MSP बंद होने की अफवाह फैला रहा विपक्ष, पढ़ें गृह मंत्री अमित शाह का पूरा इंटरव्‍यू

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नई दिल्‍ली. देश के गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने न्यूज 18 नेटवर्क (News18 Network) ग्रुप के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू (EXCLUSIVE Interview) में चीन, कोरोना महामारी, बिहार चुनाव, हाथरस और तनिष्क विज्ञापन विवाद समेत कई मुद्दों पर विस्‍तार से बातचीत की. इस दौरान अमित शाह ने कहा कि विपक्ष कृषि बिल पर देश को भड़का रहा है. विपक्ष ये जहर फैला रहा है कि मंडियां बंद हो जाएंगी. मंडी बंद होनी ही नहीं है. एमएसपी बंद करने की कोई बात ही नहीं है. हरियाणा पंजाब में लाखों टन धान खरीदना शुरू हो गया है. बिल में कोई ये बता दे कि एमएसपी बंद करने की बात कहा हैं.

राहुल जोशी- आपने ठीक एक साल पहले ऐलान किया था कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार चुनाव में जायेंगे, आज आपका आंकलन क्या है?
अमित शाह- हमने पहले से ही तय किया है कि 2020 का बिहार चुनाव हम नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में लड़ रहे हैं. मैं भ्रांतियों पर फुल स्टॉप लगा कर कहना चाहूंगा कि चुनाव के बाद नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बनेंगे. अमित शाह ने कहा कि श्री रामविलास जी हमारे बीच नहीं रहे. उन्‍होंने सामाजिक न्‍याय के लिए बहुत बड़ा काम किया है. वह दलितों के बहुत बड़े नेता रहे हैं. मैं उन्‍हें श्रद्धांजलि देना चाहता हूं. जहां तक गठबंधन का सवाल है बीजेपी और जदयू की तरफ से लोजपा को उचित सीट दी जा रही थी.

राहुल- चिराग कह रहे हैं कि उनके दिल में मोदी जी हैं, तो वो आपके साथ क्यूं नहीं है?अमित शाह- ये तो चिराग ही बता पायेंगे, रामविलास जी का दुखद देहांत हुआ, चिराग भाई से हमने कई बार बात की, खुद मैंने भी उनसे बात की, उन्होंने कुछ ऐसे बयान दिए जिससे भाजपा जदयू के कार्यकर्ताओं में प्रतिक्रिया आई.

अमित शाह ने कहा कि जनता दल जब गठबंधन आया तो हम सभी ने अपनी-अपनी सीटें कम की. ऐसे में उन्‍हें उचित नहीं लगा. कुछ बयान भी दिए गए. गठबंधन के लिए दिक्‍कत थी. फिर भी हमनें गठबंधन धर्म निभाया. उन्‍होंने ही गठबंधन तोड़ा है. हम गठबंधन के सभी साथियों को चुनाव जीताने का पूरा प्रयास करेंगे.

राहुल – क्या चुनाव के बाद वो आ सकते हैं
अमित शाह – वो चुनाव के बाद देखेंगे, लेकिन अभी तो हम लड़ रहे है, पूरी शक्ति के साथ, हमारा गठबंधन सामाजिक रूप से बहुत बड़ा गठबंधन है. चुनाव में दो तिहाई बहुमत हमें मिलेगा जिसके मुखिया नितीश जी रहेंगे.

अमित शाह ने कहा कि साथी के जाने का दुख भी होता है और नुकसान भी होता है. हमारा गठबंधन सामाजिक रूप से बहुत मजबूत है. जनता जानती है गठबंधन न होने का दोषी कौन है. चुनाव के बाद देखेंगे चिराग साथ आते हैं या नहीं.

