IND v AUS : विकेट के पीछे 'स्पाइडरमैन-स्पाइडरमैन' गाते नजर आए पंत, देखें वीडियो



ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन के गाबा मैदान में जारी चौथे और निर्णायक टेस्ट मैच के चौथे दिन के दौरान सोमवार को विकेट के पीछे हॉलीवुड का ‘स्पाइडरमैन-स्पाइडरमैन’ गाना गाते हुए देखे गए।



Source link

Delhi Schools Reopen Govt Govt Aided Unaided Schools May Call Students Class 10 12 From 18th January Parents Consent Mandatory



Delhi: As board exams for the students of class 10th and 12th are approaching, Delhi Government on Wednesday issued an order to re-open schools for practical and pre-board exam preparation.

“In order to conduct activities pertaining to pre-board preparation and practical work, the Govt and Govt aided/unaided schools may call students of Class 10 and 12 only to school from 18th January. The child should be called to school only with the consent of parents,” the Delhi Government said.

READ: Farmers Don’t Even Know What They Want, Says Hema Malini

As per the order, attendance will be maintained but it will be under the discretion of parents whether to send their wards to schools or not.

“While the records of children coming to school be maintained, the same should not be used for attendance purpose as sending the child to school is completely optional for parents,” the order further said.

As the schools are set to open from January 18, the order also said that students must follow the standard operating procedures for Covid-19 such as maintaining social distancing and wearing masks.

All schools in the national Capital have been physically shut since March last year in order to avoid the spread of the Covid-19 pandemic. This will be the first time after 10 months that students will return to their campuses.

Board examinations are going to be held from May 4, for which pre-board, the practical exam will also be done, due to which the government allowed the school to open.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI





Source link

Dakar Rally Moto Racer Cs Santosh Is Out Of Danger Now, Can Come To India – मौत को मात देकर ठीक हुए मोटो रेसर संतोष, जल्द हो सकती है भारत वापसी

सीएस संतोष


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 13 Jan 2021 12:19 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सऊदी अरब में चल रहे डकार रैली के दौरान दुर्घटनाग्रस्त होने वाले हीरो मोटोस्पोर्ट्स के भारतीय राइडर सीएस संतोष अभी चिकित्सकों की ‘निगरानी’ में रहेंगे, लेकिन वह भारत के लिए उड़ान भर सकते हैं। हीरो मोटोस्पोर्ट्स ने मंगलवार को बताया, ‘संतोष की स्थिति स्थिर है और चिकित्सक उस पर नजर रखे हुए हैं। स्कैन और आकलन के आधार पर उन्हें भारत आने की मंजूरी दे दी गई है, जहां वह स्थानीय चिकित्सकों की निगरानी में रहेंगे।’

37 साल के संतोष डकार रैली के दौरान बीते बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे, जिसमें उन्हें गंभीर चोट आई थी। दुर्घटना के बाद उन्हें हेलीकॉप्टर से जेद्दाह के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बयान के मुताबिक, ‘उन्हें नींद की स्थिति में भारत लाया जाएगा ताकि उन्हें कोई परेशानी ना हो। यह एक बहुत ही सकारात्मक घटनाक्रम है क्योंकि वह अब अपने परिवार और परिचितों के साथ रहेंगे।’ यह दुर्घटना उसी मार्ग पर हुई थी, जिसमें हीरो मोटोस्पोर्ट्स के राइडर पाउलो गोंसालवेज का पिछले साल रैली के दौरान ही दुर्घटना में निधन हुआ था।

सऊदी अरब में चल रहे डकार रैली के दौरान दुर्घटनाग्रस्त होने वाले हीरो मोटोस्पोर्ट्स के भारतीय राइडर सीएस संतोष अभी चिकित्सकों की ‘निगरानी’ में रहेंगे, लेकिन वह भारत के लिए उड़ान भर सकते हैं। हीरो मोटोस्पोर्ट्स ने मंगलवार को बताया, ‘संतोष की स्थिति स्थिर है और चिकित्सक उस पर नजर रखे हुए हैं। स्कैन और आकलन के आधार पर उन्हें भारत आने की मंजूरी दे दी गई है, जहां वह स्थानीय चिकित्सकों की निगरानी में रहेंगे।’

37 साल के संतोष डकार रैली के दौरान बीते बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे, जिसमें उन्हें गंभीर चोट आई थी। दुर्घटना के बाद उन्हें हेलीकॉप्टर से जेद्दाह के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बयान के मुताबिक, ‘उन्हें नींद की स्थिति में भारत लाया जाएगा ताकि उन्हें कोई परेशानी ना हो। यह एक बहुत ही सकारात्मक घटनाक्रम है क्योंकि वह अब अपने परिवार और परिचितों के साथ रहेंगे।’ यह दुर्घटना उसी मार्ग पर हुई थी, जिसमें हीरो मोटोस्पोर्ट्स के राइडर पाउलो गोंसालवेज का पिछले साल रैली के दौरान ही दुर्घटना में निधन हुआ था।



Source link

Hanuma Vihari: India Vs Australia 3rd Test Draw | Indian Player Slowing Test Runs Record List Update; Rahul Dravid Hanuma Vihari | पंत को पांच नंबर पर भेजना मास्टर स्ट्रोक; कितनी स्लो थी विहारी की पारी? भारत को इस मैच से क्या मिला?


  • Hindi News
  • Db original
  • Explainer
  • Hanuma Vihari: India Vs Australia 3rd Test Draw | Indian Player Slowing Test Runs Record List Update; Rahul Dravid Hanuma Vihari

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 दिन पहलेलेखक: जयदेव सिंह

  • कॉपी लिंक

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेला गया तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। जीत के लिए 407 रन का पीछा कर रहे भारत ने पांचवें दिन दो विकेट के नुकसान पर 96 रन से आगे पारी शुरू की। रहाणे जल्दी आउट हो गए। लेकिन, उसके बाद पुजारा और पंत ने 148 रन की साझेदारी करके स्कोर 250 पहुंचाया। इसी स्कोर पर पंत 97 रन बनाकर आउट हो गए। 272 के स्कोर पर पुजारा के आउट होते ही लगा भारत के लिए अब मैच बचाना मुश्किल होगा। लेकिन, इसके बाद हनुमा विहारी और आर अश्विन ने 256 गेंद पर 62 रन की साझेदारी करके मैच बचा लिया।

अपनी पारी के दौरान विहारी हैम-स्ट्रिंग की चोट से जूझ रहे थे। वहीं, अश्विन ने भी ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों की कई गेंदें शरीर पर झेलीं। पहली पारी में बैटिंग के दौरान चोटिल हुए ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में विकेट कीपिंग नहीं कर सके। लेकिन चोट के बावजूद आज उन्होंने अपनी बैटिंग से एक समय ऑस्ट्रेलिया को हार की ओर धकेल दिया था।

रहाणे की कप्तानी कितनी कारगर?

