Rajasthan Royals vs Sunrisers Hyderabad Head To Head Today Match 40 Preview RR vs SRH – तेवतिया-पराग से मिली पिछली हार का बदला चुकता करना चाहेगी हैदराबाद



Rajasthan Royals vs Sunrisers Hyderabad Head To Head Today Match 40 Preview RR vs SRH- India TV Hindi

Image Source : IPLT20.COM
Rajasthan Royals vs Sunrisers Hyderabad Head To Head Today Match 40 Preview RR vs SRH

आईपीएल 2020 का 40वां मुकाबला आज राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाना है। प्लेऑफ की दौड़ में बना रहने के लिए दोनों टीमों के लिए यह मैच काफी जरूरी है। प्वॉइंट्स टेबल में राजस्थान की टीम जहां 10 में से 4 मैच जीतकर 6ठें स्थान पर है, वहीं हैदराबाद की टीम 9 में से 3 मैच जीतकर 7वें स्थान पर है। अगर आज हैदराबाद की टीम हारती है तो उनका प्लेऑफ में पहुंचने का समीकरण चेन्नई सुपर किंग्स की तरह सिर्फ कागजों में ही रह जाएगा।

दोनों टीमों का आकलन

राजस्थान रॉयल्स की टीम अपने पिछले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स को मात देने के बाद यहां पहुंची है। राजस्थान ने पहले कसी हुई गेंदबाजी से सीएसके को 125 के स्कोर पर रोक दिया था, लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए बेन स्टोक्स, रॉबिन उथप्पा और संजू सैमसन ने एक बार फिर निराश किया। शुरुआती दो मैचों में अर्धशतक लगाने के बाद सैमसन ने कोई बड़ी और प्रभावशाली पारी नहीं खेली है, वहीं स्टोक्स भी अभी तक वो कमाल नहीं दिखा पाए हैं जिसके लिए वो जाने जाते हैं। अगर ऐसे ही राजस्थान के उपरी क्रम के बल्लेबाज निराश करते रहे तो राजस्थान का प्लेऑफ में पहुंचना मुश्किल हो जाएगा।

ये भी पढ़ें – IPL 2020, KKR vs RCB : मैच जिताऊ गेंदबाजी करने के बाद सिराज ने कोहली का ‘शुक्रिया’ अदा किया

कब तक बटलर संभालेंगे रनों का दरोमदार

चाहे सलामी बल्लेबाजी हो या फिनिशर को रोल अदा करना होगा, राजस्थान रॉयल्स के लिए पिछले कुछ समय से किसी भी पोजिशन पर रन बनाने का जिम्मा जॉस बटलर ने उठा रखा है। चेन्नई के खिलाफ भी बटलर ने 70 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई थी। वहीं उनका इस पारी में साथ स्टीव स्मिथ ने दिया जिन्होंने 34 गेंदों पर मात्र 26 रन बनाए। अगर बटलर किसी भी समय आउट हो जाते तो चेन्नई के आगे राजस्थान का जीतना मुश्किल हो जाता।

हैदराबाद के युवा खिलाड़ियों को करना होगा प्रदर्शन

वहीं बात सनराइजर्स हैदराबाद की करें तो वह अपने पिछले मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स से सुपर ओवर में हारकर यहां पहुंची है। केन विलियमसन और जॉनी बेयरस्टो द्वारा मिली अच्छी शुरुआत के बावजूद प्रियम गर्ग, मनीष पांडे और विजय शंकर जैसे खिलाड़ियों ने मिडिल ऑर्डर में फेल होकर एक बार फिर निराश किया। इस दौरान वॉर्नर ने ही 47 रन की पारी खेलकर स्कोर टाई करवाया। इन सभी युवा भारतीय खिलाड़ियों को सिलसिलेवार तरीके से रन बनाने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें – IPL 2020, KKR vs RCB : जीत के बाद कप्तान कोहली ने खोला राज, तीन प्लान के साथ उतरते हैं मैदान में

विलियमसन की चोट बन सकती है समस्या

पिछले मैच में केन विलियमसन को लगी चोट हैदराबाद के लिए सिरदर्दी बन सकती है। फील्डिंग के दौरान चोटिल होने के कारण उन्होंने सलामी बल्लेबाजी की थी, लेकिन वह उस समय भी ठीक नजर नहीं आ रहे थे। अभी तक वैसे उनकी चोट पर कोई अपडेट नहीं आया है, लेकिन अगर वह आज के मैच में नहीं खेलते तो हैदराबाद के लिए काफी समस्या खड़ी हो सकती है। 

पिछली भिड़ंत में तेवतिया-पराग की जोड़ी ने बिखेरे थे जलवे

आईपीएल 2020 में पिछली बार 11 अक्टुबर को जब यह दोनों टीमें आपस में भिड़ी थी तो राजस्थान के राहुल तेवतिया और रियान पराग ने 85 रन की शानदरा साझेदारी कर हैदराबाद के मुंह से जीत छीन ली थी। 159 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान ने 78 रन पर अपने 5 खिलाड़ी खो दिए थे तब इन दोनों युवाओं ने लाजवाब बल्लेबाजी का प्रदर्शन कर टीम को जीत दिलाई थी। हैदराबाद की टीम इस गलती से सीख लेगी और आज मैच के किसी भी मोड़ पर ढ़िलाई नहीं बरतना चाहेगी।

ये भी पढ़ें – IPL 2020, KKR vs RCB : बुरी तरह हार के बाद कप्तान मॉर्गन ने बताया, कहां हुई टीम से चूक

हेड टू हेड 

आईपीएल में अभी तक यह दोनों टीमें 12 बार एक दूसरे से भिड़ी है जिसमें मुकाबला टक्कर का रहा है। दोनों ही टीमों ने कुल 6-6 मैच जीते हैं। वहीं पिछले 6 मुकाबलों में भी दोनों टीमें 3-3 मैच जीतने में सफल रही है। इससे यह साफ होता है कि आज दोनों टीमों के बीच 2 अंक के लिए कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी।

दोनों टीमें 

सनराइजर्स हैदराबाद टीम: जॉनी बेयरस्टो (w), केन विलियमसन, प्रियम गर्ग, डेविड वॉर्नर (c), मनीष पांडे, विजय शंकर, अब्दुल समद, राशिद खान, संदीप शर्मा, टी नटराजन, बासिल थम्पी, रिद्धिमान साहा, श्रीवत्स गोस्वामी, सिद्धार्थ कौल, मोहम्मद नबी, शाहबाज़ नदीम, जेसन होल्डर, बावनका संदीप, बिली स्टानलेक, फैबियन एलेन, विराट सिंह, खलील अहमद, संजय यादव, अभिषेक शर्मा, पृथ्वी राज यारा

राजस्थान रॉयल्स की टीम: बेन स्टोक्स, रॉबिन उथप्पा, संजू सैमसन (w), स्टीवन स्मिथ (c), जोस बटलर, रियान पराग, राहुल तेवतिया, जोफ्रा आर्चर, श्रेयस गोपाल, अंकित राजपूत, कार्तिक त्यागी, वरुण आरोन, जयदेव उनादकट डेविड। मिलर, अनिरुद्ध जोशी, मनन वोहरा, टॉम कुरेन, एंड्रयू टाई, शशांक सिंह, महिपाल लोमरोर, ओशन थॉमस, मयंक मारकंडे, अनुज रावत, यशस्वी जायसवाल, आकाश सिंह

कोरोना से जंग : Full Coverage





Source link

E-commerce Companies Sold 22 Thousand Crore Rupees Goods In 5 Days – ई-कॉमर्स कंपनियों ने पांच दिन में बेचे 22 हजार करोड़ रुपये के सामान


बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Thu, 22 Oct 2020 06:59 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

कोविड-19 महामारी के बीच ऑनलाइन खरीदारी में जबरदस्त उछाल आया है। ई-कॉमर्स कंपनियों ने 5 दिन के त्यौहार सेल में 22 हजार करोड़ के समान बेच दिए। यह आंकड़ा 2018 और 2019 की बिक्री से ज्यादा है।

19.8 हजार करोड़ की बिक्री हुई 2019 के सेल में

परामर्श फर्म रेडसीर ने बुधवार को बताया कि अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और मित्रा जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने 16 से 20 अक्टूबर तक त्योहारी सीजन सेल शुरू किया था। इस दौरान ग्राहकों ने 3.1 अरब डॉलर (22 हजार करोड़) की खरीदारी की। 2018 के त्योहारी सेल में 15.4  करोड़ और 2019 में 19 हजार करोड़ की बिक्री हुई थी।

रेडसीर ने एक हजार करोड़ की बिक्री का अनुमान लगाया था। इस साल बिक्री बढ़ने के चार प्रमुख कारण ग्राहकों की उत्पादों तक आसान पहुंच, मोबाइल सेगमेंट में नए मॉडल शामिल होने बड़ी बड़ी भूमिका निभाई। ई-कॉमर्स कंपनी ने बताया कि त्योहारी सीजन सेल के दौरान उसके प्लेटफार्म पर प्रति सेकंड 110 आर्डर मिले।

