to say. Generally, employers tend to ignore reading such long resumes, which may put your efforts in vain. You should also consider the following things before your first job:

  • Be practical about your job prospects and set your ambitions in way that is achievable
  • Keep in mind that you and your colleague (with low qualifications than you) will be treated equally in organizations
  • Know the keywords and buzz words of the sector you want to go into.
  • Update yourself with the key market trends that are relevant and are in buzz
  • You might get paid less than you expected after doing PhD. In that case, accept the fact and move on
  • If you are making a transition from academia to start-ups or industrial R&D firms, be ready to adapt to the changes in terms of freedom and salary components.

 

Career Choices after PhD

 

From financial sector to public sector, PhDs are now found everywhere as they are not limited to work in the zone of academia. Now-a-days, professionals are willing to make a transition from academic research after completing their PhDs to work in corporate environment and use their skills productively. It’s important to note that to work in banking sector you need to have a PhD in finance. This is because the shift from academic research can go beyond your area of study.

Some of the popular PhD specialization along-with the job sectors is listed below:

PhD

Area of work

PhD in English Literature

College Professor

PhD in Linguistics

Public sector and science communication

PhD in Pharmacy

Medical research centres

PhD in Chemistry

Analyst in Chemical research centres and laboratories

PhD in Geology

Head of service in Geological centres

PhD in Law

Advisory positions in Government sectors

PhD in Biology

Science Writing

PhD in Nutrition

Scientific Advisor

PhD in Biochemistry

Patent Lawyer

PhD in Molecular Biology

Medical research and development centres

You must remember to experiment, learn and innovative to excel in your career after doing PhD. And, if you are planning to make a transition from academia, be ready to adjust yourself in terms of stiff market challenges and freedom.

 

PhD – It’s more than a Degree

Simply feeling proud of the “Dr.” rubber stamp on your degree would not get you a job. It’s good that that you are a PhD graduate, however, it is more than a degree, where training and knowledge based research activities are more important. PhD is all about engaging in in-depth research along-with thorough understanding of research issues and the ability to solve key problems with exceptional analytical and observational skills. A PhD graduate must learn to work for long hours, analyze & solve complex problems and handle every situation with calmness. These traits are not only required to become an academic but also required in other areas of work such as Research, Finance and Public Service.

Career After PhD

It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia. The proportion of PhDs joining academia is not very large as compared to the number of candidates having PhD degrees. The employment landscape in India and other international countries is changing drastically, and this has left PhD students to reshuffle their objective in joining academia. Now-a-days, PhD graduates are eyeing for alternative options in the field of writing, research, investment banking, law and many more.It’s a common myth that PhD is a training based study module to become a university professor. Yes, it is true to an extent but the scope of PhD goes beyond academia. The proportion of PhDs joining academia is not very large as compared to the number of candidates having PhD degrees. The employment landscape in India and other international countries is changing drastically, and this has left PhD students to reshuffle their objective in joining academia. Now-a-days, PhD graduates are eyeing for alternative options in the field of writing, research, investment banking, law and many more.

Read more Careers on :





Source link

Sarkari Naukri 2021 Live Govt Jobs Results News Updates Apply For These Various Jobs – Sarkari Naukri 2021 Live : इन विभाग में निकली हैं बंपर नौकरियां, अभी करें आवेदन


11:48 AM, 14-Mar-2021

Sarkari Naukri 2021 LIVE : एनएमडीसी के पदों पर आवेदन की यह है अंतिम तिथि

एनएमडीसी के रिक्त पदों पर इच्छुक अभ्यर्थी 11 मार्च, 2021 से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की यह प्रक्रिया 31 मार्च, 2021 तक सक्रिय रहेगी। अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करने के पश्चात आवेदन पत्र को एनएमडीसी के पते पर पोस्ट भी करना होगा। इसकी अंतिम तिथि 15 अप्रैल, 2021 निर्धारित की गई है। 



Source link

Pariksha Pe Charcha 2021| The registration process for the interaction program with the Prime Minister to be ends today, more than 12.4 lakh candidates have registered so far | प्रधानमंत्री के साथ इंटरेक्शन प्रोग्राम के लिए आवेदन का आज आखिरी दिन, अभी तक 12.4 लाख से ज्यादा कैंडिडेट्स ने कराया रजिस्ट्रेशन


  • Hindi News
  • Career
  • Pariksha Pe Charcha 2021| The Registration Process For The Interaction Program With The Prime Minister To Be Ends Today, More Than 12.4 Lakh Candidates Have Registered So Far

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इस साल बोर्ड परीक्षा में शामिल होने स्टूडेंट्स के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रम ‘परीक्षा पे चर्चा’ के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस आज खत्म हो जाएगी। प्रधानमंत्री के साथ होने वाले इस इंटरेक्शन प्रोग्राम में शामिल होने के इच्छुक स्टूडेंट्स आज आवेदन प्रक्रिया पूरी होने तक innovateindia.mygov.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं।

अभी तक 12.4 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन

इस कार्यक्रम के लिए अभी तक 12.4 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। इनमें 9.23 लाख स्टूडेंट्स, 2.38 लाख टीचर्स और 0.83 लाख पेरेंट्स शामिल है। कार्यक्रम के दौरान कक्षा 9वीं से 12वीं के स्टूडेंट्स ‘परीक्षा पे चर्चा’ 2021 प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए किसी एक विषय पर अपनी प्रतिक्रिया प्रस्तुत कर सकते हैं। प्रतियोगिता के विजेताओं को सीधे कार्यक्रम में भाग लेने का मौका मिलेगा। इस साल कोरोना के कारण यह कार्यक्रम वर्चुअली मोड में आयोजित किया जाएगा।

2018 से हुई परीक्षा पे चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2018 के बाद से हर साल बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स से परीक्षा के पहले लाइव इंटरैक्शन करते रहे हैं। साल 2021 में यह आयोजन का चौथा संस्करण होगा। इस साल CBSE 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा 4 मई से 11 जून तक आयोजित की जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

पीएचडी डिग्री होल्डर्स के लिए भारत में उपलब्ध आकर्षक करियर ऑप्शन्स


देश-दुनिया में पीएचडी की डिग्री को सर्वोच्च एकेडमिक डिग्री के तौर पर सम्मान हासिल है. अधिकतर लोग ऐसा मानते हैं कि, एक यूनिवर्सिटी प्रोफेसर बनने के लिए पीएचडी ट्रेनिंग बेस्ड स्टडी मोड्यूल है. यह विचार कुछ हद तक सही है लेकिन, पीएचडी का महत्त्व एकेडमिक क्षेत्र से भी कहीं अधिक है और पीएचडी डिग्री होल्डर्स के लिए भारत सहित विदेशों में भी अनेक आकर्षक करियर ऑप्शन्स हमेशा उपलब्ध रहते हैं. आइये इस आर्टिकल को आगे पढ़कर इस बारे में और अधिक सटीक जानकारी हासिल करते हैं.

कुछ वर्षों से कुछ ऐसे बदल रहा है पीएचडी का ट्रेंड

स्टार्ट-अप्स की शुरुआत ने पूरे पीएचडी परिवेश को बदल दिया है. कुछ समय पहले तक, पीएचडी का कार्यक्षेत्र सिर्फ एकेडमिक क्षेत्र तक ही सीमित था. यद्यपि आजकल, एकेडमिक क्षेत्र और स्टार्ट-अप्स के मिश्रण से पीएचडी ग्रेजुएट्स को कई नये ऑप्शन्स मिल गये हैं. अब, क्योंकि स्टार्ट-अप्स इनोवेशन और इम्प्रोवाइजेशन का स्टोरहाउस बन चुके हैं तो पीएचडी ग्रेजुएट्स किसी नये और उभरते हुए संगठन में काम करना चाहते हैं ताकि अपनी एक्सेप्शनल रिसर्च एंड डेवलपमेंट क्षमताओं के माध्यम से नये प्रोडक्ट्स को डिज़ाइन करने के लिए वे अपने नॉलेज बेस्ड स्किल्स का उपयोग कर सकें. आजकल, पीएचडी ग्रेजुएट्स स्टार-अप परिवेश में काम तलाश रहे हैं ताकि उन्हें अच्छा कार्य-अनुभव प्राप्त हो जाए और फिर, वे एकेडमिक क्षेत्र ज्वाइन कर लें, जहां पर वे अपने स्किल्स और विशेषज्ञता का प्रोडक्टिव तरीके से उपयोग कर सकें.