कप्तान के तौर पर ये रहाणे का चौथा मैच था। इससे पहले के तीनों मैच वो जीते थे। पहली बार उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने मैच ड्रॉ कराया। टीम में उन्होंने लड़ने का जज्बा पैदा किया है। मैच के बाद रहाणे ने कहा कि दिन शुरू होने से पहले ही हमने अंत तक लड़ने का फैसला किया था, नतीजा भले ही कुछ भी हो। हमारे खिलाड़ियों ने ये जज्बा दिखाया भी।

पंत को पांच नंबर पर भेजकर उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को चौंका दिया। वहीं, पंत की पारी से टीम को जीत की उम्मीद तक दिखाई देने लगी। एक दिन पहले तक जो एक्सपर्ट कह रहे थे कि ये मैच या तो भारत हारेगा या ड्रॉ होगा। उन्हें भी कुछ अलग होता दिखा।

रहाणे ने इससे पहले दूसरे टेस्ट में भी शानदार कप्तानी की थी। उस टेस्ट के बाद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल ने उनकी तारीफ करते हुए कहा था कि जिस भी व्यक्ति ने उन्हें 2017 के धर्मशाला टेस्ट में कप्तानी करते देखा होगा, वह यह समझ गया होगा कि रहाणे का जन्म ही क्रिकेट टीम की कप्तानी के लिए हुआ है।

सिराज और बुमराह के साथ की गई नस्लवादी टिप्पणी ने भी टीम में लड़ने का जज्बा डाला। चौथे दिन का खेल खत्म होने के बाद अश्विन ने कहा भी था कि सिडनी में दर्शकों का इस तरह का व्यवहार नया नहीं है। हमें सिडनी में पहले भी इस तरह की टिप्पणियों का सामना करना पड़ा है। मैदान के अंदर पहले ही खिलाड़ियों की चोट से जूझ रही टीम को मैदान के बाहर हुई इस घटना ने अपना जज्बा दिखाने के लिए एकजुट किया।

क्या अब पंत की कीपिंग पर सवाल नहीं उठेंगे?

आज जिस तरह से पंत ने बल्लेबाजी की है, उसी वजह से टीम मैनेजमेंट विदेश दौरों में उन्हें ऋद्धिमान साहा पर वरीयता देता है। पंत अपनी बल्लेबाजी से मैच का रुख पलट सकते हैं। आज उन्होंने ये दिखाया भी। लेकिन, उनकी कीपिंग पर हमेशा से सवाल उठते रहे हैं। इसमें सुधार नहीं हुआ तो आगे भी उठेंगे।

पंत को पांच नंबर पर उतारे जाने के फैसले को सुनील गावस्कर ने मास्टर स्ट्रोक बताया। उन्होंने कहा कि आगे चलकर ऐसा हो सकता है कि टीम इंडिया उन्हें सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर पांच नंबर पर उतारे।

विहारी की पारी कितनी स्लो थी?

विहारी ने 161 गेंद पर 23 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 14.28 का रहा। पारी में सौ या उससे ज्यादा गेंद खेलने के बाद स्ट्राइक रेट के लिहाज से ये किसी भारतीय की पांचवीं सबसे धीमी पारी थी। इस लिस्ट में यशपाल शर्मा टॉप पर हैं। शर्मा ने 1981 में ऑस्ट्रेलिया के ही खिलाफ एडिलेड में 157 गेंद खेलकर 13 रन बनाए थे।

इंटरनेशनल क्रिकेट की बात करें तो ये रिकॉर्ड इंग्लैंड के जॉन मरे के नाम है। उन्होंने 1963 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 100 गेंद खेलने के बाद महज 3 रन बनाए थे। वहीं, न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज जेफ एलट 2011 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 101 गेंद खेलने के बाद खाता भी नहीं खोल सके थे।

पुजारा की पारी के क्या मायने?

पुजारा के खेलने का तरीका यही है। आज की उनकी पारी की तारीफ हो रही है। वहीं, पहली इनिंग में इसी तरह की बल्लेबाजी पर उनकी आलोचना हो रही थी। सुनील गावस्कर ने सोनी टेन से कहा कि भारत में टोपी घुमाने का चलन है। ये चलता रहेगा, लेकिन पुजारा का जो खेल है, वो ऐसा ही है। यही उनकी खासियत है। टेस्ट में इस तरह के बल्लेबाज अब कम हैं, लेकिन मुश्किल हालात में ऐसा खेलने वालों की बहुत जरूरत होती है।

जडेजा के इंजर्ड होने के बाद क्या अश्विन उनका रोल निभा सकते हैं?

जडेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट के साथ ही भारत में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के शुरुआती दो मैच से भी बाहर हो सकते हैं। ऐसे में अश्विन का बल्ले से बेहतर परफॉर्मेंस भारत के लिए बोनस हो सकता है। अश्विन ऐसा कर भी चुके हैं। 2016 के दौर में उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से भारत को कई मैच में जीत दिलाने में अहम रोल प्ले किया था।

इस मैच से भारत को क्या मिला?

  • इस ड्रॉ के साथ भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में 10 प्वाइंट मिले। 12 मैच के बाद भारत के 400 प्वाइंट हो गए हैं। वो रैंकिंग में अभी भी दूसरे नंबर पर बना हुआ।
  • इस मैच के बाद भारतीय टीम में ये भरोसा आया है कि वो चौथा टेस्ट जीत सकते हैं। विराट कोहली के बिना भी टीम इंडिया ने लड़ने का जज्बा दिखाया है।
  • पंत एक बल्लेबाज के रूप में मैच का रुख किसी भी समय पलट सकते हैं। इस मैच में उन्होंने एक बार फिर ये साबित किया है। पुजारा इस दौर में टीम इंडिया के सबसे बड़े फाइटर बनकर उभरे हैं।
  • अश्विन एक बार फिर से अपनी बल्लेबाजी से टीम इंडिया को सपोर्ट कर सकते हैं। शुभमन गिल के रूप में एक बेहतर टेक्नीक वाला ओपनर भी इस मैच में मिला है। रोहित शर्मा को टीम इंडिया आगे भी ओपनर के रूप में इस्तेमाल करेगी।
  • 41 साल साल बाद भारत ने चौथी इनिंग में इतने ज्यादा ओवर खेलकर मैच ड्रॉ कराया। इस मैच में टीम इंडिया ने 131 ओवर बैटिंग की और पांच विकेट पर 334 रन बनाए। 1979 में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में 438 रन के टारगेट का पीछा करते हुए चौथी इनिंग में आठ विकेट पर 429 रन बनाए और मैच ड्रा करा लिया। इस मैच में टीम ने 150.5 ओवर बैटिंग की। पुजारा, पंत, विहारी और अश्विन ने 100 से ज्यादा गेंदें खेली।



Source link

Indian Cricketers Struggling With Injuries – चोटों से जूझ रहे भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी, टीम प्रबंधन की चिंता बढ़ी

चोटों से जूझ रहे भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी, टीम प्रबंधन की चिंता बढ़ी


– बॉर्डर-गावस्कर सीरीज: तेज गेंदबाज बुमराह भी चोटिल, ब्रिस्बेन में खेलना तय नहीं।

– इन हालातों में सीरीज कैसे जीतेगी टीम इंडिया, 15 जनवरी से खेला जाना है निर्णायक टेस्ट मैच ।

– प्रबंधन को 11 खिलाड़ी जुटाना भी मुश्किल हो रहा।

सिडनी । भारतीय क्रिकेट टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरा खिलाडिय़ों के लगातार चोटिल होने के कारण काफी मुश्किल होता जा रहा है। हालात इतने खराब हो गए हैं भारतीय टीम प्रबंधन के लिए 15 जनवरी से ब्रिस्बेन में शुरू होने वाले निर्णायक टेस्ट मैच के लिए 11 फिट खिलाड़ी जुटाना मुश्किल हो गया है। अब तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भी चोटिल हो गए और उनका चौथे टेस्ट में खेलना मुश्किल लग रहा है। बुमराह को तीसरे टेस्ट के दौरान फील्डिंग करते हुए पेट में खिंचाव आ गया था। बुमराह की चोट गंभीर नहीं है। लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज को देखते हुए टीम प्रबंधन कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता। इसलिए उनका चौथे टेस्ट में नहीं खेलना तय है।  

