tulsi leaves is good for pregnant women | प्रेगनेंट महिलाएं जरूर करें तुलसी के पत्तों का सेवन, दूर होंगे ये रोग

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नई दिल्ली: प्रेग्नेंसी (Pregnancy) हर महिला के लिए बेहद खूबसूरत और एक नया अनुभव लेकर आती है. इस दौरान महिलाएं अपना और होने वाले बच्चे का बेहद ख्याल रखती हैं. ऐसे में हर वो चीज खाना फायदेमंद है जो मां और बच्चे दोनों को पोषण दें. प्रेग्नेंसी के समय तुलसी खाना काफी अच्छा माना जाता है. गर्भावस्था में तुलसी के पत्तों (Tusli Leaves) का सेवन कई मायनों में फायदेमंद होता है. तुलसी में मौजूद विटामिन (Vitamin), खनिज और पोषक तत्व महिला को कई तरह के लाभ देता है साथ ही कई रोगों से भी बचाता है. आइये जानते हैं इसके फायदे. 

शिशु का विकास होता है बेहतर (Development of Child)
-भ्रूण के विकास को बेहतर करने में भी तुलसी फायदेमंद है. तुलसी में मौजूद विटामिन ए भ्रूण के विकास में काफी मदद करता है. 
-तुलसी शिशु के शारीरिक विकास के साथ ही मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर करता है. 
-तुलसी के सेवन से शिशु के शारीरिक विकास व तंत्रिका तंत्र का बेहतर विकास होता है.
-शिशु की हड्डियों और कार्टिलोज को मजबूत बनाने के लिए मैंगनीज की जरूरत होती है, यह एंटीऑक्सिडेंट तुलसी में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. 
-शिशु के विकास के साथ ही यह महिला के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी मदद करती है. इससे महिलाओं की थकान व तनाव की समस्या भी दूर होती है.

ये भी पढ़ें, गुणों का खजाना है अदरक वाला दूध, एक बार ट्राई जरूर करें

दूर होती है एनीमिया (Anemia) की समस्या
तुलसी आयरन का सीधा स्रोत मानी जाती है. ऐसे में इसके सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन की संख्या बढ़ती है जिससे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या भी बढ़ती है.

नहीं होते इंफेक्शन (Infection) के शिकार
तुलसी के पत्तों में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण होते हैं जो संक्रामक रोगों को दूर रखते हैं. इसके नियमित सेवन से इम्युनिटी (Immunity) भी स्ट्रांग होती है.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय अपनाने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें) 





Source link

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Translate »
You cannot copy content of this page