एकेडमिक फील्ड में पीएचडी डिग्री होल्डर्स का है सुनहरा भविष्य

एकेडमिक क्षेत्र पीएचडी ग्रेजुएट्स की पहली पसंद बन चूका हैं क्योंकि यहां उन्हें काम करने की पूरी आजादी के साथ बहुत बढ़िया सैलरी पैकेज मिलते हैं. अधिकांश मामलों में, एकेडमिक क्षेत्र की जॉब्स के तहत कई अन्य लाभ जैसे फ्री एकोमोडेशन भी शामिल होते हैं. पीएचडी ग्रेजुएट्स के लिए इस बात का भी चांस होता है कि वे किसी अन्य देश में काम करें. कुल मिलाकर, पीएचडी कैंडिडेट्स को हायर करते समय अधिकांश संगठन अक्सर अपने भावी कैंडिडेट्स के सुपीरियर एनालिटिकल स्किल्स और जटिल समस्याओं को तुरंत सॉल्व करने की काबिलियत देखते हैं.

पीएचडी डिग्री होल्डर्स कुछ ऐसे अपने टैलेंट और कार्यक्षमता का पता लगायें

जब एक बार आप अपनी पीएचडी पूरी कर लेते हैं तो आपके लिए यह बिलकुल सही समय है कि अपनी काबिलियत पता करने के बाद, आप अपने उपयुक्त स्किल्स और विशेषज्ञता के आधार पर जॉब्स के लिए अप्लाई करें. हालांकि, आपके लिए पीएचडी के लेवल पर अपने स्किल्स को अच्छी तरह एनालाइज करना कोई बहुत मुश्किल काम नही है तो भी, नीचे दिए गए मानदंड आपको अपनी वास्तविक काबिलियत को अच्छी तरह समझने में सहायता करेंगे. आइये पढ़ें: 











पीएचडी प्रोजेक्ट्स

एक्सपरटाइज एंड स्किल्स

एक 75,000 वर्ड्स की थीसिस राइटिंग

आप प्रोडक्टिव मैनर से एनालाइजिंग, प्लानिंग और इनफॉर्मेशन कलेक्ट करने में कुशल हैं.  

डाटा एनालिसिस

कम्प्लेक्स डाटा को एनालाइज और प्रेजेंट करने की काबिलियत. आप नंबर्स या कैलकुलेशन्स में माहिर हैं  

कंडक्टिंग इंटरव्यूज

रिसर्च में एक्सेप्शनल स्किल्स के साथ डिप्लोमेटिक अप्रोच से स्ट्रक्चर्ड इंटरव्यूज कंडक्ट करने की क्षमता.

टेस्टिंग एंड डूइंग एक्सपेरिमेंट्स

आप प्रॉब्लम सॉल्विंग में कुशल हैं और आपकी पॉजिटिव अप्रोच है. 

विभिन्न रिपोर्ट्स पब्लिश करने के साथ कांफ्रेंस में प्रेजेंटेशन

एक कम्प्रीहेंसिव और प्रिसाइज़ तरीके से कम्प्लेक्स प्रोजेक्ट्स पेश करने की काबिलियत. आपके पास बढ़िया कम्युनिकेशन स्किल्स हैं.

समय पर पीएचडी का समापन

किसी दिए गए निर्धारित समय में मुश्किल प्रोजेक्ट्स को हैंडल करने और पूरा करने की क्षमता.

रिसर्च सेमिनार्स ऑर्गनाइज़ करना

आगे बढ़कर नेतृत्व करने की क्षमता और बेहतरीन आत्मविश्वास.

इस लिस्ट से आपको अपनी काबिलियत के बारे में काफी बढ़िया अनुमान हो जाएगा और इससे आपको काम के विभिन्न स्तरों पर अपने स्किल्स और विशेषज्ञता का पता लगाने में मदद मिलेगी. इस तरह, आप रिक्रूटर के सामने अपनी क्वालिटीज और स्किल्स को भी बहुत अच्छी तरह पेश कर सकेंगे.

इस दौरान, चाहे आप एक ऐसे पीएचडी ग्रेजुएट हैं जिसके पास लिखने के लिए काफी कुछ है, तो भी आप अपने लिए एक लेंथी रिज्यूम न बनाएं. आमतौर पर, एम्पलॉयर्स ऐसे रिज्यूम्स को नज़रंदाज़ कर देते हैं. तब, आपके सारे प्रयास बेकार चले जायेंगे. अपनी पहली जॉब से पहले आपको निम्नलिखित प्वाइंट्स का भी ध्यान रखना चाहिए:

  • अपने जॉब प्रॉस्पेक्ट्स के बारे में प्रैक्टिकल रवैया अपनाएं और ऐसे लक्ष्य निर्धारित करें जो प्राप्त किये जा सकें.
  • हमेशा याद रखें कि आपको और आपके क्लीग (आपसे कम शैक्षिक योग्यता सहित) को संगठन में एक समान समझा जाएगा.
  • आप जिस कार्यक्षेत्र में जाना चाहते हैं, उस क्षेत्र के महत्वपूर्ण और चर्चित शब्दों की जानकारी प्राप्त करें.
  • महत्वपूर्ण मार्केट ट्रेंड्स के साथ खुद को अपडेट रखें.
  • पीएचडी करने के बाद भी आपको शायद अपनी उम्मीद से कम वेतन मिले. ऐसे मामले में, इस फैक्ट को स्वीकार करें और आगे बढ़ें.
  • अगर आप एकेडेमिक क्षेत्र से स्टार्ट-अप्स या इंडस्ट्रियल आर एंड डी फर्म्स में जा रहे हैं तो आजादी और सैलरी के मुद्दों के सम्बन्ध में होने वाले बदलावों के संबंध में पूरी तरह तैयार रहें|

पीएचडी डिग्री होल्डर्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

देश-दुनिया में पीएचडी की डिग्री की वैल्यू नॉलेज और स्किल्स के अनुसार आंकी जाती है. अपने मनचाहे करियर में एक्सपर्ट बनने के लिए आपके पास ये दोनों ही ट्रेट्स होने चाहिये. पीएचडी डिग्री होल्डर्स अक्सर यूनिवर्सिटी प्रोफेसर, इंडस्ट्रियल आर एंड डी लैब प्रोफेशनल्स और स्टार्ट-अप्स मेंटर्स के तौर पर जॉब ज्वाइन करते हैं. इंडस्ट्रियल रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन्स में समर्पित पीएचडी ग्रुप्स होते हैं जो रिसर्च एक्टिविटीज और नये प्रोडक्ट्स की डिजाइनिंग करने के साथ-साथ महत्वपूर्ण स्ट्रेटेजीज़ निर्धारित करते हैं. डेवलपमेंट सेंटर्स की तुलना में, इंडस्ट्रियल आर एंड डी लेब्स की एवरेज सैलरीज काफी अच्छी होती हैं. इसी तरह, 05 वर्ष के अनुभव सहित एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट को इंडस्ट्रियल आर एंड डी लेब्स में अभी जॉब ज्वाइन करने वाले किसी फ्रेश पीएचडी ग्रेजुएट की तुलना में कम सैलरी मिलती है.

जब डेवलपमेंट सेंटर्स विभिन्न कार्यों के लिए पीएचडी ग्रेजुएट्स को हायर करते हैं तो इन प्रोफेशनल्स  की सैलरी विशेष आर एंड डी प्रोफेशनल्स की तुलना में समान या कुछ अधिक होती है. किसी रिसर्च लैब या डेवलपमेंट सेंटर ज्वाइन करने वाले पीएचडी ग्रेजुएट का सैलरी स्ट्रक्चर और डेजिग्नेशन हमेशा किसी अन्य ग्रेजुएट से ज्यादा हाई होते हैं चाहे इन अन्य ग्रेजुएट्स के पास काफी अधिक वर्क एक्स्पेरिंस भी  हो.