ये हुए सीरीज से बाहर –
रवींद्र जडेजा –
तीसरा टेस्ट: बल्लेबाजी के दौरान अंगूठे में चोट
मोहम्मद शमी –
पहला टेस्ट: बल्लेबाजी के दौरान हाथ में चोट
केएल राहुल –
तीसरा टेस्ट: अभ्यास करते हुए कलाई में चोट लगी
उमेश यादव –
दूसरा टेस्ट: गेंदबाजी के दौरान पिंडली में खिंचाव

चोटों से जूझ रहे भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी, टीम प्रबंधन की चिंता बढ़ी

इनका खेलना मुश्किल –
बुमराह –
तीसरा टेस्ट: फील्डिंग के दौरान पेट में खिंचाव
हनुमा विहारी –
तीसरा टेस्ट: बल्लेबाजी के दौरान खिंची मांसपेशियां
अश्विन –
तीसरा टेस्ट: मैच के दौरान पीठ में आई जकडऩ
मयंक –
तीसरा टेस्ट: अभ्यास करते हुए हाथ में चोट

चोटों से जूझ रहे भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी, टीम प्रबंधन की चिंता बढ़ी

11 खिलाड़ी कुल टीम में बचे –
बल्लेबाज: अजिंक्या रहाणे, रोहित शर्मा, पृथ्वी शॉ, शुभमन गिल
विकेटकीपर: ऋषभ पंत, ऋद्धिमान साहा
तेज गेंदबाज: शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी, मोहम्मद सिराज, नटराजन
स्पिनर: कुलदीप यादव

तीन खिलाड़ी कर चुके आगाज: चोटिल खिलाडिय़ों की समस्या के कारण तीन खिलाडिय़ों शुभमन गिल, मोहम्मद सिराज और नवदीप सैनी को इस टेस्ट सीरीज में पदार्पण का मौका मिला।

नटराजन के टेस्ट पदार्पण की उम्मीद –
बुमराह का चौथे टेस्ट से बाहर रहना तय माना जा रहा है। ऐसे में 27 वर्षीय तेज गेंदबाज टी नटराजन को टेस्ट पदार्पण का मौका दिया जा सकता है। नटराजन ने इसे दौरे पर वनडे और ट्वंटी-20 करियर का भी आगाज किया था। अनुभवी मीडियम पेसर शार्दुल ठाकुर भी होड़ में हैं। उन्होंने दो साल पहले एकमात्र टेस्ट मैच खेला था और वह सिर्फ 10 गेंद फेंकने के बाद चोटिल हो गए थे।






Show More











Source link

BCCI के आगे झुका ऑस्ट्रेलिया, टीम इंडिया से किए अच्‍छे होटल के वादे को पूरा करने के लिए माना

टीम इंडिया मंगलवार को ब्रिस्‍बेन पहुंची थी (फोटो क्रेडिट: ऋषभ पंत इंस्‍टाग्राम )


टीम इंडिया मंगलवार को ब्रिस्‍बेन पहुंची थी (फोटो क्रेडिट: ऋषभ पंत इंस्‍टाग्राम )

टीम इंडिया मंगलवार को ब्रिस्‍बेन पहुंची थी (फोटो क्रेडिट: ऋषभ पंत इंस्‍टाग्राम )

टीम इंडिया चौथे टेस्‍ट के लिए मंगलवार को ब्रिस्‍बेन पहुंची थी, जिसके बाद खबर आई थी कि पांच स्‍टार होटल में टीम को बेसिक सुविधाएं भी नहीं मिल रही है


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 6:45 PM IST

नई दिल्‍ली. मेजबान ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ चौथा टेस्‍ट मैच खेलने के लिए टीम इंडिया (Team India) ब्रिस्‍बेन पहुंच गई है, मगर ब्रिस्‍बेन के होटल से टीम नाखुश नजर आई. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम को होटल में बेसिक सुविधाएं भी नहीं मिल रही. होटल में रूम सर्विस या हाउसकीपिंग ही नहीं मिली. जिम भी अंतरराष्ट्रीय स्तर का नहीं है और स्वीमिंग पूल में नहीं जा सकते . जब‍कि चेक इन के समय इन सुविधाओं का वादा किया गया था.
इसके बाद बीसीसीआई को इस मामले में दखल देना पड़ा और बीसीसीआई के दबाव के आगे क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया झुक गई है. उसने भारत को होटल में सुविधा देने के लिए कदम उठाया है. टाइम्‍स ऑफ इंडिया  की खबर के अनुसार बुधवार को क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया ने प्रतिबंधों को कम करने और टीम इंडिया को वादे के अनुसार जिम, स्विमिंग पूल और समय पर खाने की सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के लिए कदम उठाना शुरू कर दिया है.

बाहर से मंगवाना पड़ा खाना
टीम इंडिया मंगलवार की दोपहर ब्रिस्‍बेन पहुंची थी. टीम गाबा से करीब 4 किलोमीटर दूर एक फाइव स्‍टार होटल में ठहरी है, मगर खबरों के मुताबिक टीम इंडिया को होटल में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल रही. टीम इंडिया के साथ यात्रा करने वाले एक सदस्‍य ने कहा था कि हम कमरे में बंद हैं.यह भी पढ़ें : 

IND vs AUS: सिराज की समझदारी का कायल हुआ ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाज, कहा-दर्शकों की शिकायत कर शुरू किया नया चलन

बाबुल सुप्रियो ने बताया था ‘क्रिकेट का हत्‍यारा’, अब हनुमा विहारी ने दो टूक जवाब देकर की बोलती बंद
हम खुद अपना बिस्‍तर लगा रहे हैं, खुद अपना टॉयलेट साफ करते हैं. खाना भी पास के भारतीय रेस्‍टोरेंट से आ रहा है. हम फ्लोर से इधर उधर भी नहीं जा सकते. सदस्‍य ने बताया कि पूरा होटल खाली है, मगर फिर भी हम स्‍वीमिंग पूल और जिम सहित होटल कि किसी भी सुविधा का इस्‍तेमाल नहीं कर सकते. होटल के सभी कैफे और रेस्‍टोरेंट भी बंद है.