50 हजार करोड़ की बिक्री का अनुमान

रेडीसीर ने कहा कि कॉमर्स कंपनियां दशहरा और दिवाली तक और भी सेल ला सकती हैं। अनुमान है कि इस साल कुल त्योहारी सेल 50 हजार करोड़ पार कर जाएगी जो पिछले साल की समान अवधि के 28 हजार करोड़ से करीब दोगुनी रहेगी। इसके लिए कंपनियों ने विशेष तैयारियां की है। 1.1 लाख विक्रेताओं को प्लेटफॉर्म से जोड़ लिया था।

स्थानीय उत्पादों की बढ़ी मांग

स्नैपडील का कहना है कि 5 दिनों में उसके प्लेटफॉर्म पर हुई कुल बिक्री में 80 फीस दी खरीदारी स्थानीय ब्रांड की रही। सिर्फ 20 फ़ीसदी ग्राहकों ने राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय उत्पादों में रुचि दिखाई पिछले साल 65 सीसी ग्राहकों ने स्थानीय खरीदे थे। इसके अलावा कुछ बिक्री में 70 फ़ीसदी ऑर्डर मेट्रो शहरों से बाहर के थे। उपभोक्ताओं में ऑनलाइन खरीदारी को लेकर रुझान तेजी से बढ़ रहा है।

 

कोविड-19 महामारी के बीच ऑनलाइन खरीदारी में जबरदस्त उछाल आया है। ई-कॉमर्स कंपनियों ने 5 दिन के त्यौहार सेल में 22 हजार करोड़ के समान बेच दिए। यह आंकड़ा 2018 और 2019 की बिक्री से ज्यादा है।

19.8 हजार करोड़ की बिक्री हुई 2019 के सेल में

परामर्श फर्म रेडसीर ने बुधवार को बताया कि अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और मित्रा जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने 16 से 20 अक्टूबर तक त्योहारी सीजन सेल शुरू किया था। इस दौरान ग्राहकों ने 3.1 अरब डॉलर (22 हजार करोड़) की खरीदारी की। 2018 के त्योहारी सेल में 15.4  करोड़ और 2019 में 19 हजार करोड़ की बिक्री हुई थी।

रेडसीर ने एक हजार करोड़ की बिक्री का अनुमान लगाया था। इस साल बिक्री बढ़ने के चार प्रमुख कारण ग्राहकों की उत्पादों तक आसान पहुंच, मोबाइल सेगमेंट में नए मॉडल शामिल होने बड़ी बड़ी भूमिका निभाई। ई-कॉमर्स कंपनी ने बताया कि त्योहारी सीजन सेल के दौरान उसके प्लेटफार्म पर प्रति सेकंड 110 आर्डर मिले।

50 हजार करोड़ की बिक्री का अनुमान

रेडीसीर ने कहा कि कॉमर्स कंपनियां दशहरा और दिवाली तक और भी सेल ला सकती हैं। अनुमान है कि इस साल कुल त्योहारी सेल 50 हजार करोड़ पार कर जाएगी जो पिछले साल की समान अवधि के 28 हजार करोड़ से करीब दोगुनी रहेगी। इसके लिए कंपनियों ने विशेष तैयारियां की है। 1.1 लाख विक्रेताओं को प्लेटफॉर्म से जोड़ लिया था।

स्थानीय उत्पादों की बढ़ी मांग

स्नैपडील का कहना है कि 5 दिनों में उसके प्लेटफॉर्म पर हुई कुल बिक्री में 80 फीस दी खरीदारी स्थानीय ब्रांड की रही। सिर्फ 20 फ़ीसदी ग्राहकों ने राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय उत्पादों में रुचि दिखाई पिछले साल 65 सीसी ग्राहकों ने स्थानीय खरीदे थे। इसके अलावा कुछ बिक्री में 70 फ़ीसदी ऑर्डर मेट्रो शहरों से बाहर के थे। उपभोक्ताओं में ऑनलाइन खरीदारी को लेकर रुझान तेजी से बढ़ रहा है।

 



Source link

मां कात्यायनी की पूजा मिलेगा योग्य जीवनसाथी, जानें पूजा विधि, मंत्र


नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है

शारदीय नवरात्रि २०२० (Shardiya Navratri 2020/Navratri Sixth Day):नवरात्रि (Navratri 2020)के छठवें दिन देवी मां कात्यायनी की पूजा करने से मन की शक्ति मजबूत होते है और साधक इन्द्रियों को वश में कर सकता है. अविवाहितों को देवी की पूजा करने से अच्छे जीवनसाथी की प्राप्ति होती है..


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 22, 2020, 6:33 AM IST

शारदीय नवरात्रि २०२० (Shardiya Navratri 2020/Navratri Sixth Day): आज नवरात्रि (Navratri 2020) का 6वां दिन है. आज मां नव दुर्गा के छठे रूप मां कात्यायनी देवी की पूजा-अर्चना (Maa Katyayani Puja) की जाती है. मान्यता है कि मां का यह स्वरूप सुख और शांति प्रदान करने वाला है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, देवी कात्यायनी की पूजा करने से मन की शक्ति मजबूत होते है और साधक इन्द्रियों को वश में कर सकता है. अविवाहितों को देवी की पूजा करने से अच्छे जीवनसाथी की प्राप्ति होती है. धर्म ग्रंथों के अनुसार, इन्हीं देवी ने महिषासुर का मर्दन किया था. आइए जानते हैं नवरात्रि के छठे दिन किस तरह करें देवी कात्यायनी की पूजा:
मां कात्यायनी की पूजा :
मां कात्यायनी की पूजा करने के लिए सबसे पहले पूजा की चौकी पर साफ लाल रंग का कपड़ा बिछाकर उस पर मां कात्यायनी की मूर्ति रखें. गंगाजल से पूजाघर और घर के बाकी स्थानों को पवित्र करें. वैदिक मंत्रोच्चार के साथ व्रत का संकल्प पढ़ें एवं सभी देवी-देवताओं को नमस्कार करते हुए षोडशोपचार पूजन करें. मां कात्यायनी को दूध, घी, दही और शहद से स्नान करवाएं. मां कात्यायनी को शहद अति प्रिय है. इसलिए पूजा में देवी को शुद्ध शहद अर्पित करें. इसके बाद पूरे भक्ति भाव से देवी का मंत्र पढ़ें. मन में जो मनोकामना हो उसे दोहराते हुए देवी से आशीर्वाद मांगें.

देवी कात्यायनी का मंत्र:चंद्रहासोज्जवलकरा शार्दूलवर वाहना।
कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनि।| (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)





Source link

Espionage Case, Pm Office And Other Important Ministries On Chinese Spy Radar – चीन जासूसी कांड का खुलासा: निशाने पर थे पीएम कार्यालय और दलाई लामा


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Thu, 22 Oct 2020 05:52 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

जासूसी रैकेट  मामले में पकड़े गए स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा के साथ चीनी महिला और एक नेपाली व्यक्ति को पुलिस ने पिछले महीने गिरफ्तार कर लिया था। उनसे पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। 

इन चीनी जासूस के निशाने पर पीएम कार्यालय समेत कई और अहम मंत्रालयों में लगाए सुरक्षा उपकरण निशाने पर थे। पूछताछ के मुताबिक, चीन नेअपनी जासूसी टीम को प्रधानमंत्री कार्यालय सहित महत्वपूर्ण भारतीय कार्यालयों की आंतरिक जानकारी देने के लिए कहा था।

चीन के इन जासूस के मुताबिक इनकी नजर दलाई लामा पर भी थी। क्योंकि इस जासूसी कांड में एक बौद्ध भिक्षु के शामिल होने की बात सामने आ रही है। वहीं कोलकात की एक प्रभावशाली महिला का नाम की इस कांड में आ रहा है।

जासूसी रैकेट  मामले में पकड़े गए स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा के साथ चीनी महिला और एक नेपाली व्यक्ति को पुलिस ने पिछले महीने गिरफ्तार कर लिया था। उनसे पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। 

इन चीनी जासूस के निशाने पर पीएम कार्यालय समेत कई और अहम मंत्रालयों में लगाए सुरक्षा उपकरण निशाने पर थे। पूछताछ के मुताबिक, चीन नेअपनी जासूसी टीम को प्रधानमंत्री कार्यालय सहित महत्वपूर्ण भारतीय कार्यालयों की आंतरिक जानकारी देने के लिए कहा था।

चीन के इन जासूस के मुताबिक इनकी नजर दलाई लामा पर भी थी। क्योंकि इस जासूसी कांड में एक बौद्ध भिक्षु के शामिल होने की बात सामने आ रही है। वहीं कोलकात की एक प्रभावशाली महिला का नाम की इस कांड में आ रहा है।



Source link

IPL 2020 KKR vs RCB Low Scoring Match Records in IPL UAE Updates Mohammed Siraj Virat Kohli | कोहली ने अचानक बॉल थमाई, सिराज ने विकेट की झड़ी लगाई, एक मैच में दो मेडन फेंकने वाले पहले बॉलर बने


3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

RCB के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने नीतीश राणा को क्लीन बोल्ड किया। राणा एक ही बॉल खेल सके।

