No Pre-final Exam For Classes 10, 12 In Bengal: Mamata Banerjee – पश्चिम बंगाल: दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए नहीं होगी प्री- फाइनल परीक्षा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Updated Thu, 12 Nov 2020 01:05 PM IST

विद्यार्थी (फाइल फोटो)
– फोटो : अमर उजाला।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पश्चिम बंगाल में अब दसवीं और बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए प्री-फाइनल परीक्षा नहीं होगी। इस बात की घोषणा सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने की है। उन्होंने बुधवार को कहा कि दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को स्कूल स्तर पर प्री- फाइनल परीक्षा देने की जरूरत नहीं होगी। इस बात का निर्णय सूबे के शिक्षा विभाग ने लिया है।

दरअसल, वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से पैदा हुई स्थिति के चलते हुए सूबे के शिक्षा विभाग ने फैसला लिया है कि इस वक्त जो छात्र दसवीं और बारहवीं कक्षा में पढ़ रहे हैं उनके लिए प्री-फाइनल परीक्षा नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें-तमिलनाडु: 16 नवंबर से नहीं खुलेंगे नौवीं से लेकर बारहवीं तक के स्कूल, नई तारीखों की घोषणा जल्द 

इसके अलावा सूबे में जल्द ही 16,500 शिक्षकों की भर्ती  होगी। शिक्षकों की यह भर्ती प्रक्रिया दिसंबर और जनवरी से शुरू होगी। इस बात की जानकारी भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ही दी है। हालांकि, उन्होंने शिक्षकों की भर्ती की तारीख नहीं बताई लेकिन इतना कहा कि दिसंबर और जनवरी में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।  ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा था कि सूबे में स्कूलों को खोलने का निर्णय 15 नवंबर के बाद कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए लिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-UP Board 2021: कब होंगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं? पढ़ें पूरी खबर
 

पश्चिम बंगाल में अब दसवीं और बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए प्री-फाइनल परीक्षा नहीं होगी। इस बात की घोषणा सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने की है। उन्होंने बुधवार को कहा कि दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को स्कूल स्तर पर प्री- फाइनल परीक्षा देने की जरूरत नहीं होगी। इस बात का निर्णय सूबे के शिक्षा विभाग ने लिया है।

दरअसल, वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से पैदा हुई स्थिति के चलते हुए सूबे के शिक्षा विभाग ने फैसला लिया है कि इस वक्त जो छात्र दसवीं और बारहवीं कक्षा में पढ़ रहे हैं उनके लिए प्री-फाइनल परीक्षा नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें-तमिलनाडु: 16 नवंबर से नहीं खुलेंगे नौवीं से लेकर बारहवीं तक के स्कूल, नई तारीखों की घोषणा जल्द 

इसके अलावा सूबे में जल्द ही 16,500 शिक्षकों की भर्ती  होगी। शिक्षकों की यह भर्ती प्रक्रिया दिसंबर और जनवरी से शुरू होगी। इस बात की जानकारी भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ही दी है। हालांकि, उन्होंने शिक्षकों की भर्ती की तारीख नहीं बताई लेकिन इतना कहा कि दिसंबर और जनवरी में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।  ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा था कि सूबे में स्कूलों को खोलने का निर्णय 15 नवंबर के बाद कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए लिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-UP Board 2021: कब होंगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं? पढ़ें पूरी खबर
 



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page