Source link

Ian Healy Lashes Out At Tim Paine, Says Desperate Australia Overstepped The Mark In Sydney Test – ‘सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने मर्यादा की सारी हदें पार कर दीं’

टिम पेन


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, सिडनी
Updated Wed, 13 Jan 2021 12:07 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिग्गज विकेटकीपर इयान हीली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन मैदान पर अपने व्यवहार से हताशा और संकीर्ण मानसिकता की हदों को पार किया। इस 56 साल के पूर्व खिलाड़ी ने इस दौरान रविचंद्रन अश्विन पर छींटाकशी करने के पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन की आलोचना की।

हीली ने ‘एसईएन रेडियो’ पर कहा, ‘उन्होंने हदों को पार किया। वे बहुत हताश हो गए, वे बहुत संकीर्ण मानसिकता के हो गए थे और अश्विन के पास उसका जवाब था।’ अश्विन मैच के पांचवें दिन जब बल्लेबाजी कर रहे थे तब पेन ने उन पर छींटाकशी की। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में इसे मैच का हिस्सा करार दिया लेकिन उनकी सोच से इत्तेफाक नहीं रखते।

हीली ने कहा, ‘वह गलत थे। यह खेल का हिस्सा नहीं है। क्रिकेट के कानूनों के लिए प्रस्तावना नाम की एक चीज है और इसे सर कॉलिन काउड्रे ने तैयार किया है। यह आपके क्रिकेट खेलने के तरीके और आपको कैसे खेलना चाहिए इस बारे में है।’ पेन ने हालांकि बाद में अपने बर्ताव के लिए माफी मांगते हुए कहा कि उनकी कप्तानी अच्छी नहीं थी और रविचंद्रन अश्विन से छींटाकशी करके वे सही नहीं किए।

दिग्गज विकेटकीपर इयान हीली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन मैदान पर अपने व्यवहार से हताशा और संकीर्ण मानसिकता की हदों को पार किया। इस 56 साल के पूर्व खिलाड़ी ने इस दौरान रविचंद्रन अश्विन पर छींटाकशी करने के पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन की आलोचना की।

हीली ने ‘एसईएन रेडियो’ पर कहा, ‘उन्होंने हदों को पार किया। वे बहुत हताश हो गए, वे बहुत संकीर्ण मानसिकता के हो गए थे और अश्विन के पास उसका जवाब था।’ अश्विन मैच के पांचवें दिन जब बल्लेबाजी कर रहे थे तब पेन ने उन पर छींटाकशी की। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में इसे मैच का हिस्सा करार दिया लेकिन उनकी सोच से इत्तेफाक नहीं रखते।

हीली ने कहा, ‘वह गलत थे। यह खेल का हिस्सा नहीं है। क्रिकेट के कानूनों के लिए प्रस्तावना नाम की एक चीज है और इसे सर कॉलिन काउड्रे ने तैयार किया है। यह आपके क्रिकेट खेलने के तरीके और आपको कैसे खेलना चाहिए इस बारे में है।’ पेन ने हालांकि बाद में अपने बर्ताव के लिए माफी मांगते हुए कहा कि उनकी कप्तानी अच्छी नहीं थी और रविचंद्रन अश्विन से छींटाकशी करके वे सही नहीं किए।



Source link

बीसीसीआई शीर्ष परिषद की बैठक 17 जनवरी को, रणजी और एफटीपी पर होगी चर्चा



बैठक में एजेंडा में सात विषय शामिल हैं जिसमें शीर्ष पर घरेलू क्रिकेट है। इसमें जूनियर और महिला क्रिकेट भी शामिल है। 



Source link

IIT IISC JAM 2021 Admit Card To Be Released Today Download JAM Hall Ticket At Joaps.iisc.ac.in



IISc JAM Admit Card 2021: The Indian Institute of Science, Bangalore will release the admit card for Joint Admission Test for Masters on Monday. The JAM 2021 hall ticket will be accessible on its official website- joaps.iisc.ac.in. JAM 2021 examination is scheduled to be held on February 14, 2021. After the IISc Bangalore releases the admit card, all those candidates who have registered for the JAM 2021 exam would be able to download their hall tickets online. Also Read: ICAI CA Exam 2021: Admit Card Released; How To Download And What To Keep In Mind Prior The Exam

A statement on the website reads, “JAM 2021 Admit Cards will be available for download from JOAPS portal from January 11, 2021, onwards.” JAM 2021 Examination will be conducted online as a Computer Based Test (CBT) for all Test Papers.  JAM 2021 will have seven Test Papers, namely, (i) Biotechnology (BT), (ii) Chemistry (CY), (iii) Economics (EN), (iv) Geology (GG), (v) Mathematics (MA), (vi) Mathematical Sciences (MS) and (vii) Physics (PH). Economics (EN) paper is added newly this year.

IISc JAM admit card 2021: Here’s how to download the admit card

Step 1: Firstly, go to the official website- joaps.iisc.ac.in

Step 2: In the next step, you have click on the link to download the JAM admit card

Step 3: A new window will be displayed on the screen after you clock on the link

Step 4: Then you enter your credentials and login

Step 5: The IISc JAM admit card 2021 will be displayed on the screen

Step 6: Download the admit card and take its print out for future reference.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI



Source link

National Youth Day 2021: Swami Vivekananda Jayanti Youth And Sports – National Youth Day 2021: जोश से लबरेज इन युवा खिलाड़ियों ने बढ़ाया देश का मान

राष्ट्रीय खेल दिवस 2021


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली, Updated Tue, 12 Jan 2021 12:41 AM IST

12 जनवरी का दिन पूरे देश में युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। देश के महान दार्शनिक और विश्व में भारत के अध्यात्म का डंका बजाने वाले स्वामी विवेकानंद मंगलवार को 158वीं जयंती है। उनके विचार और जीवन हमारे लिए प्रेरणादायी हैं। ‘उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाए’ का संदेश देने वाले विवेकानंद युवाओं के प्रेरणास्त्रोत थे। इस मौके पर आइए एक नजर डालते हैं देश के उन युवा खिलाड़ियों, जिन्होंने बढ़ाया देश का मान…

 



Source link

Australian Cricket Coach Justin Langer Happy With Stressed Indian Team Before Boxing Day Test – ऑस्ट्रेलियाई कोच ने फिर टीम इंडिया के जख्मों को कुरेदा, मेलबर्न टेस्ट से पहले याद दिलाई एडिलेड की पारी

जस्टिस लैंगर


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, मेलबर्न
Updated Thu, 24 Dec 2020 12:13 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले ऑस्ट्रेलिया की तरफ से माइंड गेम जारी है, टीम के खिलाड़ी लगातार भारतीय टीम के पहले टेस्ट के प्रदर्शन का जिक्र कर मेहमान टीम पर मनोवैज्ञानिक दबाव बढ़ाने में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने कहा कि एडीलेड टेस्ट में 36 रन पर सिमटी भारतीय टीम से उन्हें सहानुभूति है लेकिन उन्हें खुशी है कि 26 दिसंबर से शुरू हो रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले मेहमान टीम दबाव में है।

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 36 रन के उसके न्यूनतम टेस्ट स्कोर पर समेटकर पहला टेस्ट ढाई दिन में ही जीत लिया था। लैंगर ने कहा कि उनकी टीम विराट कोहली की गैरमौजूदगी का फायदा उठाना चाहेगी जिससे नए कप्तान अजिंक्य रहाणे पर दबाव बनेगा।

यह पूछने पर कि अगर वह भारतीय कोच रवि शास्त्री की जगह होते तो क्या करते, उन्होंने कहा, ‘मुझे इससे कोई सरोकार नहीं। मैं खुद काफी तनाव झेल चुका हूं। मेरी विरोधी टीम से सहानुभूति है और मुझे पता है कि उन्हें कैसा लग रहा होगा। भारतीय टीम अगर दबाव में है तो मैं खुश हूं क्योंकि क्रिसमस के इस सप्ताहांत पर हम दबाव में नहीं हैं।’ उन्होंने स्वीकार किया कि कोहली और मोहम्मद शमी की कमी भारतीय टीम को खलेगी लेकिन उनका फोकस अपनी टीम की रणनीति पर रहेगा।