राहुल- भाजपा बिहार में चुनाव अकेले क्यूं नहीं लड़ती है?
अमित शाह- जबसे एनडीए बना है तबसे नीतीश कुमार हमारे साथी हैं. नीतीश से गठबंधन तोड़ने का कोई कारण नहीं है. हम गठबंधन धर्म निभा रहे हैं. हम चाहते हैं कि नीतीश कुमार के राज में जो विकास हुआ है वह आगे जारी रहे. बिहार में नीतीश और केंद्र में पीएम मोदी, ये जो डबल इंजन की सरकार है वह राज्‍य को विकास की ओर ले जाएगी.

अमित शाह ने कहा क‍ि बिहार को जो हमने 1 लाख 25 हज़ार करोड़ का पैकेज दिया, उसका पाई-पाई का हिसाब देने को हम तैयार हैं. लालू जी के 15 साल की तुलना में आज का विकास देखिये- बिहार की जनता ने पहली बार देखा कि विकास हो सकता है और वो नरेन्द्र मोदी और नीतीश कुमार के राज में ही हो सकता है. लालू जी के राज में फिरौती एक इंडस्ट्री थी, लॉ एंड आर्डर का हाल आप जानते है, जानवरों का चारा खा गए थे, भ्रष्टाचार चरम पर था, हमारे आंकड़े रखने से अच्छा है कि अगर राजद ही आंकड़े रख दे तो सब साफ़ हो जाएगा.

राहुल – लालू के MY समीकरण, माइग्रेंट लेबर की समस्या और एंटी कम्बेंसी फैक्टर को आप कैसे देखते हैं?
अमित शाह- मैं कार्यकर्ताओ के साथ फोन पर संपर्क में हूं, कोविड के बाद बड़ी-बड़ी सुविधाए दी गयी है. नरेंद्र मोदी जी ने कोविड के बाद बिहार की जनता को जो फ्री में राशन पहुंचाया है बिहार की जनता ये कभी भूल नहीं सकती. नीतीश कुमार जी ने लोगों को घर पहुंचाया, ट्रेन के टिकट उपलब्‍ध कराए, ऊपर से 1000 रुपये भी दिए. मोदी जी ने किसान और गरीब के घर में पैसा भेजा है. कोविड के समय में सरकार का पैसा जनता का सहारा बना है.

राहुल- अभी भी मोदी जी की लहर की खबर है, संभव है कि आपकी सीट्स ज्यादा आ जायेंगी?
अमित शाह- मोदी जी की लहर केवल बिहार में ही नहीं है पूरे देश में है. और इस लहर का फायदा केवल बीजेपी को ही नहीं बल्कि जदयू को भी होगा. उनकी भी सीटें बढ़ेंगी.

राहुल- आपके बारे में कहा जाता है कि आप चुनाव में एक बी टीम भी उतारते है, ओवैसी भी चुनाव लड़ रहे हैं?
अमित- ओवैसी ही क्यूं, पप्पू यादव, कुशवाहा, यशवंत सिन्हा जी सभी लड़ रहे हैं. किसी को बी टीम, सी टीम कहना सही नहीं है. मगर जनता का मूड मैं स्‍पष्‍ट मानता हूं. बीजेपी और जदयू की सरकार बनने जा रही है.

राहुल– क्‍या बिहार चुनाव में सुशांत का मुद्दा है?
अमित शाह- मुझे पता नहीं कि चुनाव में ये कितना बड़ा मुद्दा है लेकिन पहले ही अगर सीबीआई को केस दे देते तो मुद्दा बनता ही क्यों? सुशांत सिंह जी की जगह कोई भी व्‍यक्ति होता तो उसकी जांच ढग से होनी चाहिए, न्‍यायिक होनी चाहिए. मैं कोई टिप्‍पणी नहीं करना चाहता. लेकिन नजरिया ठीक नहीं बना था.

