WhatsApp कॉल भी कर सकते हैं रिकॉर्ड, फटाफट जानें आसान सी ट्रिक…!


नई दिल्ली. वॉट्सऐप (WhatsApp) आज के दौर में बेहद ही पॉपुलर मैसेजिंग ऐप है. इसके जरिए आप टेक्स्ट मैसेज के अलावा ऑडियो और वीडियों दोनों तरह की कॉल कर सकते हैं. कई बार आप WhatsApp से ऑडियो कॉल करके बात कर रहे हैं और उस समय सामने वाला आपको जरूरी बात बता रहा है, जिसे आप नोट करना चाहते हैं लेकिन आपके पास कागज और पेन नहीं है. ऐसे में आप WhatsApp कॉल को रिकॉर्ड करके काम की बात को सेव कर सकते हैं.

WhatsApp कॉल को एंड्रॉयड और आईफोन में रिकॉर्ड करने के लिए कुछ चुनिंदा डिवाइस की जरूरत होती है. आपको बात दें बिना दूसरे व्यक्ति के अनुमित के कॉल रिकॉर्ड करना अनैतिक एवं गैरकानूनी है. ऐसे में आप दूसरे व्यक्ति को कॉल रिकॉर्डिंग की जानकारी जरूर दें.

एंड्रॉयड फोन पर ऐसे करें WhatsApp कॉल रिकॉर्ड

>> सबसे पहले आप क्यूब कॉल रिकॉर्डर CUBE CALL RECORDER को डाउनलोड करें.>> ऐप ओपन करने के बाद वॉट्सऐप पर जाएं और इसके बाद उस व्यक्ति को कॉल करें, जिससे आप बात करना चहते हैं.
>> यदि इस दौरान आपको क्यूब कॉल विजेट दिखाई दे रहा है तो इसका मतलब है कि आपकी कॉल रिकॉर्ड हो रही है.
>> यदि आपके फोन में error शो कर रहा है तो एक बार फिर आप क्यूब कॉल रिकॉर्डर को खोलें.
>> इस बार आपको ऐप की सेटिंग में जाकर वॉयस कॉल में Force Voip पर क्लिक करना है.
>> इस पूरे प्रोसेस के बाद आप एक बार फिर वॉट्सऐप कॉल लगाएं.
>> यदि इस बार भी क्यूब कॉल रिकॉर्डर शो नहीं कर रहा तो इसका मतलब यह है कि यह आपके फोन में काम नहीं करेगा.

ये भी पढ़ें: WhatsApp के बाद Airtel ने शुरू की पेमेंट सर्विस! सेफ और ईजी होगा ट्रांजैक्शन, ऐसे करें इस्तेमाल

आईफोन पर ऐसे करें WhatsApp कॉल रिकॉर्ड

>> आईफोन पर MaC की मदद से कॉल रिकॉर्ड कर सकते हैं.
>> आईफोन को लाइटनिंग केबल की मदद से MaC से कनेक्ट करना होगा.
>> इसके बाद आईफोन पर Trust this computer करके दिखेगा इस पर क्लिक करें.
>> यदि आप पहली बार मैक से अपना आईफोन फोन कनेक्ट कर रहे हैं. तो आप QuickTime खोलें.
>> इसमें आपको फाइल सेक्शन में जाकर न्यू ऑडियो रिर्कार्डिंग का विकल्प मिलेगा.
>> इसमें आपको रिकॉर्ड बटन के नीचे arrow का निशान दिखाई देगा.
>> जिस पर आपको क्लिक करना है और आईफोन को चुनना हैं.

ये भी पढ़ें: Amazon Great Republic Day sale: 1 साल की वारंटी के साथ आधी कीमत पर खरीदें Smart TV

>> इस सारी प्रोसेस को करने के बाद क्विकटाइम में रिकॉर्ड बटन पर क्लिक करें और अपने WhatsApp से कॉल करें.
>> जैसे ही आप कनेक्ट हो जाएं, यूजर आइकन को एड कर लें.
>> इसके बाद उस व्यक्ति का नंबर चुने जिससे आप बात करना चाहते हैं.
>> कॉल रिसीव होते ही आपकी बात रिकॉर्ड होना शुरू हो जाएगी.





Source link

WhatsApp Group Chat Invite Links, User Profiles Made Public Again on Google | गूगल पर पब्लिक हो चुकी हैं ढेरों ग्रुप चैट लिंक, कोई भी सर्च कर इसमें जुड़ सकता है; प्रोफाइल पर भी खतरा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली11 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने वॉट्सऐप की इस खामी की जानकारी दी
  • कई यूजर्स की प्रोफाइल भी सर्च रिजल्ट में दिखाई दे रही है, कोई भी इनसे चैट कर सकता है

वॉट्सऐप प्राइवेसी से जुड़ा एक नया मामला सामने आया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक वॉट्सऐप ग्रुप की लिंक अब दोबारा गूगल सर्च रिजल्ट पर दिखाई दे रहे हैं। इसका मतलब यह है कि कोई भी व्यक्ति सिर्फ गूगल पर सर्च करके प्राइवेट वॉट्सऐप ग्रुप को ढूंढ सकता है और उसमें शामिल हो सकता है। इससे पहले 2019 में भी यह सामने आया था, जिसके बाद कंपनी ने इसे खामी को ठीक कर दिया था। एक और पुराना मुद्दा जिसे पहले फिक्स किया जा चुका है, वो भी सामने आ रहा है जिसमें वॉट्सऐप प्रोफाइल अब सर्च रिजल्ट पर दिखाई दे रही हैं। इस खामी के कारण लोगों के फोन नंबर और प्रोफाइल फोटो सिर्फ एक साधारण गूगल सर्च से सामने आ सकते हैं।

फोन नंबर और प्रोफाइल फोटो भी एक्सेस कर सकते हैं
ग्रुप चैट इनवाइट्स की इंडेक्सिंग की अनुमति देकर, वॉट्सऐप अब वेब पर कई प्राइवेट ग्रुप उपलब्ध करा रहा है, क्योंकि उनके लिंक गूगल पर एक सिंपल सर्च क्वेरी का उपयोग करके एक्सेस किया जा सकते हैं। रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि जिसे भी यह लिंक मिलती है, वो ग्रुप में न सिर्फ शामिल हो सकते हैं बल्कि मेंबर्स और द्वारा ग्रुप में शेयर किए जा रहे हैं पोस्ट के साथ उनके फोन नंबर भी देख सकते हैं।

कुछ ग्रुप पोर्न शेयर करने वाले थे
साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने गूगल पर वॉट्सऐप ग्रुप चैट इनवाइट के इंडेक्सिंग की जानकारी दी। खबर लिखते समय तक, सर्च रिजल्ट्स में लगभग 1,500 से अधिक ग्रुप इनवाइट लिंक उपलब्ध थे।
गूगल द्वारा इंडेक्स की गईं कुछ लिंक पोर्न शेयर करने वाले वॉट्सऐप ग्रुप को लीड करते हैं। कुछ अन्य मामलों में, कुछ खास समुदाय या इंटरेस्ट वाले वॉट्सऐप ग्रुप्स के लिंक थे। इसके अलावा बंगला और मराठी यूजर्स के लिए मैसेज शेयर करने वाले ग्रुप्स मिले। इस लिंक के साथ, जिन लोगों को इनवाइट नहीं किया गया था, वे भी आसानी से ग्रुप्स में शामिल हो सकते हैं।

पहली बार 2019 में सामने आया था मामला
यह पहली बार नहीं है कि जब इस तरह की खामी सामने आई है। नवंबर 2019 में, वॉट्सऐप ग्रुप चैट इनवाइट गूगल सर्च रिजल्ट पर पाए गए थे। एक सिक्योरिटी रिसर्चर ने इस मुद्दे को फेसबुक को बताया था, हालांकि मामला सुर्खियों में आने के बाद कंपनी ने इसे तुरंत ठीक भी कर दिया था।
रिवर्स इंजीनियर जेन मानचुन वोंग ने बताया कि वॉट्सऐप ने चैट इनवाइट लिंक पर ‘नो-इंडेक्स’ मेटा टैग जोड़कर ग्रुप चैट इंडेक्स को फिक्स किया था। हालांकि, ताजा लिंक में नो-इंडेक्स मेटा टैग शामिल है। हालांकि, 2019 में पाए गए ग्रुप चैट लिंक गूगल पर दिखाई नहीं देते थे, इसलिए यह एक अलग मुद्दा हो सकता है जिससे समान परिणाम हो सकते हैं, या यह पुरानी समस्या को वापस ला सकता है।

वॉट्सऐप यूजर की 15 से ज्यादा इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करता है, फेसबुक लेता है 30 तरह के डेटा

एक सबडोमेन के कारण पब्लिक हुई ग्रुप चैट लिंक
राजहरिया ने बताया कि वॉट्सऐप ने खास तौर पर chat.whatsapp.com सबडोमेन के लिए robots.txt फाइल को शामिल नहीं किया था, जिसके कारण गूगल और अन्य सर्च इंजन पर ग्रुप चैट इनवाइट की इंडेक्सिंग हुई है। वेब डेवलपर्स सामान्यतः सर्च इंजन क्रॉलर को बताने के लिए robots.txt फाइल का उपयोग करते हैं कि वे किन पेजों या फाइलों को क्रॉल कर सकते हैं और किन्हें नहीं।

यूजर्स की प्रोफाइल भी गूगल पर पब्लिक हुईं
ग्रुप चैट इनवाइट लिंक के साथ लगता है कि वॉट्सऐप ने गूगल को फिर से यूजर्स की प्रोफाइल इंडेक्स करने की अनुमति दी है ताकि कोई भी यूजर्स के साथ चैट कर सके या उसकी प्रोफाइल फोटो देख सके। वॉट्सऐप के डोमेन पर कंट्री कोड की खोज करके, लोगों के प्रोफाइल के यूआरएल सामने आ सकते हैं, जिसमें फोन नंबर और प्रोफाइल फोटो शामिल थे। यह मुद्दा पिछले साल जून में वॉट्सऐप द्वारा फिक्स किया गया था। कंपनी ने उस समय इसे लेकर कोई सफाई नहीं दी थी लेकिन कई रिपोर्ट्स में इसकी पुष्टि हुई थी।

