रेल मंत्रालय द्वारा मुंशी प्रेमचंद और मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार हेतु प्रविष्टियाँ आमंत्रित

रेल मंत्रालय (रेलवे बोर्ड) द्वारा रेल कर्मचारियों की साहित्यिक प्रतिभा और अभिरुचि को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से हिंदी में कहानी, उपन्यास, नाटक एवं अन्य गद्य साहित्य के लिए ‘मुंशी प्रेमचंद्र पुरस्कार’ और काव्य गजल संग्रह के लिए ‘मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार’ योजनाएं विगत काफी समय से चलाई जा रही हैं।

इन दोनों योजनाओं के अंतर्गत पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किए जाते हैं I पुरस्कारों में कथा, कहानी, उपन्यास, नाटक एवं अन्य गद्य साहित्य हेतु – प्रेमचंद्र पुरस्कार – जिसमें प्रथम पुरस्कार ₹20000, द्वितीय पुरस्कार ₹10000 एवं तृतीय पुरस्कार ₹7000 प्रदान किया जाता है।

इसी प्रकार मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार योजना के अंतर्गत काव्य/गजल संग्रह हेतु प्रथम पुरस्कार ₹20000,  द्वितीय पुरस्कार ₹10000 एवं तृतीय पुरस्कार ₹7000 दिया जाता हैI यह योजना रेल अधिकारियों और कर्मचारियों दोनों के लिए समान रूप से लागू है।

उपरोक्त दोनों विधाओं के लिए प्रविष्टियाँ प्राप्त करने की अंतिम तिथि 20.08.20 है। इच्छुक अधिकारी और कर्मचारी गण अपनी प्रविष्टियाँ निर्धारित तिथि के अंदर भेजने का प्रयास करें।



Source link

Translate »