आईपीएल के 13वें सीजन का 39वां मुकाबला पूरी तरह से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के नाम रहा। मैच में कप्तान विराट कोहली ने तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को अचानक दूसरा ओवर थमा दिया। इसके बाद सिराज ने सिर्फ मेडन ओवर डाला बल्कि लगातार 2 बॉल पर विकेट लेकर KKR की मुश्किलें बढ़ा दीं।

इसके बाद KKR आखिर तक इन शुरुआती झटकों से उभर नहीं पाई। टीम के लगातार विकेट गिरते रहे। KKR ने 8 विकेट गंवाकर 20 ओवर में सिर्फ 84 रन बनाए, जो इस सीजन का सबसे छोटा स्कोर है। इस बीच, सिराज एक मैच में दो मेडन फेंकने वाले पहले बॉलर बन गए।

उन्होंने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए। सिराज ने राहुल त्रिपाठी, नीतीश राणा और टॉम बेंटन को शिकार बनाया। जीत के बाद सिराज ने बताया कि मैच में उन्हें नई गेंद से बॉलिंग कराने का कोई प्लान नहीं था। कप्तान कोहली दूसरे ओवर में अचानक सिराज के पास आए और कहा- ‘‘मियां रेडी हो जाओ।’’

बता दें IPL में पहली बार किसी टीम ने 20 ओवर बैटिंग करने के बाद सबसे छोटा 84 रन का स्कोर बनाया। इससे पहले 2009 में साउथ अफ्रीका के डरबन में किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 20 ओवर खेलकर 8 विकेट पर 92 रन बनाए थे।

KKR ने सीजन का सबसे छोटा 85 रन का टारगेट दिया। RCB ने 2 विकेट गंवाकर 13.3 ओवर में मैच जीत लिया। टीम के कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 18 रन बनाए।

KKR ने सीजन का सबसे छोटा 85 रन का टारगेट दिया। RCB ने 2 विकेट गंवाकर 13.3 ओवर में मैच जीत लिया। टीम के कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 18 रन बनाए।

RCB के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज एक मैच में दो मेडन फेंकने वाले पहले बॉलर बन गए हैं। उन्होंने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए।

RCB के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज एक मैच में दो मेडन फेंकने वाले पहले बॉलर बन गए हैं। उन्होंने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए।

RCB के गुरकीरत सिंह ने 26 बॉल पर 21 रन की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाई।

RCB के गुरकीरत सिंह ने 26 बॉल पर 21 रन की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाई।

KKR टीम के लिए अकेला विकेट लोकी फर्ग्यूसन ने लिया। टीम बल्लेबाजी में ज्यादा रन नहीं बना सकी, लेकिन फर्ग्यूसन का शानदार फॉर्म इस मैच में भी बरकरार रहा।

KKR टीम के लिए अकेला विकेट लोकी फर्ग्यूसन ने लिया। टीम बल्लेबाजी में ज्यादा रन नहीं बना सकी, लेकिन फर्ग्यूसन का शानदार फॉर्म इस मैच में भी बरकरार रहा।

RCB के क्रिस मॉरिस ने KKR के कुलदीप यादव को रनआउट किया।

RCB के क्रिस मॉरिस ने KKR के कुलदीप यादव को रनआउट किया।

गुरकीरत सिंह बाउंड्री पर लंबी छलांग लगाकर छक्का रोकने की नाकाम कोशिश करते हुए।

गुरकीरत सिंह बाउंड्री पर लंबी छलांग लगाकर छक्का रोकने की नाकाम कोशिश करते हुए।

छक्का रोकने की कोशिश के दौरान गुरकीरत सिंह काफी देर हवा में रहे।

छक्का रोकने की कोशिश के दौरान गुरकीरत सिंह काफी देर हवा में रहे।

RCB के युजवेंद्र चहल ने मैच में 4 ओवर में 15 रन देकर 2 विकेट लिए।

RCB के युजवेंद्र चहल ने मैच में 4 ओवर में 15 रन देकर 2 विकेट लिए।

KKR की खराब हालत देखते टीम के कोच ब्रेंडन मैक्कुलम और असिस्टेंट कोच अभिषेक नायर।

KKR की खराब हालत देखते टीम के कोच ब्रेंडन मैक्कुलम और असिस्टेंट कोच अभिषेक नायर।

RCB टीम को चीयर करती फैन।

RCB टीम को चीयर करती फैन।

टॉस के दौरान RCB के कप्तान विराट कोहली और KKR के कैप्टन इयोन मॉर्गन कुछ इस तरह नजर आए।

टॉस के दौरान RCB के कप्तान विराट कोहली और KKR के कैप्टन इयोन मॉर्गन कुछ इस तरह नजर आए।

शानदार प्रदर्शन के लिए मोहम्मद सिराज को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

शानदार प्रदर्शन के लिए मोहम्मद सिराज को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मैच देखते हुए IPL गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बृजेश पटेल और पत्नी तोरल पटेल।

मैच देखते हुए IPL गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बृजेश पटेल और पत्नी तोरल पटेल।



Source link

Reality of Bihar’s roads under Lalu & Nitish’s rule


Watch the show Poll Khol with Shekhar Suman to know the reality of roads in Bihar under the rule of Lalu Prasad Yadav and Nitish Kumar
Have a look at if there is any difference in the system in both the governments or not
Watch the show ‘Poll Khol’ from Monday to Friday at 10:30 PM on ABP News to know the secrets of political leaders in Bihar ahead of the upcoming polls. Stay connected for more. 



Source link

खडसे ने भाजपा छोड़ने के लिए फडणवीस की 'गंदी राजनीति' को जिम्मेदार ठहराया




महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री एकनाथ खडसे ने बुधवार को कहा कि उन्होंने भाजपा छोड़ने और राकांपा में शामिल होने का फैसला किया क्योंकि उन्हें लग रहा था कि जब तक भगवा दल में देवेंद्र फडणवीस हैं, उन्हें “कभी न्याय नहीं मिलेगा।”



Source link

Pak Army Chief General Qamar Javed Bajwa Ordered Inquiry Into The Arrest Of Nawaz Sharifs Son In Law – शरीफ के दामाद की गिरफ्तारी: सिंध पुलिस प्रमुख ने अपनी छुट्टी टाली, अधिकारियों से भी की अपील


पाकिस्तान में सिंध पुलिस के प्रमुख ने अपनी छुट्टी टाल दी है और अपने अधिकारियों से कहा है कि वे बड़े राष्ट्रहित को देखते हुए अवकाश के अपने आवेदनों को दस दिनों के लिए टाल दें। 

इससे पहले सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद की गिरफ्तारी से जुड़ी परिस्थितियों की जांच का आदेश दिया। इस मुद्दे को लेकर देश के सबसे बड़े शहर में अर्धसैनिक बल और पुलिस के बीच गतिरोध पैदा हो गया है।

सिंध पुलिस ने मंगलवार को कई ट्वीट कर कहा कि 18 व 19 अक्टूबर की दरम्यानी रात को हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना से उसके कर्मियों में नाराजगी और असंतोष पैदा हो गया है। पुलिस की यह टिप्पणी नवाज शरीफ के दामाद मुहम्मद सफदर की गिरफ्तारी के संदर्भ में थी।

पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि अर्धसैनिक बल फ्रंटियर कोर ने सफदर को गिरफ्तार करने के लिए कथित तौर पर सिंध पुलिस पर दबाव डाला।

पुलिस ने कहा, ‘‘इसके परिणामस्वरूप आईजी सिंध ने छुट्टी पर जाने का फैसला किया और बाद में सभी अधिकारियों ने फैसला किया कि वे सिंध पुलिस के अपमान का विरोध करने के लिए छुट्टी का आवेदन देंगे। यह एक सहज और स्वत: स्फूर्त प्रतिक्रिया थी और सामूहिक के बदले व्यक्तिगत स्तर पर थी।’’

सिंध पुलिस ने जनरल बाजवा को धन्यवाद दिया कि उन्होंने बल के कर्मियों की आहत भावना को महसूस किया और तुरंत मामले की जांच का आदेश दिया।

इसके बाद पुलिस ने कहा, आईजी सिंध ने अपनी छुट्टी टाल दी है और अपने अधिकारियों को आदेश दिया है कि जांच लंबित रहने तक वे अवकाश के अपने आवेदनों को दस दिनों के लिए वृहद राष्ट्रीय हित में रद्द कर दें। 

सिंध पुलिस ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और मुख्यमंत्री मुराद अली शाह को भी पुलिस के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए धन्यवाद दिया। सिंध प्रांत में पीपीपी की सरकार है।

मुख्यमंत्री शाह ने बुधवार को आईजीपी मुश्ताक महार और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की तथा उन्हें आश्वासन दिया कि सरकार उनके साथ है। उन्होंने कहा कि सिंध की सरकार इस कठिन समय में अपनी पुलिस के साथ है। हम किसी भी हालत में पुलिस का मनोबल नहीं गिरने देंगे। 

इस पूरे विवाद के बीच जनरल बाजवा ने कराची कोर कमांडर को तथ्यों की जांच करने और जल्द से जल्द रिपोर्ट करने का का निर्देश दिया।

 

 



Source link

BJP कार्यकर्ता कर रहे थे कृषि कानून का समर्थन, टीएमसी वर्कर्स ने बुरी तरह पीटा, सामने आया VIDEO


बर्धमान में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं पर किया हमला

बर्धमान में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं पर किया हमला

BJP-TMC Clash: बर्धमान में हुई इस घटना का वीडियो भी सामने आया है जिसमें कि एक पक्ष के लोग दूसरे पक्ष पर डंडों से हमला करते हुए दिख रहे हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 21, 2020, 11:56 PM IST

कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कृषि कानूनों (Farm Laws) का समर्थन कर रहे भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं (Bharatiya Janta Party Workers) पर तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर हमला कर दिया. प्राप्त जानकारी के अनुसार भाजपा कार्यकर्ता बंगाल के बर्धमान (Bardhaman) जिले में पूर्बस्थली (Purbasthali) पर केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे थे जहां उन पर टीएमसी (TMC) के कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर हमला कर दिया. इस घटना में कई लोगो के घायल होने की भी खबर मिली है.