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी:इसे एग्री किया तो प्राइवेसी खत्म होगी, नहीं किया तो अकाउंट डिलीट करना होगा

गूगल पर लगभग 5000 प्रोफाइल दिखाई दे रही हैं
रिपोर्ट्स के मुताबिक, ग्रुप चैट इंडेक्सिंग की तरह वॉट्सऐप यूजर्स की प्रोफाइल भी पिछले कुछ घंटों से गूगल पर फिर से उपलब्ध हैं। सर्च इंजन पहले से ही 5,000 प्रोफाइल लिंक पर इंडेक्स है। राजहरिया ने गूगल पर वॉट्सऐप यूजर्स प्रोफाइल की इंडेक्सिंग की खोज की। उन्होंने देखा कि जैसा ग्रुप चैट इनवाइट में देखा गया था, प्रोफाइल के मामले में वैसा कोई api.whatsapp.com सबडोमेन के लिए कोई विशेष robots.txt फाइल नहीं है, जो सर्च इंजन क्रॉलर को अपने संबंधित लिंक क्रॉल नहीं करने के लिए कहता है।



Source link

Vivo X60 Pro Plus Smartphone To Be Launched Today Know Features – Vivo X60 Pro Plus की लॉन्चिंग आज, लेटेस्ट OriginOS 1.0 के साथ होंगे ये फीचर्स


इस फोन की प्री-बुकिंग शुरू कर दी गई है।
इसे 50 युआन देकर बुक किया जा सकता है।

नई दिल्ली। चीनी स्मार्टफोन कंपनी Vivo अपनी X60 का नया स्मार्टफोन Vivo X60 Pro+ आज यानी 21 जनवरी 2021 को लॉन्च होने जा रहा है। ये फोन फिलहाल चीन में लॉन्च किया जाएगा। फोन को Vivo चाइना की ऑफिशियल वेबसाइट पर लिस्ट किया जा चुका है। इस फोन की प्री-बुकिंग शुरू कर दी गई है। इसे 50 युआन देकर बुक किया जा सकता है। हालांकि फोन को किस प्राइस प्वाइंट में लॉन्च किया जाएगा। फिलहाल इसका खुलासा नहीं हुआ है। वीवो का ये फोन भारत में कब लॉन्च होगा इसके बारे में अभी कोई खुलासा नहीं हुआ है।

फोन के होंगे ये फीचर्स
Vivo X60 Pro+ को दो कलर ऑप्शन डॉर्क ब्लू और क्लासिक ऑरेंज में पेश किया जा सकता है। फोन में 6.56 इंच का फुल-एचडी+ एमोलेड डिस्प्ले दी गई है, जिसका रिजॉल्युशन 1080×2376 पिक्सल है। फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 888 प्रोसेसर से लैस है। फोन में 6 GB रैम और 128 GB इंटरनल स्टोरेज दी गई है। कनेक्टिविटी के लिए Vivo X60 Pro+ में 5जी, 4जी एलटीई, वाई-फाई, ब्लूटूथ 5.1, जीपीएस/ए-जीपीएस, एनएफसी और यूएसबी टाइप-सी पोर्ट जैसे फीचर्स दिए गए हैं। फोन OriginOS1.0 बेस्ड एंड्राइड 11 आउट ऑफ द बॉक्स पर काम करेगा। अगर हार्डवेयर की बात करें तो फोन में 5nm Exynos 1080 Soc का इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़े :— फिर सस्ता हुआ Oppo A12: जानिए नई कीमत, मिलेगी 4,230mAh की बैटरी और कई खासियत

Oppo Reno 5 Pro 5G से मुकाबला
अगर Vivo X60 Pro+ भारत में लॉन्च होता है तो इसका मुकाबला Oppo Reno 5 Pro 5G से होगा। इस स्मार्टफोन में MediaTek Dimensity 1000+ प्रोसेसर दिया है। यह फोन 8GB रैम और 128GB की इंटरनल स्टोरेज के साथ है। फोन में 65W SuperVOOC 2.0 फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ 4,350mAh की बैटरी दी गई है। इसके अलावा इसमें इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर भी दिया है।













Source link

जिस चावल की भूसी को जलाने से प्रदूषण फैल रहा था, उसी से सिर्फ एक साल में कमा लिए 20 लाख रुपए, जानिए कैसे


अपनी मिल में विभु चावल की भूसी को सिलिका की गाेली में बदलते हुए. (फोटो क्रेटिड: द बेटर इंडिया)

अपनी मिल में विभु चावल की भूसी को सिलिका की गाेली में बदलते हुए. (फोटो क्रेटिड: द बेटर इंडिया)

ओडिसा के कालाहांडी में बिभू शिक्षक थे लेकिन 2007 में उन्होंने धान का व्यवसाय करने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी. यहां तक सब कुछ ठीक था लेकिन उनकी कहानी में नया मोड़ तब आया जब उन्होंने एक इनोवेशन किया. इससे उन्हें सालाना 20 लाख रुपए की कमाई होने लगी. बिभु ने चावल की भूसी को “काले सोने” में बदल दिया.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 21, 2021, 2:51 PM IST

नई दिल्ली. यह कहानी है बिभू साहू की. लेकिन दूसरी कहानियों से जरा हटकर है. बिभू ओडिसा के उस कालाहांडी से हैं जो एक समय तक भुखमरी की वजह से खबरों में रहता था. उसी कालाहांडी में बिभू शिक्षक थे लेकिन 2007 में उन्होंने धान का व्यवसाय करने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी. यहां तक सब कुछ ठीक था लेकिन उनकी कहानी में नया मोड़ तब आया,  जब उन्होंने एक इनोवेशन किया और इससे सालाना 20 लाख रुपए की कमाने लगे. चावल की भूसी को “काले सोने” में बदलने वाले बिभू की कहानी “वेबसाइट द बेटर इंडिया ने प्रकाशित की है. हरिप्रिया एग्रो इंडस्ट्रीज के मालिक बिभू की जुबानी जानिए कैसे उन्होंने आग में व्यर्थ में जला देने वाली चावल की भूसी को कमाई का जरिया बना दिया…
“कालाहांडी ओडिशा में चावल का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है. यहां हर साल करीब 50 लाख क्विंटल धान की खेती होती है. धान के व्यवसाय के बाद मैंने भी वर्ष 2014 में चावल मिल के व्यवसाय में कदम रखने का फैसला किया. यहा दर्जनों पैरा ब्लोइंग कंपनियां हैं, जो चावल का ट्रींटमेंट करती हैं. इससे बड़े पैमाने पर भूसी का उत्पादन होता है. केवल मेरी मिल में ही हर दिन करीब 3 टन भूसी का उत्पादन होता है. यहां आमतौर पर, भूसी किसी खुली जगह में फेंक दी जाती थी या फिर जला दी जाती थी. हवा चलने के बाद इससे सांस लेने में और आंखों में काफी दिक्कत होती है. पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता था. इसकी शिकायत मोहल्ले के कई लोगों ने की. लोगों की बढ़ती शिकायत को देख, हमने भूसी को पैक कर, गोदाम में रखना शुरू कर दिया। लेकिन, जल्द ही जगह की कमी हो गई.
कुछ समझ में नहीं आ रहा था. फिर, मैंने थोड़ा रिसर्च किया. मुझे मालूम हुआ कि चावल की भूसी का इस्तेमाल स्टील उद्योग में एक थर्मल इन्सुलेटर के रूप में किया जा सकता है. इसमें 85% सिलिका होती है. इसलिए यह स्टील रिफ्रैक्टर में इस्तेमाल के लिए काफी अच्छा होता है। इस तरह, जब बॉयलर में जली भूसी का इस्तेमाल किया जाता है, तो उच्च तापमान के कारण इससे बहुत अधिक प्रदूषण नहीं होता है.
रिसर्च तो कर ली थी लेकिन असल समस्या इसके क्रियान्वयन की थी. फिर मैंने किसी तरह पैसा जुटाया और मिस्र की एक स्टील कंपनी का भी दौरा किया. एक सैंपल के साथ उस कंपनी को अपना प्रस्ताव दिया. उन्होंने अपनी रुचि दिखाई और पूछा कि क्या यह उन्हें पाउडर के रूप में उपलब्ध कराया जा सकता है. मैंने कहा कि यह कठिन होगा, क्योंकि यह हवा में उड़ सकती है. फिर, काफी विचार विमर्श के बाद यह तय हुआ कि भूसी को एक गोली के रूप में बदल कर निर्यात किया जाएगा.कंपनी से बात तो मैं कर आया था लेकिन एक नई चुनौती सामने आ गई. मुझे नहीं पता था कि इससे गोली कैसे बनाई जाती है. इसलिए मैंने महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल जैसे कई राज्यों के विशेषज्ञों को बुलाया. लेकिन, कुछ नतीजा नहीं निकला. पैलेट बनाने की प्रक्रिया को समझने के लिए एक पोल्ट्री फार्म से भी संपर्क किया. लेकिन, यह कोशिश भी व्यर्थ गई.
अगले कुछ महीनों तक मैंने अपने सभी संसाधनों को सिर्फ रिसर्च पर झोंक दिया. मुझे लगा मेरा कान्सेप्ट प्रैक्टिकल नहीं है और मैंने लगभग हार मान ली थी. लेकिन, ठीक उसी समय, मेरे एक स्टाफ ने इसके समाधान के लिए कुछ समय मांगा। इसके बाद, वह अपने गांव गए और चार लोगों के साथ आए. फिर, उनकी मदद से हमने कुछ प्रयोग किए और हम सफल हो गए. शुरूआत में पैलेट को सही आकार में बनाने के लिए कुछ हफ्ते का समय लगा. हमारे पेलेट 1 मिमी से 10 मिमी के आकार में थे. अब इस खेप को खपाने के लिए मैंने फ्रांस, जर्मनी, इटली, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, ताइवान और यूनाइटेड किंगडम की कंपनियों को ईमेल लिखे. आखिरकार हमारी पहली खेप, 2019 में सऊदी अरब गई.
कंपनियों को यह उत्पाद काफी रास आया, क्योंकि पेलेट को काफी अच्छे से जलाया गया था. साथ ही, ये काफी सस्ते थे और इनकी गुणवत्ता अच्छी थी. साल 2019 में मैंने 100 टन पेलेट बेचकर 20 लाख रुपए कमाए. इस तरह, हमने भूसी को काले सोने में बदल दिया.








