bihar board result: Bihar Board 12th result 2021: कल जारी होगा रिजल्ट, बोर्ड ने बताया समय – bseb bihar board 12th inter result 2021 date and time announced officially


हाइलाइट्स:

  • बिहार बोर्ड ने की इंटर रिजल्ट जारी होने की तिथि
  • परिणाम की घोषणा का समय भी बताया
  • 13 लाख छात्रों को है नतीजों का इंतजार

Bihar Inter result 2021 date and time declared: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए 12वीं बोर्ड परीक्षा (इंटरमीडिएट) के नतीजों (Bihar Board 12th result) की घोषणा की जानकारी दे दी है। गुरुवार, 25 मार्च रात करीब 10 बजे बोर्ड ने इस बारे में सूचना जारी की है। बिहार के शिक्षा मंत्री (Bihar Education Minister) विजय कुमार चौधरी रिजल्ट जारी करेंगे।

बिहार बोर्ड (Bihar Board) ने बताया है कि इंटर का रिजल्ट शुक्रवार, 26 मार्च 2021 को दोपहर 3 बजे जारी किया जाएगा। नतीजों की घोषणा पटना (Patna) के सिन्हा लाइब्रेरी रोड स्थित बिहार बोर्ड कार्यालय के सभागार से की जाएगी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार, बिहार बोर्ड अध्यक्ष (Bihar Board Chairman) आनंद किशोर (Anand Kishor) इस मौके पर उपस्थित रहेंगे। आगे जानिए, आप रिजल्ट कहां और कैसे देख सकते हैं-

BSEB 12th result 2021 website: ये हैं वेबसाइट्स
bsebssresult.com
bsebinteredu.in
bsebssresult.com/bseb
biharboardonline.com
onlinebseb.in
bsebbihar.com

Bihar Board result through SMS: एसएमएस से कैसे देखें
रिजल्ट के समय वेबसाइट अक्सर क्रैश हो जाती है। ऐसे में परेशान न हों। आप एसएमएस के जरिए भी अपना रिजल्ट पा सकते हैं। इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करें-
मोबाइल के मैसेज बॉक्स पर जाएं।
साइंस के लिए BSEB12S (स्पेस) रोल नंबर टाइप करें और 56263 पर भेज दें।
आर्ट्स के लिए BSEB12A (स्पेस) रोल नंबर टाइप करें और 56263 पर भेज दें।
कॉमर्स के लिए BSEB12C (स्पेस) अपना रोल नंबर टाइप करें और 56263 पर भेज दें।
मैसेज डिलीवर होने के कुछ देर बाद आपके मोबाइल फोन पर एसएमएस के जरिए आपका रिजल्ट आ जाएगा।

गौरतलब है कि बुधवार 24 मार्च से ही लाखों छात्रों और अभिभावकों के बीच रिजल्ट को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। अलग-अलग संभावनाएं जताई जा रही थीं। बिहार बोर्ड की वेबसाइट भी काम नहीं कर रही थी। कुछ मिनट के लिए तो बोर्ड ने रिजल्ट के लिंक्स एक्टिव भी किए, फिर उन्हें वेबसाइट से हटा दिया।

बिहार बोर्ड ने 12वीं की परीक्षा 01 से 13 फरवरी 2021 तक आयोजित की थी। करीब 13 लाख छात्र-छात्राएं इस परीक्षा में शामिल हुए थे। पिछली बार बोर्ड ने 24 मार्च 2020 को इंटर का रिजल्ट जारी किया था। इस बार भी बिहार बोर्ड कोविड-19 (Covid-19) के हालातों के बावजूद बोर्ड परीक्षा लेने और रिजल्ट की घोषणा करने वाला पहला बोर्ड होगा।



Source link

SSC Delhi Police Constable exam 2020 final answer key released, check it now


  • The Staff Selection Commission (SSC) has uploaded the final answer keys and question paper/s of Constable (Executive) Male and Female in Delhi Police Examination 2020 on its official website.

The Staff Selection Commission (SSC) has uploaded the final answer keys and question paper/s of Constable (Executive) Male and Female in Delhi Police Examination 2020 on its official website. SSC had declared the result of Constable (Executive) Male and Female in Delhi Police Examination-2020 on March 15.

The Final Answer Keys and Question Paper of SSC Delhi Police Constable exam can be accessed by visiting the official SSC website or by clicking on this link and entering roll number and password as given in admit card.

Take a print out of your Question Paper(s) and Final Answer Keys as the facility will be available till 6pm on April 15.

SSC Delhi Police Constable exam 2020 final answer key released. Log in to check.(SSC.nic.in)
SSC Delhi Police Constable exam 2020 final answer key released. Log in to check.(SSC.nic.in)

SSC had conducted the Constable (executive) male and female in Delhi Police exam 2020 from November 27 to December 16, 2020.

The qualified candidates can appear in Physical Endurance and Measurement Test (PE and MT) which will be conducted by the Delhi Police. Its schedule will be communicated by Delhi Police in due course.

Note: Check SSC website website of Delhi Police (delhipolice.nic.in) to know about release of admit card for the (PE and MT).

Close



Source link

BSEB Bihar Board 12th Result 2021 Live Updates: Results to be declared at 3pm


Live

  • BSEB Bihar Board 12th Result 2021 Live Updates: After the results are out, candidates who have appeared in the BSEB 12th exam will be able to check their results online at onlinebseb.in or biharboardonline.bihar.gov.in by logging in using their roll number and roll code as given in the admit card.

PUBLISHED ON MAR 26, 2021 07:55 AM IST

BSEB Bihar Board 12th Result 2021: The Bihar School Examination Board (BSEB) will announce the class 12th result on Friday, March 26, 2021, on its official website. The board had conducted the class 12th or intermediate examination from February 1 to 13, 2021, at 1,473 centres spread across the state. The evaluation process for the Bihar Board class 12th answer sheets was held from March 5 to 19, 2021.

Also Read: Bihar Board 12th Result 2021 tomorrow, Register here to get BSEB inter results

Once the results are declared, candidates who have appeared in the BSEB 12th board examination will be able to check their results online at onlinebseb.in by logging in using their roll number and roll code as given in the admit card.

Also Read: Bihar board 12th results 2021 date and time: BSEB inter results tomorrow at 3pm

This year, a total of 13,50,233 candidates had appeared in the BSEB class 12th board examinations, out of which, 6,46,540 candidates are girls, and 7,03,693 are boys.

Also Read: Bihar Board class 12th Result 2021 on March 26 at 3pm

The board had released the answer key for the BSEB intermediate examinations on March 13, 2021, and candidates were allowed to raise objections, if any, against the Bihar Board class 12 answer key by providing appropriate representations till March 16, 2021.

Follow all the updates here:



Source link

भारत में एमटेक डिग्री होल्डर्स के लिए करियर ऑप्शन्स


इस आर्टिकल में हम एमटेक करने वाले इंडियन प्रोफेशनल्स के लिए उपलब्ध करियर ऑप्शन्स पर चर्चा कर रहे हैं. आपके लिए यह बहुत जरुरी है कि आप एमटेक की डिग्री हासिल करने के बाद स्टूडेंट्स या प्रोफेशनल्स के लिए भारत में उपलब्ध विभिन्न सूटेबल जॉब ऑफर्स, करियर ऑप्शन्स या हायर स्टडीज़ के बारे में पहले से ही समुचित जानकारी हासिल कर लें. आइये इस आर्टिकल में हम इस टॉपिक पर विस्तार से चर्चा करें ताकि आपको एमटेक के बाद विभिन्न करियर ऑप्शन्स के बारे में और अधिक सटीक तथा महत्त्वपूर्ण जानकारी मिल जाए और आप इस जानकारी के आधार पर अपने लिए कोई करियर लाइन या हायर स्टडीज़ के लिए कोर्स चुनते समय उपयुक्त निर्णय ले सकें.

एमटेक डिग्री होल्डर्स ले सकते हैं डॉक्टोरल डिग्री (पीएचडी) में एडमिशन

अगर आप टीचिंग के प्रोफेशन में जाना चाहते हैं या आप किसी रिसर्च एवं डेवलपमेंट कंपनी में काम करने का शौक रखते हैं तो आप अपनी एमटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने पसंदीदा विषय में पीएचडी कर सकते है. जब आप एमटेक के बाद पीएचडी करने का इरादा कर लेते हैं तो आपका ऑब्जेक्टिव स्पष्ट होना चाहिए कि आप टीचिंग या रिसर्च को अपने करियर ऑप्शन के तौर पर चुन रहे हैं.