बर्धमान में हुई इस घटना का वीडियो भी सामने आया है जिसमें कि एक पक्ष के लोग दूसरे पक्ष पर डंडों से हमला करते हुए दिख रहे हैं. वीडियो में लोगों के चीखने-चिल्लाने की आवाज भी सुनाई दे रही है. बता दें हाल ही में संसद द्वारा पारित और राष्ट्रपति द्वारा अनुमोदित किए गए कृषि बिलों को लेकर विपक्ष विरोध कर रहा है वहीं केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा किसानों के बीच इस कानून को लेकर उपजे संशय को लेकर विभिन्न जागरुकता कार्यक्रम आयोजित कर रही है.

विपक्ष कर रहा है कानूनों का विरोध
बता दें कृषि से संबंधित इन कानूनों को लेकर विपक्ष लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहा है. इन कानूनों के विरोध में पंजाब सरकार विधानसभा के विशेष सत्र में विधेयक पेश कर चुकी है वहीं राजस्थान भी इसके खिलाफ विधेयक लाने की तैयारी में है.

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र और पंजाब के बाद बंगाल में BJP को झटका, बिमल गुरुंग NDA से हुए अलग

पंजाब के बाद राजस्थान में भी विधेयक लाने की तैयारी
पंजाब विधानसभा ने मंगलवार को केन्द्र के नये कृषि कानूनों को खारिज करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया और चार विधेयक पारित करते हुए कहा कि यह संसद द्वारा बनाए गए कानूनों की काट साबित होंगे. पंजाब की अमरिंदर सिंह नीत सरकार द्वारा आहूत विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन पांच घंटे से भी ज्यादा समय तक चली चर्चा के बाद विधेयक पारित किए गए और प्रस्ताव स्वीकार किया गया.

ये भी पढ़ें-उपचुनाव: ‘आइटम’ बयान कमलनाथ के लिए बना मुसीबत, चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि राजस्थान सरकार भी केंद्र द्वारा हाल ही में पारित कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ विधेयक लाएगी और इसके लिए जल्द ही राज्य विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाएगा.





Source link

Pm Narendra Modi Will Give Good Wishes On Durga Puja Today, Will Be Broadcast Live In Every Booth Of West Bengal – पीएम नरेंद्र मोदी दुर्गा पूजा पर आज देंगे शुभेच्छा संदेश, पश्चिम बंगाल के हर बूथ में होगा लाइव प्रसारण


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल के लोगों के लिए दुर्गा पूजा के अवसर पर होने वाले पूजोर शुभेच्छा कार्यक्रम का लाइव प्रसारण प्रत्येक बूथ पर किया जाएगा। भाजपा ने राज्य की सभी 294 सीटों पर कार्यक्रम के प्रसारण की व्यापक तैयारियां की हैं। पीएम दोपहर 12 बजे वीडियो कांफ्रेंस ने माध्यम से दुर्गा पूजा उत्सव की शुरुआत पर लोगों को शुभेच्छा संदेश देंगे।  

पार्टी सूत्रों ने बताया, राज्य के 78 हजार मतदान केंद्रों में हर केंद्र पर 25 से अधिक कार्यकर्ता व समर्थक उचित दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम को देखेंगे और सुनेंगे। इस कार्यक्रम के तहत कोलकाता के पूर्व क्षेत्रीय सांस्कृतिक केंद्र में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। सुबह दस बजे होने वाले कार्यक्रम में बंगाल भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे। दरअसल, राज्य में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं।

सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ राज्य में भाजपा एक मजबूत दल के तौर पर उभरी है। भाजपा को भरोसा है कि वह अगले चुनाव में पार्टी जोरदार जीत दर्ज करेगी। पिछले लोकसभा चुनाव में राज्य की 18 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी, जबकि तृणमूल कांग्रेस को 22 सीटों पर विजय हासिल हुई थी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल के लोगों के लिए दुर्गा पूजा के अवसर पर होने वाले पूजोर शुभेच्छा कार्यक्रम का लाइव प्रसारण प्रत्येक बूथ पर किया जाएगा। भाजपा ने राज्य की सभी 294 सीटों पर कार्यक्रम के प्रसारण की व्यापक तैयारियां की हैं। पीएम दोपहर 12 बजे वीडियो कांफ्रेंस ने माध्यम से दुर्गा पूजा उत्सव की शुरुआत पर लोगों को शुभेच्छा संदेश देंगे।  

पार्टी सूत्रों ने बताया, राज्य के 78 हजार मतदान केंद्रों में हर केंद्र पर 25 से अधिक कार्यकर्ता व समर्थक उचित दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम को देखेंगे और सुनेंगे। इस कार्यक्रम के तहत कोलकाता के पूर्व क्षेत्रीय सांस्कृतिक केंद्र में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। सुबह दस बजे होने वाले कार्यक्रम में बंगाल भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे। दरअसल, राज्य में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं।

सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ राज्य में भाजपा एक मजबूत दल के तौर पर उभरी है। भाजपा को भरोसा है कि वह अगले चुनाव में पार्टी जोरदार जीत दर्ज करेगी। पिछले लोकसभा चुनाव में राज्य की 18 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी, जबकि तृणमूल कांग्रेस को 22 सीटों पर विजय हासिल हुई थी। 



Source link

questions on umpires decisions in this season of ipl 2020 which remained controversial | धोनी के विरोध पर अंपायर ने वाइड बॉल का फैसला पलटा; पंजाब के रन कटे, खिलाड़ी भी आपस में भिड़े


दुबईएक घंटा पहले

यह फोटो उस वक्त की है जब अंपायर पॉल वाइड बॉल का इशारा करने ही वाले थे कि धोनी का रिएक्शन देख उन्होंने अपना फैसला बदल दिया। हालांकि, बाद में इस पर बवाल भी हुआ।

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के इस सीजन में अब तक कई कॉन्ट्रोवर्सी देखने को मिलीं। टूर्नामेंट में अंपायरों के कई फैसलों पर सवाल उठे, जिस पर लोगों ने नाराजगी जाहिर की। चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान धोनी के विरोध पर वाइड बॉल का फैसला पलटने से लेकर, राजस्थान के टॉम करन को डग आउट से वापस बुलाने तक अंपायरिंग कई बार विवादों में रही।

भारत के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर और एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा के बीच हुई सोशल मीडिया वॉर भी लोगों में चर्चा का विषय बनी रही। इस सीजन की पांच कॉन्ट्रोवर्सी इस प्रकार हैं

CSK vs SRH (मैच नंबर-29) : शार्दूल की गेंद को वाइड देने जा रहे अंपायर ने धोनी का रिएक्शन देख फैसला बदला।

CSK vs SRH (मैच नंबर-29) : शार्दूल की गेंद को वाइड देने जा रहे अंपायर ने धोनी का रिएक्शन देख फैसला बदला।

1. धोनी के रिएक्शन पर अंपायर ने फैसला बदला

CSK vs SRH (मैच नंबर-29) : चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेले गए 29वें मैच में वाइड बॉल को लेकर विवाद हो गया। हैदराबाद की पारी के 19वें ओवर में चेन्नई के शार्दूल ठाकुर की एक बॉल, ऑफ स्टम्प के काफी बाहर पिच हुई। अंपायर पॉल रफेल ने इसे वाइड देने के लिए हाथ उठाया, लेकिन CSK के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का रिएक्शन देखकर उन्होंने तुरंत अपने हाथ वापस खींच लिए। चेन्नई ने इस मैच में हैदराबाद को 20 रन से हराया था।

DC vs KXIP (मैच नंबर-2) : लीग के दूसरे मैच में क्रिस जॉर्डन ने दो रन लेने की कोशिश की। उन्होंने स्ट्राइकर एंड पर क्रीज के अंदर बैट रखा, पर अंपायर ने एक ही रन दिया। मैच सुपर ओवर में गया और पंजाब मैच हार गई।

DC vs KXIP (मैच नंबर-2) : लीग के दूसरे मैच में क्रिस जॉर्डन ने दो रन लेने की कोशिश की। उन्होंने स्ट्राइकर एंड पर क्रीज के अंदर बैट रखा, पर अंपायर ने एक ही रन दिया। मैच सुपर ओवर में गया और पंजाब मैच हार गई।