Source link

BTS fans claim bts army and ariana grande discovered new planet before nasa । NASA ने की नए ग्रह की खोज, K-Pop Fans ने दिया BTS Army को इसका श्रेय


नई दिल्ली: अमेरिका (America) में 2019 में 17 साल के एक किशोर ने ब्रह्मांड (Universe) में एक नए ग्रह की खोज की थी. इस बच्चे ने वह कारनामा कर दिखाया, जिसे करने के लिए बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी अपनी पूरी जिंदगी लगा देते हैं. नया ग्रह (Planet) अंतरिक्ष के टीओआई (TOI) 1338 नाम के बाइनरी स्टार सिस्टम (Binary Star System) में खोजा गया है, जो पृथ्वी से 1300 प्रकाश वर्ष दूर स्थित एक तारामंडल (Planetarium) में मौजूद है.

यह इस सिस्टम का एकमात्र ज्ञात ग्रह है. यह ग्रह पृथ्वी से 6.9 गुना बड़ा है और अपने सूर्य के बैहद करीब है. इसके बाद इस ग्रह को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर कई ट्वीट वायरल हो रहे हैं. 

BTS फैंस ने छेड़ा नया राग

कोरियन बैंड बीटीएस (Korean Band BTS) के फैंस इस ग्रह को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर अलग ही राग अलाप रहे हैं. उनका मानना है कि यह खोज नासा (NASA) के बजाय बीटीएस (BTS) ने की है. इस ग्रह का रंग लैवेंडर (Lavender) और बुलबुले के गुलाबी रंग की तरह है, जो देखने में काफी खूबसूरत है.

नए ग्रह की फोटो सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी ट्रेंड कर रही है. लाखों लोग इस पोस्ट पर लाइक्स और कमेंट कर चुके हैं. दरअसल, बीटीएस के एक वीडियो ‘हार्टबीट’ (BTS Video ‘Heartbeat’) के कवर में जिस इमेज का इस्तेमाल किया गया है, वह इसी ग्रह से मिलती-जुलती है. इसके बाद से के-पॉप बैंड (K-Pop Band) के फैंस सोशल मीडिया पर ग्रह की खोज का श्रेय बीटीएस (BTS Army) को ही दे रहे हैं.

इंटर्न ने की थी ग्रह की खोज

2019 में नासा (NASA) में 17 वर्षीय किशोर वुल्फ ककियर ने इंटर्नशिप (Internship) की थी. हाईस्कूल के छात्र ककियर ने इंटर्नशिप के तीसरे ही दिन एक बड़ा कारनामा कर डाला था. ककियर ने एक नए ग्रह (New Planet) की खोज की थी, जो सूर्य के चक्कर लगा रहा था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस संबंध में ककियर ने कहा था- मैं उन सभी चीजों के लिए डाटा देख रहा था, जिन्हें वॉलंटियर्स ने एक ग्रहण रूपी बाइनरी के रूप में चिह्नित किया था. यह एक प्रणाली होती है, जहां दो तारे एक-दूसरे के चारों ओर घूमते हैं और हमारे दृश्य एक-दूसरे की कक्षा में घूमते हैं.

यह भी पढ़ें- NASA ने शेयर की लाखों साल पुराने ‘यंग Star Cluster’ की तस्वीर, कैप्शन जीत लेगा दिल

एरियाना ग्रैंड के फैंस भी नहीं पीछे

बीटीएस आर्मी की दीवानगी देखने के बाद अमेरिकन सिंगर एरियाना ग्रैंड (Ariana Grande) के फैंस भी भला कहां पीछे रहने वाले थे. वे इस नए ग्रह की खोज का श्रेय इस अमेरिकी सिंगर को दे रहे हैं. उनका कहना है कि ग्रह की तरह दिखने वाली कलर स्कीम का इस्तेमाल एरियाना ग्रैंड (Ariana Grande) के म्यूजिक वीडियो ‘गॉड इज अ वुमन’ (God Is A Woman) में किया गया था, जो 2018 में रिलीज हुआ था,

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

VIDEO





Source link

Internet Speed Test India Drops One Rank In Global Mobile And Fixed Broadband Speeds In December Says Ookla Report – इंटरनेट स्पीड में गिरी भारत की रैंकिंग, 12.91mbps रही मोबाइल नेटवर्क की औसत स्पीड


टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 21 Jan 2021 10:44 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

मोबाइल और ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड के मामले में भारत एक रैंकिंग फिर से खराब हो गई है। Ookla की दिसंबर 2020 ग्लोबल इंटरनेट स्पीडटेस्ट इंडेक्स में भारत को मोबाइल इंटरनेट स्पीड में 129वां पायदान मिला है, जबकि ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में भारत 65वें नंबर पर आ गया है। नई इंडेक्सिंग में कतर ने लंबी छलांग मारी है। कतर ने इंटरनेट स्पीड के मामले में दक्षिण कोरिया और संयुक्त अरब अमीरात को पीछे छोड़ दिया है। वहीं थाईलैंड ने हॉन्गकॉन्ग और सिंगापुर को पीछे ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड के मामले में पीछे छोड़ दिया है।

भारत में औसत मोबाइल स्पीड
ऊकला की दिसंबर 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में मोबाइल इंटरनेट की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 4.4 फीसदी कम होकर 12.91Mbps पर आ गई है जो कि पहले यानी नवंबर 2020 में 13.51Mbps थी, हालांकि भारत में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड में सुधार देखी गई है। नवंबर के मुकाबले दिसंबर में भारत में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड 1.4 फीसदी अधिक रही है। नवंबर में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड 4.90Mbps थी जो कि दिसंबर में 4.90Mbps तक पहुंची।

ये भी पढ़ें: नेटवर्क होने के बाद भी नहीं मिल रही है 4G स्पीड तो तुरंत करें यह सेटिंग

कतर में मोबाइल पर डाउनलोडिंग स्पीड 178.01Mbps
Speedtest Global Index के मुताबिक कतर में औसत मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड 178.01Mbps रही है, वहीं संयुक्त अरब अमीरात में औसत मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड 177.52Mbps है। औसत मोबाइल स्पीड के मामले में दक्षिण कोरिया 169.03Mbps की स्पीड के साथ तीसरे नंबर पर है। चीन और ऑस्ट्रेलिया क्रमशः चौथे और पांचवें नंबर पर बरकरार हैं। इन दोनों देशों में औसत मोबाइल क्रमशः 155.89Mbps और 112.68Mbps है।

ब्रॉडबैंड स्पीड में भारत 65वें नंबर पर
ग्लोबल ब्रॉडबैंड स्पीड के रैंकिंग में भारत 65वें नंबर पर है। भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट की औसत स्पीड 53.90Mbps है, वहीं औसत अपलोडिंग स्पीड 50.75Mbps रही है। बता दें कि नवंबर में भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट की स्पीड 52.02Mbps, जबकि अपलोडिंग स्पीड 48.57Mbps थी। ऐसे में देखा जाए तो दोनों स्पीड में इजाफा ही हुआ है।

ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में थाईलैंड ने बाजी मारी है। थाईलैंड में दिसंबर 2020 में ब्रॉडबैंड की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 308.35Mbps रही है जो कि नवंबर मे 260.86Mbps थी। सिंगापुर 245.31Mbps की स्पीड के साथ दूसरे नंबर पर है। हॉन्गकॉन्ग को इस बार नुकसान हुआ है। हॉन्गकॉन्ग 226.80Mbps की औसत स्पीड के साथ दूसरे नंबर से तीसरे नंबर पर खिसक गया है।

मोबाइल और ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड के मामले में भारत एक रैंकिंग फिर से खराब हो गई है। Ookla की दिसंबर 2020 ग्लोबल इंटरनेट स्पीडटेस्ट इंडेक्स में भारत को मोबाइल इंटरनेट स्पीड में 129वां पायदान मिला है, जबकि ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में भारत 65वें नंबर पर आ गया है। नई इंडेक्सिंग में कतर ने लंबी छलांग मारी है। कतर ने इंटरनेट स्पीड के मामले में दक्षिण कोरिया और संयुक्त अरब अमीरात को पीछे छोड़ दिया है। वहीं थाईलैंड ने हॉन्गकॉन्ग और सिंगापुर को पीछे ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड के मामले में पीछे छोड़ दिया है।

भारत में औसत मोबाइल स्पीड

ऊकला की दिसंबर 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में मोबाइल इंटरनेट की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 4.4 फीसदी कम होकर 12.91Mbps पर आ गई है जो कि पहले यानी नवंबर 2020 में 13.51Mbps थी, हालांकि भारत में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड में सुधार देखी गई है। नवंबर के मुकाबले दिसंबर में भारत में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड 1.4 फीसदी अधिक रही है। नवंबर में मोबाइल अपलोडिंग स्पीड 4.90Mbps थी जो कि दिसंबर में 4.90Mbps तक पहुंची।