लैंगर ने कहा, ‘आप कोई भी खेल खेलें लेकिन दो स्टार खिलाड़ी अगर बाहर हैं तो टीम को कमी तो खलती ही है। विराट कोहली महान खिलाड़ियों में से है और शमी काफी प्रतिभाशाली है। उनके नहीं होने से हमें फायदा मिलेगा।’ उन्होंने कहा, ‘हमें पहले ही दिन से दबाव बनाना होगा क्योंकि रहाणे नया कप्तान है। किसी भी टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के नहीं रहने से टीम कमजोर हो जाती है और यही सच्चाई है।’

उधर टीम के स्टार सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के दूसरे टेस्ट से भी बाहर रहने पर लैंगर ने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि वह खेलेगा। पिछले तीन सप्ताह से वह वापसी के लिए काफी मेहनत कर रहा है।’

टिम पेन की बल्लेबाजी को लेकर भी चर्चा हो रही है क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई हर विकेटकीपर बल्लेबाज की एडम गिलक्रिस्ट से तुलना करते हैं लेकिन कोच ने उन पर पूरा भरोसा जताया। उन्होंने कहा, ‘गिलक्रिस्ट महानतम खिलाड़ियों मे से हैं क्योंकि उन्होंने खेल को बदल दिया। लेकिन मुझे टिम पेन पर पूरा भरोसा है। चाहे विकेटकीपिंग हो, कप्तानी या बल्लेबाजी।’

बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले ऑस्ट्रेलिया की तरफ से माइंड गेम जारी है, टीम के खिलाड़ी लगातार भारतीय टीम के पहले टेस्ट के प्रदर्शन का जिक्र कर मेहमान टीम पर मनोवैज्ञानिक दबाव बढ़ाने में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने कहा कि एडीलेड टेस्ट में 36 रन पर सिमटी भारतीय टीम से उन्हें सहानुभूति है लेकिन उन्हें खुशी है कि 26 दिसंबर से शुरू हो रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले मेहमान टीम दबाव में है।

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 36 रन के उसके न्यूनतम टेस्ट स्कोर पर समेटकर पहला टेस्ट ढाई दिन में ही जीत लिया था। लैंगर ने कहा कि उनकी टीम विराट कोहली की गैरमौजूदगी का फायदा उठाना चाहेगी जिससे नए कप्तान अजिंक्य रहाणे पर दबाव बनेगा।

यह पूछने पर कि अगर वह भारतीय कोच रवि शास्त्री की जगह होते तो क्या करते, उन्होंने कहा, ‘मुझे इससे कोई सरोकार नहीं। मैं खुद काफी तनाव झेल चुका हूं। मेरी विरोधी टीम से सहानुभूति है और मुझे पता है कि उन्हें कैसा लग रहा होगा। भारतीय टीम अगर दबाव में है तो मैं खुश हूं क्योंकि क्रिसमस के इस सप्ताहांत पर हम दबाव में नहीं हैं।’ उन्होंने स्वीकार किया कि कोहली और मोहम्मद शमी की कमी भारतीय टीम को खलेगी लेकिन उनका फोकस अपनी टीम की रणनीति पर रहेगा।

लैंगर ने कहा, ‘आप कोई भी खेल खेलें लेकिन दो स्टार खिलाड़ी अगर बाहर हैं तो टीम को कमी तो खलती ही है। विराट कोहली महान खिलाड़ियों में से है और शमी काफी प्रतिभाशाली है। उनके नहीं होने से हमें फायदा मिलेगा।’ उन्होंने कहा, ‘हमें पहले ही दिन से दबाव बनाना होगा क्योंकि रहाणे नया कप्तान है। किसी भी टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के नहीं रहने से टीम कमजोर हो जाती है और यही सच्चाई है।’

उधर टीम के स्टार सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के दूसरे टेस्ट से भी बाहर रहने पर लैंगर ने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि वह खेलेगा। पिछले तीन सप्ताह से वह वापसी के लिए काफी मेहनत कर रहा है।’

टिम पेन की बल्लेबाजी को लेकर भी चर्चा हो रही है क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई हर विकेटकीपर बल्लेबाज की एडम गिलक्रिस्ट से तुलना करते हैं लेकिन कोच ने उन पर पूरा भरोसा जताया। उन्होंने कहा, ‘गिलक्रिस्ट महानतम खिलाड़ियों मे से हैं क्योंकि उन्होंने खेल को बदल दिया। लेकिन मुझे टिम पेन पर पूरा भरोसा है। चाहे विकेटकीपिंग हो, कप्तानी या बल्लेबाजी।’



Source link

Ind vs Aus : सचिन तेंदुलकर ने बताया, किस कमी के कारण लगातार बोल्ड हो रहे हैं पृथ्वी शॉ



सचिन का मानना है कि इस तरह के प्रदर्शन से बाहर निकलना आसान नहीं है क्योंकि इस तरह के प्रदर्शन खिलाड़ी के साथ हमेशा से रहते हैं।



Source link

Year Ender 2020: Know All The Major Things And Events Of Sports Took Place In A Year – Year Ender: जानिए साल 2020 की सभी बड़ी खेल गतिविधियों और टूर्नामेंट के बारे में

कोरोना वायरस के बाद खेल जगत


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 24 Dec 2020 12:38 PM IST

कोरोना वायरस के बाद खेल जगत
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

डर, निराशा, गम और अनिश्चितता से भरा साल 2020 अब कुछ ही दिनों में अलविदा कहने वाला है वहीं नई उम्मीदों, आशाओं और मजबूत इरादों के साथ साल 2021 बाहें फैलाए इंतजार कर रहा है। हालांकि कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से दुनियाभर की कई बड़ी खेल प्रतियोगिताएं और गतिविधियां प्रभावित रहीं, इनमें कई टूर्नामेंट रद्द हुए तो कइयों को आगे के लिए स्थगित करना पड़ा। ऐसे में आइए जानते हैं 2020 के दौरान हर महीने की बड़ी खेल गतिविधियों और आयोजनों के बारे में।
 

  • अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप: दक्षिण अफ्रीका में खेले गए 13वें सीजन में बांग्लादेश ने पहली बार खिताब अपने नाम किया जबकि भारतीय टीम उप-विजेता बनी।
  • ऑस्ट्रेलियन टेनिस ओपन: नोवाक जोकोविच ने पुरुषों का एकल तो सोफिया केनिन ने महिलाओं में खिताबी मुकाबला जीता। जोकोविच ने अपना 17वां तो केनिन ने पहला ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम किया।
  • होबार्ट टेनिस टूर्नामेंट: भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने मां बनने के बाद पहली बार टेनिस कोर्ट पर वापसी की और डबल्स का खिताब अपने नाम किया।   
  • ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा: पहला वनडे हारने के बाद मेजबान टीम इंडिया ने जबरदस्त वापसी की और आखिरी के दोनों मुकाबले जीतकर वनडे श्रृंखला अपने नाम की।
  • भारत और न्यूजीलैंड टी-20 सीरीज: भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में किया क्लीन स्वीप।
  • आईसीसी महिला टी-20 वर्ल्ड कप: ऑस्ट्रेलिया ने महिला टी-20 वर्ल्ड कप के सातवें सीजन की मेजबानी की। इसमें ऑस्ट्रेलिया ने रिकॉर्ड पांचवीं बार खिताब पर कब्जा जमाया। जबकि पहली बार फाइनल में पहुंचने वाली भारतीय टीम उप-विजेता बनी। 
  • भारत का न्यूजीलैंड दौरा: टी-20 सीरीज में क्लीन स्वीप करने वाली भारतीय टीम का वनडे और टेस्ट सीरीज में सूपड़ा साफ हो गया। मेजबान न्यूजीलैंड ने 2-0 से टेस्ट सीरीज और 3-0 से एकदिवसीय सीरीज अपने नाम की।
  • अर्मांड डूपलेंटिस का विश्व रिकॉर्ड: स्वीडिश खिलाड़ी और यूरोपियन चैंपियन आर्मंड डुप्लांटिस ने पोल वॉल्ट में अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने ग्लासगो में खेले गए विश्व एथलेटिक्स इंडोर ग्रैंड प्री में 20 वर्षीय डुप्लांटिस ने 6.18 मीटर की छलांग लगाकर नया कीर्तिमान स्थापित किया।
  • फुटबॉलर रोनाल्डिन्हो गिरफ्तार: 2002 में फुटबॉल वर्ल्ड कप विजेता टीम का हिस्सा रहे ब्राजील के स्टार फुटबॉलर रोनाल्डिन्हो को नकली पासपोर्ट रखने के मामले में पैरागुए में गिरफ्तार किया गया।
  • दक्षिण अफ्रीका का भारत दौरा: पहला मैच बारिश की वजह से रद्द होने के बाद बाकी के दोनों वनडे मुकाबले कोरोना महामारी की वजह से रद्द करने पड़े।
  • आईपीएल 2020: 29 मार्च से शुरू होने वाले आईपीएल के 13वें सीजन को कोविड-19 की वजह से 15 अप्रैल तक और फिर अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया।
  • एनबीए का सीजन निलंबित: यूटा जैज के खिलाड़ी रूडी गोबर्ट के कोरोना संक्रमित होने के बाद एनबीए ने 2019-20 के सीजन को निलंबित कर दिया।
  • फुटबॉल लीग स्थगित: यूईएफए चैंपियंस लीग, यूरोपा लीग गेम्स, यूरो 2020 कोपा अमेरिका जैसे शीर्ष फुटबॉल टूर्नामेंट और लीग कोरोना महामारी की वजह से स्थगित हुए।
  • टोक्यो ओलंपिक औप पैरालंपिक खेल स्थगित: अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने 2020 टोक्यो ओलंपिक खेलों को एक साल के लिए स्थगित कर दिया और 23 जुलाई से 8 अगस्त 2021 में करवाने का फैसला किया। जबकि पैरालंपिक खेलों का आयोजन 24 अगस्त से पांच सितंबर 2021 करने की जानकारी दी।
  • विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट रद्द: टेनिस कैलेंडर के सबसे लोकप्रिय टूर्नामेंटों में से एक, इंग्लैंड के शीर्ष ग्रैंडस्लैम को दूसरे विश्व युद्द के बाद पहली बार कोरोना महामारी की वजह से रद्द करने का फैसला किया गया। टूर्नामेंट का आयोजन 29 जुलाई से 12 जुलाई के बीच होना था।
  • फुटबॉल टूर्नामेंट स्थगित:  यूईएफए ने जून के सभी अंतरराष्ट्रीय मैचों को कोरोना महामारी की वजह से स्थगित कर दिया।
  • कैनेडियन ग्रां प्री: फॉर्मूला वन ने कोरोना महामारी की वजह से स्थगित किया।
  • टूर डी फ्रांस स्थगित: साइकिलिंग की मशहूर अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता टूर डी फ्रांस कोरोना महामारी की वजह से एक साल के लिए स्थगित
  • फ्रेंच ग्रां प्री: फॉर्मूला वन ने कोरोना महामारी की वजह से फ्रांस में होने वाली ग्रां प्री को एक साल के लिए स्थगित किया।
  • डेबाला कोरोना से उबरे: इटली के स्टार फुटबॉलर और जुवेंटस के फॉरवर्डर पाउलो डेबाला 45 दिन के इलाज के बाद कोरोना महामारी से ठीक हुए।
  • पांच स्थानापन्न खिलाड़ी की छूट: इंटरनेशनल फुटबॉल एसोसिएशन बोर्ड ने कोरोना महामारी की वजह से साल 2020 के आखिरी तक फुटबॉल टीमों को पांच स्थानापन्न खिलाड़ी रखने की छूट दी।
  • क्रिकेट प्रतियोगिताएं अनिश्चितकाल के लिए स्थगित: कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से सभी क्रिकेट गतिविधियां स्थगित रहीं।
  • फुटबॉल टूर्नामेंट की शुरुआत: बुंदेसलिगा, सिरी ए, प्रीमियर लीग समेत कई शीर्ष फुटबॉल लीगों और टूर्नामेंटों को जून से दोबारा शुरू करने का फैसला।
  • लिवरपूल बना चैंपियन: कोरोना महामारी के बीच दर्शकों के बगैर खाली स्टेडियम में इंग्लिश प्रीमियर लीग का आयोजन। लिवरपूल फुटबॉल क्लब ने 30 साल बाद  जीता इंग्लिश प्रीमियर लीग का खिताब।
  • कोप्पा इटालिया (इटालियन कप): नापोली ने छह साल बाद छठी बार जीता कोप्पा इटालिया 2020 का खिताब। फाइनल मुकाबले में उसने सबसे सफल टीम जुवेंटस को पेनल्टी में 4-2 से हराया।
  • क्रिकेट गतिविधियां ठप्प: कोरोना महामारी की वजह से क्रिकेट की सभी गतिविधियां जून में भी प्रभावित हुई और टूर्नामेंट या श्रृंखलाएं आगे के लिए स्थगित और रद्द हुईं। 

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी: कोविड-19 की वजह से चार महीने तक बंद रहे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट की पहली बार शुरुआत हुई। महामारी के खतरे के बीच इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने पहली बार बायो बबल के अंदर द्विपक्षीय श्रृंखला का आयोजन किया। इसमें वेस्टइंडीज की टीम ने हिस्सा लिया और दोनों के बीच सख्त सुरक्षा नियमों और दर्शकों के बगैर खाली स्टेडियम में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज सफलतापूर्वक खत्म हुई। इस दौरान पहला टेस्ट हारने के बाद इंग्लैंड ने बाकी के दोनों मैच जीतकर सीरीज 2-1 से अपने नाम की।

डर, निराशा, गम और अनिश्चितता से भरा साल 2020 अब कुछ ही दिनों में अलविदा कहने वाला है वहीं नई उम्मीदों, आशाओं और मजबूत इरादों के साथ साल 2021 बाहें फैलाए इंतजार कर रहा है। हालांकि कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से दुनियाभर की कई बड़ी खेल प्रतियोगिताएं और गतिविधियां प्रभावित रहीं, इनमें कई टूर्नामेंट रद्द हुए तो कइयों को आगे के लिए स्थगित करना पड़ा। ऐसे में आइए जानते हैं 2020 के दौरान हर महीने की बड़ी खेल गतिविधियों और आयोजनों के बारे में।

 


आगे पढ़ें

जनवरी



Source link

India vs Australia Boxing day test KL Rahul Ravindra jadeja Ajinkya Rahane Rishabh Pant | पृथ्वी शॉ की जगह राहुल कर सकते हैं ओपनिंग; शुभमन, जडेजा और पंत की वापसी तय


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेलबर्न2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

भारतीय टीम के ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा और विकेटकीपर बल्लेबाज लोकेश राहुल। -फाइल फोटो

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 4 टेस्ट की सीरीज के दूसरे मैच के लिए टीम इंडिया ने प्रैक्टिस शुरू कर दी है। सीरीज का पहला मैच हार चुकी टीम इंडिया में काफी बदलाव देखने को मिल सकते हैं। रेग्युलर कप्तान विराट कोहली के पैटरनिटी लीव पर चले गए हैं। उनकी जगह अजिंक्य रहाणे कमान संभालेंगे।