2. मयंक-जॉर्डन के रन को लेकर विवाद

DC vs KXIP (मैच नंबर-2) : दिल्ली ने पहले बैटिंग करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 157 रन बनाए। जवाब में पंजाब की टीम भी 157 रन ही बना पाई और मैच सुपर ओवर में चला गया। पंजाब की बैटिंग के दौरान 19वें ओवर की तीसरी बॉल पर मयंक अग्रवाल और क्रिस जॉर्डन ने 2 रन लिए थे।

हालांकि, अंपायर नितिन मेनन ने एक रन दिया। उनका मानना था कि जॉर्डन ने पहला रन लेने के दौरान बैट क्रीज के अंदर नहीं रखा था और रन पूरा नहीं किया। वहीं, टीवी रिप्ले में साफतौर पर बैट क्रीज के अंदर रखा दिखा। अंतिम ओवर में पंजाब को जीत के लिए 13 रन चाहिए थे और टीम सिर्फ 12 रन ही बना सकी और मैच सुपर ओवर में चला गया। सुपर ओवर में दिल्ली ने पंजाब को आसानी से हरा दिया।

RR vs CSK (मैच नंबर-4) : आउट होने के बाद डग आउट की तरफ जा रहे राजस्थान के टॉम करन को अंपायर ने वापस बैटिंग के लिए बुलाया।

RR vs CSK (मैच नंबर-4) : आउट होने के बाद डग आउट की तरफ जा रहे राजस्थान के टॉम करन को अंपायर ने वापस बैटिंग के लिए बुलाया।

राजस्थान के पास रिव्यू नहीं रहने के बावजूद थर्ड अंपायर को डिसीजन रेफर किए जाने पर धोनी नाराज हो गए थे।

राजस्थान के पास रिव्यू नहीं रहने के बावजूद थर्ड अंपायर को डिसीजन रेफर किए जाने पर धोनी नाराज हो गए थे।

3. डग आउट से बैट्समैन को वापस बुलाया

RR vs CSK (मैच नंबर-4) : चेन्नई के खिलाफ राजस्थान की पारी के 18वें ओवर में दीपक चाहर की 5वीं बॉल पर अंपायर सी. शमशुद्दीन ने टॉम करन को कैच आउट करार दिया। करन ने अंपायर के इस फैसले पर नाराजगी जाहिर की। राजस्थान के पास रिव्यू नहीं बचे थे, इसलिए करन डग आउट की तरफ जाने लगे।

इस बीच अंपायर ने आपस में सलाह-मशवरा कर निर्णय थर्ड अंपायर को रेफर कर दिया। रिव्यू न रहने के बावजूद भी डिसीजन थर्ड अंपायर को रेफर किए जाने पर धोनी ने अंपायरों से जाकर बातचीत भी की। थर्ड अंपायर ने जब वीडियो रिप्ले देखा, तो उसमें बॉल और बैट के बीच कोई संपर्क नहीं दिखा। वहीं, धोनी ने भी कैच ठीक से नहीं लपका था। अंपायर ने तुरंत अपना निर्णय वापस लिया और टॉम करन को वापस बैटिंग के लिए बुलाया।

RR vs SRH (मैच नंबर-26) : हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर और राजस्थान के राहुल तेवतिया के बीच तीखी बहस हुई। अंपायर और साथी खिलाड़ियों को बीच-बचाव के लिए आना पड़ा।

RR vs SRH (मैच नंबर-26) : हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर और राजस्थान के राहुल तेवतिया के बीच तीखी बहस हुई। अंपायर और साथी खिलाड़ियों को बीच-बचाव के लिए आना पड़ा।

4. तेवतिया की वॉर्नर और खलील से बहस

RR vs SRH (मैच नंबर-26) : लीग के 26वें मैच में राजस्थान रॉयल्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मैच में 5 विकेट से शिकस्त दी। इस मैच में राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाड़ियों के बीच तीखी बहस देखने को मिली।

राजस्थान के राहुल तेवतिया और हैदराबाद के खलील के बीच बहस हो चुकी थी, जो हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर को ठीक नहीं लगी। इसके बाद तेवतिया, वॉर्नर और खलील तीनों के बीच बहस देखने को मिली। अंपायर और साथी खिलाड़ियों ने बीच-बचाव करके मामला संभाला।

सुनील गावस्कर ने विराट कोहली पर एक टिप्पणी की थी। इस पर कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा भड़क गईं।

सुनील गावस्कर ने विराट कोहली पर एक टिप्पणी की थी। इस पर कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा भड़क गईं।

5. गावस्कर का कोहली और अनुष्का पर विवादास्पद बयान

RCB vs KXIP (मैच नंबर- 6) : इस सीजन का 6वां मैच RCB और पंजाब के बीच में खेला गया। मैच में RCB के कप्तान कोहली का प्रदर्शन खराब रहा था। उन्होंने दो कैच भी छोड़े थे। इसके बाद कमेंट्री करते वक्त गावस्कर ने कहा था- कोहली ने लॉकडाउन में सिर्फ अनुष्का की बॉलिंग की प्रैक्टिस की। उससे तो कुछ नहीं बनना है।

दरअसल, कोहली और उनकी पत्नी अनुष्का का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें लॉकडाउन के दौरान अनुष्का कोहली को बॉलिंग करती हुई दिखीं थीं। गावस्कर इसी वीडियो की बात कर रहे थे।



Source link

First Time Voter? Learn How To Use EVM & VVPAT In Bihar Assembly Elections 2020



The Bihar Assembly Elections for 243 constituencies will be held in three phases with first of the three phase polling to be held on October 28. The polling for the second and the third phase will be conducted on November 3 and 7 while the results are expected to be out on November 10. The elections will be conducted through Electronic Voting Machines (EVMs) and Voter Verified Paper Audit Trail (VVPAT). ALSO READ | CM Nitish Kumar Loses Cool After People Raise ‘Lalu Zindabad’ Slogans At His Election Rally In Parsa

Introduced in 1982, Electronic Voting Machines have been in use to conduct both general and assembly elections. The EVM has two parts – a control unit with the polling officer and a balloting unit inside the voting compartment for voters to record their votes. These units are joined together by a cable.

The control unit of the EVM is kept with the presiding officer or the polling officer while the balloting unit is kept within the voting compartment for electors to cast their votes. This is done to ensure that the polling officer verifies your identity.

The Voter Verified Paper Audit Trail, on the other hand is a later addition to the EVMs which provides a visual verification to the voter after the vote is cast.

Steps To Follow While Casting Vote

Step 1: As described the Election Commission of India, the polling officer instead of issuing a ballot paper, presses the Ballot Button on the EVM which enables the voter to cast their vote.

Step 2: A list of candidates names and/or symbols will be available on the machine with a blue button next to it.

Step 3: The votes has to simply press the button next to the candidate’s name they wish to vote for.

How Does VVPAT Work?

The VVPAT system attached to the EVM generates a paper slip and displays it for 7 seconds to allow the voter to verify that their vote is cast correctly before the slip drops into a sealed box.

After polling when the votes are counted, the printed VVPAT slips from 5 randomly selected polling stations in each Assembly Constituency are matched against the EVM results.

The final result for the constituency is declared after the VVPAT matching process is completed.

In case of a discrepancy between the VVPAT count and the EVM results, the printed paper slips count is taken as final as per the Conduct of Elections Rules, 1961.



Source link

IPL 2020 KKR vs RCB Bangalore beat KKR badly by 8 wickets with deadly bowling – बैंगलोर ने घातक गेंदबाजी के दमपर केकेआर को बुरी तरह 8 विकेट से हराया



KKR VS RCB - India TV Hindi

Image Source : IPLT20.COM
KKR VS RCB 

अबू धाबी। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने शेख जाएद स्टेडियम में खेले गए मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स पर बेहद आसान जीत हासिल की। 


बेंगलोर ने अपनी बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर कोलकाता को 20 ओवरों में आठ विकेट पर 84 रनों से आगे नहीं जाने दिया। यह आसान सा लक्ष्य बेंगलोर जैसी इन-फॉर्म टीम के लिए मुश्किल नहीं था। बेंगलोर ने 13.3 ओवरों में इस आसान से लक्ष्य को हासिल कर लिया।

बेंगलोर के गेंदबाजों ने इस मैच में जो गेंदबाजी दिखाई उसे सीजन की सबसे बेहतरीन गेंदबाजी भी कहा जा सकता है, हालांकि कोलकाता के बल्लेबाजों का गलत शॉट सिलेक्शन भी इसकी वजह रहा जिसके कारण इस सीजन का सबसे कम स्कोर का रिकार्ड कोलकाता के हिस्से आया।

मोहम्मद सिराज ने बेंगलोर को आक्रामक शुरुआत दिलाई और दूसरे ओवर में ही राहुल त्रिपाठी (1) और नीतीश राणा (0) को पवेलियन में बैठा दिया। सिराज हैट्रिक से चूक गए।

अच्छी शुरुआत न मिलने का टीम पर दबाव था, लेकिन शुभमन गिल पर इसका असर नहीं पड़ा जिसका खामियाजा गिल और टीम दोनों को भुगतना पड़ा। नवदीप सैनी की गेंद पर गिल ने गलत शॉट खेला और क्रिस मौरिस ने उनका कैच पकड़ा। गिल भी सिर्फ एक रन बना सके।