ये भी पढ़ें: नेटवर्क होने के बाद भी नहीं मिल रही है 4G स्पीड तो तुरंत करें यह सेटिंग

कतर में मोबाइल पर डाउनलोडिंग स्पीड 178.01Mbps

Speedtest Global Index के मुताबिक कतर में औसत मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड 178.01Mbps रही है, वहीं संयुक्त अरब अमीरात में औसत मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड 177.52Mbps है। औसत मोबाइल स्पीड के मामले में दक्षिण कोरिया 169.03Mbps की स्पीड के साथ तीसरे नंबर पर है। चीन और ऑस्ट्रेलिया क्रमशः चौथे और पांचवें नंबर पर बरकरार हैं। इन दोनों देशों में औसत मोबाइल क्रमशः 155.89Mbps और 112.68Mbps है।

ब्रॉडबैंड स्पीड में भारत 65वें नंबर पर

ग्लोबल ब्रॉडबैंड स्पीड के रैंकिंग में भारत 65वें नंबर पर है। भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट की औसत स्पीड 53.90Mbps है, वहीं औसत अपलोडिंग स्पीड 50.75Mbps रही है। बता दें कि नवंबर में भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट की स्पीड 52.02Mbps, जबकि अपलोडिंग स्पीड 48.57Mbps थी। ऐसे में देखा जाए तो दोनों स्पीड में इजाफा ही हुआ है।

ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में थाईलैंड ने बाजी मारी है। थाईलैंड में दिसंबर 2020 में ब्रॉडबैंड की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 308.35Mbps रही है जो कि नवंबर मे 260.86Mbps थी। सिंगापुर 245.31Mbps की स्पीड के साथ दूसरे नंबर पर है। हॉन्गकॉन्ग को इस बार नुकसान हुआ है। हॉन्गकॉन्ग 226.80Mbps की औसत स्पीड के साथ दूसरे नंबर से तीसरे नंबर पर खिसक गया है।



Source link

Samsung के इस धांसू स्‍मार्टफोन पर मिल रहा है 10 हजार रुपये से ज्‍यादा का डिस्‍काउंट, जानें फीचर्स और कीमत


नई दिल्ली. अगर आप अपने स्‍मार्टफोन (Smartphone) को अपग्रेड करना चाहते हैं और ज्‍यादा पैसे भी खर्च नहीं करना चाहते हैं तो इस समय सैमसंग अपने धांसू हैंडसेट गैलेक्‍सी एम51 (Samsung Galaxy M51) पर जबरदस्‍त डिस्‍काउंट दे रहा है. सैमसंग गैलेक्‍सी एम51 में आपको कम कीमत पर 7000 mAh की दमदार बैटरी के साथ बेहतरीन फीचर्स और शानदार लुक मिलेंगे. दरअसल, कंपनी इस बेहतरीन स्‍मार्टफोन पर 10,000 रुपये से ज्‍यादा का डिस्‍काउंट (Discount) दे रही है. हालांकि, आपको इस डिस्‍काउंट का फायदा लेने के लिए सैमसंग रिटेल आउटलेट (Retail Outlet) पर जाना पड़ेगा. कंपनी ये छूट ऑनलाइन ग्राहकों को नहीं दे रही है. ये स्पेशल ऑफर 24 जनवरी 2021 तक चलेगा.

सैमसंग गैलेक्‍सी एम 51 को ग्राहक महज 12,249 रुपये में खरीद सकते हैं. टेक वेबसाइट 91 मोबाइल्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सैमसंग इस स्‍मार्टफोन को अपग्रेड प्रोग्राम के तहत बेच रही है. प्रोग्राम के मुताबिक, गैलेक्सी एम51 पर 2,750 रुपये का डिस्काउंट मिल रहा है. वहीं, अगर ग्राहक इस स्‍मार्टफोन को खरीदते समय पुराना फोन देते हैं तो उन्‍हें 8,000 रुपये तक का एक्सचेंज डिस्काउंट भी मिलेगा. एक्‍सचेंज वैल्यू आपके पुराने फोन की कंडीशन पर निर्भर होगी. दूसरे शब्‍दों में समझें तो इन दोनों ऑफर से ग्राहकों को कुल 10,750 रुपये का फायदा मिलेगा. रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सचेंज बोनस और हैंडसेट पर मिल रहा डिस्काउंट सिर्फ ऑफलाइन रिटेल आउटलेट पर ही मिलेगा.

ये भी पढ़ें- Budget 2021: टैक्सपेयर्स को झटका दे सकती हैं वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण, टैक्‍स स्लैब में बदलाव की उमीद नहीं

सैमसंग गैलेक्सी एम51 के फीचर्स और डिस्‍काउंट के बाद कीमतसैमसंग गैलेक्सी एम51 का 6 जीबी वेरिएंट छूट के बाद 22,999 रुपये के बजाय 12,249 रुपये में पड़ेगा. इस स्‍मार्टफोन के फीचर्स की बात करें तो इसमें ग्राहकों को 6.7 इंच की फुल एचडी सुपर एमोलेड इनफिनिटी-ओ स्क्रीन मिलेगी. यह फोन एंड्रॉयड 10 पर आधारित वनयूआई कोर 2.1 पर काम करता है. इसमें क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 730जी ऑक्टा-कोर प्रोसेसर के साथ 6 व 8 जीबी रैम और 128 जीबी इंटरनल स्टोरेज है. स्टोरेज को 512 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है. इस स्‍मार्टफोन में 7000 एमएएच की बैटरी के साथ 25 वॉट फास्ट और रिवर्स चार्जिंग सपोर्ट दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- बड़ा सवाल! बर्ड फ्लू के बीच पॉल्ट्री मांस और अंडा खाना सुरक्षित है या नहीं? FSSAI ने जारी की गाइडलाइंस

चार रियर कैमरे के साथ 32 मेगापिक्‍सल सेल्‍फी कैमरा मिलेगा
गैलेक्‍सी एम51 में आपको 4जी एलटीई, जीपीएस/ ए-जीपीएस, ब्लूटूथ 5.0, वाई-फाई, 3.5 मिमी ऑडियो जैक और यूएसबी टाइप-सी पोर्ट मिलेगा. इसके साथ ही फिंगरप्रिंट सेंसर भी दिया गया है. फोन के बैक पैनल पर 64 मेगापिक्सल सोनी IMX682, 12 मेगापिक्सल अल्ट्रा-वाइड एंगल, 5 मेगापिक्सल डेप्थ कैमरा और 5 मेगापिक्सल मैक्रो वाले चार कैमरे दिए गए हैं. फ्रंट में 32 मेगापिक्सल का कैमरा सेंसर दिया गया है. सैमसंग एम51 के 6 जीबी रैम और 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 22,999 रुपये है. वहीं, इसका 8 जीबी रैम वेरिएंट 24,999 रुपये में मिलता है.





Source link

Apple, Hyundai set to agree electric car tie-up, says Korea IT News | इलेक्ट्रिक कार बनाने के लिए साझेदारी करेंगे हुंडई मोटर और एपल, 2024 में उत्पादन शुरू होने की संभावना


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली8 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
हुंडई और एपल अगले साल कार का बीटा वर्जन जारी करने की योजना बना रहे हैं। - Dainik Bhaskar

हुंडई और एपल अगले साल कार का बीटा वर्जन जारी करने की योजना बना रहे हैं।

  • मार्च में समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे हुंडई मोटर और एपल
  • पहले साल 1 लाख इलेक्ट्रिक कारों के उत्पादन की योजना

अमेरिका की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी एपल इंक इलेक्ट्रिक कार बनाने की योजना पर काम कर रही हैं। इसके लिए एपल दक्षिण कोरिया की हुंडई मोटर के साथ साझेदारी पर सहमत हो गई है। दोनों कंपनियां इस साल मार्च तक एक समझौते पर हस्ताक्षर करेंगी। दोनों कंपनियों का जॉइंट वेंचर 2024 में अमेरिका से इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन शुरू कर सकता है। कोरिया के एक स्थानीय अखबार की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

हुंडई मोटर ने शुक्रवार को की थी बातचीत की पुष्टि

यह रिपोर्ट हुंडई मोटर के शुक्रवार के बयान के बाद आई है। बयान में हुंडई ने कहा था कि इलेक्ट्रिक कार बनाने को लेकर उसकी एपल के साथ प्रारंभिक स्तर की बातचीत चल रही है। इससे पहले एक अन्य स्थानीय मीडिया आउटलेट ने दावा किया था कि हुंडई मोटर और एपल 2027 तक सेल्फ ड्राइविंग इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद हुंडई के शेयरों में 20% तक का उछाल आ गया था।

किआ मोटर्स की जॉर्जिया फैक्ट्री से शुरू हो सकता है उत्पादन

ताजा रिपोर्ट में इंडस्ट्री सूत्रों के हवाले से कहा गया है इस समझौते के तहत दो प्लान पर काम किया जा रहा है। पहले प्लान के तहत जॉर्जिया में किआ मोटर्स की फैक्ट्री से उत्पादन शुरू किया जा सकता है। किआ मोटर्स हुंडई मोटर्स की सहायक कंपनी है। दूसरे प्लान के तहत दोनों कंपनियां संयुक्त निवेश के जरिए अमेरिका में नई फैक्ट्री बना सकती हैं। प्रस्तावित फैक्ट्री से 2024 में एक लाख वाहनों का उत्पादन किया जाएगा। इस प्लांट की सालाना क्षमता 4 लाख वाहनों के उत्पादन की होगी।