भारत में उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए, भारत सरकार ने रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन्स (आर एंड डी) और आईITज तथा एनITज जैसी सेंट्रल यूनिवर्सिटीज को मंजूरी दी है. टीचिंग प्रोफेशन बेशक आकर्षक पेशा है लेकिन इसमें काफी चुनौतियां भी आती हैं. आप अपने जोश और रूचि के अनुसार, एमटेक के बाद अपना करियर चुन सकते हैं. 

एमटेक डिग्री होल्डर्स तुरंत ज्वाइन कर सकते हैं सूटेबल जॉब

आजकल के ट्रेंड को देखते हुए, आपको अपनी बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद जो जॉब प्रोफाइल मिलती है, वही जॉब एमटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद भी मिल सकती है. हालांकि, एमटेक की डिग्री मिलने के बाद आपके  जॉब रोल और पोजीशन के तहत आपको ज्यादा जिम्मेदारियां सौंपी जायेंगी और आपका सैलरी पैकेज भी काफी अच्छा होगा. इसके अलावा, एमटेक की डिग्री हासिल करने के बाद क्योंकि आपको टेक्निकल प्वाइंट्स की ज्यादा अच्छी जानकारी और समझ होगी और आप अपने सुपूर्द कार्यों के बारे में ज्यादा अच्छी तरह सोच-विचार कर सकेंगे, इसलिये आप अपने सभी काम ज्यादा बेहतरीन और फायदेमंद तरीके से करने में सक्षम होंगे.

आप एमटेक की डिग्री हासिल करने के बाद, बड़ी सरलता से रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन्स, मैन्युफैक्चरिंग फर्म्स और IT कंपनियों में किसी प्रोजेक्ट मैनेजर, रिसर्च एसोसिएट और सीनियर इंजीनियर्स के तौर पर जॉब प्राप्त कर सकते हैं.

एमटेक प्रोफेशनल्स के लिए बढ़िया रहेगा टीचिंग प्रोफेशन भी

आमतौर पर, अधिकांश स्टूडेंट्स अपनी एमटेक की डिग्री प्राप्त करने के बाद एकेडेमिक जॉब्स करना पसंद करते हैं. आजकल, भारत में उच्च शिक्षा के क्षेत्र का बड़ी तीव्र गति से विकास हो रहा है और इस कारण डीम्ड यूनिवर्सिटीज, शिक्षा संस्थानों और कॉलेजों में टीचर्स और प्रोफेसर्स की मांग काफी बढ़ रही है.

एमटेक करने के बाद टीचिंग का पेशा ज्वाइन करने के लिए, स्टूडेंट्स को इस बात का ध्यान जरुर रखना चाहिए कि उनके पास इस पेशे के लिये बेहतरीन कम्युनिकेशन और प्रेजेंटेशन स्किल्स अवश्य होने चाहिए क्योंकि इन दोनों ही स्किल्स का टीचिंग प्रोफेशन में खास महत्व है. इसके अलावा, आपको टीचिंग का शौक भी होना चाहिए और आपको बड़े धैर्य और शांति के साथ अपने स्टूडेंट्स के साथ व्यवहार करना चाहिए. आपको किताबें और जर्नल्स पढ़ने की आदत डालनी होगी ताकि आपको अपने संबद्ध विषय में प्रचलित ट्रेंड्स की पूरी जानकारी हो.

शुरू करें अपनी कंपनी या स्टार्टअप

क्या आप एमटेक करने के बाद एक एंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं? यह बहुत बढ़िया करियर ऑप्शन है. बहुत ही कम एमटेक ग्रेजुएट्स अपनी कंपनी खोलना चाहते हैं. हालांकि, आपके लिए यह एक अच्छी खबर है कि एमटेक की डिग्री के आधार पर आपको वेंचर कैपिटलिस्ट्स से फंड और इंवेस्टमेंट्स को लेकर काफी सहायता मिलेगी. अगर आप अपना काम या व्यापार पूरे डेडिकेशन के साथ करना चाहते हैं और आप उपयुक्त बिजनेस सेंस के साथ एक निडर व्यक्ति हैं तो आप अवश्य एक सफल एंटरप्रेन्योर बनेंगे. हमारी शुभकामनायें आपके साथ हैं.

पीएचडीस्पेशलाइजेशन

पीएचडी होल्डर को हमेशा महत्वपूर्ण समझा जाता है और उन्हें काफी सम्मान मिलता है. अगर आप एमटेक के बाद डॉक्टोरल स्टडी करना चाहते हैं तो इससे आपको आश्चर्यजनक फायदा होगा बशर्ते आप अपना काम पूरी लगन और जोश सहित करें. एमटेक में आपके स्पेशलाइजेशन विषय के आधार पर ही पीएचडी में आपका स्पेशलाइजेशन विषय निर्धारित होगा. उदाहरण के लिए, अगर आपने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक की है तो पीएचडी में आपका स्पेशलाइजेशन का विषय मैकेनिकल इंजीनियरिंग से संबद्ध होगा. यद्यपि, आपका वास्तविक रिसर्च एरिया अंतिम तौर पर इंस्टिट्यूट कमेटी का संबद्ध विभाग स्टूडेंट्स के नॉलेज बेस और एप्टीट्यूड के आधार पर निर्धारित करता है.

आजकल, पीएचडी में इंटर-डिसिप्लिनरी अप्रोच काफी लोकप्रिय हो रही है. इसका यह मतलब है कि पीएचडी स्टूडेंट्स एक साथ दो पीएचडी स्पेशलाइजेशन्स चुन सकता है, जहां गाइडेंस के लिए एक से ज्यादा एक्सपर्ट्स की जरूरत पड़ेगी.   

फेलोशिप्स

एनITज, आईITज और आईआईएससी, बैंगलोर जैसे प्रसिद्ध इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट्स की पीएचडी स्टूडेंट्स के लिए अपनी अलग फंडिंग पॉलिसीज हैं. फेलोशिप में रु. 19,000 – रु. 24,000  तक प्रतिमाह दिए जाते हैं. आमतौर पर, इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष होती हैं जिसे जरुरत के मुताबिक बढ़ाया जा सकता है. 

स्कॉलरशिप्स

डिपार्टमेंट ऑफ़ इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, यूजीसी, एआईसीटीई और सीएसआईआर पीएचडी स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप्स ऑफर करते हैं. महिला साइंटिस्ट्स के लिए भी अलग स्कॉलरशिप स्कीम्स हैं.

उक्त सरकारी संस्थानों के अलावा, शेल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी प्राइवेट कंपनियां भी इंडस्ट्री संबंधी प्रॉब्लम्स में स्पेशलाइजेशन करने वाले पीएचडी स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप उपलब्ध करवाती हैं. इसके अलावा, कई प्राइवेट कंपनियां भी देश में रिसर्च एंड डेवलपमेंट एक्टिविटीज को बढ़ावा देने के लिए इंवेस्टमेंट करके अपना योगदान देती हैं.

जो स्टूडेंट्स भारत में पीएचडी करना चाहते हैं, उन्हें निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

  • कोई भी इंस्टिट्यूट चुनने से पहले, स्टूडेंट्स को उस इंस्टिट्यूट की इंफ्रास्ट्रक्चरल फैसिलिटीज और  लाइब्रेरी की कंडीशन, इक्विपमेंट्स, लेब्स आदि जैसी अन्य सुविधाओं को अच्छी तरह चेक कर लेना चाहिए.
  • पीएचडी के स्पेशलाइजेशन एरिया के मुताबिक ही एक्सपर्ट्स का चयन किया जाना चाहिए. अन्यथा, पीएचडी स्टूडेंट और संबद्ध गाइड के बीच अलगाव की स्थिति हमेशा कायम रहेगी.
  • असल में, कोई भी पीएचडी प्रोग्राम एक ओपन-एंडेड प्रोग्राम होता है और यह तब तक पूरा नहीं समझा जाता है जब तक कि स्टूडेंट्स अपना रिसर्च कार्य अच्छी तरह पूरा न करें. इसलिये, आप अपने पीएचडी के पहले वर्ष से ही अपने रिसर्च कार्य को पूरी गंभीरता के साथ करें.

विदेश से हासिल करें पीएचडी की डिग्री

जो स्टूडेंट्स विदेश में पीएचडी करना चाहते हैं, उनके लिए काफी उज्ज्वल संभावना होती है. स्टेनफोर्ड, पिट्टसबर्ग, बर्कले और विस्कॉन्सिन जैसी काफी प्रसिद्ध यूनिवर्सिटीज, जो सभी जरुरी मॉडर्न फैसिलिटीज से पूरी तरह लैस होती हैं. इसलिये, ये यूनिवर्सिटीज आपकी पीएचडी की स्टडी बिना किसी रुकावट के पूरी करने के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकती हैं. विदेश में अपनी पीएचडी स्टडीज करने के लिए, स्टूडेंट्स को टीओईएफएल और जीआरई एग्जाम पास करने पड़ते हैं. इन एग्जाम्स में प्राप्त किये गये स्कोर्स के आधार पर, आप किसी सुप्रसिद्ध इंटरनेशनल कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं.

