Railways Is Considering Of Running Trains Without Reservation – ट्रेन का सफर होगा और आसान, बिना रिजर्वेशन वाली ट्रेनें चलाने पर विचार कर रहा है रेलवे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल
Updated Thu, 24 Dec 2020 12:25 AM IST

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

रेलवे को देश की लाइफलाइन माना जाता है। कोरोना वायरस के कारण इसके बंद होने से लाखों यात्री प्रभावित हो रहे हैं। लेकिन रेलवे अब लोगों की परेशानी दूर करने को बिना रिजर्वेशन वाली ट्रेनों को चलाने का विचार कर रहा है। इसमें यात्री तुरंत टिकट लेकर यात्रा कर पाएंगे। 

अभी सिर्फ रिजर्वेशन कराने के बाद ही यात्रा करने की अनुमति मिली है। रेलवे इन ट्रेनों को पहले एक मंडल में ही चलाएगा, बाद में दूसरे मंडलों के बीच भी चला सकता है। 

इन ट्रेनों में पूरी तरह जनरल कोच होंगे लेकिन ये लोकल ट्रेनें नहीं होंगी। साथ ही सभी रेल मंडलों से इस संबंध में जानकारी बोर्ड ने कर मंगवा ली है। कोरोना वायरस की वैक्सीन आने के बाद इन ट्रनों का संचालन शुरू हो सकता है।

तुरंत रिजर्वेशन नहीं मिल पाने से हो रही दिक्कत
औद्योगिक शहरों में जाने और वापस आने के लिए तुरंत रिजर्वेशन नहीं मिल रह है। महत्वपूर्ण ट्रेनों में मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत, चेन्नई, कोलकाता, जम्मू सहित अन्य शहरों में जाने के लिए 15 जनवरी के पहले सीट खाली नहीं है। 

यही हाल इन शहरों से वापसी की ट्रेनों का भी है। कोरोना काल में ट्रेनों का संचालन रोका गया। इसके बाद सीमित संख्या में स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इससे यात्रियों की मुश्किलें कम नहीं हो रही है।

दुर्गा पूजा, दीपावली , छठ जैसे त्योहारी सीजन में महानगरों से वापस आने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए पूजा स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं। इससे कुछ हद तक राहत मिली, लेकिन बाद में उसे बंद कर दिया गया। 

शादी विवाह के बाद लोग काम पर लौटना चाहते हैं लेकिन अधिकतर ट्रेनों में सीटें फुल हैं। ऐसे में लंबी दूरी के लिए रिजर्वेशन मिलने में दिक्कत हो रही है। बिना रिजर्वेशन ट्रेनों के चलने के बाद लोगों को बड़ी राहत मिल सकती है।

रेलवे को देश की लाइफलाइन माना जाता है। कोरोना वायरस के कारण इसके बंद होने से लाखों यात्री प्रभावित हो रहे हैं। लेकिन रेलवे अब लोगों की परेशानी दूर करने को बिना रिजर्वेशन वाली ट्रेनों को चलाने का विचार कर रहा है। इसमें यात्री तुरंत टिकट लेकर यात्रा कर पाएंगे। 

अभी सिर्फ रिजर्वेशन कराने के बाद ही यात्रा करने की अनुमति मिली है। रेलवे इन ट्रेनों को पहले एक मंडल में ही चलाएगा, बाद में दूसरे मंडलों के बीच भी चला सकता है। 

इन ट्रेनों में पूरी तरह जनरल कोच होंगे लेकिन ये लोकल ट्रेनें नहीं होंगी। साथ ही सभी रेल मंडलों से इस संबंध में जानकारी बोर्ड ने कर मंगवा ली है। कोरोना वायरस की वैक्सीन आने के बाद इन ट्रनों का संचालन शुरू हो सकता है।

तुरंत रिजर्वेशन नहीं मिल पाने से हो रही दिक्कत
औद्योगिक शहरों में जाने और वापस आने के लिए तुरंत रिजर्वेशन नहीं मिल रह है। महत्वपूर्ण ट्रेनों में मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत, चेन्नई, कोलकाता, जम्मू सहित अन्य शहरों में जाने के लिए 15 जनवरी के पहले सीट खाली नहीं है। 

यही हाल इन शहरों से वापसी की ट्रेनों का भी है। कोरोना काल में ट्रेनों का संचालन रोका गया। इसके बाद सीमित संख्या में स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इससे यात्रियों की मुश्किलें कम नहीं हो रही है।

दुर्गा पूजा, दीपावली , छठ जैसे त्योहारी सीजन में महानगरों से वापस आने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए पूजा स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं। इससे कुछ हद तक राहत मिली, लेकिन बाद में उसे बंद कर दिया गया। 

शादी विवाह के बाद लोग काम पर लौटना चाहते हैं लेकिन अधिकतर ट्रेनों में सीटें फुल हैं। ऐसे में लंबी दूरी के लिए रिजर्वेशन मिलने में दिक्कत हो रही है। बिना रिजर्वेशन ट्रेनों के चलने के बाद लोगों को बड़ी राहत मिल सकती है।



Source link

Leave a Comment

Translate »
You cannot copy content of this page