Prajnesh

Prajnesh Loses In Atp Challenger Final, Lost Opportunities After Winning First Set – प्रजनेश एटीपी चैलेंजर फाइनल में हारे, पहला सेट जीतने के बाद गंवाए मौके

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Mon, 16 Nov 2020 04:21 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

भारत के डेविस कप खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन को एटलांटिक टाइर टेनिस चैंपियनशिप के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। प्रजनेश ने पहला सेट जीतने के बावजूद अमेरिका के डेनिस कुडला के हाथो मैच गंवा दिया।

चौथे वरीय भारतीय खिलाड़ी को रविवार को एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट के पुरुष एकल फाइनल में एक घंटे और 33 मिनट में 6-3, 3-6, 0-6 से हार झेलनी पड़ी। दुनिया के 146वें नंबर के खिलाड़ी प्रजनेश ने फाइनल में शानदार शुरुआत करते हुए पहला सेट जीता। लेकिन बाएं हाथ के प्रजनेश दूसरे सेट में लय बरकरार रखने में विफल रहे और दूसरे वरीय अमेरिकी खिलाड़ी से अगले दोनों सेट हारकर खिताब से चूक गए।

इससे पहले प्रजनेश ने क्वार्टर फाइनल में ब्राजील के थामस बेलुची को हराया था जबकि सेमीफाइनल में उन्हें डेनमार्क के माइकल टोर्पेगार्ड के खिलाफ वाकओवर मिला था। उन्होंने टूर्नामेंट में शीर्ष 10 में शामिल रहे अमेरिकी जैक सोक को भी हराया था। सातवें वरीय प्रजनेश का यह सातवां चैलेंजर फाइनल था जिसमें वह सिर्फ दो खिताब जीत पाए हैं।

भारत के डेविस कप खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन को एटलांटिक टाइर टेनिस चैंपियनशिप के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। प्रजनेश ने पहला सेट जीतने के बावजूद अमेरिका के डेनिस कुडला के हाथो मैच गंवा दिया।

चौथे वरीय भारतीय खिलाड़ी को रविवार को एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट के पुरुष एकल फाइनल में एक घंटे और 33 मिनट में 6-3, 3-6, 0-6 से हार झेलनी पड़ी। दुनिया के 146वें नंबर के खिलाड़ी प्रजनेश ने फाइनल में शानदार शुरुआत करते हुए पहला सेट जीता। लेकिन बाएं हाथ के प्रजनेश दूसरे सेट में लय बरकरार रखने में विफल रहे और दूसरे वरीय अमेरिकी खिलाड़ी से अगले दोनों सेट हारकर खिताब से चूक गए।

इससे पहले प्रजनेश ने क्वार्टर फाइनल में ब्राजील के थामस बेलुची को हराया था जबकि सेमीफाइनल में उन्हें डेनमार्क के माइकल टोर्पेगार्ड के खिलाफ वाकओवर मिला था। उन्होंने टूर्नामेंट में शीर्ष 10 में शामिल रहे अमेरिकी जैक सोक को भी हराया था। सातवें वरीय प्रजनेश का यह सातवां चैलेंजर फाइनल था जिसमें वह सिर्फ दो खिताब जीत पाए हैं।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page