Pork से बनी Corona Vaccine को लेकर 9 मुस्लिम संगठनों का एतराज, कहा- China की वैक्सीन का नहीं करेंगे इस्तेमाल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


चाईना में बनने वाली कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल मुस्लिम नहीं करेंगे- मुस्लिम संगठन

चाईना में बनने वाली कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल मुस्लिम नहीं करेंगे- मुस्लिम संगठन

Coronavirus Vaccine : बुधवार को 9 मुस्लिम संघटनों (Muslim Organizations) ने फैसला लिया है कि चीन (China) में बनने वाली कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) का इस्तेमाल मुस्लिम नहीं करेंगे.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 24, 2020, 9:49 AM IST

मुंबई. बुधवार को 9 मुस्लिम संघटनों (Muslim Organizations) ने फैसला लिया है कि चीन (China) में बनने वाली कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) का इस्तेमाल मुस्लिम नहीं करेंगे. इन मुस्लिम संगठनों का कहना है कि चाइना की वैक्सीन में सुअर (Pork) का इस्तमाल हुआ है. सुअर मुसलमानों के लिए हराम होता है. इसलिए चाइना वाली वैक्सीन का इस्तेमाल हमलोग नहीं करेंगे. बता दें कि कोरोना वैक्सीन को लेकर मुस्लिम संगठनों के सहमति और असहमति के लगातार बयान आ रहे हैं. हाल ही में अरब अमीरात (UAE) के शीर्ष इस्लामी संगठन फतवा काउंसिल ने कोरोना वायरस टीकों में पोर्क के जिलेटिन का इस्तेमाल होने पर भी इसे जायज करार दिया था.

चाइना का वैक्सीन मुस्लिम इसलिए इस्तेमाल नहीं करेंगे
बता दें कि आम टीकों में पोर्क जिलेटिन का इस्तेमाल होता है. इसी वजह से मुस्लिमों के बीच टीकाकरण को लेकर चिंता बढ़ गई है. इस्लामी कानून में पोर्क से बने कोई भी उत्पादों को हराम माना जाता है. मुंबई में बुधवार को 9 मुस्लिम संगठनों के महासचिव और रजा एकाडमी के मो सैय्यद नूरी ने कहा, ‘मुंबई में हमारे लोगों कि मीटिंग हुई, जिसमें 9 संघटन शामिल हुए. इसमें फैसला लिया गया कि चाइना में बनने वाली वैक्सीन का इस्तेमाल मुस्लिम न इस्तेमाल करें.’

Coronavirus Vaccine, Pfizer, Moderna, Oxford-Astrazeneca Vaccine, corona virus

भारत को दिसंबर के अंत तक वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी मिलने की संभावना है (सांकेतिक तस्वीर)

वैक्सीन पर क्या कहना है मुस्लिम संगठनों का
नूरी आगे कहते हैं, ‘हमें पता चला है की चाइना में एक वैक्सीन बनाई है, जिसमें सुअर के बाल, चर्वी या उसके मांस का इस्तमाल हुआ है. मुसलमानों में सुअर पूरी तरह से हराम है. अगर सुअर का एक बाल भी कुएं में गिर जाता है तो वो पूरा कुआं ना-पाक हो जाता है. इसलिए यह तय हुया है कि चाइना वाली वैक्सीन का इस्तेमाल हम नही करेंगे.’

Islamic body, pork use, Muslim Organizations, china, chin, gelatin, Corona Vaccine, UAE, Pork, UAE Fatwa Council, संयुक्त अरब अमीरात, इस्लामी निकाय, यूएई फतवा काउंसिल, कोरोना वैक्सीन, टीकों में सुअर के मांस, जिलेटिन, यूएई, कोरोना वायरस टीका, पोर्क का इस्तेमाल, 9 मुस्लिम संघटनों की मीटिंग में फैसला, चीन निर्मित वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं,मुस्लिम संघटनों को कहना है कि चाइना की वैक्सीन में सुअर (Pork) का इस्तमाल हुआ है

मुस्लिम संघटनों को कहना है कि चाइना की वैक्सीन में सुअर का इस्तमाल हुआ है.

ये भी पढ़ें: किसान आंदोलन में क्यों नहीं दिख रहे पप्पन सिंह, Lockdown में मजदूरों को फ्लाइट से घर भेज बटोरी थी सुर्खियां

गौरतलब है कि वैक्सीन के इस्तेमाल को लेकर हो रही सहमति और असहमति के बीच भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल (डीजीसीआई) के साथ अपने कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन (Covavxine) के आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन किया है. वर्तमान में 1,000 वॉलेंटियर्स के साथ चरण I और II परीक्षणों को पूरा करने के बाद पूरे भारत में 25 केंद्रों पर 26,000 वॉलंटियर्स पर तीसरे चरण के ह्यूमन ट्रायल्स कर रहा है.





Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page