आपके लिए पीएचडी के बाद रिसर्च और करियर्स

फाइनेंशल सेक्टर से पब्लिक सेक्टर तक, पीएचडी कैंडिडेट्स आजकल हर जगह मौजूद हैं क्योंकि अब वे केवल एकेडमिक क्षेत्र में ही काम करने तक सीमित नहीं हैं. आजकल, अपनी पीएचडी पूरी करने के बाद प्रोफेशनल्स एकेडमिक रिसर्च के क्षेत्र से किसी कॉरपोरेट परिवेश में काम करना चाहते हैं ताकि अपने स्किल्स का बेहतरीन इस्तेमाल कर सकें. इस बात पर ध्यान दें कि अगर आप बैंकिंग सेक्टर में काम करना चाहते हैं तो आपके पास फाइनेंस में पीएचडी की डिग्री होनी चाहिए. ऐसा इसलिये जरुरी है क्योंकि एकेडमिक रिसर्च से यह बदलाव आपके स्टडी एरिया से काफी आगे तक जा सकता है. 

भारत में कुछ लोकप्रिय पीएचडी स्पेशलाइजेशन्स














पीएचडी

कार्य क्षेत्र  

इंग्लिश लिटरेचर में पीएचडी

कॉलेज प्रोफेसर

लिंग्विस्टिक्स में पीएचडी

पब्लिक सेक्टर एंड साइंस कम्युनिकेशन

फार्मेसी में पीएचडी

मेडिकल रिसर्च सेंटर्स

केमिस्ट्री में पीएचडी

केमिकल रिसर्च सेंटर्स एंड लेबोरेटरीज में एनालिस्ट

जियोलॉजी में पीएचडी

जियोलॉजिकल सेंटर्स में हेड ऑफ़ सर्विस

लॉ में पीएचडी

गवर्नमेंट सेक्टर्स में एडवाइजरी पोजीशन्स

बायोलॉजी में पीएचडी

साइंस राइटिंग

न्यूट्रीशन में पीएचडी

साइंटिफिक एडवाइजर

बायोकेमिस्ट्री में पीएचडी

पेटेंट लॉयर

मॉलिक्यूलर बायोलॉजी में पीएचडी

मेडिकल रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर्स

आप यह जरुर याद रखें कि पीएचडी करने के बाद अपने करियर में विशिष्टता प्राप्त करने के लिए आपको हमेशा प्रयोग करने और सीखने के साथ ही इनोवेटिव कार्य करने होंगे. अगर आप एकेडमिक क्षेत्र से अलग होने पर विचार कर रहे हैं तो आपको कार्य करने की आजादी के मुद्दे के साथ ही सख्त मार्केट चैलेंजेस के लिए खुद को तैयार करना होगा.

भारत में पीएचडी डिग्री होल्डर्स के लिए आकर्षक करियर ऑप्शन्स

आमतौर पर यह एक गलत धारणा है कि यूनिवर्सिटी प्रोफेसर बनने के लिए पीएचडी एक ट्रेनिंग आधारित स्टडी मोड्यूल है. हां! यह कुछ हद तक सही विचार है लेकिन, पीएचडी का क्षेत्र एकेडमिक क्षेत्र से कहीं आगे तक व्याप्त है. जो लोग पीएचडी की डिग्री प्राप्त करते हैं, उनकी तुलना में कम लोग एकेडमिक क्षेत्र ज्वाइन करते हैं. भारत सहित अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अन्य देशों में रोज़गार का परिदृश्य बड़ी तेज़ी से बदल रहा है. इस वजह से पीएचडी स्टूडेंट्स भी एकेडमिक क्षेत्र ज्वाइन करने के अपने उद्देश्य के बारे में अच्छी तरह सोचने पर मजबूर हो गये हैं. आजकल, पीएचडी ग्रेजुएट्स राइटिंग, रिसर्च, इंवेस्टमेंट बैंकिंग, लॉ और अन्य कई संबद्ध क्षेत्रों में विभिन्न विकल्पों की तलाश कर रहे हैं.

पीएचडी की डिग्री है सर्वोच्च एकेडमिक डिग्री

अपनी डिग्री पर केवल “डॉक्टर” की रबड़ लगी होने पर गर्व महसूस करने से आपको कोई बढ़िया जॉब नहीं मिलेगी. यह बहुत अच्छी बात है कि आप एक पीएचडी ग्रेजुएट हैं. हालांकि, पीएचडी सिर्फ डिग्री की तुलना में कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें ट्रेनिंग और नॉलेज पर आधारित रिसर्च एक्टिविटीज को ज्यादा महत्व दिया जाता है. पीएचडी में रिसर्च इश्यूज की बेहतरीन समझ के साथ ही गहन रिसर्च कार्य और अति विशेष एनालिटिकल और ऑब्जरवेशनल स्किल्स के साथ महत्वपूर्ण समस्याओं को सॉल्व करने की काबिलियत शामिल है. किसी पीएचडी ग्रेजुएट को कई घंटे लगातार काम करना, जटिल समस्याओं को एनालाइज और सॉल्व करना और शांति से हरेक परिस्थिति को हैंडल करना जरुर सीखना चाहिए. ये गुण न केवल किसी एकेडेमिक एक्सपर्ट के लिए बहुत जरुरी हैं बल्कि, रिसर्च, फाइनेंस और पब्लिक सर्विस जैसे अन्य कार्यक्षेत्रों के लिए भी अनिवार्य हैं.

Read more Careers on :





Source link

Sarkari Naukri 2021 Live Govt Jobs Results News Updates For 8th Pass And 12th Pass Jobs – Sarkari Naukri 2021 Live: राजस्थान, महाराष्ट्र की बिजली कंपनियों समेत यहां निकलीं भर्तियां


सरकारी नौकरी 2021 लाइव अपडेट: sarkari naukri live 2021
– फोटो : amar ujala

खास बातें

सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले युवाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में तैयारी कर रहे युवाओं को इंतजार होता है तो सिर्फ आवेदन निकलने का। कभी-कभी उम्मीदवार जिस नौकरी के लिए तैयारी कर रहे होते हैं, उनके आवेदन निकल जाते हैं और उनको यह बाद में पता चल पाता है। ऐसी परेशानी को देखते हुए amarujala.com 8वीं पास से लेकर स्नातक तक के पदों पर निकली भर्तियों की जानकारी के लिए ये लाइव अपडेट चला रहा है। जिसमें आपको न सिर्फ नई नौकरी के बारे में पता चलेगा बल्कि जिनकी अंतिम तिथि नजदीक है उनकी भी जानकारी मिलेगी। आगे पढ़ें…

 

लाइव अपडेट

07:31 PM, 05-Mar-2021

बीएसएफ में भर्ती शुरू : मिलेगी साढ़े तीन लाख तक की सैलरी

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने रोजगार समाचार के माध्यम से भर्ती के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। बीएसएफ भर्ती 2021 की अधिसूचना के अनुसार, सीमा सुरक्षा बल ने ग्रुप ए, बी और सी के पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं। इनमें  कैप्टन / पायलट (DIG), कमांडेंट (पायलट), डिप्टी चीफ इंजीनियर, सीनियर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर, जूनियर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर, इक्विपमेंट ऑफिसर, इंस्पेक्टर और गनर आदि पदों पर रिक्तियां हैं। इच्छुक और पात्र उम्मीदवार 31 दिसंबर, 2021 तक निर्धारित प्रारूप में आवेदन भेजकर सीमा सुरक्षा बल (BSF) भर्ती  2021 के लिए आवेदन कर सकते हैं। उपरोक्त पदों के लिए वेतनमान 1.55 लाख से लेकर 3.50 लाख रुपए प्रतिमाह तक है। अधिक जानकारी के लिए पूरी खबर पढ़ें।

 



