FATF में चीन और सऊदी अरब ने नहीं दिया पाकिस्तान का साथ, सिर्फ तुर्की ने पकड़े रखा हाथ

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  



पाकिस्तान फरवरी 2021 तक वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (FATF) की ‘ग्रे’ लिस्ट में बना रहेगा क्योंकि वह ग्लोबल मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद की फंडिंग को रोकने के लिए 6 कार्ययोजनाओं को पूरा करने में विफल रहा है।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page