Odisha Bhubaneswar Municipal Withdraws Sealing Order For Bjp Mp Aparajita Sarangi Office Covid 19 – ओडिशा: भुवनेश्वर निगम ने भाजपा सांसद के कार्यालय को सील करने का आदेश लिया वापस

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भुवनेश्वर

Updated Sat, 17 Oct 2020 11:57 AM IST

भाजपा सांसद अपराजिता सारंगी (फाइल फोटो)
– फोटो : Facebook

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने सांसद एवं भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता अपराजिता सारंगी का कार्यालय सील करने का आदेश शनिवार को तत्काल प्रभाव से वापस ले लिया है। बीएमसी के अधिकारियों ने 10 सितंबर को सारंगी के कार्यालय को यह कहते हुए सील कर दिया था कि उन्होंने कार्यालय में अपना जन्मदिन मनाया था और कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन किया था।
 

बीएमसी ने यह कदम सोशल मीडिया में वायरल हुए एक वीडियो के आधार पर उठाया था। कार्यालय को 15 दिन के लिए सील किया जाना था लेकिन नए आदेश में कहा गया, ‘पूजा पर्व पर सभी दुकानों, कारोबारी प्रतिष्ठानों और संस्थानों को खोले जाने के बीएमसी के निर्णय के अनुरूप पलासपल्ली के प्लाट संख्या A/56 पर चल रहे सांसद के कार्यालय को सील करने संबंधी आदेश तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाता है।’

इससे पहले सारंगी ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को पत्र लिख कर बीएमसी की कार्रवाई का विरोध किया था।

भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने सांसद एवं भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता अपराजिता सारंगी का कार्यालय सील करने का आदेश शनिवार को तत्काल प्रभाव से वापस ले लिया है। बीएमसी के अधिकारियों ने 10 सितंबर को सारंगी के कार्यालय को यह कहते हुए सील कर दिया था कि उन्होंने कार्यालय में अपना जन्मदिन मनाया था और कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन किया था।

 

बीएमसी ने यह कदम सोशल मीडिया में वायरल हुए एक वीडियो के आधार पर उठाया था। कार्यालय को 15 दिन के लिए सील किया जाना था लेकिन नए आदेश में कहा गया, ‘पूजा पर्व पर सभी दुकानों, कारोबारी प्रतिष्ठानों और संस्थानों को खोले जाने के बीएमसी के निर्णय के अनुरूप पलासपल्ली के प्लाट संख्या A/56 पर चल रहे सांसद के कार्यालय को सील करने संबंधी आदेश तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाता है।’

इससे पहले सारंगी ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को पत्र लिख कर बीएमसी की कार्रवाई का विरोध किया था।





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page