These nutrients are necessary for the eyes read article | आंखों के लिए जरूरी हैं ये पोषक तत्व, जानें किस प्रकार करते हैं ये मदद

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नई दिल्लीः हमारी पांच इंद्रियों (Five senses) में से आंख (Eyes) सबसे महत्वपूर्ण इंद्री मानी जाती है. हमारी आंखें चेहरे की खूबसूरती को और बढ़ा देती हैं. इन्हीं से हम जीवन की हर चीज को देखते हैं. आंख हमारी नाजुक अंगों में से एक मानी जाती हैं. उम्र बढ़ने के साथ ही आंखों की समस्याएं भी बढ़ने लगती हैं. बीमारी या चोट की वजह से भी आंखों में परेशानियां बढ़ जाती हैं. ज्यादा रोशनी में बैठने से भी आखों को क्षति होती है. इन्ही परेशानियों को दूर करने के लिए हम आपको ऐसे पोषक तत्व (Nutrients) बताएंगे, जो इनसे बचाने में सक्षम हैं.

विटामिन-सी (Vitamin-C) को अगर हम पर्याप्त मात्रा में लेते हैं, तो मोतियाबिंद (Cataracts) जैसी समस्या को दूर करने में मदद करता है. विटामिन सी एक एंटीऑक्सिडेंट होने की वजह से आंखों के स्वास्थ्य को सही रखने में मददगार होता है. विटामिन सी पाने के लिए खाद्य पदार्थों में ब्रोकोली (Broccoli), स्प्राउट्स (Sprouts), काली मिर्च (Black pepper), पत्तेदार हरी सब्जियां (leafy green vegetables), खट्टे फल (citrus fruits) और अमरूद (guava) शामिल हैं.

ये भी पढ़ें, अगर आपके शरीर में ये हैं ये लक्षण तो हो जाएं सावधान, कैंसर के खतरे की आशंका

विटामिन-ई (Vitamin-E) को पाने के लिए बादाम (Almonds), अखरोट (walnuts), मूंगफली (peanuts), सूरजमुखी के बीज (sunflower seeds), अलसी के तेल ((flaxseed oil)), पालक (spinach), ब्रोकोली और जैतून का तेल ((broccoli and olive oil) को आहार के रूप में लेना चाहिए. विटामिन-ई कमी से आंखों में धुंधलापन, अंधापन या मोतियाबिंद जैसी परेशानियां दूर हो जाती है.

मैक्यूलर डीजनरेशन (Macular degeneration) और ड्राई आई सिंड्रोम (dry eye syndrome) आंखों की बड़ी समस्याओं में से एक है. मैक्यूलर डीजनरेशन से धुंधला या कम दिखाई देने लगता है. वहीं, ड्राय आई सिंड्रोम यानी आंखों में सूखापन से व्यक्ति की आंखों में पर्याप्त आंसू नहीं बन पाते हैं, जिस कारण आंखों की चिकनाहट या नमी चली जाती है. ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega-3 Fatty Acid) की पर्याप्त मात्रा होने से वयस्कों को मैक्यूलर डीजनरेशन (Macular degeneration) और ड्राई आई सिंड्रोम (dry eye syndrome) से बचाने में मदद मिल सकती है. ओमेगा-3 फैटी एसिड के सबसे अच्छे स्त्रोत मछली, टूना, नट्स और बीज, पौधे के तेल जैसे अलसी के तेल, कैनोला तेल आदि हैं.

अंधेपन का सबसे सामान्य और बड़ा कारण विटामिन-ए (Vitamin-A) की कमी है. विटामिन-ए वसा में घुलनशील विटामिन है, यह कुछ खाद्य पदार्थों में नेचुरल फॉर्म (Natural form) में पाया जाता है. यह आंखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. विटामिन-ए, रेटिनोल के नाम से भी जाना जाता है. क्योंकि ये आंखों में रेटिना बनाने वाले पिगमेंट के निर्माण में मदद करता है. विटामिन-ए गाजर, शकरकंद, मटर,  चुकंदर, शलजम, हरी पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, आम, तरबूज, पपीता, पनीर, राजमा, बींस, अंडा आदि में पाया जाता है.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय अपनाने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें)





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page