कोहली की जगह प्लेइंग इलेवन में शुभमन गिल को मौका मिल सकता है। वहीं, खराब फॉर्म से जूझ रहे पृथ्वी शॉ की जगह लोकेश राहुल और हनुमा विहारी की जगह रविंद्र जडेजा की वापसी हो सकती है।

जडेजा ने नेट प्रैक्टिस की
टी-20 सीरीज में चोटिल हुए ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने नेट प्रैक्टिस में जमकर पसीना बहाया। उनको हैमस्ट्रिंग की शिकायत थी। शुभमन ने भी नेट्स पर लंबे समय तक बल्लेबाजी की।

पंत और सिराज भी टीम में शामिल किए जा सकते हैं
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, एडिलेड में हार के बाद बदलाव की लहर में विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा भी चपेट में आ सकते हैं। उनकी जगह ऋषभ पंत को जगह मिलना तय है। वहीं, हाथ में चोट के चलते सीरीज से बाहर हुए मोहम्मद शमी की जगह मोहम्मद सिराज टीम में आ सकते हैं।

पृथ्वी शॉ ने पहले टेस्ट में बनाए सिर्फ 4 रन
भारतीय ओपनर पृथ्वी शॉ डे-नाइट टेस्ट की दोनों पारियों में फ्लॉप रहे। पहली पारी में वे खाता भी नहीं खोल सके थे और मैच की दूसरी बॉल पर ही मिचेल स्टार्क ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया था। दूसरी पारी में खाता तो खोला, लेकिन 4 रन ही बना सके और पैट कमिंस की बॉल पर बोल्ड हो गए।

ऑलराउंड ऑप्शन होने के कारण जडेजा का पलड़ा भारी
जडेजा ने भारत के लिए 49 टेस्ट मैच में 35 से ज्यादा की औसत से 1,869 रन बनाए हैं। इसमें एक शतक और 14 फिफ्टी शामिल हैं। उन्होंने अपने पिछले ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दौरे पर भी फिफ्टी लगाई थी। इसके अलावा उन्होंने 49 टेस्ट मैच में 24.63 की औसत से 213 विकेट भी लिए हैं।

वॉर्नर और एबोट दूसरा टेस्ट नहीं खेलेंगे
इस बीच, ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वॉर्नर और तेज गेंदबाज सीन एबोट दूसरे टेस्ट में नहीं खेलेंगे। वॉर्नर को वनडे सीरीज के दौरान फील्डिंग करते समय चोट लगी थी। दूसरे टेस्ट की शुरुआत 26 दिसंबर से हो रही है।



Source link

Dimuth Karunaratne Reveals New-look Test Jersey – Savssl: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस नई जर्सी में खेलेगा श्रीलंका, बोर्ड ने शेयर की तस्वीर 

बदल गई श्रीलंकाई टेस्ट टीम की जर्सी


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, सेंचुरियन
Updated Wed, 23 Dec 2020 10:40 PM IST

बदल गई श्रीलंकाई टेस्ट टीम की जर्सी
– फोटो : social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

श्रीलंकाई टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में नई जर्सी में नजर आएगी। कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने बुधवार को टीम की नई जर्सी का अनावरण किया। वहीं, श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर नई जर्सी की तस्वीर साझा की है। 

बोर्ड ने ट्वीट कर लिखा, ‘पहली बार श्रीलंका पुरुषों की टेस्ट टीम की जर्सी में सामने की तरफ स्पॉन्सर का लोगो होगा। कोरोना महामारी के मद्देनजर राजस्व घाटे से उबरने में मदद के लिए एक उपाय के रूप में ऐसा किया गया। बता दें कि श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच 26 दिसंबर से दो मैचों के टेस्ट सीरीज की शुरुआत होगी।
 

श्रीलंकाई टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में नई जर्सी में नजर आएगी। कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने बुधवार को टीम की नई जर्सी का अनावरण किया। वहीं, श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर नई जर्सी की तस्वीर साझा की है। 

बोर्ड ने ट्वीट कर लिखा, ‘पहली बार श्रीलंका पुरुषों की टेस्ट टीम की जर्सी में सामने की तरफ स्पॉन्सर का लोगो होगा। कोरोना महामारी के मद्देनजर राजस्व घाटे से उबरने में मदद के लिए एक उपाय के रूप में ऐसा किया गया। बता दें कि श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच 26 दिसंबर से दो मैचों के टेस्ट सीरीज की शुरुआत होगी।

 





Source link

BBL-10 : नई हेयरकट स्टाइल नहीं ले पाएंगे खिलाड़ी, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने लगाया बैन



क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने प्रोटोकॉल के तहत बिग बैश खिलाड़ियों के बाल कटवाने के लिये बाहर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। 



Source link

Nada Claims, Due To More Doping Samples, Dope Positive Cases Increased – नाडा का दावा, अधिक सैंपलों के चलते बढ़े डोप पॉजिटिव केस

नाडा


अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Updated Thu, 24 Dec 2020 07:45 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) का मानना है कि साल 2019 में बढ़े डोप पॉजिटिव केंसों के पीछे उसकी ओर से लिए अधिक सैंपल हैं। नाडा ने दावा किया है कि बीते वर्ष के मुकाबलों में नाडा ने 2019 में बड़ी संख्या में सैंपल लिए हैं। यही नहीं डोपिंग की रोकथाम के लिए नए वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल किया है। इनमें पहली बार ह्यूमन ग्रोथ हारमोन की टेस्टिंग के लिए ब्लड सैंपल और ग्रोथ हारमोन रिलीजिंग फैक्टर की बढ़ाई गई टेस्टिंग शामिल है।

नाडा ने दावा किया है कि साल 2019 में उसकी ओर से की गई सख्ती का नतीजा साल 2020 में दिखेगा। डोप पॉजिटव संख्या बढने के पीछे रोइंग की जूनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 22 खिलाड़ियों का फंसना भी जिम्मेदार है। यही नहीं पूरी दुनिया की तरह एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, बॉडी बिल्डिंग, कुश्ती और पॉवरलिफंर्टग में डोप पॉजिटव केसों की संख्या 50 प्रतिशत है

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) का मानना है कि साल 2019 में बढ़े डोप पॉजिटिव केंसों के पीछे उसकी ओर से लिए अधिक सैंपल हैं। नाडा ने दावा किया है कि बीते वर्ष के मुकाबलों में नाडा ने 2019 में बड़ी संख्या में सैंपल लिए हैं। यही नहीं डोपिंग की रोकथाम के लिए नए वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल किया है। इनमें पहली बार ह्यूमन ग्रोथ हारमोन की टेस्टिंग के लिए ब्लड सैंपल और ग्रोथ हारमोन रिलीजिंग फैक्टर की बढ़ाई गई टेस्टिंग शामिल है।

नाडा ने दावा किया है कि साल 2019 में उसकी ओर से की गई सख्ती का नतीजा साल 2020 में दिखेगा। डोप पॉजिटव संख्या बढने के पीछे रोइंग की जूनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 22 खिलाड़ियों का फंसना भी जिम्मेदार है। यही नहीं पूरी दुनिया की तरह एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, बॉडी बिल्डिंग, कुश्ती और पॉवरलिफंर्टग में डोप पॉजिटव केसों की संख्या 50 प्रतिशत है