Source link

Examination for technical education department spokesperson will be held in Ajmer and Jaipur from 12; Admit card issued, more than 20 thousand candidates will sit | तकनीकी शिक्षा विभाग प्रवक्ता ​​​​​​​के लिए 12 से अजमेर और जयपुर में होगी परीक्षा;  एडमिट कार्ड जारी, करीब 20 हजार से अधिक अभ्यर्थी बैठेंगे


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Examination For Technical Education Department Spokesperson Will Be Held In Ajmer And Jaipur From 12; Admit Card Issued, More Than 20 Thousand Candidates Will Sit

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजमेर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थी को एक फोटो एवं मूल फोटो पहचान-पत्र अवश्य लेकर परीक्षा समय से एक  घण्टा पूर्व पहुंचना होगा - Dainik Bhaskar

परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थी को एक फोटो एवं मूल फोटो पहचान-पत्र अवश्य लेकर परीक्षा समय से एक  घण्टा पूर्व पहुंचना होगा

राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से प्रवक्ता (तकनीकी शिक्षा विभाग) प्रतियोगी परीक्षा, 2020 का आयोजन 12 मार्च से शुरू होगा। जयपुर और अजमेर में होने वाली इस प्रतियोगी परीक्षा के अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड आयोग द्वारा जारी कर दिए गए। आयोग द्वारा प्रवक्ता के 39 पदों पर भर्ती के लिए इस परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। 20,000 से अधिक अभ्यर्थी परीक्षा में प्रविष्ट होंगे।

आयोग सचिव शुभम चौधरी ने बताया कि 12 मार्च 2021 को सामान्य ज्ञान का प्रश्न पत्र सुबह 10 बजे से 12 बजे तक होगा। ऐच्छिक विषयों के प्रश्न पत्र 13 व 15 से 19 मार्च 2021 तक सुबह 9 बजे से 12 बजे एवं 2 बजे से सायं 5 तक आयोजित होंगे। इस परीक्षा का आयोजन अजमेर एवं जयपुर जिला मुख्यालयों पर किया जा रहा है। उक्त परीक्षा के प्रवेश-पत्र आयोग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए है।

अभ्यर्थी अपना प्रवेश-पत्र आयोग की वेबसाइट https://rpsc.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध एडमिट कार्ड लिंक पर जाकर डाउनलोड कर सकेंगे। इसके लिए आवेदन-पत्र क्रमांक व जन्म दिनांक जरूरी होगी। अभ्यर्थी https://sso.rajasthan.gov.in पर लाॅगिन कर सिटीजन एप (जी2 सी) में उपलब्ध रिक्रूटमेंट लिंक का चयन कर भी संबंधित परीक्षा का प्रवेश-पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।

मूल पहचान पत्र लाना होगा
सचिव ने बताया कि परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थी को एक फोटो एवं मूल फोटो पहचान-पत्र अवश्य लेकर परीक्षा समय से एक घण्टा पूर्व पहुंचना होगा। मूल फोटोयुक्त पहचान-पत्र के अभाव में अभ्यर्थी को केन्द्र पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अभ्यर्थियों को परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र के साथ जारी आवश्यक अनुदेशों का अवलोकन करना होगा।

सचिव ने यह भी कहा कि परीक्षा में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थी राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना के संबंध में जारी गाईडर्लाइन की पूर्णतः पालना करेंगे एवं परीक्षा केन्द्र पर मास्क लगाकर उपस्थित होंगे। अभ्यर्थी प्रत्येक ऐच्छिक विषय के लिए अलग-अलग प्रवेश-पत्र लेकर परीक्षा केन्द्र पर उपस्थित होगें ।

खबरें और भी हैं…



Source link

Sarkari Naukri 2021 Live Govt Jobs Results News Updates Apply For These Jobs – Sarkari Naukri 2021 Live: इन विभागों में 2900 से भी ज्यादा पदों पर भर्ती, अभी करें आवेदन


11:52 AM, 06-Mar-2021

एमएससी के पश्चात बीएआरसी में रेडियोलॉजिकल भौतिकी में डिप्लाेमा करने का मौका 

बीएआरसी (भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र) ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर अधिसूचना जारी कर एक वर्ष के रेडियोलॉजिकल भौतिकी कोर्स में प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित किए हैं। आवेदन पत्र जमा करने की प्रक्रिया 6 मार्च, 2021 से 5 अप्रैल, 2021 तक जारी रहेगी। इन 30 पदों पर आवेदन करने हेतु अभ्यर्थी बीएआरसी की आधिकारिक वेबसाइट recruit.barc.gov.in या www.barc.gov.in पर जा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी इस डायरेक्ट लिंक पर जाकर अधिसूचना देख सकते हैं। 



Source link

Sarkari Naukri 2020 Know About four Jobs ssb To nscl – Sarkari Naukri 2020: ये हैं वो चार नौकरियां जिनके बारे में आपको जानना चाहिए


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

Sarkari naukri 2020: अगर आप सरकारी नौकरी खोज रहे हैं, तो हम आपको चार नौकरियों के बारे में बता रहे हैं जहां आप अपनी योग्यता के हिसाब से आवेदन कर सकते हैं।

#पहली नौकरी
नेशनल सीड कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NSCL) में भर्तियां हो रही हैं, जिनके लिए उम्मीदवार 15 सितंबर, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं। यहां असिस्टेंट, मैनेजमेंट ट्रेनी, सीनियर ट्रेनी, डिप्लोमा ट्रेनी आदि के पद के लिए भर्तियां हो रही हैं। इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन मोड के जरिये आवेदन कर सकते हैं।

इस नौकरियों के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए क्लिक करें
 

#दूसरी नौकरी
सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) में कॉन्स्टेबल के अनेक पदों पर भर्तियां होने जा रही हैं। जो उम्मीदवार एसएसबी में इन पदों पर नौकरी पाना चाहते हैं, वे आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इच्छुक उम्मीदवार आवेदन करने से पहले सशस्त्र सीमा बल द्वारा इन नियुक्तियों के लिए जारी की गई आधिकारिक अधिसूचना जरूर पढ़ें। 

इन नौकरियों के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए क्लिक करें

#तीसरी नौकरी
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, राजस्थान ने 6000 से ज्यादा खाली पदों पर भर्ती के लिए आवेदन निकाले हैं। जो उम्मीदवार स्वास्थ्य विभाग में नौकरी करना चाहते हैं, उनके लिए कम्यूनिटी हैल्थ ऑफिसर (CHO) के पदों के लिए विज्ञप्ति जारी की गई है। उम्मीदवार 16 सितंबर, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं। जिसके लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

इन नौकरियों के बारे में विस्तार से जानने के लिए क्लिक करें

#चौथी नौकरी
भारतीय डाक विभाग, ओडिशा ने अनेक पदों पर  भर्तियां निकली हैं। आपको बता दें कि ये भर्तियां ग्रामीण डाक सेवकों के रिक्त पदों को भरने के लिए निकाली गईं हैं। इच्छुक उम्मीदवार 30 सितंबर, 2020 तक आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

इन नौकरियों के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए क्लिक करें

Sarkari naukri 2020: अगर आप सरकारी नौकरी खोज रहे हैं, तो हम आपको चार नौकरियों के बारे में बता रहे हैं जहां आप अपनी योग्यता के हिसाब से आवेदन कर सकते हैं।

#पहली नौकरी

नेशनल सीड कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NSCL) में भर्तियां हो रही हैं, जिनके लिए उम्मीदवार 15 सितंबर, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं। यहां असिस्टेंट, मैनेजमेंट ट्रेनी, सीनियर ट्रेनी, डिप्लोमा ट्रेनी आदि के पद के लिए भर्तियां हो रही हैं। इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन मोड के जरिये आवेदन कर सकते हैं।

इस नौकरियों के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए क्लिक करें
 



Source link

Fact Check: Modi government giving smartphones to students across the country for free ? The government itself called this claim Fake | क्या ऑनलाइन पढ़ाई के लिए देश भर के स्टूडेंट्स को मुफ्त स्मार्टफोन दे रही मोदी सरकार? जानिए वायरल हो रहे इस मैसेज का सच


  • Hindi News
  • No fake news
  • Fact Check: Modi Government Giving Smartphones To Students Across The Country For Free ? The Government Itself Called This Claim Fake

7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • मैसेज में दावा है कि दी गई लिंक पर क्लिक करने के बाद ही स्मार्टफोन मिलेगा
  • वॉट्सएप पर वायरल इस मैसेज को केंद्र सरकार की एजेंसी ने फेक बताया है

क्या हो रहा है वायरल : वॉट्सएप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार कोरोना संकट के कारण ऑनलाइन एजुकेशन के लिए देश भर के छात्रों को मुफ्त में स्मार्टफोन बांट रही है।

वायरल मैसेज में एक लिंक दी हुई है। दावा है कि इस लिंक पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद ही स्टूडेंट्स को स्मार्टफोन मिलेगा।

👉 http://bit.ly/Register-Free-Smartphone-Now

रीडर्स ने भी ऐसे मैसेज पड़ताल के लिए हमें भेजे हैं। यह मैसेज फेसबुक पर भी वायरल है।

क्या है इस दावे का सच ?