अगले साल जारी हो सकता है कार का बीटा वर्जन

रिपोर्ट में कहा गया है कि हुंडई और एपल अगले साल कार का बीटा वर्जन जारी करने की योजना बना रही हैं। इस इलेक्ट्रिक कार को एपल कार नाम दिया जा सकता है। हालांकि, एपल ने अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। पिछले महीने रॉयटर्स ने एक रिपोर्ट में कहा था कि एपल ऑटोनोमस कार टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है। कंपनी की योजना 2024 तक पैसेंजर व्हीकल बनाने की है। इस व्हीकल में कंपनी की अपनी ब्रेकथ्रो बैटरी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हो सकता है।



Source link

Oppo A12 Price In India Cut By Upto Rs 500 Now Starts At Rs 8490 – फिर सस्ता हुआ Oppo A12: जानिए नई कीमत, मिलेगी 4,230mAh की बैटरी और कई खासियत


ओप्पो ए12 स्मार्टफोन को भारत में जून महीने में स्मार्टफोन के तौर पर लॉन्च किया गया था,
जो कि डुअल रियर कैमरा सेटअप और वाटरड्रॉप.स्टाइल नॉच डिस्प्ले से लैस था।

नई दिल्ली। Oppo ने अपने एक बजट स्मार्टफोन की कीमत में कटौती कर दी है। Oppo A12 स्मार्टफोन की कीमत भारत में एक बार फिर से कम कर दी गई है। यहां पर ग्राहकों को ओप्पो ए12 अब 500 रुपए कम में मिलेगा। ओप्पो ए12 स्मार्टफोन को भारत में जून महीने में स्मार्टफोन के तौर पर लॉन्च किया गया था, जो कि डुअल रियर कैमरा सेटअप और वाटरड्रॉप.स्टाइल नॉच डिस्प्ले से लैस था। लॉन्चिंग के समय ओप्पो ए12 की शुरुआती कीमत 9,990 रुपये थे, लेकिन अब इसे 8,490 रुपये में खरीदा जा सकता है। व्चचव ।12 एक बजट स्मार्टफोन है जिसमें मीडियाटेक हीलियो च्35 प्रोसेसर दिया गया है।

दो वेरिएंट हैं स्मार्टफोन
आपको बता दें कि ओप्पो का स्मार्टफोन दो वेरिएंट हैं, जो कि 3जीबी-32जीबी और 4जीबी-64जीबी वेरिएंट है। फोन के 4जीबी वेरिएंट को अब 10,990 रुपये में खरीदा जा सकता है। जो कि पहले 11,490 रुपये थी। बता दें ये दूसरी बार है जब इस फोन की कीमत में कटौती हुई है। इससे पहले इस फोन की कीमत में कटौती नवंबर में हुई थी। उस समय इसकी कीमत 8,999 रुपये थी। कंपनी ने बताया कि इस फोन को ग्राहक 8,490 रुपये की शुरुआती कीमत में ऑफलाइन और ऑनलाइन स्टोर दोनों प्लैटफॉर्म से खरीद सकते हैं।

यह भी पढ़े :— Corona Vaccine: आरोग्य सेतु ऐप पर भी रजिस्ट्रेशन के बाद मिल सकती है वैक्सीन की डोज, जानिए पूरी प्रक्रिया

 

सभी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध
ओप्पो ए12 की कीमत में हुई कटौती ऑनलाइन मार्केटप्लेस में सभी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगी, जिसमें अमेज़न और फ्लिपकार्ट भी शामिल हैं। हालांकि, इस खबर को लिखते वक्त दोनों वेबसाइट पर फोन की नई कीमत को लिस्ट नहीं किया गया है। पावर के लिए ओप्पो A12 में 4,230mAh की बैटरी दी गई है। कनेक्टिविटी के लिए इसमें 4G LTE, Wifi, ब्लूटूथ 5.0, जीपीएस और 3.5एमएम ऑडियो जैक जैसे फीचर्स दिए गए हैं।













Source link

solar Storm To Cause Northern Lights Aurora Borealis On Hitting Earth | Northern Lights: सूरज से निकला है तूफान, जल्द ही आसमान में दिखेगा दिलकश नजारा


Northern Lights: सूरज से निकले तूफान (Solar Storm) के धरती से टकराने पर उत्तरी गोलार्ध में आर्कटिक के ऊपर Aurora Borealis देखने को मिल सकता है. धरती का चुंबकीय क्षेत्र हमें इसके नुकसान से बचाता है. 

Northern Lights: सूरज से निकला है तूफान, जल्द ही आसमान में दिखेगा दिलकश नजारा

फाइल फोटो





Source link

Skullcandy Jib True Tws Earbuds Launched In India With Up To 22 Hours Of Battery Life – Skullcandy Jib ईयरबड्स भारत में हुआ लॉन्च, मिलेगी 22 घंटे की बैटरी लाइफ


टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 19 Jan 2021 09:23 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ऑडियो डिवाइस की प्रमुख कंपनी Skullcandy ने भारतीय बाजार अपने नए ट्रू वायरलेस ईयरबड्स Skullcandy Jib को लॉन्च कर दिया है। Skullcandy Jib की बैटरी को लेकर 22 घंटे के बैकअप का दावा किया गया है। इसके इस ईयरबड्स को वॉटर रेसिस्टेंट के लिए IPX4 की रेटिंग भी मिली है। Skullcandy Jib में शानदार कॉलिंग के लिए डुअल माइक्रोफोन दिया गया है।

Skullcandy Jib की कीमत और स्पेसिफिकेशन
Skullcandy Jib के सिंगल बड्स को भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें 40एमएम का ड्राइवर दिया गया है। इसके अलावा इसमें 32ohms की बैटरी है और फ्रीक्वेंसी 20Hz-20kHz है। ईयरबड्स के साथ वॉल्यूम, स्किप ट्रैक, वॉयस कॉल और वर्चुअल असिस्टेंट (एपल सिरी, गूगल असिस्टेंट) का सपोर्ट मिलता है। 

ये भी पढ़ें: Skullcandy Spoke Review: क्या परफेक्ट च्वाइस बन पाएगा बटन कंट्रोल वाला यह ईयरबड्स?

कंपनी ने इसके साथ न्वाइज आइसोलेटिंग फिट भी दिया है जो कि सिलिकॉन टिप के साथ आता है। कनेक्टिविटी के लिए इसमें ब्लूटूथ v5.0 है और इसे एंड्रॉयड के साथ-साथ आईफोन के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है। बड्स के साथ कंट्रोल के लिए टच की बजाय बटन दिए गए हैं।

एक बार की चार्जिंग में बड्स की बैटरी लाइफ छह घंटे की है, जबकि चार्जिंग केस के साथ इसकी बैटरी लाइफ 16 घंटे की है। ऐसे में कुल बैटरी लाइफ 22 घंटे की हो जाती है। Skullcandy Jib की कीमत 2,999 रुपये है और इसे ब्लू और ट्र ब्लैक कलर वेरियंट में खरीदा जा सकता है।

ऑडियो डिवाइस की प्रमुख कंपनी Skullcandy ने भारतीय बाजार अपने नए ट्रू वायरलेस ईयरबड्स Skullcandy Jib को लॉन्च कर दिया है। Skullcandy Jib की बैटरी को लेकर 22 घंटे के बैकअप का दावा किया गया है। इसके इस ईयरबड्स को वॉटर रेसिस्टेंट के लिए IPX4 की रेटिंग भी मिली है। Skullcandy Jib में शानदार कॉलिंग के लिए डुअल माइक्रोफोन दिया गया है।

Skullcandy Jib की कीमत और स्पेसिफिकेशन

Skullcandy Jib के सिंगल बड्स को भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें 40एमएम का ड्राइवर दिया गया है। इसके अलावा इसमें 32ohms की बैटरी है और फ्रीक्वेंसी 20Hz-20kHz है। ईयरबड्स के साथ वॉल्यूम, स्किप ट्रैक, वॉयस कॉल और वर्चुअल असिस्टेंट (एपल सिरी, गूगल असिस्टेंट) का सपोर्ट मिलता है। 

ये भी पढ़ें: Skullcandy Spoke Review: क्या परफेक्ट च्वाइस बन पाएगा बटन कंट्रोल वाला यह ईयरबड्स?

कंपनी ने इसके साथ न्वाइज आइसोलेटिंग फिट भी दिया है जो कि सिलिकॉन टिप के साथ आता है। कनेक्टिविटी के लिए इसमें ब्लूटूथ v5.0 है और इसे एंड्रॉयड के साथ-साथ आईफोन के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है। बड्स के साथ कंट्रोल के लिए टच की बजाय बटन दिए गए हैं।

एक बार की चार्जिंग में बड्स की बैटरी लाइफ छह घंटे की है, जबकि चार्जिंग केस के साथ इसकी बैटरी लाइफ 16 घंटे की है। ऐसे में कुल बैटरी लाइफ 22 घंटे की हो जाती है। Skullcandy Jib की कीमत 2,999 रुपये है और इसे ब्लू और ट्र ब्लैक कलर वेरियंट में खरीदा जा सकता है।



Source link

क्या भारत में आज होगी PUBG Mobile India की लॉन्चिंग? यहां जानें सभी डिटेल्स


पबजी गेम की लॉन्चिंग को लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं.

पबजी गेम की लॉन्चिंग को लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं.

कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया था पबजी मोबाइल इंडिया की रिलॉन्चिंग जनवरी के दूसरे और तीसरे हफ्ते में होगी. इसके अलावा एक यूट्यूब वीडियो में दावा किया गया था गेम को भारत में 15 जनवरी से 19 जनवरी के बीच कभी भी लॉन्च किया जा सकता है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 19, 2021, 10:17 AM IST

भारत में पबजी (PUBG Mobile) फैंस के बीच गेम की लॉन्चिंग को लेकर बेसब्री से इंतज़ार हो रहा है. कई रिपोर्ट में दावा किया गया कि रोयल गेम को आज (19 जनवरी) को लॉन्च किया जाएगा. इसी बीच कई लोगों के मन में सवाल है कि क्या सच में भारत में पबजी आज लॉन्च किया जाएगा? क्या रिलीज़ के पहले ही दिन पबजी फैंस को इसका एक्सेस मिल जाएगा? दरअसल 15 जनवरी को पबजी मोबाइल के ट्रेलर लॉन्च के बाद इसे लेकर कई तरह के अटकलें लगाई जा रही हैं. इसके अलावा कई रिपोर्ट में दावा भी किया गया गेम को भारत में 19 जनवरी को लॉन्च किया जाएगा, जिसके बाद लाखों मोबाइल गेमर्स ने इसके रिलॉन्च को लेकर और भी ज़्यादा उत्साहित हो गए.

इससे पहले कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया था पबजी मोबाइल इंडिया की रिलॉन्चिंग जनवरी के दूसरे और तीसरे हफ्ते में होगी. इसके अलावा एक यूट्यूब वीडियो में दावा किया गया था गेम को भारत में 15 जनवरी से 19 जनवरी के बीच कभी भी लॉन्च किया जा सकता है.

लॉन्च पर क्या कह रही सरकार?
केंद्र सरकार ने पबजी के रिलॉन्च को लेकर कई RTI का जवाब देते हुए कहा है कि इस मामले में सरकार जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेगी. सरकारी एजेंसियां ऐप का पूरा विश्लेषण करने के बाद ही पबजी को भारत में लॉन्च करने की अनुमति देगी. इससे साफ होता है कि पबजी की भारत की वापसी को लेकर फिलहाल सिर्फ कयास लगाए जा रहे हैं.केंद्र सरकार ने 2 सितंबर 2020 को PUBG समेत 118 चीनी ऐप्स को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए बैन कर दिया था. इसके बाद नवंबर 2020 पबजी कॉर्प. ने इस बैटल रॉयल गेम को PUBG Mobile India नाम से लॉन्च करने की घोषणा की थी. साथ ही कंपनी ने इसकी ऑफिशियल वेबसाइट और कुछ टीजर लाइव किए थे, जिसके बाद गेम की लॉन्चिंग को लेकर अलग-अलग दावे किए जाने लगे. हालांकि फिलहाल कंफर्म लॉन्च डेट की कोई जानकारी नहीं है.








Source link

WhatsApp issues clarification after continuous social media criticism over the new update, says ‘It is only for business chats’ | पॉलिसी बदलने से यूजर की डेटा सेफ्टी पर असर नहीं होगा, नए बदलाव सिर्फ बिजनेस चैट के लिए किए गए


  • Hindi News
  • Tech auto
  • WhatsApp Issues Clarification After Continuous Social Media Criticism Over The New Update, Says ‘It Is Only For Business Chats’

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली8 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी कंपनी के लिए मुसीबत बन चुकी है। सोशल मीडिया पर यूजर्स इसे लेकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। ऐसे में अब कंपनी इस पर सफाई दे रही है। उसने कहा कि नए अपडेट से फेसबुक के साथ डेटा शेयरिंग में कोई बदलाव नहीं होगा। चैट और कॉल डिटेल पहले की तरह सुरक्षित रहेंगी। एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन भी जारी रहेगा। दुनियाभर में वॉट्सऐप के 200 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं।

बिजनेस चैट के लिए पॉलिसी में बदलाव किए
कंपनी ने कहा कि हमने बीते साल अक्टूबर में बताया था कि वॉट्सऐप लोगों के लिए खरीदारी को आसान बनाना चाहता है। लोग ऐप की मदद से डायरेक्ट खरीदारी कर पाएंगे। ज्यादातर लोग इसका इस्तेमाल फैमिली और फ्रेंड्स के साथ चैटिंग के लिए करते हैं। ऐसे में इससे उनके बिजनेस को भी बढ़ावा मिलेगा।

वॉट्सऐप के हेड विल कैथार्ट ने सोशल मीडिया पर बताया कि कंपनी ने अपनी पॉलिसी में ट्रांसपेरेंसी लाने और पीपुल-टू-बिजनेस के ऑप्शनल फीचर की जानकारी देने के लिए अपडेट किया है। यह अपडेट बिजनेस से जुड़ी जानकारियां देने के लिए किया जा रहा है। इससे फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की हमारी पॉलिसी पर कोई असर नहीं होगा।

वॉट्सऐप पॉलिसी पर चिंता करने की जरूरत क्यों?
वॉट्सऐप ने अपनी नई पॉलिसी में साफ लिखा है कि यूजर को अपनी प्राइवेसी कंपनी के साथ शेयर करना होगी। यानी वॉट्सऐप अब आपके डेटा पर पूरी नजर रखेगी और आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी। भारत में वॉट्सऐप यूजर्स की संख्या 40 करोड़ से ज्यादा है। यानी पॉलिसी एग्री करने के बाद कंपनी आपके खर्च, आईपी एड्रेस, लोकेशन, स्टेटस, कंटेंट, कॉल जैसे सभी डेटा को एक्सेस कर पाएगा। कुल मिलाकर ऐप पर आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

क्या है वॉट्सऐप की नई पॉलिसी?
नई पॉलिसी में लिखा है कि हमारी सर्विसेज को ऑपरेट करने के लिए आप वॉट्सऐप को जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उन्हें कहीं भी यूज, रिप्रोड्यूस, डिस्ट्रीब्यूट और डिस्प्ले कर सकती है। यूजर्स को ये पॉलिसी पर सहमति देनी होगी। ये 8 फरवरी, 2021 से लागू हो रही है। इस तारीख के बाद इसे एग्री करना जरूरी होगी। यदि एग्री नहीं करते हैं तो अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके लिए आप हेल्प सेंटर पर विजिट कर सकते हैं।



Source link

New Features In Mac IOS 14 Big Sur Know In Details – Mac के नए ऑपरेटिंग सिस्टम में मिलेंगे ये फीचर्स, जानिए डिटेल्स


आइफोन की स्क्रीन जैसे-जैसे बड़ी होती जा रही है, वैसे-वैसे उसमें नए फीचर्स भी जुड़ते जा रहे हैं। जानिए इन नए फीचर्स के बारे में

एप्पल के नए ऑपरेटिंग सिस्टम iOS 14 में इस बार कई ऐसे नए फीचर्स दिए गए हैं जो अब तक नहीं मिल रहे थे। जानिए इन फीचर्स के बारे में विस्तार से

WhatsApp ने पहली बार जारी किया अपना स्टेट्स, प्राइवेसी पॉलिसी पर दी सफाई

11 साल के लड़के का कमाल! पेट्रोल से नहीं बल्कि हवा से चलती है ये बाइक

बेहतर टाइपिंग
आइफोन की स्क्रीन जैसे-जैसे बड़ी होती जा रही है, वैसे-वैसे इस पर एक हाथ से टाइपिंग करना मुश्किल होता जा रहा है। लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम में एप्पल एक नया क्विकपाथ फीचर जोड़ रहा है। इसकी मदद से एक यूजर कीबोर्ड लैटर्स पर स्वाइप करके टाइप कर सकता है।

लोकेशन प्राइवेसी
कंपनी ने लोकेशन शेयरिंग के लिए कड़े प्राइवेसी नियम जोड़े हैं। नया ऑपरेटिंग सिस्टम विकल्प देगा कि ऐप काम में लेते समय ऐप डिवाइस की लोकेशन एक्सेस कर सकता है या नहीं। ऐप बैकग्राउंड में लोकेशन एक्सेस की कोशिश करेगा तो नोटिफिकेशन भेजा जाएगा।

सुधरी वीडियो एडिटिंग
आइफोन यूजर्स को आखिरकार iPhone में बेहतर वीडियो एडिटिंग कंट्रोल्स मिलेंगे। अब तक वीडियो एडिटिंग के नाम पर आप वीडियो लेंथ को ट्रिम कर सकते थे। आइओएस 13 में यूजर्स कई एलीमेंट्स जैसे एक्सपोजर, ब्राइटनेस आदि को एडिट कर पाएंगे।

डार्क मोड
आइओएस 13 में यूजर्स को सिस्टम-वाइड डार्क मोड ऑप्शन मिलता है। इसे यूजर की पसंद या नापसंद के आधार पर शुरू या बंद किया जा सकेगा। शुरू करने के लिए डार्क मोड एप्पल के खुद के ऐप्स और होम स्क्रीन डॉक में होगा।

नया फोटोज ऐप
फोटो ऐप में एक बड़ा बदलाव यह होगा कि मशीन लर्निंग से ऑर्गनाइज करने की सुधरी हुई व्यवस्था मिलेगी। आपके बेस्ट फोटोज बड़े थंबनेल्स के साथ हाईलाइट किए जाएंगे। वहीं डुप्लीकेट फोटोज या स्क्रीनशॉट्स को छुपा दिया जाएगा।

फाइंड माई
नए ऑपरेटिंग सिस्टम में iPhone की ट्रैकिंग सर्विस को नए नाम ‘फाइंड माई’ से जाना जाएगा। ट्रैकिंग की क्षमता में सुधार करने के लिए यह ‘फाइंड माई आइफोन’ और ‘फाइंड माई फ्रेंड्स’ के फीचर्स को कम्बाइन कर देता है। इससे फोन को आसानी से ट्रैक कर पाएंगे।

एप्पल के साथ साइन-इन
अब आपको थर्ड पार्टी वेबसाइट्स और ऐप्स में लॉगइन करने के लिए कंपनी का खुद का ‘साइन इन विद एप्पल’ ऑप्शन मिलेगा। यह उसी तरह होगा जैसे कि कई साइट्स और ऐप्स पर गूगल या फेसबुक ऑप्शन्स से साइन इन किया जाता है।

