Former US President wrote – Rahul Gandhi does not have the ability or passion to master the subject | अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने लिखा- राहुल गांधी में सब्जेक्ट का मास्टर होने की योग्यता या जुनून नहीं

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


  • Hindi News
  • National
  • Former US President Wrote Rahul Gandhi Does Not Have The Ability Or Passion To Master The Subject

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटन11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बराक ओबामा आखिरी बार दिसंबर 2017 में भारत आए थे, तब राहुल उनसे मिले थे।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने मेमोइर (जीवनी) में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र किया है। ओबामा का कहना है, “राहुल उस स्टूडेंट की तरह हैं जो टीचर को इम्प्रेस करने के लिए तो उत्सुक (ईगर) है, लेकिन सब्जेक्ट का मास्टर होने के मामले में योग्यता या जुनून की कमी है। यह राहुल की कमजोरी है।” ओबामा जब सत्ता में थे तब, राहुल गांधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष थे। ओबामा आखिरी बार दिसंबर 2017 में भारत आए थे, तब राहुल उनसे मिले थे। राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि ओबामा से मुलाकात शानदार रही।

‘मनमोहन सिंह शांत और ईमानदार’
मनमोहन सिंह के कार्यकाल वाली UPA सरकार के समय नवंबर 2009 में ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल भारत दौर पर आए थे, तब मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरुशरण कौर ने ओबामा परिवार के लिए डिनर भी रखा था। बराक ओबामा, अमेरिका के पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति थे। ओबामा ने मनमोहन सिंह को शांत और ईमानदार बताया है।

ओबामा की 768 पेज की किताब 17 नवंबर को रिलीज होगी। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसके कुछ हिस्सों का रिव्यू पब्लिश किया है। ओबामा ने अपनी किताब में दूसरे देशों के नेताओं के बारे में भी लिखा है। रूस के प्रेसिडेंट ब्लादिमीर पुतिन को शारीरिक रूप से साधारण बताया है। अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के बारे में लिखा है कि वे सज्जन, ईमानदार और वफादार हैं। बाइडेन को लगे कि उन्हें तवज्जो नहीं मिल रही, तो वे गुस्सा हो सकते हैं, यह ऐसी क्वालिटी है जो किसी युवा से डील करते वक्त माहौल बिगाड़ सकती है।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page