  • पड़ताल के दौरान हमने सरकारी एजेंसी पीआईबी की फैक्ट चेक टीम से सम्पर्क किया। टीम ने इसे लेकर अपनी पड़ताल की और ट्वीट किया। जिससे पता चलता है कि भारत सरकार की ऐसी कोई स्कीम नहीं है। पीआईबी टीम ने इस दावे को फेक बताया है।
  • इस खबर से जुड़े अलग-अलग कीवर्ड सर्च करने से भी हमें इंटरनेट पर ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें केंद्र सरकार की ऐसी किसी स्कीम का जिक्र हो।
  • हमने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के ट्विटर हैंडल पर बीते 3 महीने के सारे ट्वीट चेक किए। उन्होंने ऐसी किसी योजना की घोषणा नहीं की है। एमएचआरडी यानी शिक्षा मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी ऐसी किसी योजना का जिक्र नहीं है।
  • इन सबसे पता चलता है कि ऑनलाइन एजुकेशन के लिए देश भर के छात्रों को मुफ्त में स्मार्टफोन बांटने का मैसेज झूठा है। इसके जरिये डेटा चोरी का जो खतरा है, वह अलग। दैनिक भास्कर की सलाह है कि आपको ऐसे किसी ऑनलाइन लिंक में अपनी पर्सनल इंफार्मेशन देने से बचना चाहिए।

0





Source link

JEE Main Paper Analysis| Numericals creates problems to students on the second day of exam, Physics and Maths level was higher than January session | परीक्षा के दूसरे दिन स्टूडेंट्स को न्यूमेरिकल्स ने किया परेशान, जनवरी सेशन के मुकाबले हाई रहा फिजिक्स और मैथ्स का लेवल


  • Hindi News
  • Career
  • JEE Main Paper Analysis| Numericals Creates Problems To Students On The Second Day Of Exam, Physics And Maths Level Was Higher Than January Session

24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • बीई और बी.टेक में एडमिशन के लिए आज से शुरू हुई जेईई पेपर- 1 की परीक्षा 6 सितंबर तक जारी रहेगी
  • कल बी.आर्क और बी.प्लानिंग के लिए हुई परीक्षा में करीब डेढ़ लाख स्टूडेंट्स हुए थे शामिल

कोरोना के बीच मंगलवार से शुरू हुए जेईई मेन पेपर 2 की परीक्षा के बाद बुधवार को बीई और बीटेक की परीक्षा शुरू हो चुकी है। 2 सितंबर से शुरू हुई जेईई पेपर- 1 की परीक्षा 6 सितंबर तक जारी रहेगी। वहीं,परीक्षा में शामिल हुए स्टूडेंट्स ने बताया कि पेपर में मैथ्स काफी टफ और लंबा रहा। इसके अलावा जनवरी सेशन में हुए एग्जाम की तुलना में पेपर कठिन रहा।

वहीं, एक्सपर्ट के मुताबिक, जनवरी सत्र की तुलना में पेपर आसान था, लेकिन कैंडिडेट्स को मैथ्स के पेपर को हल करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। हालांकि, केमेस्ट्री में संतुलित प्रश्न थे और इन्हें आसान कहा जा सकता है। जबकि फिजिक्स में डिफिकल्टी लेवल मीडियम था। लेकिन, स्टूडेंट्स को न्यूमेरिकल पार्ट लंबा लगा।

फिजिक्स का लेवल रहा हाई

दूसरे दिन परीक्षा में शामिल हुए गणेश प्रजापति ने बताया कि पेपर ना ज्यादा टफ था, ना ज्यादा इजी। हालांकि, फिजिक्स थोड़ी कमजोर होने की वजह से उन्हें यह कठिन लगा। उन्होंने बताया कि जनवरी में हुए पेपर की तुलना में इस बार फिजिक्स का लेवल भी कुछ हाई रहा, जबकि मैथ्स और केमिस्ट्री पहले की तरह थे। वहीं, कोरोना से बचाव को लेकर किए गए उपायों से गणेश संतुष्ट नजर आए और बताया कि उनके परीक्षा सेंटर में कोविड-19 को लेकर बनाई गई सभी गाइडलाइंस का बखूबी पालन किया गया।

कोरोना के डर से ड्रॉप करने वाले थे परीक्षा

जेईई की परीक्षा देने वाले सत्यम सिंह बताते हैं कि इस बार पेपर ठीक-ठाक रहा। जनवरी सेशन की परीक्षा में शामिल हुए सत्यम ने कहा कि पिछले बार की तुलना में इस बार पेपर का लेवल थोड़ा डिफिकल्ट था। उन्होंने बताया कि परीक्षा के दौरान उन्हें फिजिक्स में परेशानी झेलनी पड़ी। कोरोना की गाइडलाइंस के बारे में उन्होंने कहा कि एग्जाम सेंटर के अंदर सभी सुविधाएं व्यवस्थित थी। हालांकि, सेंटर से बाहर निकलते ही कोई सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई नहीं दी। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना की वजह से वह परीक्षा ड्रॉप करने वाले थे, लेकिन सेंटर पर व्यवस्था देख वह आश्वस्त हुए और परीक्षा दी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने किया ट्वीट

वहीं, परीक्षा के बारे में ट्वीट करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि “मैं छात्रों को बधाई देता हूं कि उन्होंने इन विषम परिस्थितियों में अध्ययन किया और परीक्षा दे रहे हैं। मुझे अभिभावकों के बहुत सारे संदेश आए हैं वो व्यवस्थाओं से काफी ज्यादा खुश हैं। इसके लिए मैं प्रदेशों के मुख्यमंत्री गणों का आभार प्रकट करता हूं”।

0





Source link

Internship From Home| Along with developing skills in mobile app development, video making and content writing, these internships will give a chance for monthly earning | मोबाइल ऐप डेवलपमेंट, वीडियो मेकिंगऔर कंटेंट राइटिंग में स्किल्स डेवलेप करने के साथ ही मंथली अर्निंग का मौका देंगी यह इंटर्नशिप्स


  • Hindi News
  • Career
  • Internship From Home| Along With Developing Skills In Mobile App Development, Video Making And Content Writing, These Internships Will Give A Chance For Monthly Earning

12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना की रोकथाम के लिए शर्तों के साथ हुए अनलॉक के बाद भी स्कूल-कॉलेज बंद है। वहीं, एक सितंबर को लागू हुई अनलॉक 4 की गाइडलाइंस में भी स्कूल-कॉलेज फिलहाल एक महीने और बंद रहेंगे। ऐसे में इस साल नया सत्र समय पर शुरू नहीं हो पाएगा। कई दिनों से घरों में बंद स्टूडेंट्स के लिए इस खाली समय को काटना भी एक चुनौती है। हालांकि, सितंबर के महीने में इंटर्नशिप के ऐसे कई अवसर हैं, जिनके जरिए आप इस समय का सदुपयोग कर नई स्किल्स को डेवलप कर सकते हैं।