हमारे यहां पीएचडी प्रोग्राम्स के लिए जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया को भी सबसे पसंदीदा स्थानों में शामिल किया जाता है. विभिन्न यूरोपीयन देशों में पीएचडी करने की लागत काफी कम है, हालांकि, इन देशों में कॉस्ट ऑफ़ लीविंग काफी ऊंची है.

एमटेक डिग्री होल्डर्स के लिए उपलब्ध हैं ये विशेष अवसर

भारत में एमटेक डिग्री होल्डर्स को मिलने वाले करियर ऑप्शन्स को निम्नलिखित 4 प्रमुख हिस्सों में बांटा जा सकता है:

  • पीएचडी/ रिसर्च डिग्री में एडमिशन
  • एमटेक की डिग्री मिलते ही तुरंत सूटेबल जॉब ज्वाइन करना
  • किसी इंजीनियरिंग कॉलेज में टीचिंग करना
  • अपनी कंपनी या स्टार्टअप शुरू करना

फेक यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लेने से जरुर बचें

यह बहुत बढ़िया बात है कि आप किसी इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी से अपनी पीएचडी की पढ़ाई करने के बारे में प्लान कर रहे हैं. यद्यपि, कोई इंस्टिट्यूशन चुनते समय आप पूरी सावधानी बरतें और उस इंस्टिट्यूट की क्रेडिबिलिटी एवं एक्रीडिटेशन को डबल चेक करें. भारत में एआईसीटीई की तरह ही, यूएसए में एक्रीडिटेशन प्रोसेस को एबीईटी मेनटेन रखता है. इसलिये, स्टूडेंट्स संबद्ध यूनिवर्सिटी की एबीईटी एक्रीडिटेशन रेटिंग जरुर चेक करें और उसके बाद ही कोई निर्णय लें.

Read more Careers on :





Source link

Jobs, Courses, Specialization, Scholarships, Fellowships


Overview India is nation where engineering has become the most popular and sought-after career option among young students. Now that we are discussing about career after M.Tech, it becomes important to that you must know about your core area of interest and what you want to do next. Whether you are looking for a job or want to for further studies M.Tech, be sure of your intent and objective. Let’s delve into this topic in detail to figure out various career opportunities after M.Tech.

Opportunities after completing their M.Tech:

Career opportunities after the completion of M.Tech can be broadly divided into 4 parts. The 4 categories are: 

  • Going for a research degree such as PhD
  • Doing Job right after completing M.Tech
  • Joining engineering college as a teacher
  • Start your own organization

PhD–Doctoral degree after M.Tech

If you wish you to get into the teaching profession or have the passion to work in Research & Development organizations, you must do a PhD after M.Tech in the area of your interest. Now that you have decided to pursue PhD after M.Tech, your objective should be clear on teaching or research as your career option.

In order to promote higher education in India, Government of India has granted R&D organizations and Central Universities like IITs and NITs. The job role in teaching profession is not doubt lucrative but also challenging at the same time. Depending upon the area of your interest and passion, you must choose your career after M.Tech.

Doing Job right after completing M.Tech

Seeing the trend, you may get the same job profile after M.Tech as you have got after B.Tech. However, the job role and position will come up with more responsibilities and the salary package will also be comparatively higher. Moreover, since you will have better grasp over the technical things and clearer thought process for the assigned tasks, you will be able to complete all the tasks in a productive way.

After M.Tech, you can easily find job in research and development organizations, manufacturing firms and IT companies as Project Manager, Research Associate and Senior Engineers.

Taking up a Job in Teaching Profession

Generally, most of the students after completing their M.Tech go for academic jobs. Today, the educational sector in India for higher studies is growing rapidly, which has created demand for teachers and professors at deemed universities, educational institutes and colleges.

In order to join the teaching profession after M.Tech, students must keep in mind the importance of communication and presentation skills. These skills are crucial for becoming a teacher. Moreover, you must have the passion for teaching and should be patient and calm enough to deal with students. In addition, you need to build the habit of reading books and journals to keep abreast with prevailing trends in the respective subject.

Start your own organization

Want to become an entrepreneur after doing M.Tech? That’s great! A very few M.Tech graduates aspire to start their own organization. However, the good news is you will have enough support in terms of funding and investments from venture capitalists on the basis of M.Tech Degree. If you have the passion to work with dedication and have the instinct of a fearless person along-with the right business sense, you will are bound to become a successful entrepreneur. Good Luck!

Specialization in PhD

A PhD holder is always valued and respected. And, if you have thought to pursue doctoral study after M.Tech, it will work wonders for you provided you work with passion and dedication. The area of specialization in M.Tech will eventually decide the area of your study in PhD. For instance, if you have done your M.Tech in Mechanical Engineering, your area of specialization in PhD will be related to Mechanical Engineering. Nevertheless, the actual area of research will be finally decided by the respective department of the institute committee depending upon the knowledge base and aptitude of the students.

Now-a-days, inter-disciplinary approach in PhD is gaining popularity. It means that candidates can opt for two PhD specializations, where more than one expert will be needed for guidance.

Fellowships:

Reputed engineering institutes like NITs, IITs and IISC Bangalore have separate funding policies for PhD students. The fellowships range between Rs.19,000 to Rs. 24,000 per month. Usually, the time duration for this would 3 years, which is extendable as per the requirements.

Scholarships:

Department of Information Technology, Department of Science and Technology, UGC, AICTE and CSIR offer Scholarships to PhD students. There are separate scholarship schemes for women scientists as well.

Other than the aforementioned government institutions, private companies such as Shell and Microsoft also provide scholarship to PhD students specializing in industry related problems. In addition, many private companies also invest and contribute for the enhancement of Research and Development activities in the country. 

Students who are looking forward to pursue PhD in India should keep the following things in mind:

  • Before choosing an institution, students must make sure to check the institution’s infrastructural facilities along-with other things like condition of library, equipments, lab, etc
  • The experts must be chosen as per the area of specialization in PhD. Otherwise, there will be a disconnection between the PhD Student and the respective guide.
  • A PhD programme is an open-ended program, and it will not be considered complete unless students do their research work properly. Therefore, make sure to take your research work seriously from the very first year of PhD

Pursuing PhD in abroad:

There is a bright prospect for students who want to pursue their PhD in abroad. Universities such as Stanford, Pittsburg, Berkeley and Wisconsin are of high repute, which are fully equipped with all the modern facilities required to complete your PhD in a hassle-free way. In order to pursue PhD in abroad, students have to take TOEFL and GRE examinations. On the basis of scores you get you get in these exams, you will admission to prestigious international colleges.

Germany and Australia are also considered among the preferred destinations to pursue PhD programmes. The tuition fee for pursuing PhD from European countries is minimal; however, the cost of living can fall on the higher side.

Don’t fall in the trap of spurious universities

It’s good that you are planning to pursue your PhD from international universities. However, be careful while choosing the institution and double check its credibility and accreditation. Like AICTE in India, the accreditation process in USA is maintained by ABET. Therefore, students must check the ABET accreditation rating of the respective university and then a decision accordingly.

Read more Careers on :





Source link

Sarkari Result: RBI Officer Result 2021: घोषित हुए ग्रेड ‘बी’ पेपर-1 के परिणाम, जानिए कब होगा पेपर-2 और 3 – rbi officer grade b recruitment 2021 result out, here paper 2,3 details


हाइलाइट्स:

  • RBI Officer ग्रेड बी भर्ती पेपर-1 के परिणाम घोषित।
  • मार्च और अप्रैल में होगी पेपर-2, 3 की परीक्षा
  • इस पद पर कुल 322 रिक्तियां हैं।

RBI Officer Grade B Result 2021: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ग्रेड ‘बी’ ऑफिसर भर्ती परीक्षा 2021 पेपर-1 के परिणाम घोषित कर दिए हैं। जो उम्मीदवार 06 मार्च 2021 को आयोजित हुई आरबीआई ग्रेड बी (RBI Officer Grade B Recruitment 2021 exam) में शामिल हुए थे, वे आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना रिजल्ट 2021 चेक और डाउनलोड कर सकते हैं।

आरबीआई खाली पद (RBI Officer Grade B Vacancy Details)
आरबीआई ऑफिसर ग्रेड ‘बी’ के पद पर कुल 322 रिक्तियां हैं। इनमें से आरबीआई ऑफिसर ग्रेड बी जनरल की 270, डीईपीआर (DEPR) की 29 और डीएसआईएम (DSIM) की 23 रिक्त पद शामिल हैं। इन पदों के लिए 28 जनवरी 2021 से 15 फरवरी 2021 तक आवेदन मांगे गए थे।