राहुल- चीन के मुद्दे पर आपकी क्या टिप्‍पणी है, शी जिनपिंग ने अपनी सेना को कहा कि युद्ध के लिए तैयार रहें, राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस सरकार में होती तो हम 15 मिनट में उन्‍हें भगा देते?
अमित शाह- हम अपने देश की एक-एक इंच जमीन के लिए जागरूक हैं. इसको कोई छीन नहीं सकता. अमित शाह ने कहा कि सेनाएं अतिक्रमण का जवाब देने के लिए ही बनी हैं. हमारी सेनाएं वैसे ही तैयार रहती हैं. पाक चीन पर अमित शाह ने कहा कि हमारी सेनाएं सक्षम हैं. इरादें बुलंद हैं. 130 करोड़ के भारत को कोई दबा नहीं सकता. सत्‍य हमारे साथ है, दुनिया के ज्‍यादातर देश हमारे साथ हैं. अब हमें दबाना इतना आसान नहीं है.

चीन को लेकर राहुल गांधी के बयानों पर शाह ने कहा क‍ि उनके पास न कोई डेटा होता है और न ही कोई आंकड़ा. बिना सिर और पैर की बातें करते हैं. कम से काम कांग्रेस को ये बोलने का अधिकार नहीं है. उनके समय में चीन ने भारत की कितनी जमीन हड़प ली है. इसका हिसाब एक बार राहुल जी देश की जनता के सामने रखें. मैं 1962 की बात कर रहा हूं. कांग्रेस की सरकार थी. उनके परनाना ही प्रधानमंत्री थे. हम चीन को जवाब देने में सक्षम हैं. कूटनीतिक और सेना के स्‍तर पर जवाब दिया जाएगा. लेकिन कम से कम कांग्रेस को ये मुद्दा खड़ा करने का अधिकार नहीं है.

राहुल- जम्मू कश्मीर के हालाल पर?
अमित शाह- लॉ एंड आर्डर का हाल तो मेंटेन है वहां, विकास थोड़ा और हो सकता था लेकिन कोविड की वजह से रूकावट आई, अब मनोज जी (सिन्हा) वहां गए है, 5-6 महीने में आपको वहां अच्छा दिखने लगेगा.

राहुल – चिदंबरम का बयान है कि 370 को रिस्टोर करेंगे?
अमित शाह- चिदंबरम के स्‍टेटमेंट को राहुल जी को और सोनिया जी को दोहराना चाहिए. जम्‍मू कश्‍मीर को पूर्ण राज्‍य का दर्जा देने पर काम चल रहा है. विकास के साथ ही इसे भी देखा जा रहा है.

राहुल – असम सरकार ने मदरसे के पैसे बंद किये है और कांग्रेस इस पर कुम्भ के खर्चे को उठा रही है?
अमित शाह – इसकी डिटेल्स मैंने मंगाई है.

राहुल – शिवसेना के बाद अकाली ने भी NDA छोड़ा?
अमित शाह- शिवसेना और अकाली दल पर कहा कि एनडीए में 30 से ज्‍यादा पार्टियां हैं. शिवसेना और अकाली पर कहा कि हमनें किसी को नहीं निकाला. उन्‍होंने हमारा साथ छोड़ दिया है. हम क्‍या कर सकते हैं. कृषि कानून पर विपक्ष देश को भड़का रहा है. यह कृषि बिल है क्‍या? आज किसान मंडियों में अपना राशन बेचता है. तो उसे एक ही मंडी का रेट उपलब्‍ध होता है. बिल में यह है कि वह बाहर भी इसे बेच सकता है. जहर ये फैलाया जा रहा है कि मंडियां बंद हो जाएंगी. मंडी बंद होनी ही नहीं है. एमएसपी बंद करने की कोई बात ही नहीं है. लाखों टन हरियाणा पंजाब में धान खरीदना शुरू हो गया है. बिल में कोई ये बता दे कि एमएसपी बंद करने की बात कहा हैं.