मैप्स में चारों ओर देखें
गूगल मैप्स स्ट्रीट व्यू की तरह एप्पल मैप्स का नया फीचर ‘लुक अराउंड’ है। आप बिना किसी परेशानी के मैप्स ऐप में किसी लोकेशन के स्ट्रीट लेवल फोटोज को देख सकेंगे। यह फीचर नए मैप्स ऐप में उपलब्ध होगा।





Source link

Google removes many Personal Loan apps from Play Store । Google ने Play Store से हटाईं कई व्यक्तिगत ऋण देने वाली ऐप, सुरक्षा नीति का कर रही थीं उल्लंघन



Google removed many personal lending apps from Play Store, violating security policy Google ने Play - India TV Hindi

Image Source : GOOGLE
Google removed many personal lending apps from Play Store, violating security policy Google ने Play Store से हटाईं कई व्यक्तिगत ऋण देने वाली ऐप, सुरक्षा नीति का कर रही थीं उल्लंघन

नई दिल्ली: Google ने Play Store से हटाईं कई व्यक्तिगत ऋण देने वाली ऐप, सुरक्षा नीति का कर रही थीं उल्लंघन: प्रौद्योगिकी क्षेत्र (Technology Sector) की दिग्गज कंपनी गूगल (Google) ने भारत में सैकड़ों की संख्या में व्यक्तिगत ऋण (Personal Loan) ऐप की समीक्षा की है और इनमें से कई को अपने प्ले स्टोर (Play Store) से हटा दिया है। प्रयोगकर्ताओं और सरकारी एजेंसियों ने कंपनी से इन ऐप को लेकर चिंता जताई थी।

गूगल ने बृहस्पतिवार कहा कि जो ऐप उपयोक्ता सुरक्षा नीतियों का उल्लंघन कर रही थीं, उन्हें तत्काल प्ले स्टोर से हटा दिया गया है। गूगल ने शेष ऐप के डेवलपर्स से कहा है कि वे यह दर्शाएं कि किस तरीके से स्थानीय कानूनों और नियमनों का अनुपालन कर रहे हैं। यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं तो उनकी ऐप को भी प्ले स्टोर से हटा दिया जाएगा। 

गूगल (Google) ने ब्लॉगपोस्ट में कहा, ‘‘गूगल के उत्पादों तक सुरक्षित अनुभव प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। हमारी वैश्विक उत्पाद नीतियां इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर डिजाइन और क्रियान्वित की गई हैं। हम प्रयोगकर्ता की सुरक्षा में सुधार के लिए लगातार काम कर रहे हैं।’’ हालांकि, गूगल ने यह नहीं बताया कि उसने किन ऐप को हटाया है। 

ब्लॉगपोस्ट में कहा गया है, ‘‘हमने भारत में सैकड़ों की संख्या में व्यक्तिगत ऋण (Personal Loan) ऐप की समीक्षा की। इनको लेकर प्रयोगकर्ताओं और सरकारी एजेंसियों ने चिंता जताई थी। प्रयोगकर्ता सुरक्षा नीति का उल्लंघन कर रही ऐप को प्ले स्टोर से तत्काल हटा दिया गया है।’’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन





Source link

holocaust on earth prediction of acid rain and fireballs from sky | Study: पृथ्वी का होने वाला है महाविनाश! आकाश से गिरेंगे आग के गोले, हुआ खुलासा


नई दिल्ली: धरती पर प्रलय (Holocaust On Earth) की बातें सोचकर ही लोग घबरा जाते हैं. फिल्मों और कहानियों में हमने प्रलय के बारे में काफी कुछ सुना और देखा है. लेकिन अगर यह सच में हो तो क्या होगा! वैज्ञानिकों (Scientists) का मानना है कि विज्ञान के आधार पर प्रलय के समय का आकलन किया जा सकेगा.

आम है धरती पर प्रलय

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, धरती पर हर 2.7 करोड़ साल के बाद वैश्विक स्तर पर भीषण विनाशकारी घटनाएं होती हैं. आखिरी बार ऐसी घटना 6.6 करोड़ साल पहले हुई थी, जब शायद एक एस्टरॉइड (Asteroid) या धूमकेतु (Comet) के गिरने से डायनोसॉर (Dinosaurs) विलुप्त हो गए थे.

यह भी पढ़ें- देखिए पृथ्वी के घूमने का अद्भुत नजारा, ये वीडियो रोमांचित कर देगा आपको

धरती पर होगी एसिड और आग की बारिश

फिलहाल कहा जा रहा है कि प्रलय (Holocaust) कम से कम 3 करोड़ साल पीछे है. नए स्टैटिस्टिकल एनालिसिस (Statistical Analysis) के आधार पर अमेरिका के रिसर्चर्स ने पाया है कि पूरे जीवन को खत्म कर देने वाले धूमकेतुओं (Comets) की बारिश हर 2.6 से 3 करोड़ साल में होती है, जब वे गैलेक्सी (Galaxy) से होकर गुजरते हैं.

अगर ये धूमकेतु धरती से टकराते हैं तो पूरी दुनिया में अंधेरा और ठंड, जंगलों में आग, एसिड की बारिश (Acid Rain) होगी और ओजोन परत (Ozone Layer) खत्म हो जाएगी. जमीन पर रहने वाले जीवों के साथ-साथ पानी पर रहने वाले जीव भी नष्ट हो जाएंगे. 

यह भी पढ़ें मौत के मुंह में समा रही है Galaxy, वैज्ञानिकों ने किए हैरान करने वाले खुलासे

एस्टरॉइड्स की टक्कर से डायनोसॉर हुए गायब

वैज्ञानिकों ने यह भी कहा है कि अभी तक जमीन और पानी पर एक साथ विनाश तब हुए थे, जब धरती के अंदर से लावा निकलकर बाहर आ गया था. एक्सपर्ट्स का कहना है कि आकाशगंगा (Galaxy) में जिस तरह से हमारा ग्रह चक्कर लगाता है, उससे खतरा भी तय होता है.

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी (New York University) के प्रोफेसर और स्टडी के लेखक माइकल रैम्पीनो का कहना है, ‘ऐसा लगता है कि बड़े ऑब्जेक्ट और धरती के अंदर होने वाली ऐक्टिविटी (जिससे लावा निकल सकता है), यह 2.7 करोड़ साल के अंतर पर विनाशकारी घटनाओं के साथ हो सकता है.

यह भी पढ़ें- साइंटिस्ट ने दिए खतरनाक संकेत, बर्फ से जम जाएगी पूरी पृथ्वी, पिघलने लगे हैं Ice Bergs

VIDEO-

उन्होंने ऐसी घटना का जिक्र करते हुए बताया कि पहले भी तीन ऐसी विनाशकारी घटनाएं हो चुकी हैं. ये सभी वैश्विक स्तर पर आपदा और सामूहिक विनाश का कारण बनने की क्षमता रखती थी. माना जाता है कि एस्टरॉइड्स की टक्कर से ही डायनोसॉर (Dinosaurs) की पूरी प्रजाति विलुप्त हो गई थी.

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 





Source link

Samsung Galaxy M02s Sale Starts Today Via Amazon And Samsung Website With 10 Percent Discount – Samsung Galaxy M02s की पहली सेल आज, स्नैपड्रैगन प्रोसेसर के साथ मिलेगी 5000mah की बैटरी


टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली, Updated Tue, 19 Jan 2021 09:43 AM IST

सैमसंग ने के नए बजट स्मार्टफोन Samsung Galaxy M02s की आज यानी 19 जनवरी को पहली सेल है। Galaxy M02s की आज पहली सेल अमेजन इंडिया, सैमसंग के ऑनलाइन स्टोर के अलावा ऑफलाइन स्टोर से होगी। अमेजन रिपब्लिक डे सेल के तहत फोन खरीदने पर एसबीआई क्रेडिट कार्ड के साथ 10 फीसदी की छूट भी मिल रही है। इस फोन में 5000mAh की बैटरी दी गई है। इसके अलावा यह दो वेरियंट में उपलब्ध है। 



Source link

Oppo Reno Pro 5G भारत में लॉन्च; मिलेगी 8GB RAM, 4 कैमरे और कई खूबियां! जानें कीमत


Oppo Reno 5 Pro 5G में क्वाड कैमरा सेटअप है.

Oppo Reno 5 Pro 5G में क्वाड कैमरा सेटअप है.

Oppo Reno 5 Pro 5G की सबसे खास बात इसका 64 मेगापिक्सल कैमरा, 8GB RAM और OLED HD डिस्प्ले है. इसके अलावा फोन फास्ट चार्जिंग के साथ आता है…जानें फोन की कीमत.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 18, 2021, 6:19 PM IST

ओप्पो (Oppo) ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन Oppo Reno 5 Pro 5G लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इस फोन को 35,999 रुपये की शुरुआती कीमत पर पेश किया है. इस फोन की सबसे खास बात इसका 64 मेगापिक्सल कैमरा, 8GB RAM और OLED HD डिस्प्ले है. इसके अलावा फोन फास्ट चार्जिंग के साथ भी आता है. ​Oppo Reno 5 Pro 5G को सिर्फ एक ही वेरिएंट को भारत में पेश किया है. ये वेरिएंट 8 जीबी रैम और 128 जीबी स्टोरेज के साथ आता है. भारत में इस फोन को 35,990 रुपये की कीमत में पेश किया गया है. कंपनी ने इस फोन को 22 जनवरी से बिक्री के लिए उपलब्ध कराने की बात कही है. इसके प्री-बुक ऑर्डर शुरू हो गए हैं, जहां HDFC कार्ड और ICICI कार्ड से पेमेंट करने पर 10% की छूट मिलेगी.