जानिए कैसे चेक करें RBI Officer Grade B Result 2021
चरण 1: आधिकारिक वेबसाइट rbi.org.in पर जाएं।
चरण 2: होमपेज पर नीचे की ओर, Opportunities@RBI लिंक पर क्लिक करें।
चरण 3: अब ‘करंट वैकेंसी’ सेक्शन में ‘रिजल्ट’ पर क्लिक करें।
चरण 4: एक नई विंडो खुलेगी जहां, ‘Result of Phase-I/Paper-I examination for Recruitment of Officers in Grade B – DR (General), DEPR/DSIM – 2021’ के लिंक पर क्लिक करना होगा।
चरण 5: नए पेज पर आरबीआई ऑफिसर ग्रेड बी जनरल, DEPR और DSIM के तीन अलग-अलग लिंक मिलेंगे, जिनमें से एक पर क्लिक करना होगा।
चरण 6: आरबीआई ग्रेड रिजल्ट पीडीएफ खुलेगा।
चरण 7: चयनित उम्मीदवारों के रोल नंबर चेक करें और आगे के लिए डाउनलोड करें।

ये भी पढ़ें: BPSC Jobs: बिहार में CDPO की वैकेंसी, ग्रेजुएट के लिए 1.6 लाख रुपये तक सैलरी

RBI ग्रेड बी चरण 2 और 3 की परीक्षा (RBI Officer Grade B Phase 2, 3 Exam Date)
जो उम्मीदवार आरबीआई ऑफिसर ग्रेड बी पेपर-1 में क्वालीफाई हुए हैं, उन्हें पेपर-2 देना होगा। 31 मार्च 2021 को दो शिफ्ट में डीआपीआर का पेपर-2 (अर्थशास्त्र) और पेपर-3 (अंग्रेजी) होगा। जबकि डीएसआईएम का पेपर-2 (स्टेटिक्स) और पेपर-3 (अंग्रेजी) होगा।

ये भी पढ़ें:RBI Recruitment 2021: सिक्योरिटी गार्ड भर्ती परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, ये रहा डायरेक्ट लिंक

वहीं 1 अप्रैल को ग्रेड बी (डीआर) जनरल का पेपर-3 (एफ एंड एम) और दूसरी शिफ्ट में पेपर-1 (ईएसआई), पेपर-2 (अग्रेंजी) आयोजित किया जाएगा। एडमिट कार्ड जल्द आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे।

RBI Officer Grade B result 2021 का डायरेक्ट लिंक

आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट का लिंक



Source link

RSMSSB Stenographer admit card 2021 released, here’s how to download


  • The Rajasthan Subordinate and Ministerial Services Selection Board (RSMSSB) has released the hall ticket or admit card for the Stenographer recruitment Phase 1 examination.

Edited by Nilesh Mathur

PUBLISHED ON MAR 13, 2021 12:28 PM IST

The Rajasthan Subordinate and Ministerial Services Selection Board (RSMSSB) has released the hall ticket or admit card for the Stenographer recruitment Phase 1 examination.

Candidates who have successfully registered for RSMSSB Stenographer recruitment exam can download their hall ticket/admit card from the official website at rsmssb.rajasthan.gov.in.

RSMSSB Stenographer recruitment phase 1 examination will be held on March 21. The Paper 1 of the exam will be held from 8am to 11am, while Paper 2 of the examination will be conducted from 2.30pm to 5.30pm.

Direct link to download RSMSSB Stenographer admit card/hall ticket 2021

RSMSSB Stenographer admit card 2021: Steps to download hall ticket

Visit the official website at rsmssb.rajasthan.gov.in

Click on the link for admit card on the homepage

Click on the link for “Download Admit Card of Direct Joint Recruitment of Stenographer – 2018′

A new page will appear on the screen, click on get admit card

Enter your credentials and login

The RSMSSB Stenographer admit card 2021 will be displayed

Take a printout and download on your computer too

The admit card of Stenographer recruitment phase 1 exam 2021 will not be sent to candidates by post.

Close



Source link

JEE Main 2021 March session: Registration ends today, here’s direct link


  • JEE Main 2021 March session: Interested and eligible candidates can apply for JEE mains 2021 March session online at jeemain.nta.nic.in.
By hindustantimes.com | Edited by Akhilesh Nagari, Hindustan Times, New Delhi

PUBLISHED ON MAR 06, 2021 11:40 AM IST

JEE Main 2021 March session: The online registration process for the JEE mains 2021 examination for the March session will end on Saturday, March 6, 2021, on its official website.

Interested and eligible candidates can apply for JEE mains 2021 March session online at jeemain.nta.nic.in.

This year, the National Testing Agency (NTA) will conduct the JEE Main 2021 examination in 4 sessions. The first session was held from February 23 to 26, 2021. The second session is scheduled to be conducted from March 15 to 18, 2021, followed by the third session, which will be held from April 27 to 30, 2021. The fourth session is scheduled to be held from May 24 to 28, 2021.

Direct link to apply for JEE Main 2021.

How to apply for JEE Main 2021:

Visit the official website at jeemain.nic.in

On the homepage, click on ‘Apply for JEE Main April 2021’ button

If you are a registered user click on ‘login to apply’

If you are a new user, you need register yourself.

Click on the ‘proceed to apply’ link under the ‘Fresh user’ tab on the left side.

Fill in the required details asked in the form

Scan and upload images

Pay the application fee and submit

Keep the application number or registration number safe with you for future reference.

Close



Source link

delhi govt jobs: Delhi Govt Jobs: दिल्ली में 1800 पदों पर निकलीं सरकारी नौकरियां, सभी के लिए मौके – dsssb recruitment 2021, govt jobs in delhi


हाइलाइट्स:

  • दिल्ली में सरकारी नौकरी पाने का बेहतरीन मौका
  • दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड ने निकली 1800 से ज्यादा वैकेंसी
  • दिल्ली जल बोर्ड, नगर निगम समेत रष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न सरकारी विभागों में होंगी भर्तियां
  • हर तरह की योग्यता रखने वालों के लिए अवसर

Govt Job Vacancy in Delhi: दिल्ली में सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका आया है। दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (DSSSB) ने 1800 से ज्यादा पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली है। राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न सरकारी विभागों में कई अलग-अलग पदों पर ये भर्तियां (recruitment 2021) की जाएंगी।

डीएसएसएसबी ने इस वैकेंसी के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। पदों की पूरी जानकारी, नोटिफिकेशन और आवेदन की जानकारी आगे दी जा रही है।

किन पदों पर होंगी भर्तियां (DSSSB vacancy)
टेक्निकल असिस्टेंट – 32 पद
लैब अटेंडेंट – 66 पद
असिस्टेंट केमिस्ट – 40
असिस्टेंट इंजीनियर – 14
जूनियर इंजीनियर – 93
ड्राफ्ट्समैन (ग्रेड-1) – 16
पर्सनल असिस्टेंट – 84
फार्मासिस्ट (आयुर्वेद) – 24
फार्मासिस्ट (यूनानी) – 14
फार्मासिस्ट (होम्योपैथी) – 44
असिस्टेंट डायरेक्टर – 03
असिस्टेंट (ग्रेड-2) – 28
जूनियर स्टेनोग्राफर – 13
साइंटिफिक असिस्टेंट (बायोलॉजी ) – 06
सिक्योरिटी सुपरवाइजर – 09
असिस्टेंट फोरमैन – 158
कारपेंटर – 04
असिस्टेंट फिल्टर सुपरवाइजर – 11
प्रोग्रामर – 05
ट्रेन्ड ग्रेजुएट टीचर (TGT) – 19
स्पेशल एजुकेटर (प्राइमरी) – 1126
कुल पदों की संख्या – 1809

क्या होनी चाहिए योग्यता
पदों के अनुसार जरूरी शैक्षणिक योग्यताएं भी अलग-अलग मांगी गई हैं। कक्षा 10वीं, 12वीं पास से लेकर सामान्य ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन या इंजीनियरिंग करने वाले उम्मीदवारों तक के लिए वैकेंसी निकली है। सभी पदों के लिए न्यूनतम और अधिकतम उम्र सीमाएं भी अलग-अलग निर्धारित की गई हैं। इसकी विस्तृत जानकारी आप आगे दिए गए नोटिफिकेशन लिंक पर क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : HPCL Jobs: हिन्दुस्तान पेट्रोलियम में इंजीनियर्स की वैकेंसी, पे-स्केल 1.60 लाख रुपये तक