खास बात यह है कि इन इंटर्नशिप के जरिए आप स्किल डेवलपमेंट के साथ ही अर्निंग का भी अच्छा मौका पा सकते हैं। यहां विभिन्न इंटर्नशिप्स की जानकारी के साथ ही वह लिंक भी दी गई हैं, जिनपर क्लिक कर आप इंटर्नशिप के लिए अप्लाय कर सकते हैं।

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

सोर्स:इंटर्नशाला

0



Source link

UGC updates| Universities organize webinars on new education policy on the occasion of Teacher’s Day, programs can be organized through video conferencing | शिक्षक दिवस के अवसर पर नई शिक्षा नीति पर वेबिनार आयोजित करें यूनिवर्सिटीज, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो सकता है कार्यक्रम


  • Hindi News
  • Career
  • UGC Updates| Universities Organize Webinars On New Education Policy On The Occasion Of Teacher’s Day, Programs Can Be Organized Through Video Conferencing

26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर #ourteachersourheroes और #teachersfrominida नाम से मुहिम चलाने की भी है योजना
  • वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित किए जा सकते हैं यह कार्यक्रम; सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी किया जा सकता है सम्मानित

यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) ने शिक्षक दिवस के अवसर पर सभी यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर वेबिनार आयोजित करने के निर्देश दिए है। इस बारे में यूजीसी ने एक नोटिफिकेशन जारी कर यह निर्देश दिया है। आयोग ने सभी कुलपतियों से कहा है कि वे पांच सितंबर के दिन मनाए जाने वाले शिक्षक दिवस समारोह पर नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के संबंध में वेबिनार आयोजित करें।

सोशल मीडिया कैंपेन की भी है योजना

यूजीसी का कहना है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत उच्च और स्कूल शिक्षा दोनों क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर परिवर्तनकारी सुधार किए गए हैं। पीएम मोदी ने भी कहा है कि जब एक शिक्षक सीखता है तो पूरा राष्ट्र सीखता है। इसलिए इस साल पांच सितंबर को सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में होने वाले समारोहों में शिक्षकों की भूमिका पर बातचीत करेंगे। इसके अलावा, इस दिन यूजीसी की सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर #ourteachersourheroes और #teachersfrominida नाम से मुहिम चलाने की भी योजना है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो सकता कार्यक्रम

इसके अलावा यूजीसी ने पांच विश्वविद्यालयों को कोरोना संक्रमण के लिए भारत सरकार की तरफ से जारी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए कार्यक्रम आयोजित करने के लिए कहा है। यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित किए जा सकते हैं। साथ ही इनमें सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी तकनीक का उपयोग करके सम्मानित किया जा सकता है। यूजीसी शिक्षकों के लिए आयोजित किए गए सभी कार्यक्रमों को विश्वविद्यालय के पोर्टल ugc.ac.in / uamp पर अपलोड करना चाहती है।

0



Source link

Allahabad University| The remaining examinations of the final year will be conducted through online mode, the exam may begin in the second week of September. | फाइनल ईयर की बाकी बची परीक्षाएं ऑनलाइन मोड के जरिए होगी आयोजित, सितंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू हो सकते हैं एग्जाम


  • Hindi News
  • Career
  • Allahabad University| The Remaining Examinations Of The Final Year Will Be Conducted Through Online Mode, The Exam May Begin In The Second Week Of September.

14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • अन्य सेमेस्टर के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के प्रमोट करने की पहले ही हो चुकी है घोषणा
  • परीक्षा के दौरान पेपर के लिए और कॉपी स्कैन करने, अपलोड करने के लिए मिलेंगे कुल 4 घंटे

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने यूजी- पीजी कोर्सेस की फाइनल ईयर परीक्षाएं ऑनलाइन मोड के जरिए आयोजित करने का फैसला किया है। इस बारे में यूनिवर्सिटी की एकेडमिक काउंसिल ने फैसला लिया है। कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन से पहले ही यूनिवर्सिटी ने विभिन्न पाठ्यक्रमों के कुछ पेपरों का आयोजन किया था। जिसके बाद अब बाकी बचे पेपरों का आयोजन सितंबर के दूसरे सप्ताह से ऑनलाइन मोड में होगा।

परीक्षा के लिए मिलेंगे 4 घंटे

ऑनलाइन मोड के जरिए होने वाली परीक्षाओं में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर दिए गए प्रश्न पत्र डाउनलोड करने होंगे। इसके बाद कॉपी को स्कैन करके ऑफिशियल वेबसाइट पर ही अपलोड करना होगा। परीक्षा के लिए चार घंटे दिए जाएंगे। इसमें से दो घंटे में पेपर देना होगा, जबकि दो घंटे का समय कॉपी स्कैन करने और अपलोड करने के लिए दिया जाएगा।

बिना परीक्षा पास हुए अन्य सेमेस्टर के स्टूडेंट्स

इसके अलावा, अन्य सेमेस्टर के स्टूडेंट्स को पहले ही बिना परीक्षा के प्रमोट करने की घोषणा हो चुकी है। हालांकि, अभी यूनिवर्सिटी ने अभी तक फाइनल ईयर की परीक्षाओं के लिए डेटशीट जारी नहीं की है। यूनिवर्सिटी की ओर से जल्द ही टाइम टेबल जारी किया जाएगा। इससे पहले लखनऊ यूनिवर्सिटी ने भी फाइनल ईयर परीक्षा तारीख जारी करते हुए बताया कि परीक्षा 8 सितंबर से 19 सितंबर के बीच आयोजित होगी।

0



Source link

JEE -NEET 2020 updates| 20 pairs of special trains will run from September 2 to 15 for candidates appearing for the exam in Bihar, Railway Minister Piyush Goyal gave information | परीक्षा में शामिल होने वाले कैंडिडेट्स के लिए बिहार में 2 से 15 सितंबर तक चलेगी 20 स्पेशन ट्रेनें, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी जानकारी


  • Hindi News
  • Career
  • JEE NEET 2020 Updates| 20 Pairs Of Special Trains Will Run From September 2 To 15 For Candidates Appearing For The Exam In Bihar, Railway Minister Piyush Goyal Gave Information

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को भी दी जाएगी यह सुविधा
  • 1 से 6 सितंबर को जेईई मेन और 13 सितंबर को होगा नीट आयोजन, एनडीए की परीक्षा भी 6 सितंबर को

देशभर में 1 सितंबर से शुरू जेईई मेन की परीक्षा को देखते हुए मुंबई में परीक्षा में शामिल होने वाले कैंडिडेट्स के लिए विशेष उपनगरीय ट्रेनों के बाद भारतीय रेलवे ने बिहार में भी इन परीक्षाओं के लिए उपस्थित होने स्टूडेंट्स के लिए 2 से 15 सितंबर तक 20 जोड़ी विशेष ट्रेनें चलाने का फैसला लिया है।

रेल मंत्री ने किया ट्वीट

इस बारे में ट्वीट करते हुए, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह सुविधा राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को भी दी जाएगी। भारतीय रेलवे ने जेईई मेन्स, नीट और एनडीए में शामिल होने वाले उम्मीदवारों की सुविधा के लिए 2 से 15 सितंबर तक 20 जोड़ी मेमू / डेमू स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है।

1 सितंबर से शुरू हुआ जेईई मेन

लगातार विरोध और प्रदर्शन के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित होने वाली ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE) मेन कल 1 सितंबर से पूरे देश में शुरू हो चुका है। पहले करीब डेढ़ लाख कैंडिडेट्स ने बी.आर्क और बी.प्लानिंग में एडमिशन के लिए परीक्षा दी। वहीं, आज यानी 2 से 6 सितंबर तक बी.ई और बी.टेक में एडमिशन के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट NEET का आयोजन 13 सितंबर को किया जाएगा। साथ ही एनडीए 2020 की परीक्षा भी 6 सितंबर को आयोजित होने वाली है।

0





Source link

JEE Main live updates|The examination for admission in BE-B.Tech started from today, the first shift examination ended by following all the guidelines, the second shift will start at 3 o’clock | आज से बी.ई- बी.टेक में एडमिशन के लिए शुरू हुई परीक्षा, सभी गाइडलाइंस को फॉलो करते हुए खत्म हुई पहली शिफ्ट की परीक्षा, 2:30 बजे शुरू होगी दूसरी शिफ्ट