अमित शाह ने कहा कि अगर एमएसपी से ज्‍यादा भी कोई किसान को बिल देता है तो वह उसे क्‍यों नहीं बचे सकता है. किसान को यह आप्‍शन उपलब्‍ध होना चाहिए की नहीं. जब ई मंडियां बनने लगी हैं. ऑनलाइन आ गई हैं. युवा किसान अपने घर से रेट देखता है और उचित दाम पर अपनी फसल बेचता है. कांग्रेस, आकली दल और अन्‍य दल इसपर राजनीति कर रहे हैं. नरेन्द्र मोदी सरकार लोगों के लिए अच्छे हो, ऐसे फैसले लेती है, अच्छे लगे ऐसे फैसले नहीं लेती है. ये फैसला किसानों के लिए अच्छा फैसला है, किसानों के भविष्य को सुधारने वाला फैसला है. देश के 70 करोड़ लोगों के भविष्‍य को बढ़ाने का यह फैसला है.

राहुल- हाथरस की तरह पूरे देश में सुरक्षा एक मुद्दा है?
अमित- हाथरस में भी रेप होता है और राजस्थान में भी, लेकिन तूल क्‍यूं सिर्फ हाथरस को मिलता है. दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर राजनीति सही नहीं है. अपराधी उसी दिन पकड़े गए हैं. अंतिम संस्‍कार पर जांच आयोग बैठा है. केस सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया है. थाने के स्‍तर पर सरकार नहीं होती है. कुछ अधिकारी होते हैं. योगी जी ने एसआईटी बनाकर उचित काम किया है.

राहुल – सुशांत के मुद्दे पर जिस तरह नरेटिव चला उसपर आपका क्या कहना है?
अमित शाह- मीडिया ट्रायल नहीं होनी चाहिए. कहीं ज्‍यादा लापरवाही लीपापोती हो तो सरकार का नाक जरूर पकड़ना चाहिए. लेकिन टीआरपी के लिए बात को बढ़ाना उचित नहीं है. किसी भी घटना में अगर लीपापोती होती है तो उसे बताना मीडिया का धर्म है. बॉलीवुड में ड्रग्‍स पर कहा कि ड्रग्‍स एक खतरनाक नासूर है, इसे जल्‍दी समाप्‍त कर देना चाहिए. ड्रग्‍स का कारोबार भारत में करने वालों को बहुत दिक्‍कत आएगी, इस तरह का ढांचागत बदलाव, कानूनी बदलाव और इंफ्राट्रक्‍चर बदलाव हम कर रहे हैं.

राहुल – महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी में बहुत ज्यादा तनाव है, लड़ाई चल रही है. वहां गवर्नर ने मुख्‍यमंत्री से कहा कि आप कब से सेक्युलर हो गये. राज्यपाल के इस बयान को आप कैसे देखते हैं?
अमित शाह- मैंने पत्र पढ़ा है और एक पासिंग रेफरेंस उन्‍होंने दिया है. मगर मुझे भी लगता है थोड़ा शब्दों का चयन टाला होता तो अच्छा होता.

राहुल- बंगाल के बारे में आपका क्या कहना है?
अमित शाह- वहां बम बनाने के कारखाने हर जिले में हैं, भ्रष्टाचार चरम पर है, बहुत ख़राब स्थित है. विपक्ष के कार्यकर्ताओं की जिस प्रकार से हत्‍याएं और मुकदमे दर्ज हो रहे हैं. वैसे कहीं नहीं होता है. बीजेपी वहां का चुनाव डटकर लड़ेगी. इस बार बंगाल में परिवर्तन होगा. नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्‍व में वहां पर बीजेपी की सरकार बनेगी. मुख्‍यमंत्री चेहरा कौन होगा संबंधित सवाल पर शाह ने कहा क‍ि अभी तो जनता टीएमसी को हटाना चाहती है.

राहुल- तमिलनाडु के बारे में ,क्या आप रजनीकांत के साथ आ रहे हैं?
अमित शाह ने ऐसी खबरों का खंडन करते हुए कहा कि हम संगठन मज़बूत कर रहे हैं.





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page