कैसे करें अप्लाई
इस वैकेंसी के लिए दिल्ली एसएसएसबी की वेबसाइट dsssbonline.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना है। आवेदन की प्रक्रिया 15 मार्च 2021 से शुरू होगी। अप्लाई करने की अंतिम तारीख 14 अप्रैल 2021 (रात 11.59 बजे तक) है। अन्य किसी माध्यम से आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें : ESIC Jobs 2021: कर्मचारी राज्य बीमा निगम में ग्रुप सी के 6552 पदों पर बंपर वैकेंसी, पे-स्केल 81 हजार तक

आवेदन शुल्क – महिलाओं, एससी, एसटी, पूर्व कर्मचारियों व दिव्यांग श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए आवेदन निशुल्क है। अन्य सभी को 100 रुपये आवेदन शुल्क देना होगा।

कैसे होगा चयन – पदों के अनुसार चयन की प्रक्रिया भी अलग-अलग है। किस पद के लिए क्या चयन प्रक्रिया होगी, सिलेबस क्या होगा, आरक्षण के नियम क्या होंगे.. इन सभी की डीटेल जानकारी नीचे दिए गए नोटिफिकेशन में देखें।

DSSSB Job Notification 2021 के लिए यहां क्लिक करें।
DSSSB की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।



Source link

ICAI CA May exam 2021 schedule for foundation course released, check here


  • ICAI CA May exam 2021: Candidates can check the ICAI CA May examination schedule for the Foundation course online at icai.org.
By hindustantimes.com | Edited by Akhilesh Nagari, Hindustan Times, New Delhi

PUBLISHED ON MAR 06, 2021 11:18 AM IST

ICAI CA May exam 2021: The Institute of Chartered Accountants of India (ICAI) on Friday released the ICAI CA May examination schedule for the Foundation course on its official website.

Candidates can check the ICAI CA May examination schedule for the Foundation course online at icai.org.

According to the schedule, the institute will conduct the examinations on June 24, 26, 28, and 30, 2021. The online registration process for the examination will commence on April 20, 2021, and will end on May 4, 2021.

The examination for Foundation Paper 1 and 2 is scheduled to be conducted from 2 to 5 pm, and Paper 3 and 4 will be held from 2 to 4 pm.

Candidates applying for Indian centres will have to pay an application fee of 1500. For the Kathmandu centre, the candidates will need to pay the registration fee 2200, while for the overseas centres, the examination fee is the US $325

“The late fee for submission of examination application form after the scheduled last date would be 600 (for Indian/Kathmandu centre) and the US $10 (for Abroad centres) as decided by the council, ” reads the official notice.

“It may be emphasized that there would be no change in the examination schedule in the event of any day of the examination schedule being declared a public holiday by the Central Government or any State Government/local holiday,” further reads the notice.

ICAI CA May exam 2021 schedule:

Close



Source link

JEE main results 2021 for February exam expected by March 7, here’s how to check


  • JEE main results 2021: Once the results are announced, candidates who have appeared in the JEE Main 2021 February session examination will be able to check their results online at jeemain.nta.nic.in.
By hindustantimes.com | Edited by Akhilesh Nagari, Hindustan Times, New Delhi

PUBLISHED ON MAR 06, 2021 12:19 PM IST

JEE main results 2021: JEE main results 2021: The National Testing Agency (NTA) is expected to declare the results of the JEE Main 2021 February session examination by Sunday, March 7, 2021.

Once the results are announced, candidates who have appeared in the JEE Main 2021 February session examination will be able to check their results online at jeemain.nta.nic.in.

Also Read: JEE Main 2021 March session: Registration ends today, here’s direct link

The agency had released the provisional answer key for the JEE Main February session on March 1, 2021. Candidates were allowed to raise objections, if any, by providing appropriate representations until March 3, 2021. Based on the revised final answer key, the JEE main result will be prepared and declared by the agency.

Also Read: JEE main answer key 2021 released at jeemain.nta.nic.in, check it here

The first session of the JEE mains 2021 examination was conducted from February 23 to 26, 2021, at various centres spread across the country.

How to check JEE main results 2021 after it is declared:

Visit the official website at jeemain.nta.nic.in

On the homepage, click on the link that reads, “JEE Mains 2021 February results”

A new page will appear on the display screen

Key in your credentials and login

The JEE Mains 2021 results will be displayed on the screen

Download the results and take its print out for future use.

Close



Source link

Schools In Puducherry To Reopen On January 4 – पुडुचेरी में 4 जनवरी 2021 से फिर से खुलेंगे स्कूल, 10 बजे से लेकर 1 बजे तक चलेंगी कक्षाएं


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Updated Wed, 16 Dec 2020 05:57 PM IST

विद्यार्थी (फाइल फोटो)
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पुडुचेरी में सभी स्कूल अगले साल जनवरी में खुलेंगे। 4 जनवरी से सभी स्कूलों को फिर से खोला जाएगा। इस बात की जानकारी बुधवार को सूबे के कृषि और शिक्षा मंत्री आर कमलकन्नन ने दी है। गौरतलब है कि सूबे में मार्च से ही कोरोना महामारी से बचाव के लिए स्कूलों को बंद रखा गया है। अब अगले साल चार जनवरी से नियमित तौर पर स्कूलों को फिर से खोला जाएगा।

इसे भी पढ़ें-तमिलनाडु: कोरोना वायरस की वजह से सरकारी स्कूलों के छात्रों की अर्धवार्षिक परीक्षाएं रद्द

सुबह 10 बजे से 1 बजे तक चलेंगी कक्षाएं
शुरू में सभी स्कूलों में सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक की कक्षाएं चलेंगी। स्कूलों को आधे दिन के लिए खोला जाएगा। इसके बाद नियमित तौर पर पूरे दिन के लिए स्कूलों को खोला जाएगा। सूबे के शिक्षा मंत्री ने बताया कि 18 जनवरी से सभी स्कूलों में पूरे दिन की कक्षाएं होंगी। स्कूलों को खोलते वक्त कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-BSSC इंटर स्तरीय प्रतियोगी परीक्षा-2014 के प्रवेश पत्र जारी, ऐसे करें डाउनलोड

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए पूरे देशभर में मार्च से सभी स्कूलों, कॉलेजों और उच्च शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया था। शिक्षा मंत्री ने कहा कि सूबे में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के घटने के बाद सूबे की सरकार ने स्कूलों को फिर से खोलने का निर्णय लिया है।

पुडुचेरी में सभी स्कूल अगले साल जनवरी में खुलेंगे। 4 जनवरी से सभी स्कूलों को फिर से खोला जाएगा। इस बात की जानकारी बुधवार को सूबे के कृषि और शिक्षा मंत्री आर कमलकन्नन ने दी है। गौरतलब है कि सूबे में मार्च से ही कोरोना महामारी से बचाव के लिए स्कूलों को बंद रखा गया है। अब अगले साल चार जनवरी से नियमित तौर पर स्कूलों को फिर से खोला जाएगा।

इसे भी पढ़ें-तमिलनाडु: कोरोना वायरस की वजह से सरकारी स्कूलों के छात्रों की अर्धवार्षिक परीक्षाएं रद्द

सुबह 10 बजे से 1 बजे तक चलेंगी कक्षाएं

शुरू में सभी स्कूलों में सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक की कक्षाएं चलेंगी। स्कूलों को आधे दिन के लिए खोला जाएगा। इसके बाद नियमित तौर पर पूरे दिन के लिए स्कूलों को खोला जाएगा। सूबे के शिक्षा मंत्री ने बताया कि 18 जनवरी से सभी स्कूलों में पूरे दिन की कक्षाएं होंगी। स्कूलों को खोलते वक्त कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-BSSC इंटर स्तरीय प्रतियोगी परीक्षा-2014 के प्रवेश पत्र जारी, ऐसे करें डाउनलोड

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए पूरे देशभर में मार्च से सभी स्कूलों, कॉलेजों और उच्च शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया था। शिक्षा मंत्री ने कहा कि सूबे में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के घटने के बाद सूबे की सरकार ने स्कूलों को फिर से खोलने का निर्णय लिया है।



Source link

UPSC CDS 2 Result 2020 For Written Exam Declared – UPSC CDS-II 2020 का रिजल्ट घोषित, 6727 कैंडिडेट्स को मिली सफलता


नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने संयुक्त रक्षा सेवा (CDS) परीक्षा II का रिजल्ट‍ अपनी आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर जारी कर दिया है। इस साल 6727 छात्रों ने UPSC CDS-II 2020 की परीक्षा में सफलता मिली है। CDS-2 की परीक्षा इस साल 8 नवंबर को कराई गई थी। अब जो छात्र पास हुए हैं उन्हें SSB इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाएगा।