चोटिल आंद्रे रसेल की जगह इस मैच में टीम में आए टॉम बेंटन उन चुंनिदा बल्लेबाजों में से रहे जो कोलकाता की तरफ से दहाई के आंकड़े में पहुंच सके, लेकिन बेंटन 10 रनों से आगे नहीं जा सके। बेंटन, सिराज का तीसरा शिकार बने।

स्पिन के अच्छे बल्लेबाज माने जाने वाले दिनेश कार्तिक (4) युजवेंद्र चहल की फिरकी में फंस गए। यही हाल हुआ पैट कमिंस (4) का। वह भी चहल का शिकार बने।

कप्तान इयोन मोर्गन के ऊपर सारी जिम्मेदारी आ गई थी, लेकिन वॉशिंगटन सुंदर ने मोर्गन को आउट कर कोलकाता की 100 के पार जाने की उम्मीदों को बड़ा झटका दिया। मोर्गन टीम के सर्वोच्च स्कोरर रहे जिन्होंने 30 रन बनाए।

IPL 2020 : घातक गेंदबाजी से इस कारनामे को अंजाम देने वाले पहले गेंदबाज बने सिराज

मोर्गन के जाने के बाद कुलदीप यादव (12) और लॉकी फग्र्यूसन (नाबाद 19) ने लड़ाई लड़ी, लेकिन वह टीम को 100 के पार नहीं पहुंचा पाए।

सिराज ने बेंगलोर के लिए तीन विकेट लिए। चहल के हिस्से दो विकेट आए। सैनी और सुंदर को एक-एक सफलता मिली।

इस आसान से लक्ष्य के सामने बेंगलोर की इन-फॉर्म सलामी जोड़ी देवदत्त पडिकल और एरॉन फिंच ने अच्छी शुरुआत की। कोलकाता को पहली सफलता दिलाई पिछले मैच के हीरो फग्र्यूसन ने। उन्होंने फिंच को 45 के कुल स्कोर पर आउट किया। फिंच ने 16 रन बनाए।

IPL 2020, KKR vs RCB : बुरी तरह हार के बाद कप्तान मॉर्गन ने बताया, कहाँ हुई टीम से चूक

पडिकल, गुरकीरत मान के साथ हुई गलतफहमी में रन आउट हो गए। उन्होंने 17 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 25 रन बनाए।

इसके बाद गुरकीरत (नाबाद 21) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 18) ने मिलकर टीम को जीत दिलाई।

कोरोना से जंग : Full Coverage





Source link

Capt Amarinder Singh Said, I Will Always Fight To Protect The Rights Of Farmers – केंद्र चाहे तो मुझे बर्खास्त कर दे, मैं डरने वाला नहीं, दो बार पहले भी दे चुका हूं इस्तीफा: अमरिंदर सिंह


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़

Updated Wed, 21 Oct 2020 10:12 PM IST

कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
– फोटो : @capt_amarinder

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को पंजाब सरकार ने विधासनभा में विधेयक पारित कर रद्द कर दिया है। वहीं पंजाब में इस मुद्दे पर राजनीति भी गर्म है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को फिर कृषि कानूनों को लेकर बड़ा बयान दिया है। कैप्टन ने कहा कि केंद्र सरकार उनकी सरकार को बर्खास्त कर देती है तो उनको इसकी कोई परवाह नहीं है लेकिन वह आखिरी दम तक किसानों के हकों की रक्षा के लिए लड़ते रहेंगे।

एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि केंद्र सोचता है कि मैंने कुछ गलत किया है तो वह मुझे बर्खास्त कर सकते हैं। मैं डरने वाला नहीं हूं। मैं पहले भी दो बार इस्तीफा के चुका हूं। तीसरी बार भी दे सकता हूं। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कानूनी तौर पर बहुत से रास्ते मौजूद हैं लेकिन उन्हें उम्मीद है कि राज्यपाल अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। राष्ट्रपति राज्य के लोगों की भावनाओं और अपील को दरकिनार नहीं कर सकते।

अकालियों और आप के दोहरे किरदार से हैरान हूं : कैप्टन 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राज्य विधेयकों को लेकर शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी के दोहरे किरदार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ये दोनों दल विधानसभा में इन विधेयकों का समर्थन करने के कुछ घंटों बाद ही इनकी निंदा करने लगे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह इस बात से हैरान हैं कि विरोधी पक्षों के नेता विधानसभा में विधेयकों के हक में बोले और यहां तक कि राज्यपाल से मिलने भी साथ गए लेकिन अब बाहर कुछ और ही बोल रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों ने इन विधेयकों के खिलाफ कुछ भी नहीं कहा, जिनके हितों की सुरक्षा और राज्य के कृषि क्षेत्र को बचाने के लिए यह बनाए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे स्पष्ट है कि इन पार्टियों की किसानों के भविष्य की रक्षा और राज्य की कृषि और अर्थव्यवस्था बचाने में कोई रूचि नहीं है। सदन में विधेयक पास होने के बाद इन पार्टियों के नेताओं द्वारा की गई बयानबाजी ने किसानों के मुद्दे के प्रति इनके गंभीर न होने का सच सामने लाया है। कैप्टन ने कहा कि आम आदमी पार्टी को पंजाब जैसे विधेयक दिल्ली में भी लाने चाहिए। 

मैं लोगों को मूर्ख बना रहा हूं तो सदन में क्यों नहीं बोले : कैप्टन

अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया और आम आदमी पार्टी नेतृत्व के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कैप्टन ने कहा कि यदि वह सोचते हैं कि मैं और मेरी सरकार लोगों को मूर्ख बना रहे हैं तो फिर उन्होंने सदन में यह बात क्यों नहीं कही। उन्होंने हमारे विधेयकों का समर्थन करते हुए वोट क्यों दिया। इन दोनों राजनीतिक दलों के नेताओं ने मुख्यमंत्री पर विधेयकों को राज्यपाल/राष्ट्रपति द्वारा दस्तखत न करने की संभावना के बारे की गई टिप्पणी का हवाला देते हुए लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है।

कैप्टन ने कहा कि यदि मुझे लोगों को मूर्ख बनाना होता तो मैं ईमानदारी से उनके साथ अपनी आशंकाएं साझा क्यों करता। मैं उनको झूठ परोसने के बजाय आगे आने वाली परिस्थितियों के बारे में खुलकर बात क्यों करता, जबकि अकाली और आप झूठ बोलने के पहले से ही आदी हैं।

सदन में लहराईं अखबारों की प्रतियां

इससे पहले बुधवार को सदन में मुख्यमंत्री ने मजीठिया के बयान वाले अखबारों की कापियां लहराईं और चुटकी लेते हुए कहा कि ये लोग सदन में कुछ और कहते हैं और बाहर कुछ और। उन्होंने कहा कि इस तरह का रवैया अपनाने से लोग राजनीतिज्ञों की ईमानदारी पर संदेह प्रकट करना शुरू कर देंगे। मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कैप्टन ने कहा कि वह खुश हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू सदन में आए और कृषि विधेयकों पर अच्छी बहस की।

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को पंजाब सरकार ने विधासनभा में विधेयक पारित कर रद्द कर दिया है। वहीं पंजाब में इस मुद्दे पर राजनीति भी गर्म है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को फिर कृषि कानूनों को लेकर बड़ा बयान दिया है। कैप्टन ने कहा कि केंद्र सरकार उनकी सरकार को बर्खास्त कर देती है तो उनको इसकी कोई परवाह नहीं है लेकिन वह आखिरी दम तक किसानों के हकों की रक्षा के लिए लड़ते रहेंगे।

एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि केंद्र सोचता है कि मैंने कुछ गलत किया है तो वह मुझे बर्खास्त कर सकते हैं। मैं डरने वाला नहीं हूं। मैं पहले भी दो बार इस्तीफा के चुका हूं। तीसरी बार भी दे सकता हूं। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कानूनी तौर पर बहुत से रास्ते मौजूद हैं लेकिन उन्हें उम्मीद है कि राज्यपाल अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। राष्ट्रपति राज्य के लोगों की भावनाओं और अपील को दरकिनार नहीं कर सकते।

अकालियों और आप के दोहरे किरदार से हैरान हूं : कैप्टन 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राज्य विधेयकों को लेकर शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी के दोहरे किरदार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ये दोनों दल विधानसभा में इन विधेयकों का समर्थन करने के कुछ घंटों बाद ही इनकी निंदा करने लगे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह इस बात से हैरान हैं कि विरोधी पक्षों के नेता विधानसभा में विधेयकों के हक में बोले और यहां तक कि राज्यपाल से मिलने भी साथ गए लेकिन अब बाहर कुछ और ही बोल रहे हैं।



Source link

अब महाराष्ट्र में जांच नहीं कर पाएगी CBI, उद्धव सरकार ने लगाई रोक


उद्धव सरकार का नया फैसला. (फाइल फोटो)

उद्धव सरकार का नया फैसला. (फाइल फोटो)

सरकार ने केंद्रीय जांच एजेंसी को दी गई सहमति वापस ले ली है. अब सीबीआई को राज्य में किसी भी मामले की जांच के लिए पहले महाराष्ट्र सरकार से अनुमति लेनी होगी. इससे पहले राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल जैसे गैर बीजेपी शासित राज्य ऐसा निर्णय ले चुके हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 21, 2020, 10:20 PM IST

मुंबई. उद्धव ठाकरे सरकार ने बुधवार को महाराष्ट्र में किसी भी मामले में सीबीआई जांच पर रोक लगा दी. सरकार ने केंद्रीय जांच एजेंसी को दी गई सहमति वापस ले ली है. अब सीबीआई को राज्य में किसी भी मामले की जांच के लिए पहले महाराष्ट्र सरकार से अनुमति लेनी होगी. इससे पहले राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल जैसे गैर बीजेपी शासित राज्य ऐसा निर्णय ले चुके हैं.

सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस की जांच नहीं होगी प्रभावित
अधिकारियों का कहना है कि महाराष्ट्र सरकार का ये निर्णय सुशांत सिंह राजपूत केस के लिए प्रभावी नहीं होगा. इसका कारण ये है कि सुशांत मामले में जांच सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर से की जा रही है. इस मामले में सीबीआई को राज्य सरकार की अनुमति की जरूरत नहीं है. दरअसल बुधवार को महाराष्ट्र सरकार का ये निर्णय यूपी पुलिस द्वारा टीआरपी स्कैम केस में एफआईआर दर्ज किए जाने के एक दिन बाद लिया गया है. यूपी सरकार ने इस केस को सीबीआई को हैंडोवर कर दिया है.

टीआरपी स्कैम केस में रिपब्लिक टीवी के नाम को लेकर मच चुका है घमासानमहाराष्ट्र सरकार ने इसे टीआरपी स्कैम जांच के बीच में सीबीआई के दखल के तौर पर देखा है. महाराष्ट्र के सत्ताधारी गठबंधन सीबीआई द्वारा केस दर्ज करने को रिपब्लिक टीवी के खिलाफ जांच को कमजोर करने वाला बताया है. गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में टीआरपी स्कैम को लेकर रिपब्लिक टीवी के खिलाफ जांच शुरू होने के बाद काफी विवाद हुआ है. मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी का नाम उन तीन चैनलों में रखा है जो टीआरपी घोटाले में शामिल थे.





Source link

Police Commemoration Day 2020 News: Amit Shah And Others Pay Tribute At National Police Memorial – Police Commemoration Day 2020: गृह मंत्री अमित शाह समेत इन मुख्यमंत्रियों ने शहीद पुलिस कर्मियों को किया याद


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Wed, 21 Oct 2020 12:51 PM IST

पुलिस स्मरणोत्सव दिवस 2020: अमित शाह ने दी श्रद्धांजलि
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

Police Commemoration Day 2020: 21 अक्तूबर को हर साल पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है और पूरा देश साल 1959 में पूर्वी लद्दाख में शहीद हुए दस पुलिस जवानों को याद करता है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी राष्ट्रीय पुलिस स्मारक में शहीद पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि दी। 

पुलिस जवानों को याद करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अब तक 35,398 कर्मियों ने शहादत दी है, मैं सभी शहीदों के परिवार जनों को कहना चाहता हूं कि ये स्मारक सिर्फ ईंट, पत्थर और सीमेंट से बना स्मारक नहीं है। इसके अलावा अमित शाह ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के दौरान 343 पुलिसकर्मियों ने अपनी जान दे दी है। उन्होंने कोरोना योद्धाओं की तरह देश की रक्षा की और कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने में मदद की।  

 


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने शहीदों को किया नमन

पुलिस स्मारक दिवस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शहीद पुलिस जवानों को याद किया। उन्होंने कहा कि मैं यूपी के उन नौ पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजिल अर्पित करता हूं, जिन्होंने साल 2019-20 में अपनी सेवा करते हुए जान दे दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन लोगों का बलिदान सभी को प्रेरित करता है।
 

उद्धव ठाकरे और जगनमोहन रेड्डी ने दी श्रद्धांजलि

पुलिस स्मारक दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी पुलिस जवानों को याद किया। नायगांव के पुलिस मुख्यालय में मुख्यमंत्री ने उन पुलिसकर्मियों को याद किया, जिन्होंने देश के प्रति अपनी सेवा देते हुए जान गंवाई। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने भी विजयवाड़ा में पुलिस स्मारक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

Police Commemoration Day 2020: 21 अक्तूबर को हर साल पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है और पूरा देश साल 1959 में पूर्वी लद्दाख में शहीद हुए दस पुलिस जवानों को याद करता है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी राष्ट्रीय पुलिस स्मारक में शहीद पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि दी। 

पुलिस जवानों को याद करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अब तक 35,398 कर्मियों ने शहादत दी है, मैं सभी शहीदों के परिवार जनों को कहना चाहता हूं कि ये स्मारक सिर्फ ईंट, पत्थर और सीमेंट से बना स्मारक नहीं है। इसके अलावा अमित शाह ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के दौरान 343 पुलिसकर्मियों ने अपनी जान दे दी है। उन्होंने कोरोना योद्धाओं की तरह देश की रक्षा की और कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने में मदद की।  

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने शहीदों को किया नमन

पुलिस स्मारक दिवस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शहीद पुलिस जवानों को याद किया। उन्होंने कहा कि मैं यूपी के उन नौ पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजिल अर्पित करता हूं, जिन्होंने साल 2019-20 में अपनी सेवा करते हुए जान दे दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन लोगों का बलिदान सभी को प्रेरित करता है।
 

उद्धव ठाकरे और जगनमोहन रेड्डी ने दी श्रद्धांजलि

पुलिस स्मारक दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी पुलिस जवानों को याद किया। नायगांव के पुलिस मुख्यालय में मुख्यमंत्री ने उन पुलिसकर्मियों को याद किया, जिन्होंने देश के प्रति अपनी सेवा देते हुए जान गंवाई। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने भी विजयवाड़ा में पुलिस स्मारक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।





Source link

Coronavirus Outbreak India Cases LIVE Updates; Maharashtra Pune Madhya Pradesh Indore Rajasthan Uttar Pradesh Haryana Punjab Bihar Novel Corona (COVID 19) Death Toll India Today Mumbai Delhi Coronavirus News | IIT खड़गपुर के ‘कोविडरैप’ को ICMR का ग्रीन सिग्नल, 500 रु. की किट से एक घंटे में मिलेगा टेस्ट रिजल्ट


  • Hindi News
  • National
  • Coronavirus Outbreak India Cases LIVE Updates; Maharashtra Pune Madhya Pradesh Indore Rajasthan Uttar Pradesh Haryana Punjab Bihar Novel Corona (COVID 19) Death Toll India Today Mumbai Delhi Coronavirus News

नई दिल्ली19 मिनट पहले

यह फोटो नई दिल्ली की है। बुधवार को न्यू पुलिस लाइन ग्राउंड पर हुई पुलिस परेड में शामिल जवान भी मास्क पहने नजर आए। दिल्ली में संक्रमितों का आंकड़ा 3 लाख 36 हजार से ज्यादा हो चुका है।

  • देश में संक्रमितों का आंकड़ा 76 लाख के पार, 67.91 लाख लोग ठीक हुए
  • अब तक 1.15 लाख से ज्यादा मौतें, 7.40 लाख मरीजों का चल रहा इलाज

ICMR ने IIT खड़गपुर द्वारा तैयार की गई कोविडरैप टेस्ट किट को हरी झंडी दे दी है। इसकी लागत 500 रु है। इस किट से एक घंटे में रिजल्ट मिल जाएगा। IIT खड़गपुर के निदेशक प्रोफेसर वी.के. तिवारी ने कहा, “यह यकीनन चिकित्सा विज्ञान के इतिहास, खासकर वायरोलॉजी के क्षेत्र में सबसे अहम योगदानों में से एक है। यह एक बड़े पैमाने पर PCR आधारित टेस्ट की जगह लेने के लिए भी तैयार है।”

लगातार तीसरे दिन भी एक्टिव केस की संख्या 7.5 लाख से कम रही

वहीं, संक्रमण के नए मामले कम हो रहे हैं। एक्टिव केस (ऐसे मरीज जिनका इलाज चल रहा है) भी तेजी से घटने लगे हैं। डेढ़ महीने में एक्टिव मरीजों की संख्या में करीब 2 लाख से ज्यादा की कमी देखी गई। लगातार तीसरे दिन भी एक्टिव केस की संख्या 7.5 लाख से कम रही। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में 64% एक्टिव केस सिर्फ 6 राज्यों में हैं। इनमें 50% महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल में हैं। बाकी के दूसरे राज्यों में हैं।

देश में कोरोना का आंकड़ा 76 लाख के पार हो गया है। अब तक 76 लाख 48 हजार 373 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। 24 घंटे में 54 हजार 404 नए केस मिले, 61 हजार 933 लोग रिकवर हुए और 714 मरीजों की मौत हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में डेथ रेट 1% से कम है। वहीं, नेशनल डेथ रेट घटकर 1.51% हो गया है। अब तक1 लाख 15 हजार 939 लोगों की जान गई है।