Source link

Indian Boxer amit panghal bhaskar interview boxing world cup indian winner | बॉक्सर पंघाल बोले- कई खिलाड़ियों को पर्सनल कोच, ट्रेनर और फिजियो मिले, लेकिन मुझे नहीं


  • Hindi News
  • Sports
  • Indian Boxer Amit Panghal Bhaskar Interview Boxing World Cup Indian Winner

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़6 मिनट पहलेलेखक: गौरव मारवाह

  • कॉपी लिंक

वर्ल्ड चैंपियनशिप के सिल्वर मेडलिस्ट पंघाल ने लॉकडाउन में कोच अनिल धनकड़ के साथ ट्रेनिंग की। -फाइल फोटो

  • 52 किग्रा में पंघाल ने जर्मनी में वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल जीता
  • वर्ल्ड नंबर-1 बॉक्सर अमित पंघाल ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके

एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट अमित पंघाल टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियों में लगे हैं। 52 किग्रा वेट कैटेगरी में दुनिया के नंबर-1 बॉक्सर पंघाल ने हाल ही में जर्मनी में हुए वर्ल्ड कप में गोल्ड जीता। वर्ल्ड चैंपियनशिप के सिल्वर मेडलिस्ट पंघाल ने लॉकडाउन में कोच अनिल धनकड़ के साथ ट्रेनिंग की। उन्होंने वर्ल्ड कप में गोल्ड जीतकर साबित कर दिया कि ट्रेनिंग सही दिशा में बढ़ रही है।

पंघाल अपने कोच के साथ ही ओलिंपिक की तैयारी जारी रखना चाहते हैं। उनके कोच को अभी नेशनल कैंप में शामिल होने की अनुमति नहीं मिली है। उनका कहना है कि अगर कैंप में उनके कोच नहीं होंगे तो वे भी उसमें हिस्सा नहीं लेंगे।

गेम्स रुकने के बाद आपने पहला टूर्नामेंट खेला, ये कितना अलग था?
मैंने इस साल फरवरी में अंतिम टूर्नामेंट खेला था और अब दिसंबर में रिंग में उतरा। 2017 के बाद से कभी इतना लंबा गैप नहीं मिला, ऊपर से ट्रेनिंग भी ऐसी नहीं थी क्योंकि लॉकडाउन था। इसके बाद नेशनल कैंप में पार्टनर नहीं था। पार्टनर के साथ हमारी ट्रेनिंग न के बराबर हुई थी। दो महीने बाहर जाकर जो पार्टनर ट्रेनिंग की, उसी से कुछ कॉन्फिडेंस आया था। वहां हमें पार्टनर के साथ कम समय में ज्यादा सीखना था।

आपने 7-8 महीने के बाद रिंग में वापसी की, क्या कोई परेशानी आई?
रिंग में वापसी करने में तो परेशानी नहीं हुई क्योंकि हम अपने आप को इसके लिए तैयार कर चुके थे। मेरा विरोधी वर्ल्ड लेवल पर मेडल जीत चुका था। मैंने तैयारी उसी के लिए की थी। मैंने गोल्ड जीता और इससे काफी मोटिवेशन मिला। रेस्ट टाइम में भी ट्रेनिंग की थी, उसका फायदा मिला।

देश में कई गेम्स के टूर्नामेंट शुरू नहीं हुए हैं। इससे कितना प्रभाव पड़ रहा है?
भारत में बॉक्सिंग-रेसलिंग जैसे कॉन्टैक्ट स्पोर्ट्स के टूर्नामेंट शुरू नहीं हुए हैं। लेकिन विदेशों में हो रहे हैं। हमारे खिलाड़ियों को अगर नेशनल कॉम्पिटीशन नहीं मिला तो वे पिछड़ते जाएंगे। बाहर गेम शुरू हो गए हैं। हम पीछे चल रहे हैं।

खेलों की वापसी को लेकर क्या राय है? अभी ट्रेनिंग उस लेवल की नहीं हो रही है?
ओलिंपिक क्वालिफाई कर चुके बॉक्सर्स पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ रहा है। ओलिंपिक के लिए हमें अधिक ट्रेनिंग चाहिए और अधिक से अधिक पार्टनर चाहिए। ओलिंपिक के लिए जितनी ट्रेनिंग करते हैं, उतनी कम है। हमें पार्टनर बदल-बदलकर ट्रेनिंग करनी चाहिए। हम जितनी मेहनत कर सकते हैं, अभी ही करनी होगी। यही 4-5 महीने ही बचे हैं और ये समय सभी के लिए कीमती हैं। ये समय हमारे लिए सब कुछ बदल सकता है। अच्छे से अच्छा मेडल दिला सकता है। ये सब अच्छी ट्रेनिंग पर निर्भर करता है।

लॉकडाउन के दौरान क्या किया और वर्ल्ड कप की तैयारी किस तरह से की?
मैंने लॉकडाउन में एक भी दिन अपनी ट्रेनिंग मिस नहीं की। मैं अपने कोच के साथ लगातार ट्रेनिंग करता रहा। हमने कई पहलुओं पर काम किया। उन्होंने मुझे मोटिवेट भी किया। उन्होंने मेरी कमियों को दूर किया और जब मैं नेशनल कैंप में गया तो मैंने अच्छे से शुरुआत की। वर्ल्ड कप से पहले भी मैंने कोच सर के साथ बात की और उनसे टिप्स लिए। वो मेरे काफी काम आए और नतीजा आपके सामने है। उन्होंने मेरे कॉन्फिडेंस को बूस्ट किया और ये हमारी मेहनत का ही नतीजा है।

क्या आपकी कोच को कैंप में शामिल करने की मांग नहीं मानी गई है?
मैं एक साल से अपने कोच को नेशनल कैंप में शामिल करने की मांग कर रहा हूं। लेकिन अनुमति नहीं मिली। कई खिलाड़ियों को पर्सनल कोच, फिजियो, ट्रेनर मिल रहे हैं, तो मुझे क्यों नहीं। उनके होने से मैं खुद को अच्छे से तैयार कर सकता हूं। कैंप में अगर कोच को शामिल नहीं किया जाता तो मैं भी उसमें हिस्सा नहीं लूंगा और उनके साथ घर पर ही ट्रेनिंग करूंगा।



Source link

IND vs AUS: बॉक्सिंग डे टेस्‍ट में काफी खराब है टीम इंडिया का रिकॉर्ड, मिली है अब तक एक जीत

India vs Australia, Australia, india vs australia 2020, IND vs AUS, Team India, Adelaide Test



भारत ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में कुल 8 बॉक्सिंग डे टेस्‍ट मैच खेले, जिसमें से सिर्फ एक मैच में ही जीत हासिल कर पाई



Source link

Babar Azam Legal Counsel Accuses Woman Of Blackmailing His Client  – बाबर आजम के वकील का गंभीर आरोप, कहा- हमीजा ने क्रिकेटर के साथ किया ब्लैकमेल

बाबर आजम


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, कराची, Updated Wed, 23 Dec 2020 11:03 PM IST

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम के वकील ने लाहौर की हमीजा मुख्तार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वकीन ने कहा है कि उसने (हमीजा) यौन उत्पीड़न, धोखाधड़ी और प्रताड़ना के आरोप वापस लेने के लिए इस शीर्ष क्रिकेटर को ब्लैकमेल किया और एक करोड़ रुपये की मांग की।
 



Source link

Translate »
You cannot copy content of this page