SBI Clerk Main Exam Result 2020: एसबीआई जूनियर एसोसिएट मुख्य परीक्षा के रिजल्ट जल्द होंगे जारी

कैसे देखें रिजल्ट

UPSC CDS-II 2020 परीक्षा का परिणाम देखने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर जाएं। इसके बाद ‘Written Result’ वाले लिंक को खोलें।

लिंक खुलने के बाद आप के फोन या कम्पयूटर पर प एक पीडीएफ फाइल खुल जाएगी। आप इसे पहले सेव कर लें फिर अपना लिस्ट में अपना रोल नंबर और नाम सर्च करके अपना रिजल्ट देख लें। हालांकि आप बिना फाइल को सेव किए भी अपनी रिजल्ट देख सकते हैं।

आप UPSC CDS-II की रिजल्ट डाउनलोड कर सकते हैं।

लेकिन अगर किसी तकनीकी कारण से अपना परिणाम नहीं देख पा रहे हैं तो आप UPSC की हेल्पलाइन नंबर 011-23385271, 011-23381125 और 011-23098543 पर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक कॉल कर सकते हैं। यहां से भी आप अपना रिजल्ट जान सकते हैं।

NTSE Stage 2 Exam 2020: नेशनल टैलेंट सर्च एग्जाम स्टेज-2 परीक्षा का नया शेड्यूल जारी, यहां देखें

अगली साल होगा SSB

जो छात्र इस परीक्षा में पास हैं उनका जुलाई 2021 में भारतीय सैन्य अकादमी (IMA), देहरादून 151वीं (DE) पर SSB इंटरव्यू होगा। इसके लिए अभी डेट नहीं बताई गई हैं लेकिन इंटरव्यू के कुछ दिन पहले आपके मेल या फोन पर आपको इसकी सूचना मिल जाएगी।

इंटरव्यू पास करने के बाद आपको भारतीय सैन्य अकादमी (IMA), भारतीय नौसेना अकादमी (INA), वायुसेना अकादमी (IFA) और अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (OTA) में एडमिशन मिलेगा है और आप अधिकारी बन जाएंगे।

 





Source link

Aktu Semester Exams 2019-20 Will Start From 07 Jan 2021 – Aktu की सेमेस्टर परीक्षाएं सात जनवरी से, अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए दूसरा मौका


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय (AKTU), लखनऊ की सेमेस्टर परीक्षाएं सात जनवरी, 2021 से शुरू होने जा रही है। इन परीक्षाओं में अंतिम वर्ष के वे विद्यार्थी भी भाग ले सकेंगे जो कोरोना महामारी के कारण पूर्व में आयोजित परीक्षा नहीं दे पाए थे।

विश्वविद्यालय की ओर से जारी सूचना के अनुसार, संबद्ध कॉलेजों के अंतिम वर्ष के छात्र जो कोरोना महामारी के कारण शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए सेमेस्टर परीक्षा में उपस्थित नहीं हो सके थे, उन्हें अब 07 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाली परीक्षा में बैठने का अवसर प्रदान किया जा रहा है।

इनके अलावा, प्रथम, द्वितीय और तृतीय वर्ष के छात्रों की सब-सेमेस्टर परीक्षा भी इसी तारीख से दोबारा आयोजित की जाएंगी। परीक्षा केंद्रीय गृह मंत्रालय की कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार आयोजित की जाएगी। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को देखते हुए विश्वविद्यालय परीक्षाओं के लिए विशेष इंतजाम और अस्थायी परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था कर रहा है। इस संबंध में विश्वविद्यालय की ओर से अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर सूचना भी जारी की गई है। 

 

उत्तर प्रदेश के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय (AKTU), लखनऊ की सेमेस्टर परीक्षाएं सात जनवरी, 2021 से शुरू होने जा रही है। इन परीक्षाओं में अंतिम वर्ष के वे विद्यार्थी भी भाग ले सकेंगे जो कोरोना महामारी के कारण पूर्व में आयोजित परीक्षा नहीं दे पाए थे।

विश्वविद्यालय की ओर से जारी सूचना के अनुसार, संबद्ध कॉलेजों के अंतिम वर्ष के छात्र जो कोरोना महामारी के कारण शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए सेमेस्टर परीक्षा में उपस्थित नहीं हो सके थे, उन्हें अब 07 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाली परीक्षा में बैठने का अवसर प्रदान किया जा रहा है।

इनके अलावा, प्रथम, द्वितीय और तृतीय वर्ष के छात्रों की सब-सेमेस्टर परीक्षा भी इसी तारीख से दोबारा आयोजित की जाएंगी। परीक्षा केंद्रीय गृह मंत्रालय की कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार आयोजित की जाएगी। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को देखते हुए विश्वविद्यालय परीक्षाओं के लिए विशेष इंतजाम और अस्थायी परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था कर रहा है। इस संबंध में विश्वविद्यालय की ओर से अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर सूचना भी जारी की गई है। 

 





Source link

Latest Govt Jobs In Rajasthan – Latest Govt Jobs: राजस्थान में 383 नए पदों पर भर्ती को मिली मंजूरी, जल्द होगी सीधी भर्ती


Latest Govt Jobs: राजस्थान सरकार ने संस्कृत शिक्षा, नगरीय विकास विभाग तथा विभिन्न अदालतों के लिए 337 नए पदों के सृजन को मंजूरी दी है। साथ ही सुनियोजित नगरीय विकास के लिए…

Latest Govt Jobs: राजस्थान सरकार ने संस्कृत शिक्षा, नगरीय विकास विभाग तथा विभिन्न अदालतों के लिए 337 नए पदों के सृजन को मंजूरी दी है। साथ ही सुनियोजित नगरीय विकास के लिए सहायक नगर नियोजक (एटीपी) के 46 पदों पर भर्ती की भी स्वीकृति दी है। एक सरकारी बयान के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संस्कृत शिक्षा, आदिवासी क्षेत्र विकास (टीएडी) व नगरीय विकास विभाग तथा विभिन्न अदालतों के लिए 337 नए पदों के सृजन को मंजूरी दी है। साथ ही सुनियोजित नगरीय विकास के लिए सहायक नगर नियोजक के 46 पदों पर भर्ती की भी स्वीकृति दी है।

इसके अनुसार मुख्यमंत्री गहलोत की पहल पर राज्य सरकार युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के लिए लगातार विभिन्न विभागों में रिक्त पदों को भर रही है और जरुरत के हिसाब से नये पदों को मंजूरी दी जा रही है। इस मंजूरी के तहत संस्कृत शिक्षा विभाग में 308 नए शैक्षिक पदों का सृजन होगा। टीएडी में कॉलेज छात्रावास अधीक्षक के चार नए पद मंजूर किए गए हैं। नवसृजित आठ अदालतों के लिए 25 पदों को मंजूरी दी गयी है।

Read More: इंडिया एग्जिम बैंक में मैनेजमेंट ट्रेनी के पदों पर निकली भर्ती, जल्द करें अप्लाई

Read More: असिस्टेंट इजीनियर के पदों पर निकली भर्ती, जानें आवेदन सहित पूरी डिटेल्स

इसी तरह नगर नियोजन विभाग, विभिन्न प्राधिकरणों, न्यासों व अन्य स्वायत्तषासी संस्थाओं में सहायक नगर नियोजक तथा सहायक नगर नियोजक (पीआर) के 46 रिक्त पदों पर सीधी भर्ती करने की सहमति दी गयी है। एक अन्य फैसले में मुख्यमंत्री गहलोत ने ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में निजी जल स्रोतों के नमूनों की रासायनिक व जीवाणु जांच की दर 1000 रुपये से घटाकर 600 रुपये किये जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।






Show More











Source link

Jee Main 2021 Union Education Minister Nishank Announced Schedule And New Pattern – Jee Main 2021 को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने की ये बड़ी घोषणाएं, जानें पूरी डिटेल्स


JEE Main 2021 : केंद्रीय शिक्षा मंत्री बोले- साल में चार बार होगी जेईई मेन परीक्षा
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2021 को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को विद्यार्थियों को संबोधित किया। शिक्षा मंत्री ने अपने संबोधन के दौरान बड़ी घोषणा की। निशंक ने कहा कि जेईई (मेन) के संबंध में प्राप्त सुझाओं के आधार कई बड़े बदलाव किए गए है। उन्होंने बताया कि परीक्षा चार बार आयोजित की जाएगी। चारों चरणों में से सर्वश्रेष्ठ प्राप्तांकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी।  
इससे पहले निशंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा है, हमने जेईई (मेन) के संबंध में आपके सुझावों की जांच की है और उसी के आधार पर मैं परीक्षा के शेड्यूल की घोषणा कर रहा हूं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि अबकी बार, जेईई मेन परीक्षा के चरणों की संख्या, प्रश्न पत्र में क्षेत्रीय भाषा को शामिल करने, एक परिवर्तित परीक्षा पैटर्न, परीक्षा केंद्र की बढ़ी हुई संख्या जैसे अहम बदलाव देखने को मिलेंगे। 

