Char Dham Yatra 2020: Gangotri Dham Door Closed For Winter Today – Char Dham Yatra 2020 : आज शीतकाल के लिए बंद हुए गंगोत्री धाम के कपाट

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, गंगोत्री
Updated Sun, 15 Nov 2020 12:53 PM IST

गंगोत्री धाम के कपाट बंद
– फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

आज शीतकाल के लिए गंगोत्री धाम के कपाट बंद कर दिए गए हैं। इस दौरान धाम में श्रद्धालु मौजूद रहे। रविवार सुबह से पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया था। सुबह साढ़े दस बजे गंगोत्री मंदिर में विशेष पूजा अर्चना एंव गंगा अभिषेक के साथ कपाट बंद करने की प्रक्रिया शुरू हुई।

दोपहर 12:15 बजे गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए। इसके बाद मां गंगा की भोग मूर्ति की डोली मुखबा गांव के लिए रवाना किया गया।

इस दौरान गंगोत्री विधायक गोपाल रावत, डीएम मयूरी दीक्षित, एसपी पंकज भट्ट सहित अन्य लोग मौजूद थे। वहीं सोमवार को भैया दूज के मौके पर केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद किए जाएंगे।

भैयादूज के पावन पर्व पर 16 नवंबर को कपाट सुबह 5.30 बजे बंद कर दिए जाएंगे। बाबा केदार की चल उत्सव विग्रह डोली उसी दिन रात्रि प्रवास के लिए रामपुर पहुंचेगी। 

बाबा की चल उत्सव विग्रह डोली 18 नवंबर को पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में छह माह की शीतकालीन पूजा-अर्चना के लिए विराजमान हो जाएगी।

आज शीतकाल के लिए गंगोत्री धाम के कपाट बंद कर दिए गए हैं। इस दौरान धाम में श्रद्धालु मौजूद रहे। रविवार सुबह से पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया था। सुबह साढ़े दस बजे गंगोत्री मंदिर में विशेष पूजा अर्चना एंव गंगा अभिषेक के साथ कपाट बंद करने की प्रक्रिया शुरू हुई।

दोपहर 12:15 बजे गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए। इसके बाद मां गंगा की भोग मूर्ति की डोली मुखबा गांव के लिए रवाना किया गया।

इस दौरान गंगोत्री विधायक गोपाल रावत, डीएम मयूरी दीक्षित, एसपी पंकज भट्ट सहित अन्य लोग मौजूद थे। वहीं सोमवार को भैया दूज के मौके पर केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद किए जाएंगे।

भैयादूज के पावन पर्व पर 16 नवंबर को कपाट सुबह 5.30 बजे बंद कर दिए जाएंगे। बाबा केदार की चल उत्सव विग्रह डोली उसी दिन रात्रि प्रवास के लिए रामपुर पहुंचेगी। 

बाबा की चल उत्सव विग्रह डोली 18 नवंबर को पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में छह माह की शीतकालीन पूजा-अर्चना के लिए विराजमान हो जाएगी।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page