वॉशिंग पिट लाइन, गोरखपुर में लगाया गया वाटर री-साइक्लिंग प्लांट

गोरखपुर ब्यूरो: पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा पानी को संचित कर फिर से उपयोग में लाने हेतु वॉशिंग पिट लाइन, गोरखपुर में वाटर री-साइक्लिंग प्लांट लगाया जा रहा है, जो शीघ्र ही कार्य करना आरम्भ कर देगा।

इस प्लांट के स्थापित हो जाने से कोचों की सफाई हेतु हजारों लीटर लगने वाले पानी का पुनः उपयोग हो सकेगा। इसके अतिरिक्त उपयोग किए हुए पानी का पुनः उपयोग बागवानी, प्लेटफार्मों की सफाई, प्रसाधन एवं रेल लाइनों की सफाई आदि में भी हो सकेगा।

इसी क्रम में गोरखपुर कोचिंग डिपो की नई वॉशिंग पिट लाइन में री-साइक्लिंग प्लांट लगाने का काम पूरा हो चुका है, जो शीघ्र ही कार्य करने लगेगा। इसके अतिरिक्त गोरखपुर जं. के पूर्वी यार्ड स्थित वॉशिंग पिट में री-साइक्लिंग प्लांट लगाने का कार्य प्रगति पर है। इनके लग जाने से पानी की बरबादी नहीं होगी और प्लांट में पानी री-साइकिल होता रहेगा।

इस वॉटर ट्रीटमेंट एंड री-साइक्लिंग प्लांट में पानी को संचित करने के लिए बड़े-बड़े गढ़ढे बनाए गए हैं, जिनमें आधुनिक विधि से पानी को पुनः उपयोग के लायक बनाया जा सकेगा। इस पानी का उपयोग बोगियों एवं कोचों की सफाई में एक से अधिक बार किया जा सकेगा। इसके अतिरिक्त स्टेशन यार्ड स्थित पार्क और लॉन में भी पौधों की सिंचाई की जा सकेगी।








Source link

Translate »