पहला चरण 23 से 26 फरवरी को
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस बार JEE Main 2021 साल में चार बार आयोजित की जाएगी। इसका पहला चरण 23 से 26 फरवरी, 2021 तक आयोजित किया जाएगा। इसके बाद मार्च, अप्रैल और मई 2021 में अगले तीन सत्र होंगे।  परीक्षा का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी यानी एनटीए द्वारा किया जाएगा। 

 

हर साल लगभग 8-9 लाख उम्मीदवार
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने बताया कि हर साल लगभग 8-9 लाख उम्मीदवार IIT, NIT, अन्य केंद्रीय वित्तपोषित तकनीकी संस्थानों (CFTI), संस्थानों / विश्वविद्यालयों द्वारा वित्त पोषित / मान्यता प्राप्त / राज्य सरकारों में दाखिले के लिए जेईई मेन के लिए पंजीकरण करते हैं। 

नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी
निशंक ने बताया कि एनटीए ने जेईई मेन के लिए नया परीक्षा पैटर्न तैयार किया है। अभ्यर्थियों को 90 प्रश्नों में से केवल 75 का उत्तर देना होगा। इसमें 15 वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे जिनके लिए कोई नकारात्मक मूल्याकंन नहीं होगा। 

 

छात्रों को कई अवसर मिलेंगे
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि जेईई मेन 2021 एक वर्ष में चार बार आयोजित करने के पैटर्न से छात्रों को उनकी गलतियों और कमजोर क्षेत्रों को जानने का मौका मिलेगा। यह बदलाव उन्हें उनके स्कोर में सुधार के लिए कई अवसर प्रदान करेगा। जिससे परीक्षा के अगले चरण में अच्छी तरह से तैयारी कर सकेंगे। 

13 क्षेत्रीय भाषाओं में भी होगा पेपर :
जेईई मेन 2021 का पेपर कई हिंदी, अंग्रेजी समेत कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा। छात्र अपनी सुविधानुसार प्रश्न पत्र की भाषा का चयन कर सकेंगे। प्रमुख भाषाओं में हिंदी, अंग्रेजी, असमी, गुजराती, बंगाली, कन्नड़, मराठी, मलयालम, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगू और उर्दू में उपलब्ध होगा। हालांकि सभी सभी क्षेत्रीय भाषाओं के साथ प्रश्न अंग्रेजी भाषा में भी रहेंगे। 

 

रजिस्ट्रेशन यहां करें
संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2021 के योग्य उम्मीदवार jeemain.nta.nic.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए एप्लिकेशन विंडो शुरू होनेे पर आवेदन किया जा सकता है।  

रजिस्ट्रेशन फीस :
जेईई मेन 2021 के लिए फीस में अलग-अलग श्रेणी के अनुसार छूट प्राप्त होगी।  सामान्य/ओबीसी श्रेणी के भारतीय छात्रों के लिए 650 रुपए और विदेशी छात्रों के लिए 3000 रुपए रखी गई है। जबकि महिलाओं और एससी/एसटी/दिव्यांग और ट्रांसजेंडर श्रेणी भारतीय छात्रों के लिए 325 रुपए और विदेशी छात्रों के लिए 1500 रुपए होगी। फीस संबंधी अधिक जानकारी और छूट पात्रता शर्तों के लिए jeemain.nta.nic.in पर जारी ब्रोशर पढ़ें।

सार

  • इसका पहला चरण 23 से 26 फरवरी, 2021 तक आयोजित किया जाएगा
  • इसके बाद मार्च, अप्रैल और मई 2021 में अगले तीन सत्र होंगे

विस्तार

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2021 को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को विद्यार्थियों को संबोधित किया। शिक्षा मंत्री ने अपने संबोधन के दौरान बड़ी घोषणा की। निशंक ने कहा कि जेईई (मेन) के संबंध में प्राप्त सुझाओं के आधार कई बड़े बदलाव किए गए है। उन्होंने बताया कि परीक्षा चार बार आयोजित की जाएगी। चारों चरणों में से सर्वश्रेष्ठ प्राप्तांकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी।  

इससे पहले निशंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा है, हमने जेईई (मेन) के संबंध में आपके सुझावों की जांच की है और उसी के आधार पर मैं परीक्षा के शेड्यूल की घोषणा कर रहा हूं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि अबकी बार, जेईई मेन परीक्षा के चरणों की संख्या, प्रश्न पत्र में क्षेत्रीय भाषा को शामिल करने, एक परिवर्तित परीक्षा पैटर्न, परीक्षा केंद्र की बढ़ी हुई संख्या जैसे अहम बदलाव देखने को मिलेंगे। 

पहला चरण 23 से 26 फरवरी को

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस बार JEE Main 2021 साल में चार बार आयोजित की जाएगी। इसका पहला चरण 23 से 26 फरवरी, 2021 तक आयोजित किया जाएगा। इसके बाद मार्च, अप्रैल और मई 2021 में अगले तीन सत्र होंगे।  परीक्षा का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी यानी एनटीए द्वारा किया जाएगा। 

 





Source link

How To Check UPSC CDS Result 2020 – UPSC CDS Result 2020 जारी, सीडीएस-2 का रिजल्ट यहां से करें चेक


UPSC CDS Result 2020: संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने कंबाइड डिफेंस सर्विसेज एग्जामिनेशन 2020 (सीडीएस)-2 का रिजल्ट जारी कर दिया है। परीक्षार्थी अपना रिजल्ट यूपीएससी की ऑफिशल वेबसाइट upsc.gov.in पर जाकर चेक कर सकते हैं। लिखित परीक्षा कुल 6727 अभ्यर्थियों ने पास की है। परीक्षा का आयोजन 8 नवंबर 2020 को किया गया था। पास अभ्यर्थियों को एसएसबी इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाएगा।

Click Here For check result

पास अभ्यर्थियों को ऑरिजनल डॉक्यूमेंट भारतीय सैन्य एकेडमी तथा नौसेना एकेडमी में प्रवेश के मामले में 1 जुलाई 2021 तक, वायुसेना अकादमी में प्रवेश के मामले में 13 मई 2021 और केवल एसएससी कोर्स के मामले में 1 अक्टूबर 2021 तक भेजने होंगे।

लिखित परीक्षा में पास अभ्यर्थी www.joinindianarmy.nic.in पर खुद को पंजीकृत जरूर कर लें ताकि उन्हें इंटरव्यू की सचूना प्राप्त हो सके।

असफल अभ्यर्थियों की मार्कशीट ओटीए के फाइनल रिजल्ट (एसएसबी इंटरव्यू हो जाने के बाद) के जारी होने के 15 दिनों बाद आएगी। इसे 30 दिनों तक देखा जा सकेगा।

अगर किसी आवेदक को रिजल्ट को लेकर कोई परेशानी है तो वो यूपीएससी के फोन नंबर 011-23385271
011-23381125 तथा 011-23098543 पर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक संपर्क कर सकता है।













Source link

Ini Cet 2021 Counselling Process Begins, Register For Ini Cet Counselling Process At Aiimsexams.org – Ini Cet 2021 के लिए काउंसलिंग शेड्यूल जारी, रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Updated Wed, 16 Dec 2020 10:30 AM IST

विद्यार्थी (फाइल फोटो)
– फोटो : IStock

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

INI CET 2021: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), नई दिल्ली, ने आईएनआई सीईटी 2021 ( INI CET 2021) के लिए काउंसलिंग शेड्यूल जारी कर दिया है। प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण उम्मीदवार काउंसलिंग और सीट के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। अभ्यर्थी INI CET काउंसलिंग 2021 के लिए आधिकारिक वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।

आधिकारिक वेबसाइट
aiimsexams.org 

इसे भी पढ़ें-JEE Main 2021 : रजिस्ट्रेशन के लिए यहां पढ़ें पूरी डिटेल्स

इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट (INI CET) को नए स्नातकोत्तर मेडिकल प्रवेश परीक्षा के रूप में जोड़ा गया है। INI CET ने एम्स, जेआईपीएमईआर (JIPMER), पीजीआईएमईआर ( PGIMER) और एनआईएमएचएएनएस ( NIMHANS) के लिए स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षा की जगह ली है। इस परीक्षा में शॉर्टलिस्ट अभ्यर्थी काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेने के पात्र होंगे।  काउंसलिंग चार राउंड में होगी। जिसमें एक मॉक राउंड और एक ओपन राउंड शामिल होगा। ऑनलाइन पंजीकरण के लिए उम्मीदवारों को दसवीं और बारहवीं के दस्तावेज अपलोड करने होंगे।

