Jitendra Singh Said Over 18.6 Lakh Complaints Were Received Last Year – पिछले वर्ष 18.6 लाख से अधिक शिकायतें मिलीं : जितेंद्र सिंह

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Thu, 17 Sep 2020 12:52 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन जितेंद्र सिंह ने लोकसभा में आज पिछले वर्ष के दौरान सार्वजनिक तौर पर की गई शिकायतों का आंकड़ा लिखित रूप में पेश किया। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 2019 में 18.6 लाख से अधिक सार्वजनिक शिकायतें प्राप्त हुईं और उनमें से 16 लाख से अधिक का निवारण किया गया। मंत्री जितेंद्र सिंह द्वारा साझा किये गए आंकड़ों के अनुसार, 2017 में 18,66,124 के मुकाबले 2018 में कुल 15,86,415 शिकायतें प्राप्त हुईं।

उन्होंने कहा, इनमें से 14,98,519 और 17,73,020 शिकायतों का क्रमशः 2018 और 2017 में निवारण किया गया था। पिछले वर्ष 2019 में, कुल 18,67,758 सार्वजनिक शिकायतें प्राप्त हुईं थी और 16,39,120 का सरकार द्वारा सुलझाया गया।

लोकसभा में मंत्री जितेंद्र सिंह आगे कहा कि मंत्रिमंडल सचिवालय में लोक शिकायत निदेशालय (डीजीपी) के पास एक शिकायतकर्ता का प्रतिनिधित्व करने के लिए एक तंत्र है, जो कहता है कि वह कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन विभाग से समय पर प्राप्त प्रतिक्रिया से संतुष्ट नहीं है।

हालांकि, शिकायत के औसत निपटान समय में पिछले छह वर्षों में बहुत सुधार हुआ है। उदाहरण के लिए, कोविड-19 महामारी के दौरान, विशेष शिकायतों के निवारण का विकल्प उपलब्ध कराया गया, जो कि प्रत्येक शिकायत का 1.4 दिन के औसत से समय पर किये गए निवारण को दर्शाता है।

 

 

कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन जितेंद्र सिंह ने लोकसभा में आज पिछले वर्ष के दौरान सार्वजनिक तौर पर की गई शिकायतों का आंकड़ा लिखित रूप में पेश किया। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 2019 में 18.6 लाख से अधिक सार्वजनिक शिकायतें प्राप्त हुईं और उनमें से 16 लाख से अधिक का निवारण किया गया। मंत्री जितेंद्र सिंह द्वारा साझा किये गए आंकड़ों के अनुसार, 2017 में 18,66,124 के मुकाबले 2018 में कुल 15,86,415 शिकायतें प्राप्त हुईं।

उन्होंने कहा, इनमें से 14,98,519 और 17,73,020 शिकायतों का क्रमशः 2018 और 2017 में निवारण किया गया था। पिछले वर्ष 2019 में, कुल 18,67,758 सार्वजनिक शिकायतें प्राप्त हुईं थी और 16,39,120 का सरकार द्वारा सुलझाया गया।

लोकसभा में मंत्री जितेंद्र सिंह आगे कहा कि मंत्रिमंडल सचिवालय में लोक शिकायत निदेशालय (डीजीपी) के पास एक शिकायतकर्ता का प्रतिनिधित्व करने के लिए एक तंत्र है, जो कहता है कि वह कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन विभाग से समय पर प्राप्त प्रतिक्रिया से संतुष्ट नहीं है।

हालांकि, शिकायत के औसत निपटान समय में पिछले छह वर्षों में बहुत सुधार हुआ है। उदाहरण के लिए, कोविड-19 महामारी के दौरान, विशेष शिकायतों के निवारण का विकल्प उपलब्ध कराया गया, जो कि प्रत्येक शिकायत का 1.4 दिन के औसत से समय पर किये गए निवारण को दर्शाता है।
 
 



Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page