रिकवरी के मामले में भारत दुनिया में सबसे आगे

रिकवरी के मामले में भारत पूरी दुनिया में सबसे आगे हैं। यहां सबसे ज्यादा 67 लाख 91 हजार 113 लोग ठीक हो चुके हैं। टेस्टिंग के मामले में भारत दूसरे नंबर पर है। यहां अब तक 9.60 करोड़ से ज्यादा लोगों की जांच हो चुकी है।

लगातार घट रहे हैं एक्टिव केस

कोरोना अपडेट्स

  • दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा कि प्लाजमा थेरेपी के चलते मुझे समेत 2 हजार से ज्यादा लोगों की जान बच सकी है। यूएस ने भी इसे सही ठहराया है। इसलिए आईसीएमआर को इसे कोविड-19 के इलाज से हटाना नहीं चाहिए।
  • महाराष्ट्र सरकार ने मास्क के लिए कीमत तय कर दी है। अब यहां डबल और ट्रिपल लेयर वाले मास्क 3 से 4 रु. में बेचे जाएंगे। वहीं, एन95 मास्क की कीमत 19 से 49 रु. के बीच होगी। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इसका ऐलान किया।
  • तेलंगाना में बीते 24 घंटों में 1811 संक्रमित ठीक हुए हैं। अब राज्य में स्वस्थ हुए मरीजों की संख्या 2 लाख 4 हजार 388 हो गई है। राज्य में रिकवरी रेट 90.38 प्रतिशत हो गई है, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर ये आंकड़ा 88.8 फीसदी है। बीते 24 घंटों में यहां 1579 नए मामले सामने आए। राज्य में अब तक 2 लाख 26 हजार 124 संक्रमित मिले हैं।

पांच राज्यों का हाल

1. मध्यप्रदेश

राज्य में बीते 24 घंटे में 975 नए केस मिले और 1439 लोग रिकवर हुए। 25 मरीजों की मौत हो गई। अब तक 1 लाख 62 हजार 178 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनमें 12 हजार 507 मरीजों का अभी इलाज चल रहा है, जबकि 1 लाख 46 हजार 860 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के चलते अब तक 2811 लोगों की मौत हो चुकी है।

2. राजस्थान

राज्य में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 लाख 77 हजार 123 हो गया है। बीते 24 घंटे के अंदर 1897 नए संक्रमित मिले। अभी 20 हजार 254 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 1 लाख 55 हजार 95 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 1774 हो गई है।

3. बिहार

राज्य में संक्रमण के चलते जान गंवाने वालों का आंकड़ा 1 हजार के पार हो गया। अब तक 1011 लोग जान गंवा चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 8 संक्रमितों की मौत हुई। 1837 नए मरीज मिले और 1100 लोग रिकवर हुए। अब तक 2 लाख 6 हजार 961 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें 11 हजार 60 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 1 लाख 94 हजार 889 लोग ठीक हो चुके हैं।

4. महाराष्ट्र

24 घंटे में राज्य में 8151 लोग संक्रमित पाए गए। 7429 लोग ठीक हुए और 213 मरीजों की मौत हो गई। अब तक 16 लाख 9 हजार 516 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनमें 1 लाख 74 हजार 268 मरीजों का अभी इलाज चल रहा है, जबकि 13 लाख 92 हजार 308 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के चलते अब तक 42 हजार 453 लोगों की मौत हो चुकी है।

5. उत्तरप्रदेश

प्रदेश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 4 लाख 59 हजार 154 हो गया है। पिछले 24 घंटे में 2289 नए मरीज मिले, 3339 लोग ठीक हुए और 29 मरीजों की मौत हो गई। अभी 30 हजार 426 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 4 लाख 22 हजार 24 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के चलते अब तक 6714 मरीजों की मौत हो चुकी है।



Source link

Social Distancing Goes For A Toss In Bihar Polls Campaigning Despite PM Modi’s Warning Not To Drop Guards



New Delhi: In his seventh address to the nation on Tuesday after the Covid-19 outbreak in the country, Prime Minister Narendra Modi thoroughly cleared the fact that even if the lockdown has been lifted, the deadly virus is still there. ALSO READ | ‘Jab Tak Dawai Nahi, Tab Tak Dhilayi Nahi’: PM Modi Urges People To Stay Cautious

“In this festive season, markets are bright again but we need to remember that the lockdown might have ended but Covid-19 still persists. With efforts of every Indian over last 7-8 months, India is in a stable situation we must not let it deteriorate,” PM Modi said urging countrymen to take necessary precaution to contain the spread of Coronavirus.

Amid the ongoing pandemic, the state of Bihar is all set to exercise its right to vote for the upcoming Assembly elections. The 243-seat assembly will expire on October 29, 2020 following which a fresh cabinet will be formed to run the state.

The election campaigning in Bihar is currently in its full swing as all big and small political parties/ leaders are busy with their election rallies, gatherings and public meetings. However, these rallies witness Covid-19 norms going for a toss by  the people.

https://news.abplive.com/ Tejashwi Yadav during an election campaign rally. (Image: PTI)

Election rallies and gathering in Bihar are becoming more crowded day by day. The Covid-19 norms set by the Election Commission of India clearly states that crowd in public meetings and political rallies must not exceed 200 and social distancing of at least six feel should be maintained. However, all these rules are visibly being violated in several districts of Bihar.

ALSO READ | Bihar Elections 2020: Congress Releases ‘Badlav Patr 2020’; Promises To ‘Reject’ Centre’s Farm Laws If Voted To Power

Large crowds have been spotted at rallies recently addressed by Rashtriya Janata Dal (RJD) leader Tejashwi Yadav and Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi. Even the Union minister Nityanand Rai recently addressed a large crowd at Mahua in Vaishali district where a majority of those in the crowd did not wear a mask.

The local administration in Gaya even lodged an FIR against organisers of an event where Bharatiya Janata Party (BJP) national president J.P. Nadda was present for violating social distancing norms. Even when RJD leaders Tejaswi and Tej Pratap Yadav filed their nomination papers, they took out a mini-road show which was a clear violation of EC norms.

https://news.abplive.com/ Tejashwi Yadav during an election campaign rally. (Image: PTI)

Taking view of the gatherings and the rallies flouting Covid-19 precautions norms, the Election Commission on Wednesday finally warned the parties and the leaders. The election watchdog directed the parties to maintain crowd discipline and follow the guidelines issued.

The EC instructed the Bihar Chief Electoral Officer and its district machinery in the state to “invoke appropriate and relevant penal provisions” under the Disaster Management Act, and the Indian Penal Code against candidates found violating EC’s orders.

ALSO READ | Bihar Elections 2020: ‘Bihar Set To Be Ruined If Nitish Is Given One More Chance,’ Chirag Attacks Nitish Kumar

“Instances of such public meetings have come to notice of the Commission, where large numbers of crowds have assembled in utter violation of social distancing and the political leaders/campaigners are addressing the gathering without wearing masks in complete disregard of the guidelines/ instructions issued by Election Commission,” the Commission said on Wednesday.

“By doing so, the political parties and candidates are not only flouting the guidelines of the Commission with impunity, but exposing themselves as well as the public attending the rallies/meetings to the danger of infection during the pandemic… The Commission has taken a serious view of the laxity on the part of political parties and candidates, on the ground, in terms of maintaining crowd discipline, and hereby reiterates and further advises them to demonstrate utmost vigil and care during electioneering.,” the EC said.

https://news.abplive.com/ Nitish Kumar with Deputy CM Sushil Kumar Modi during an election rally. (Image: PTI)

It will be worth watching that will PM Modi’s appeal to countrymen not to be complacent and drop their guard in the fight against Covid-19 be an eye opener for politicians in Bihar, especially those from his own party and alliance.

Bihar Polls is India’s first full-fledged Assembly elections held amid Covid-19 pandemic and so far the EC guidelines for campaigning is only being visible in breach.

What is more interesting is the fact that Prime Minister himself is scheduled to to address his first rallies in the polls on October 23 which will be a mix of real and virtual campaigning. Will PM Modi and his party follow the social distancing norms or Bihar will end up emerging as a Covid-19 hotspot on the backdrop of this electioneering festival.



Source link

BJP को एक और झटका! अब NDA से अलग हुआ ये दल




बिमल गुरूंग ने आने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए अपने पत्ते खोलते हुए कहा कि बंगाल में 2021 के विधानसभा चुनाव में हम ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस का समर्थन करेंगे और भाजपा का विरोध करेंगे। 



Source link

Ipl 2020, Rcb Vs Kkr Live Cricket Score Match Today News Updates In Hindi – Rcb Vs Kkr Ipl 2020 Live Score: कोलकाता और बैंगलोर के बीच कांटे की टक्कर, कुछ देर बाद होगा टॉस


06:50 PM, 21-Oct-2020

अच्छी लय में आरसीबी

डीविलियर्स शानदार फॉर्म में चल रहे हैं और रॉयल्स के खिलाफ 22 गेंद में नाबाद 55 रन की पारी खेलकर उन्होंने अकेले दम पर टीम को जीत दिलाई थी। कप्तान कोहली भी अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलना चाहेंगे।



Source link

Translate »
You cannot copy content of this page