पुल कारखाना, गोरखपुर को मिले तीन आईएसओ प्रमाणन प्रमाण-पत्र

1947 में स्थापित और 1954 से स्वतंत्र इकाई के रूप में कार्यरत है यह पुल कारखाना

गोरखपुर ब्यूरो : पूर्वोत्तर रेलवे के गोरखपुर छावनी स्थित पुल कारखाना को उत्कृष्ट कार्य निष्पादन के लिए गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली हेतु आईएसओ 9001: 2015, पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली हेतु आईएसओ 14001: 2015 तथा व्यवसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा मानकों पर खरा उतरने के लिए आईएसओ  45001: 2018 प्रमाणन प्रदान किया गया है।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में इस पुल कारखाने में 45.7 मीटर ओपन वेब गर्डर का निर्माण कार्य प्रगति पर है, जिसे सीतापुर-बुढ़वल दोहरीकरण कार्य में उपयोग हेतु निर्मित किया जा रहा है।

इसके पहले इस पुल कारखाने में निर्मित 61.0 मीटर का एक स्पैन तुर्तीपार पुल, एक स्पैन खड्डा पुल, 10 स्पैन रामगंगा पुल, इज्जतनगर तथा 10 स्पैन माँझी पुल वाराणसी जैसी महत्वपूर्ण पुल परियोजनाओं में प्रयोग में किया जा चुका है।

कारखाने में निर्मित गर्डरों की गुणवत्ता की जाँच कारखाने के गुणवत्ता अनुभाग द्वारा किए जाने के बाद आरडीएसओ (मानक एवं अनुसंधान अभिकल्प संगठन), लखनऊ के एम एंड सी (धातु एवं रसायन) तथा बी एंड एस (पुल एवं संरचना) निदेशालय द्वारा की जाती है।

कारखाने की प्रयोगशाला में कंक्रीट स्लीपर टेस्टिंग मशीन भी स्थापित है, जिसका प्रयोग विभिन्न स्लीपर प्लांट्स द्वारा बनाए गए स्लीपर्स की गुणवत्ता जांच के लिए किया जाता है। प्लांट अनुभाग में ओपन लाइन में कार्यरत मोटर ट्राली, मोपेड ट्राली, जैक, कम्प्रेशर मशीन आदि की मरम्मत भी की जाती है।

वर्ष 1947 में स्थापित तथा वर्ष 1954 से स्वतंत्र इकाई के रूप में कार्य कर रहे गोरखपुर छावनी स्थित इस पुल कारखाना द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे के ओपन लाइन एवं निर्माण संगठन के साथ ही दूसरी रेलों के लिए भी पुल एवं लोहे के ढ़ांचों का निर्माण किया जाता है।

वर्तमान में पुल कारखाने में टैम्पलेट अनुभाग, कटिंग अनुभाग, भारी एवं हल्की संरचना उत्पादन अनुभाग, मशीन अनुभाग, प्लांट अनुभाग तथा गुणवत्ता नियंत्रण अनुभाग उत्कृष्टता के साथ अपना कार्य निष्पादन कर रहे हैं।

इस पुल कारखाने में 61.0 मीटर तक के ओपन वेब गर्डर, 30.5 मीटर स्पैन तक के प्लेट गर्डर, कम्पोजिट गर्डर तथा अंडर स्लांग गर्डर का निर्माण किया जाता है। कारखाने में फुट ओवर ब्रिज, यात्री प्लेटफार्म छाजनों एवं सीसी क्रिब का निर्माण भी होता है। पुल कारखाने की भू-तकनीकी प्रयोगशाला में मिट्टी, बालू, मोरंग, ईंट एवं क्यूब आदि का परीक्षण (टेस्टिंग) भी किया जाता है।



Source link

Translate »