  • Hindi News
  • Career
  • JEE Main Live Updates|The Examination For Admission In BE B.Tech Started From Today, The First Shift Examination Ended By Following All The Guidelines, The Second Shift Will Start At 3 O’clock

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • परीक्षा के पहले दिन बी.आर्क और बी.प्लानिंग में एडमिशन के लिए करीब डेढ़ लाख स्टूडेंट्स परीक्षा में हुए शामिल
  • 2 से 6 सितंबर तक बी.ई- बी.टेक के लिए होगी परीक्षा, इस साल करीब 8.5 लाख स्टूडेंट्स ने जेईई के लिए कराया रजिस्ट्रेशन

देश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली सबसे बड़ी परीक्षा ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) मेन 2020 का पेपर 1 मंगलवार यानी 1 सितंबर से शुरू हो चुका है। वहीं, आज परीक्षा के दूसरे दिन कैंडिडेट्स बी.ई और बी.टेक में एडमिशन के लिए परीक्षा दे रहे हैं। दूसरे दिन हुई परीक्षा की पहली शिफ्ट खत्म हो चुकी है। वहीं, अब दोपहर 2:30 बजे से परीक्षा की सेकंड शिफ्ट शुरू होगी।

सावधानी के साथ शुरू दूसरे दिन की परीक्षा

परीक्षा के दूसरे दिन भी एग्जाम सेंटर में कोरोना के मद्देनजर जारी की गई गाइडलाइंस का पालन किया गया। देश में अलग-अलग राज्यों में परीक्षा देने पहुंचे कैंडिडेट्स मास्क,ग्लव्स और संक्रमण से बचाव के लिए सभी उपाय करते नजर आए। परीक्षा शुरू होने पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर परीक्षा के सफलतापूर्वक शुरू होने के बारे में जानकारी दी।

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद मिली एंट्री

परीक्षा के दूसरे दिन केरल में कोच्चि में परीक्षा केंद्र पहुंचे स्टूडेंट्स की एंट्री के पहले थर्मल स्क्रीनिंग की गई। इसके बाद सभी को सैनिटाइज किया गया। वहीं, पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में परीक्षा देने पहुंचे कैंडिडेट्स भी मास्क और सैनिटाइजर लिए नजर आए। इस दौरान परीक्षा केंद्र में लगातार सभी गाइडलाइंस का पालन करने के लिए घोषणा की जा रही थी।

पहले दिन हुई बी.आर्क और बी.प्लानिंग परीक्षा

इससे पहले 1 सितंबर को बी.आर्क और बी.प्लानिंग की हुई परीक्षा में करीब डेढ़ लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए। परीक्षा की हर शिफ्ट के शुरू होने से पहले और शिफ्ट के खत्म होने के बाद, सभी सीटों को पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया।

वर्क स्टेशन और की-बोर्ड को भी सैनिटाइज किया गया। परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार और परीक्षा हॉल के अंदर हर समय हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध रहें। परीक्षा देने आए स्टूडेंट्स भी परीक्षा केंद्रों पर की गई तैयारियों से संतुष्ट दिखे। सभी ने कहा बैठने की उचित व्यवस्था थी और सैनिटाइजेशन के भी बेहतर इंतजाम किए गए थे।

0





Source link

Ibps Clerk Bharti 1558 Posts Vacant Know How To Apply – Ibps Clerk Bharti 2020: जारी हुआ नोटिफिकेशन, 1558 पदों पर भर्तियांं


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

द इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सेलेक्शन (IBPS) ने अनेक पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। आपको बता दें कि बीपीएससी द्वारा संयुक्त भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। ये प्रक्रिया प्रमुख संस्थानों में क्लर्क कैडर के पदों पर भर्तियों के लिए शुरू की गई हैं।  आज  यानि 2 सितंबर 2020 ये प्रक्रिया शुरू हो रही  हैं। इसके लिए उम्मीदवारों को ऑफिशियल वेबसाइट ibps.in पर जाना होगा। नौकरी से संबंधित अधिक जानकारी आगे की स्लाइड देखें। 
पदों का विवरण- 
विभिन्न सरकारी बैंकों में क्लर्क के पद- 1558 वैकेंसी  

ऐसे होगी चयन प्रक्रिया-
उम्मीदवारों का चयम प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा के आधार पर होगा।

यहां होंगी भर्तियां-
बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda), केनरा बैंक (Canara Bank), इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank), यूको बैंक (UCO Bank), बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India), सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India), पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank), यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India), बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra), इंडियन बैंक (Indian Bank), पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab and Sindh Bank)

जरूरी तिथियां-

  1. ऑनलाइन आवेदन करने की प्रारंभिक तिथि- 2 सितंबर, 2020
  2. ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि – 23 सितंबर, 2020
  3. आवेदन पत्र में सुधार की अंतिम तिथि – 23 सितंबर, 2020
  4. आवेदन पत्र के प्रिंट आउट लेने की अंतिम तिथि – 23 सिंतबर, 2020
  5. ऑनलाइन शुल्क का भुगतान करने की अंतिम तिथि – 23 सितंबर, 2020

ये भी पढ़ें- RSMSSB में पाना चाहते हैं सरकारी नौकरी, तो चार सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन

आईबीपीएस की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।
IBPS क्लर्क के पदों पर आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें।

ये भी पढ़ें- भारतीय रेल ने 35,608 पदों के लिए निकालीं भर्तियां, सातवें वेतन आयोग के तहत मिलेगी सैलरी

द इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सेलेक्शन (IBPS) ने अनेक पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। आपको बता दें कि बीपीएससी द्वारा संयुक्त भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। ये प्रक्रिया प्रमुख संस्थानों में क्लर्क कैडर के पदों पर भर्तियों के लिए शुरू की गई हैं।  आज  यानि 2 सितंबर 2020 ये प्रक्रिया शुरू हो रही  हैं। इसके लिए उम्मीदवारों को ऑफिशियल वेबसाइट ibps.in पर जाना होगा। नौकरी से संबंधित अधिक जानकारी आगे की स्लाइड देखें। 



Source link

Sarkari Naukri Rsmssb Recruitment 2020 Vacancy For Ecg Technician Posts – Rsmssb में पाना चाहते हैं सरकारी नौकरी, तो चार सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

RSMSSB Recruitment 2020 : राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड, जयपुर ने ईसीजी टेक्निशियन के कई रिक्त पदों को भरने के लिए आवेदन निकाले गए हैं। इच्छुक उम्मीदवार जो इन पदों पर नौकरी पाने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट या इस खबर में आगे दी गई लिंक के माध्यम से नोटिफिकेशन को जरूर पढ़ लें। सभी जानकारी से अवगत होकर आवेदन प्रक्रिया को 04 सितंबर, 2020 तक पूरा कर लें। 

पदों की विवरण :
पद का नाम :              पदों की संख्या : 

ईसीजी टेक्निशियन       कुल 195 पद

आयु सीमा :
इन पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष निर्धारित की गई है। 

महत्वपूर्ण तिथियां :
आवेदन पत्र जमा करने की प्रारंभिक तिथि : 06 अगस्त, 2020
आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि : 04 सितंबर, 2020

शैक्षिक योग्यता :
उम्मीदवारों की शैक्षिक योग्यता साइंस से सीनियर सेकेंडरी (बायोलॉजी / मैथमेटिक्स) और मान्यताप्राप्त संस्थान से ईसीजी टेनिशियन में डिप्लोमा होना आवश्यक है। अधिक जानकारी के लिए आगे दी गई नोटिफिकेशन देखें।

आवेदन प्रक्रिया :
उम्मीदवार आवेदन करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट http://www.rsmssbold.rajasthan.gov.in/  पर जाएं और नोटिफिकेशन डाउनलोड कर उसे पढ़ें। समस्त जानकारी से अवगत होकर, दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार आवेदन प्रक्रिया को 04 सितंबर, 2020 अंतिम तिथि तक पूरा करें। ध्यान रहे किसी प्रकार कि त्रुटि होने पर आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। ऑनलाइन आवेदन पत्र निश्चित समय के अंदर ही किए गए मान्य होंगे। अधिक जानकारी के लिए अधिसूचना देखें।

आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें।
ऑफिशियल नोटिफिकेशन पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।  

RSMSSB Recruitment 2020 : राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड, जयपुर ने ईसीजी टेक्निशियन के कई रिक्त पदों को भरने के लिए आवेदन निकाले गए हैं। इच्छुक उम्मीदवार जो इन पदों पर नौकरी पाने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट या इस खबर में आगे दी गई लिंक के माध्यम से नोटिफिकेशन को जरूर पढ़ लें। सभी जानकारी से अवगत होकर आवेदन प्रक्रिया को 04 सितंबर, 2020 तक पूरा कर लें। 

पदों की विवरण :

पद का नाम :              पदों की संख्या : 

ईसीजी टेक्निशियन       कुल 195 पद

आयु सीमा :
इन पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष निर्धारित की गई है। 

महत्वपूर्ण तिथियां :
आवेदन पत्र जमा करने की प्रारंभिक तिथि : 06 अगस्त, 2020
आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि : 04 सितंबर, 2020



Source link

IBPS Sarkari Naukri | BECIL Clerk Recruitment 2020: 1557 Vacancies For Clerk Posts, Institute of Banking Personnel Selection notification for details like eligibility, how to apply | IBPS ने क्लर्क के 1557 पदों पर भर्ती के लिए जारी किया नोटिफिकेशन, 23 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं कैंडिडेट्स


  • Hindi News
  • Career
  • IBPS Sarkari Naukri | BECIL Clerk Recruitment 2020: 1557 Vacancies For Clerk Posts, Institute Of Banking Personnel Selection Notification For Details Like Eligibility, How To Apply

26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • इन पदों के लिए आज यानी 2 सितंबर, 2020 से शुरू हो चुकी हैं ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रोसेस
  • दिसंबर में ऑनलाइन प्रारंभिक और 24 जनवरी, 2021 को मुख्य परीक्षा का होगा आयोजन

इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सोनल सिलेक्शन (IBPS) ने बुधवार को आईबीपीएस सीआरपी क्लर्क X भर्ती के तहत क्लर्क के 1557 रिक्तियों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। आईबीपीएस बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, यूको बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बैंक,महाराष्ट्र, इंडियन बैंक और पंजाब एंड सिंध बैंक। सहित विभिन्न बैंकों में क्लर्क के पद के लिए 1557 कर्मियों की भर्ती करेगा।

2 सितंबर से शुरू आवेदन

इन पदों के लिए आज यानी 2 सितंबर, 2020 से ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रोसेस शुरू होगी, जो 23 सितंबर तक जारी रहेगी। इसके लिए आईबीपीएस पहले प्रारंभिक परीक्षा और फिर इसके बाद मुख्य परीक्षा आयोजित करेगा। जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा 4,12 दिसंबर, 13, 2020 को आयोजित की जाएगी। वहीं, ऑनलाइन मुख्य परीक्षा 24 जनवरी, 2021 को आयोजित की जाएगी। इंस्टीट्यूट की तरफ से प्रोविजनल अलॉटमेंट लिस्ट 1 अप्रैल 2021 को जारी की जाएगी।

आयु सीमा:

न्यूनतम: 20 वर्ष

अधिकतम: 28 वर्ष

कौन कर सकता है अप्लाय?

आवेदक के पास सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। साथ ही कैंडिडेट जिसके लिए आवेदन करना चाहते है, उस राज्य / केंद्र शासित प्रदेश की ऑफिशियल लैंग्वेज का नॉलेज।

इसके अलावा कैंडिडेट को स्नातक परीक्षा में प्राप्त अंकों का प्रतिशत दर्ज करना होगा। आवेदक के पास कंप्यूटर साक्षरता भी होनी चाहिए। उन्हें कंप्यूटर सिस्टम में ऑपरेटिंग और कामकाजी नॉलेज होना चाहिए। उम्मीदवार के पास कंप्यूटर ऑपरेशन में सर्टिफिकेट / डिप्लोमा / डिग्री होनी चाहिए। अथवा हाई स्कूल / कॉलेज या किसी संस्थान में एक विषय के रूप में कंप्यूटर या इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी होना चाहिए।

ऑनलाइन अप्लाय करने के लिए यहां क्लिक करें

0



Source link

Indian Air Force Airmen Recruitment Rally 2020 For Group X Trades Check Registration Link – 12वीं पास के लिए भारतीय वायुसेना में सरकारी नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द शुरू होंगे आवेदन


वायुसेना की महिला अधिकारी (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

Indian Air Force Recruitment Rally  2020 : भारतीय वायु सेना में एयरमैन ग्रुप ‘x’ (एक्सेप्ट एजुकेशन इंस्ट्रक्टर) के विभिन्न पदों पर आवेदन मांगे गए हैं। इन पदों पर आवेदन प्रक्रिया 8 सितंबर, 2020 से शुरु हो रही है। आपको बता दें कि इन पदों पर ऑनलाइन आवेदन मान्य होंगे। मालूम हो कि ये आवेदन अविवाहित पुरुषों के लिए मांगे गए हैं। उम्मीदवार पंजीकरण करने से पहले ऑफिशियल वेबसाइट या इस खबर में आगे दी गई नोटिफिकेशन जरूर देखें। इस नौकरी से संबंधित जानकारी के लिए आगे की स्लाइड्स देखें।

 

महत्वपूर्ण तिथियां :

  • आवेदन करने की प्रारंभिक तिथि : 08 सितंबर, 2020 सुबह 11 बजे से
  • आवेदन करने की अंतिम तिथि : 10 सितंबर, 2020 शाम 5 बजे तक
  • परीक्षा की तिथि : 23 सितंबर, 2020 से 04 अक्तूबर तक

पद का विवरण :

पद का नाम : ग्रुप ‘x’ (एक्सेप्ट एजुकेशन इंस्ट्रक्टर)

आयु सीमा  : इन पदों पर आवेदन के लिए जो उम्मीदवार 17 जनवरी,2000 से 30 दिसंबर,2003 के बीच में पैदा हुए हैं, वे ही आवेदन कर सकते हैं।

 

 

शैक्षणिक योग्यता  : इन पदों पर उम्मीदवारों का विज्ञान क्षेत्र से 12वीं पास या किसी सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से तीन साल का इंजीनियरींग में डिप्लोमा होना अनिवार्य है।

 

वेतनमान  :

प्रशिक्षण के दौरान – 14,600/-

प्रशिक्षण के बाद – 33,100/-

 

परीक्षा का स्थान  :

कर्नाटक – मानिकशॉ परेड ग्राउंड, बेंगलुरू

ओडिशा – पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज, अंगुल

 

 

आवेदन कैसे करें : भर्ती प्रक्रिया के लिए उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करने और ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर दिए गए ऑन-स्क्रीन निर्देशों का पालन करें।

 

चयन प्रक्रिया : उम्मीदवारों का चयन ऑनलाइन लिखित परीक्षा और शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीएफटी) पर आधारित होगा।

 

अधिसूचना को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें।  

Indian Air Force Recruitment Rally  2020 : भारतीय वायु सेना में एयरमैन ग्रुप ‘x’ (एक्सेप्ट एजुकेशन इंस्ट्रक्टर) के विभिन्न पदों पर आवेदन मांगे गए हैं। इन पदों पर आवेदन प्रक्रिया 8 सितंबर, 2020 से शुरु हो रही है। आपको बता दें कि इन पदों पर ऑनलाइन आवेदन मान्य होंगे। मालूम हो कि ये आवेदन अविवाहित पुरुषों के लिए मांगे गए हैं। उम्मीदवार पंजीकरण करने से पहले ऑफिशियल वेबसाइट या इस खबर में आगे दी गई नोटिफिकेशन जरूर देखें। इस नौकरी से संबंधित जानकारी के लिए आगे की स्लाइड्स देखें।

 



Source link

Translate »