नाडा

Nada Claims, Due To More Doping Samples, Dope Positive Cases Increased – नाडा का दावा, अधिक सैंपलों के चलते बढ़े डोप पॉजिटिव केस

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Updated Thu, 24 Dec 2020 07:45 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) का मानना है कि साल 2019 में बढ़े डोप पॉजिटिव केंसों के पीछे उसकी ओर से लिए अधिक सैंपल हैं। नाडा ने दावा किया है कि बीते वर्ष के मुकाबलों में नाडा ने 2019 में बड़ी संख्या में सैंपल लिए हैं। यही नहीं डोपिंग की रोकथाम के लिए नए वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल किया है। इनमें पहली बार ह्यूमन ग्रोथ हारमोन की टेस्टिंग के लिए ब्लड सैंपल और ग्रोथ हारमोन रिलीजिंग फैक्टर की बढ़ाई गई टेस्टिंग शामिल है।

नाडा ने दावा किया है कि साल 2019 में उसकी ओर से की गई सख्ती का नतीजा साल 2020 में दिखेगा। डोप पॉजिटव संख्या बढने के पीछे रोइंग की जूनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 22 खिलाड़ियों का फंसना भी जिम्मेदार है। यही नहीं पूरी दुनिया की तरह एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, बॉडी बिल्डिंग, कुश्ती और पॉवरलिफंर्टग में डोप पॉजिटव केसों की संख्या 50 प्रतिशत है

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) का मानना है कि साल 2019 में बढ़े डोप पॉजिटिव केंसों के पीछे उसकी ओर से लिए अधिक सैंपल हैं। नाडा ने दावा किया है कि बीते वर्ष के मुकाबलों में नाडा ने 2019 में बड़ी संख्या में सैंपल लिए हैं। यही नहीं डोपिंग की रोकथाम के लिए नए वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल किया है। इनमें पहली बार ह्यूमन ग्रोथ हारमोन की टेस्टिंग के लिए ब्लड सैंपल और ग्रोथ हारमोन रिलीजिंग फैक्टर की बढ़ाई गई टेस्टिंग शामिल है।

नाडा ने दावा किया है कि साल 2019 में उसकी ओर से की गई सख्ती का नतीजा साल 2020 में दिखेगा। डोप पॉजिटव संख्या बढने के पीछे रोइंग की जूनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 22 खिलाड़ियों का फंसना भी जिम्मेदार है। यही नहीं पूरी दुनिया की तरह एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, बॉडी बिल्डिंग, कुश्ती और पॉवरलिफंर्टग में डोप पॉजिटव केसों की संख्या 50 प्रतिशत है



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page