इसे भी पढ़ें-नवोदय विद्यालय समिति ने छठी कक्षा में दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई

INI CET 2021 के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग पंजीकरण प्रक्रिया केवल उन पंजीकृत उम्मीदवारों के लिए शुरू की गई है जो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे और उसमें पास हुए हैं। ऐसे अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट के जरिए आवेदन कर सकते हैं।

INI CET 2021: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), नई दिल्ली, ने आईएनआई सीईटी 2021 ( INI CET 2021) के लिए काउंसलिंग शेड्यूल जारी कर दिया है। प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण उम्मीदवार काउंसलिंग और सीट के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। अभ्यर्थी INI CET काउंसलिंग 2021 के लिए आधिकारिक वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।

आधिकारिक वेबसाइट

aiimsexams.org 

इसे भी पढ़ें-JEE Main 2021 : रजिस्ट्रेशन के लिए यहां पढ़ें पूरी डिटेल्स

इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट (INI CET) को नए स्नातकोत्तर मेडिकल प्रवेश परीक्षा के रूप में जोड़ा गया है। INI CET ने एम्स, जेआईपीएमईआर (JIPMER), पीजीआईएमईआर ( PGIMER) और एनआईएमएचएएनएस ( NIMHANS) के लिए स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षा की जगह ली है। इस परीक्षा में शॉर्टलिस्ट अभ्यर्थी काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेने के पात्र होंगे।  काउंसलिंग चार राउंड में होगी। जिसमें एक मॉक राउंड और एक ओपन राउंड शामिल होगा। ऑनलाइन पंजीकरण के लिए उम्मीदवारों को दसवीं और बारहवीं के दस्तावेज अपलोड करने होंगे।

इसे भी पढ़ें-नवोदय विद्यालय समिति ने छठी कक्षा में दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई

INI CET 2021 के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग पंजीकरण प्रक्रिया केवल उन पंजीकृत उम्मीदवारों के लिए शुरू की गई है जो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे और उसमें पास हुए हैं। ऐसे अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट के जरिए आवेदन कर सकते हैं।



Source link

JEE Main 2021 Exam Schedule – JEE Main 2021 Schedule: जेईई मेन परीक्षा का पहला सत्र फरवरी में होगा आयोजित, पढ़ें चारों सत्र का पूरा शेड्यूल


JEE Main 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने जेईई मेन परीक्षा का पूरा शेड्यूल जारी कर दिया है। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ’ने घोषणा करते हुए कहा कि जेईई (मुख्य) परीक्षा अगले साल चार बार होगी। मंत्रालय द्वारा परीक्षा आयोजित करने के लिए प्राप्त सुझावों की समीक्षा के बाद यह निर्णय लिया गया। चार परीक्षा सत्र फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई 2021 में आयोजित किए जाएंगे। फरवरी में पहला परीक्षा सत्र 23 फरवरी से 26 फरवरी 2021 के बीच होगा।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इससे पहले अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर आज शाम 6 बजे के आसपास जेईई मेन 2021 की तारीखों की घोषणा करने की जानकारी दी थी। मंत्री ने कहा था कि वह इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए जेईई मेन 2021 के प्रयासों की संख्या के बारे में भी सूचित करेंगे।

 

इससे पहले 15 दिसंबर को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने jeemain.nta.nic.in पर एक अधिसूचना जारी की जिसमें जेईई मेन 2021 की तारीखों और अन्य सूचनाओं के बीच एक नया परीक्षा पैटर्न का उल्लेख किया गया था। हालांकि बाद में किसी कारण से इस सूचना को कुछ घंटों के भीतर वापस ले लिया गया और एक स्पष्टीकरण जारी किया गया जिसमें कहा गया था कि जेईई मेन 2021 डेट्स को अंतिम रूप नहीं दिया गया था। पूरे मामले ने उम्मीदवारों को असमंजस की स्थिति में छोड़ दिया गया।

शिक्षा मंत्री ने बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने तय किया है कि परीक्षा में 90 प्रश्न होंगे, उम्मीदवारों को उनमें से किसी भी 75 को हल करना होगा। शेष 15 वैकल्पिक प्रश्नों में नेगेटिव मार्किंग भी नहीं किया जाएगा। मेरिट सूची/रैंकिंग उम्मीदवार के सर्वोत्तम स्कोर के आधार पर तैयार की जाएगी। शिक्षा मंत्री ने बताया कि नई शिक्षा नीति के मद्देनजर, जेईई (मेन्स) 2021 परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी -हिंदी, अंग्रेजी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, ओडिया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू। कंप्यूटर आधारित टेस्ट मोड में आयोजित होने वाली परीक्षा, B.Arch के लिए ऑफ़लाइन मोड में होगी।

जेईई मेन परीक्षा पर NTA की अधिसूचना
NTA वेबसाइट पर उपलब्ध अधिसूचना के अनुसार, JEE (Main) अगले शैक्षणिक सत्र में प्रवेश के लिए कई सत्रों (फरवरी/मार्च/अप्रैल/मई 2021) में आयोजित किया जा रहा है। यह उम्मीदवारों को परीक्षा में अपने स्कोर में सुधार करने के लिए कई अवसर देगा यदि वे अपने शैक्षणिक वर्ष को बर्बाद किए बिना पहले प्रयास में अपना सर्वश्रेष्ठ देने में विफल रहते हैं।

पहले प्रयास में छात्रों को परीक्षा देने का पहला अनुभव प्राप्त होगा और उन्हें अपनी गलतियों का पता चलेगा जिसे वे अगली बार प्रयास करते समय सुधार सकते हैं। इससे एक साल ड्रॉप करने की संभावना कम हो जाएगी और ड्रॉपर को पूरा साल बर्बाद नहीं करना पड़ेगा। एजेंसी ने कहा कि अगर किसी ने नियंत्रण से बाहर होने के कारण परीक्षा में चूक की, तो उसे पूरे एक साल तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। छात्र की सर्वश्रेष्ठ 2021 NTA स्कोर मेरिट सूची/रैंकिंग की तैयारी के लिए माना जाएगा।













Source link

JEE Main 2021 Schedule Announced Education Minister Ramesh Pokhriyal Announces JEE Main Schedule For 2021



New Delhi: The schedule of the Joint Entrance Examination (JEE) Main 2021 has been announced by Education Minister Ramesh Pokhriyal on Wednesday evening. As per the announcement, entrance test for admission in premier IITs, NITs will be held from February 23 to 26. ALSO READ | NTA Withdraws JEE 2021 Exam Notification From Official Website; Know More

The aspiring candidates can download the application from JEE official website- jeemain.nta.nic.in.

While making the announcement, Education Minister said that the JEE Main 2021 examination will be will be held in multiple shifts from next year — February, March, April and May.

Education Minister Ramesh Pokhriyal took to Twitter and wrote: “Thank you all for sharing your constructive suggestions regarding JEE (Main) exams. We have got your suggestions examined. I will be announcing the schedule, number of times the exam will be held at 6 PM today. Stay tuned.”

Change in JEE MAIN 2021 exam pattern

In the JEE MAIN 2021 examination, candidates will be allowed to attempt all four times if they wish, with the best score being used. Pokhariyal said that pattern of the exam has also been changed to accommodate COVID-19-driven changes to the syllabus.

JEE MAIN 2021 to be held in 13 languages

As per the minister, JEE MAIN 2021 will be held in 13 languages from next year. These include English, Hindi, Bengali, Gujarati, Assamese, Kannada, Marathi, Punjabi, Tamil, Telugu, Urdu, Odia and Malayalam.

While exams in Hindi, English and Urdu will be held across the country, other regional language papers will be held in the respective states.

No negative marking

Keeping in mind the adverse situation, Education Minister has decided that there would be no negative marking in 15 alternative questions. As per the new rule, candidates will have to attempt 75 questions out of 90 – or 25 out of 30 questions in each section of Chemistry, Physics and Mathematics.

However, there will be no negative marking in the 15 optional questions and best of four scores will be considered.

The announcement by Education Minister comes after the National Testing Agency (NTA) removed the notification for the Joint Entrance Examination (JEE) Main 2021, hours after it released it.

Reports claim that the application process will begin on Tuesday and that the last date to fill the form is January 15. Reports also said that admission to engineering courses will be undertaken in four sessions.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI





Source link

Translate »