Oppo Reno 5 Pro 5G में 6.5-inch का 1080p AMOLED डिस्प्ले दिया गया है, जिसका रिफ्रेश रेट 90Hz तक है. इसका अस्पेक्ट रेशियो 20:9 है. इस स्मार्टफोन की डिस्प्ले के टॉप पर पंच-होल है. इसके साथ ही डिस्प्ले में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर भी दिया गया है. Oppo Reno 5 Pro 5G के अंदर Dimensity 1000+ प्रोसेसर दिया गया है. इस प्रोसेसर के साथ फोन से बेहतर फोटो और वीडियो क्लिक की जा सकती हैं.

(ये भी पढ़ें- बेहतरीन मौका! बेहद सस्ते में खरीदें Realme का 64 मेगापिक्सल 4 कैमरे वाला फोन, मिलेगी 6GB RAM)

कैमरा सेटअप की बात करें तो रियर में 64 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रावाइड कैमरा और मैक्रोज और डेप्थ-सेंसिंग के लिए दो 2 मेगापिक्सल कैमरा है. वहीं फ्रंट की बात करें तो रेनो 5 प्रो 5 जी में 32 मेगापिक्स्ल का सेल्फी कैमरा दिया गया है. इस स्मार्टफोन में 12 जीबी रैम दी गई है. ओप्पो रेनो 5 प्रो 5G एंड्रॉइड 11 पर बेस्ड ColorOS 11 पर काम करता है.

(ये भी पढ़ें- BSNL का धांसू प्लान! एक बार रिचार्ज करके पूरे साल करें अनलिमिटेड बातें, मिलेगा 2GB डेटा भी)

मिलेगी 65W की चार्जिंग
पावर के लिए इस स्मार्टफोन में 4350mAh की बैटरी दी गई है, जो कि 65W SuperVOOC 2.0 फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आती है. इस फोन से महज 11 सेकंड में 1 जीबी तक की मूवी को रिकॉर्ड किया जा सकता है. फोन में कनेक्टिविटी के लिए 5G सपोर्ट और 3.5mm हेडफोन जैक दिया गया है.








Source link

CES 2021 Day 1 Virtual Event [Updates]; Consumer Electronics Show Latest Product Gadgets Coverage and Announcements | आज से शुरू हो रहा दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स शो, LG मुड़ने वाला टीवी करेगी लॉन्च


  • Hindi News
  • Tech auto
  • CES 2021 Day 1 Virtual Event [Updates]; Consumer Electronics Show Latest Product Gadgets Coverage And Announcements

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली7 दिन पहले

  • 52 साल में के इतिहास में पहली बार वर्चुअल इवेंट हो रहा है
  • इस साल इवेंट में 9 भारतीय कंपनियां भी शामिल हो रही हैं

कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो (CES) 2021 आज से शुरू हो रहा है। दुनिया के इस सबसे बड़े इलेक्ट्रॉनिक्स शो में कई दिग्गज कंपनियां शामिल हो रही हैं। हालांकि, 52 साल के इतिहास में पहली बार ये इवेंट वर्चुअल होने जा रहा है। ये इवेंट 14 जनवरी तक चलेगा। आज इसमें एलजी और सैमसंग जैसी कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स लॉन्च करेंगी।

ये इलेक्ट्रॉनिक्स शो भारतीय कंपनियों के लिए भी यादगार होने वाला है। इस साल इसमें 9 भारतीय कंपनियां शामिल हो रही हैं। इनमें एप्टिनर मेक्ट्रॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड, एथर एनर्जी, मोनार्क इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड, नियोसॉफ्ट टेक्नोलॉजीज, प्रगति फाउंडेशन, टाटा एलेक्सी, अल्ट्राहुमन हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड, वीहियर हियरिंग सॉल्यूशंस और जीरो 1 टेक्ट्रोनिक्स एलएलपी शामिल हैं।

आज इन कंपनियों के प्रोडक्ट्स होंगे लॉन्च

LG का इवेंट आज 6:30 PM पर : कंपनी इवेंट के पहले ही अपना मुड़ने वाला टीवी लॉन्च कर चुकी है। इसमें सिनेमैटिक साउंड OLED डिस्प्ले दिया है। इसका स्क्रीन साइज 48-इंच है। इसके डिस्प्ले में कागज जितनी पतली स्क्रीन है जिसे मोड़ा जा सकता है। इस डिस्प्ले को अपनी जरूरत के हिसाब से मोड़कर रखा जा सकता है। खास बात है कि इसमें स्पीकर्स नहीं हैं। डिस्प्ले से ही साउंड भी आएगा। टीवी का पूरा डेमो इवेंट के दौरान देखने को मिलेगा। ऐसा माना जा रहा है एलजी ट्रांसपेरेंट स्क्रीन वाला टीवी भी पेश कर सकती है।

सैमसंग का इवेंट आज 7:30 PM पर : साउथ कोरियन कंपनी सैमसंग इवेंट में अपनी गैलेक्सी S21 सीरीज को लॉन्च कर सकती है। इस सीरीज के फीचर्स और स्पेसिफिकेशन को लेकर लगातार खबरें आ रही हैं। कंपनी का कहना है कि गैलेक्सी S20 की तुलना में इसमें 35% ज्यादा बैटरी परफॉर्मेंस मिलेगा। नए फ्लैगशिप मॉडल को स्नैपड्रैगन और एक्सीनॉस वैरिएंट में लॉन्च किया जा सकता है। इस सीरीज में गैलेक्सी S21, गैलेक्सी S21+ और गैलेक्सी S21 अल्ट्रा लॉन्च किए जा सकते हैं। कंपनी नए फोल्डेबल स्मार्टफोन, पोर्टल ऑक्सीजन एयर पॉकेट, फूड एंड वाइन पेयरिंग सर्विस, ऑटोमैटिक टीवी पिक्चर जैसे प्रोडक्ट भी लाएगी।

CES 21 से और क्या उम्मीदें?

  • टेक एक्सपर्ट अभिषेक तैलंग ने बताया कि इस साल का CES काफी खास होने वाला है। 2021 में 5G टेक्नोलॉजी गेम चेंजर साबित होने वाली है। ऐसे में कई कंपनियां 5G कनेक्टिविटी वाले डिवाइस लेकर आएंगी।
  • तैलंग के मुताबिक, कोरोनावायरस के दौरान ई-स्पोर्ट्स का क्रेज भी तेजी से बढ़ा है। यानी गेमिंग कंपनियों के साथ दूसरी टेक कंपनियां भी ई-स्पोर्ट्स से जुड़े हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर ला सकती हैं। हमें वायरलेस चार्जर, वायरलेस इयरफोन के साथ वायरलेस पावरबैंक भी देखने को मिल सकते हैं।
  • तैलंग ने बताया कि इवेंट में फोल्डेबल स्मार्टफोन की झलक भी देखने को मिल सकती है। इस साल ज्यादातर कंपनियां अपने फोल्डेबल फोन ला रही हैं। वहीं, इन फोन में पावरफुल कैमरा लेंस के साथ मल्टी लेंस भी नजर आ सकते हैं। क्योंकि ये साल स्मार्टफोन कैमरा के लिए वीडियोग्राफी के लिहाज से बड़ा रहेगा।



Source link

Samsung Galaxy M62 With 6 Gb Ram 7000 Mah Battery – Samsung Galaxy M62 में होगी 6 जीबी रैम और 7000 MAH की दमदार बैटरी, जानिए बाकी फीचर्स


Samsung Galaxy M62 स्मार्टफोन की सबसे बड़ी खासियत इसकी बड़ी और पावरफुल 7000 एमएएच कैपेसिटी वाली बैटरी तो है ही, इसके साथ ही इसमें 25 वॉट का फास्ट चार्जर भी होगा जो Type-C USB पोर्ट के साथ कनेक्ट होकर फोन को जल्दी चार्ज करेगा।

Samsung जल्दी ही अपना नया फोन लॉन्च करने जा रहा है। इस नए फोन को Galaxy M62 नाम दिया गया है और इसमें 7,000 MAH की पॉवरफुल बैटरी होगी। अब तक इस डिवाइस के बारें में अटकलें लगाई जा रही थीं कि यह कोई टेबलेट होगा लेकिन अमरीकी सर्टिफिकेशन साइट FCC पर इसे एक स्मार्टफोन के रुप में पेश किया गया है।

11 साल के लड़के का कमाल! पेट्रोल से नहीं बल्कि हवा से चलती है ये बाइक

WhatsApp ने पहली बार जारी किया अपना स्टेट्स, प्राइवेसी पॉलिसी पर दी सफाई

मार्केट एक्सपर्ट्स के अनुसार पहले सैमसंग गैलेक्सी एम62 को लेकर अनुमान जताया जा रहा था कि इस मॉडल को संभवतया Samsung Galaxy M51 के बाद मार्केट में लॉन्च किया जाएगा। माना जा रहा था कि इस फोन को इस वर्ष कभी भी लॉन्च किया जा सकता है।

फोन में है 7000 MAH की दमदार बैटरी
इस स्मार्टफोन की सबसे बड़ी खासियत इसकी बड़ी और पावरफुल 7000 एमएएच कैपेसिटी वाली बैटरी तो है ही, इसके साथ ही इसमें 25 वॉट का फास्ट चार्जर भी होगा जो Type-C USB पोर्ट के साथ कनेक्ट होकर फोन को जल्दी चार्ज करेगा।

6 जीबी रैम के साथ होगा लॉन्च
स्मार्टफोन में 6 जीबी रैम के साथ एक्सिनॉस 9285 प्रोसेसर होगा तथा यह डिवाइस Android के लेटेस्ट वर्जन Android 11 पर रन करेगा। सैमसंग गैलेक्सी एम62 को 4G LTE, डुअल बैंड वाई-फाई और NFC सपोर्ट के साथ पेश किया जाएगा। स्मार्टफोन के साथ एक 3.5 मिमी का ऑडियो जैक भी मिलेगा।





Source link

Translate »
You cannot copy content of this page